बिहार : पटना नगर निगम के वार्ड नम्बर- 22 ए में घोर जल संकट बरकरार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 29 अक्तूबर 2019

बिहार : पटना नगर निगम के वार्ड नम्बर- 22 ए में घोर जल संकट बरकरार

पाटलिपुत्र अंचल से दो जल टैंकर रोड पर लगाकर प्यासे लोगों को पानी पिलाया जा रहा हैं। पटना नगर निगम के वार्ड नम्बर- 22 ए में घोर जल संकट बरकरार है। 22ए के नागरिक आई.टी. आई.के सामने जलापूर्ति केंद्र पर रोषपूर्ण प्रदर्शन भी किए।
water-problame-patna
पटना,30 अक्टूबर (आर्यावर्त संवाददाता) । जब केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने जी का स्व. पिताश्री ठाकुर प्रसाद  पश्चिमी पटना के विधायक थे तब सदाकत आश्रम और आई.टी. आई.के सामने जलापूर्ति केंद्र स्थापित करवाएं थे। गोसाई टोला वाला जलापूर्ति केंद्र फेल हो जाने के बाद दूसरा जलापूर्ति केंद्र बना दिया गया। फिलवक्त  आई.टी. आई.के सामने जलापूर्ति केंद्र फेल हो गया है। अब तो पिता के पग पर चलकर पुत्र रविशंकर प्रसाद, सांसद महोदय को जलापूर्ति केंद्र निर्माण करवाना होगा।  जब त्रिस्तरीय ग्राम पंचायत था। तब केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद का स्व. पिताश्री ठाकुर प्रसाद ने पश्चिमी पटना के  विधायक थे तब सदाकत आश्रम और आई.टी. आई.के सामने जलापूर्ति केंद्र स्थापित करवाएं थे। सदाकत आश्रम जलापूर्ति केंद्र खराब होने के बाद जलापूर्ति केंद्र निर्माणकर पेयजल उपलब्ध करा दिया गया।आई.टी. आई.के सामने जलापूर्ति केंद्र खराब हो गया है। नगर के लोगों को पेयजल नहीं मिल रहा है।हाहाकार मचा है। पाटलिपुत्र अंचल से दो जल टैंकर रोड पर लगाकर प्यासे लोगों को पानी पिलाया जा रहा हैं। पटना नगर निगम के वार्ड नम्बर- 22 ए में घोर जल संकट बरकरार है। 22ए के नागरिक आई.टी. आई.के सामने जलापूर्ति केंद्र पर रोषपूर्ण प्रदर्शन भी किए। बताते चले कि पटना नगर निगम में चार की बजाय छह अंचल हो गए। पाटलिपुत्रा और अजीमाबाद अंचल नए रूप से शामिल किए गए है। नगर निगम में पूर्व से नूतन राजधानी अंचल को बांट कर पाटलिपुत्रा अंचल बनाया गया हैं, जबकि पटना सिटी अंचल को काट कर अजीमाबाद अंचल बनाया गया है। बांकीपुर और कंकड़बाग अंचल पूर्व की तरह ही रहेंगे। नवसृजित पाटलिपुत्रा अंचल में 16 वार्ड होंगे। पाटलिपुत्रा अंचल : वार्ड संख्या एक, दो, पांच, छह, सात, आठ, 20, 22, 23, 24, 25, 26, 27, 22ए, 22बी एवं 22 सी।इसकी जनसंख्या तीन लाख 66 हजार 902 बताई गई है। यह जवाहरलाल नेहरू मार्ग बेली रोड को सीमा मानते हुए दो अंचलों में विभाजित किया गया है। इसका प्रस्तावित मुख्यालय वार्ड 22 में अवस्थित जल पर्षद की पानी टंकी की भूमि पर होगा। वर्तमान में यह नूतन राजधानी अंचल के अधिकारियों से ही गाइड होगा। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...