बिहार : बाढ़ राहत अभियान में तेजी लाए सरकार : माले - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 2 अक्तूबर 2019

बिहार : बाढ़ राहत अभियान में तेजी लाए सरकार : माले

महमूदीचक व अन्य स्लम इलाकों की हालत बेहद खराब, कैंप की व्यवस्था की जाए. माले-आइसा व इनौस की टीम ने आज विभिन्न इलाकों में चलाया राहत अभियान
cpi-ml-demand-speed-relief-patna
पटना 2 अक्टूबर  (आर्यावर्त संवाददाता)  भाकपा-माले राज्य सचिव कुणाल ने पटना सहित राज्य के दूसरे अन्य इलाकों में बाढ़ राहत अभियान में सरकार से गति लाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि राजधानी पटना के कई इलाके अभी भी भीषण जलजमाव में हैं. राजेन्द्र नगर, कंकड़बाग, कदमकुआं आदि इलाकों में कमर से उपर पानी है. स्लम एरिया की स्थिति तो और भयावह है. वहां पानी में अब सड़न भी पैदा होने लगा है जिसके कारण बीमारियों का खतरा बढ़ गया है. उन मजदूर बस्तियों में किसी भी प्रकार का राहत अभियान नहीं पहुंच पा रहा है. उन्होंने कहा कि आज भाकपा-माले, आइसा व इनौस की संयुक्त टीम ने पटना में जलजमाव के इलाकों में राहत सामग्री का वितरण किया. राजेन्द्र नगर व महमूदीचक सहित अन्य स्लम बस्तियों में बाढ़ पीड़ितों के बीच कुछ राहत सामग्री का वितरण किया गया. राजेन्द्र नगर के विभिन्न इलाकों, कंकड़बाग, मलाही पकड़ी, कंकड़बाग टैंपों स्टैंड आदि क्षेत्रों की स्थिति लगातार गंभीर बनी हुई है. माले राज्य सचिव ने कहा कि स्लम बस्तियों व अन्य इलाकों में सरकार को अलिवंब राहत शिविरों का आयोजन करना चाहिए. भोजन के साथ-साथ न्यूनतम दवाइयों की गारंटी की जानी चाहिए ताकि लोगों को भयानक बीमारियों की गिरफ्त में जाने से बचाया जा सके.  संकट की इस घड़ी में हम पूरी तरह से बाढ़ पीड़ितों की हर प्रकार की सहायता के लिए तत्पर हैं. 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...