महाविकास अगाडी ने सरकार बनाने का दावा किया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 25 नवंबर 2019

महाविकास अगाडी ने सरकार बनाने का दावा किया

mahavikas-agadi-claimed-to-form-government
मुंबई, 25 नवंबर, महाराष्ट्र में शिव सेना, राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस (महाविकास अगाडी) ने सोमवार को सरकार बनाने को दावा किया और राज्यपाल कार्यालय को अपने समर्थन में 162 विधायकों का हस्ताक्षरित पत्र सौंपा।शिव सेना ने निर्दलीय उम्मीदवारों के अलावा 63 विधायकों , कांग्रेस के 44 और राकांपा के 51 विधायकों के हस्ताक्षर वाले पत्र को सौंपा। समाजवादी पार्टी भी तीनों पार्टियों के साथ शामिल हो गयी और उसने अपने दो सदस्यों के हस्ताक्षर वाला पत्र सौंपा।सभी पार्टियों के नेता आज मुंबई में राजभवन में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के आवास पर गये और पत्र सौंपा, लेकिन राज्यपाल उस समय दिल्ली में थे। राज्यपाल को सौंपे गये हस्ताक्षरित पत्र में राकांपा के तीन नेताओं अजित पवार , अन्ना बनसोद और नरहरि झिरवाल के हस्ताक्षर नहीं थे।इस दौरान सेना, राकांपा और कांग्रेस ने उम्मीद जाहिर कि उच्चतम न्यायालय जल्द से जल्द महाराष्ट्र विधानसभा में बहुमत साबित कराए जाने की घोषणा करेगा।राजभवन में सौंपे गए पत्र में कहा गया है कि अगर भारतीय जनता पार्टी बहुमत साबित करने में असफल रहती है तो शिव सेना के सरकार बनाने के दावे पर विचार किया जाना चाहिए। राकांपा नेता जयंत पाटिल ने बाद में संवाददाताओं से कहा कि हम राज्यपाल कार्यालय या विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए तैयार हैशीर्ष न्यायालय दायर की गयी उस याचिका पर मंगलवार को अपना फैसला सुनायेगा जिसमें तुरंत सरकार बनाए जाने को असंवैधानिक करार दिया था और इस मामले में उच्चतम न्यायालय में गुहार लगाई गई थी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...