बिहार : 9 नवंबर को पटना में ग्रामीण गरीबों का होगा विराट प्रदर्शन: खेग्रामस - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 18 सितंबर 2019

बिहार : 9 नवंबर को पटना में ग्रामीण गरीबों का होगा विराट प्रदर्शन: खेग्रामस

गरीबों को उजाड़ने और राशन-किरासन में मची लूट के खिलाफ होगा यह प्रदर्शन9-10 नवंबर को खेग्रामस का छठा राज्य सम्मेलन गेट पब्लिक लाइब्रेरी, पटना में होगागाँव और गरीबों के खिलाफ खड़ी है पटना-दिल्ली की सरकारें - धीरेन्द्र
protest-by-khegramas-bihar
पटना, 18 सितम्बर, अखिल भारतीय खेत एवं ग्रामीण मजदूर सभा (खेग्रामस) की राज्य कमिटी की बैठक विगत 17 सितंबर को भाकपा माले विधायक दल कार्यालय, छज्जुबाग में हुई। बैठक में 30 जिलों से आये प्रतिनिधियों ने गांव और गरीबों की जमीनी स्थिति की रिपोर्ट रखी। अधिकांश प्रतिनिधियों ने कहा कि हर जगह दलित-गरीबों को उजाड़ने की नोटिस बड़े पैमाने पर भेजा गया है। पॉश मशीन के जरिये अंगूठा का पहचान कर राशन देने से लोगों को बड़ी परेशानी हो रही है और राशन में बड़े पैमाने पर लूट मची है। जल नल योजना और शौचालय योजना में भारी अनियमितता है। बैठक को सम्बोधित करते हुए खेग्रामस के राष्ट्रीय महासचिव धीरेन्द्र झा ने कहा कि चैतरफा मंदी के चलते ग्रामीण संकट और बढ़ा है। रोजी-रोटी का बड़ा संकट है लेकिन अम्बानी-अडानी परस्त मोदी सरकार नफरत और विभाजन का खेल खेल रही है। गरीबों को जमीन और आवास देने के बदले उन्हें बड़े पैमाने पर उजाड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा है कि गांव और गरीबों को जगाने के लिए 5000 से ज्यादा ग्रामसभाएं हुई हैं और ऐसी सभा 10000 गाँव मे होगी और इसका समापन पटना में आयोजित गरीबों के विराट प्रदर्शन में होगा। बैठक को सम्बोधित करते हुए पूर्व सांसद रामेश्वर प्रसाद ने कहा कि दलितों-गरीबों की हकमारी हो रही है और उनपर हमले तेज हुए हैं। भाकपा माले के विधायक और खेग्रामस के सम्मानित राज्य अध्यक्ष सत्यदेव राम ने कहा कि राशन सूची से गरीबों को बाहर करना गैर कानूनी है। इस सवाल पर और मनरेगा मजदूरी बढ़ाने के सवाल पर पूरे राज्य में आंदोलन होगा। इस मौके पर बोलते हुए राज्य सचिव गोपाल रविदास ने कहा कि प्रखंडों-जिलों में प्रदर्शन करते हुए 9 नवंबर को गांव और गरीबों का विशाल प्रदर्शन होगा। 9-10 नवंबर को पटना में खेग्रामस का छठा राज्य सम्मेलन होगा जिसमें सभी 38 जिलों से 1000 से ज्यादा प्रतिनिधि भाग लेंगे। बढ़ती बेकारी और आर्थिक संकट से ग्रामीण गरीबों को राहत देने के मद्देनजर खेग्रामस ने मांग की है कि गैस का दाम हाफ हो और 100 यूनिट बिजली बिल माफ हो। संगठन ने प्रस्ताव पारित कर कहा है कि बिना वैकल्पिक व्यवस्था के गरीबों को उजाड़ने पर रोक लगे! राज्य कमिटी की बैठक की अध्यक्षता कामता सिंह, शत्रुघ्न साहनी और पंकज सिंह की टीम ने की।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...