सबरंग भोजपुरी फ़िल्म अवार्ड 2019 में रंजन सिन्‍हा को मिला ‘पीआरओ ऑफ डिकेड’ अवार्ड - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 5 सितंबर 2019

सबरंग भोजपुरी फ़िल्म अवार्ड 2019 में रंजन सिन्‍हा को मिला ‘पीआरओ ऑफ डिकेड’ अवार्ड

ranjan-sinja-awarded
जन संपर्क के क्षेत्र में असाधारण योगदान के लिए चर्चित पीआरओ रंजन सिन्‍हा को सबरंग भोजपुरी फ़िल्म अवार्ड 2019 में ‘पीआरओ ऑफ डिकेड’ के अवार्ड से सम्‍मानित किया गया। 4 सितंबर को मायानगरी मुंबई में आयोजित इस अवार्ड शो में लंबे समय से जनसंपर्क के क्षेत्र में अद्भुत काम को रेखांकिंत करते हुए यह अवार्ड दिया गया है। साल 2017 में भी सबरंग ने उन्‍हें बेस्‍ट पीआरओ के अवार्ड से सम्‍मानित किया था और अब उन्‍हें ‘पीआरओ ऑफ डिकेड’ का अवार्ड दिया है। इस अवार्ड पाकर रंजन सिन्‍हा ने खुशी का इजहार किया और सबरंग भोजपुरी फ़िल्म अवार्ड का आभार व्‍यक्‍त किया। आपको बता दें कि रंजन सिन्‍हा, पीआर के क्षेत्र में किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं। उन्‍होंने अपने14 साल के पीआर करियर में सुपर स्‍टार मनोज तिवारी, रवि किशन,खेसारीलाल यादव, अवधेश मिश्रा जैसे दिग्‍गज कलाकारों के लिए भी बतौर प्रचारक बेहतरीन काम किये हैं। अब तक उन्‍होंने 700 से ज्‍यादा भोजपुरी फिल्‍मों के लिए पीआर किया है। आज उनके पास कई बड़े – बड़े डायरेक्‍टर – प्रोड्यूसर की दर्जनों फिल्‍म है, जिनमें कुछ का निर्माण हो चुका है। कुछ का निर्माण कार्य चल रहा है। कुछ प्रोजेक्ट्स पाइप लाइन में हैं।   इसके अलावा भी रंजन सिन्हा ने बिहार सरकार के कला संस्कृति एवं युवा विभाग द्वारा आयोजित प्रकाशपर्व, पटना फ़िल्म फेस्टिवल,पटना शार्ट एंड रिजनल फ़िल्म फेस्टिवल, गांधी पनोरमा फ़िल्म फेस्टिवल, बिहार कला सम्मान समारोह, बाबू वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव जैसे कार्यक्रमों को भी सफलतापूर्वक लोगों के बीच ले गए। आज रंजन सिन्‍हा फिल्‍म के साथ – साथ गवर्नेमेंट, पॉलिटिकल, सोशल, कमर्सियल क्षेत्र में भी पीआर के लिए सबसे उम्‍दा विकल्‍प हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...