सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 26 नवंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 26 नवंबर 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 26 नवंबर

भाजपा अजा मोर्चा कार्यकर्ताओं ने बाबा के विचारों को जनजन तक पहुंचाने का लिया संकल्प  अम्बेडकर पार्क में  मनाया संविधान दिवस

sehore news
सीहोर। भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के कार्यकर्तार्ओ ने मंगलवार को अंबेडकर पार्क में जिला महामंत्री रवि नागले के नेतृत्व में संविधान निर्माता बाबा भीमराव अंबेडकर जी की प्रतिमा पर फूल माला पुष्प अर्पित कर संविधान दिवस मनाया।  कार्यक्रम के दौरान संविधान की उद्देशिका का वाचन किया गया। कार्यकर्ताओं ने बाबा साहब के विचारों को जन-जन तक पहुंचाने और देश की एकता अखंडता में सहयोग करने और संविधान का सम्मान करने की शपथ ली।  कार्यक्रम का शुभारंभ भाजपा सीहेार मंडल अध्यक्ष पिं्रस राठौर के द्वारा किया गया। जिला महामंत्री श्री नागले ने कहा की 26 नवंबर से 6 दिसंबर तक  संविधान परीनिर्माण दिवस के रूप में पूरा सप्ताह मोर्चा मनाएगा। जिसमें केंद्र एवं ब्लॉक स्तर पर महिलाओं को अपने कानून का अधिकार युवाओं को संविधान की व्याख्या वकीलों का शिक्षकों का सम्मान एवं संविधान गोष्ठी का आयोजन किया जाएगा। पूरे सप्ताह संविधान दिवस के रूप में मनाया जाएगा। कार्यक्रम में मुकेश कोली के द्वारा संचालन किया गया।  आभार प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य हरीश कौशल ने व्यक्त किया।  कार्यक्रम में मंडल अध्यक्ष सोनू मालवी मंडल महामंत्री श्रवण जाटव भाजपा मंडल अध्यक्ष सुरेश राठौड़ प्रदेश कार्यालय मंत्री राजू सिकरवार,वरिष्ठ भाजपा नेता धर्मेन्द्र राठौर गोपाल सोनी, प्रदीप बिजोरिया, मानसिंह परमार,भाजपा पार्षद मुकेश मेवाडा कमलेश राठौर अर्जुन राठौर बृजेश परमार,,  कपिल कुशवाहा, हृदेश राठौर ,अजय दिनकर, यासीन पठान, सुभाष बाबा, मोहन चौरसिया, राजू बोयत, ओम प्रकाश, विजय हरपाल,  अनूप चौधरी, कन्हैयालाल, मुकेश विश्वकर्मा, नरेंद्र राजपूत, हेमंत राठौड़, राजेश माझी श्रवण जाटव शरण बाल्मीकि,अजय दीनकर,राजेश परिहार आदि कार्यकर्तागण मौजूद थे। 

मूलभूत सुविधाओं से महरूम कॉलोनीवासी  बिल्डर ने वसूले नागरिकों से लाखों रूपए 

sehore news
सीहोर। अल्हादाखेड़ी के पास स्थित कॉलोनीनाईजर ने मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के नाम पर नागरिकों से लाखों रूपए वसूल लिए लेकिन सड़क, पानी, बिजली सीवेज लाईन सहित अन्य जरूरी सुविधाएं कॉलोनी में उपलब्ध नहीं कराई।  कॉलोनीनाईजर की धोकाधड़ी से परेशान कॉलोनी के रहवासी मंगलवार को जनसुनवाई में पहुंचे और प्रशासनिक अधिकारियों को सुविधाएं नहीं होने से उत्पन्न हो रहीं दिक्कतों से अवगत कराया। नागरिकों ने बताया की बीते दिनों अव्यवस्थित बिजली लाईन के कारण एक व्यक्ति की मौत भी कॉलोनी में हो चुकी है। कॉलोनी में पंद्रह से बीस मकान परिवार निवासरत है पूरा पैसा देने के बाद भी सुविधाओं को तरस रहे है। कॉलोनी के जीवन सिंह, रूपकुमार, हरिचरण गौंड, सविता बाई, पवित्रा बाई, संगीता बाई, प्रकाश आदि ने प्रशासन से कॉलोनीनाईजर को आदेशित कर सुविधाएं उपलब्ध कराए जाने की मांग की है। 


जन विरोधी नाथ सरकार के खिलाफ  भाजपा नेता महाजन प्रदर्शन करेंगे आज 
  
sehore news
सीहोर। भाजपा नेता गौरव सन्नी महाजन के नेतृत्व मेंं सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ताओं और समर्थक बुधवार सुबह नाथ सरकार की किसान विरोधी नीतियों के विरूध अटल चौक पर धरना देंगे। कार्यकर्ता विरोध रैली के रूप में एसडीएम कार्यालय पहुंच कर महामहीम राज्यपाल के नाम किसानों के हित में ज्ञापन देंगे।  भाजपा नेता महाजन ने बताया की नाथ सरकार किसानों को पर्याप्त यूरिया व डीएपी खाद उपलब्ध नही करा रहीं है। किसानों को अब तक राहत राशी 40 हजार प्रति हैक्टेयर नहीं दी है। किसान हितैशी मांगों का निराकरण नहीं किया जा रहा है। किसान का ऋण भी माफी नहीं किया गया है। बाढ़ पीडि़तों को मुआवजा पर्याप्त नहीं दिया गया है। घोषणा के बाद भी गरीबों के बड़े हुए  बिजली बिल माफ  नहीं किए जा रहं है। जिला चिकित्सालय सोनोग्राफी मशीन नहीं है। प्रधानमंत्री आवास योजना के पात्र हितग्राहियों को राशी प्रदान नहीं की जा रहीं है। जनहितैशी मांगों को लेकर प्रदर्शन किया जा रहा है।

चाईल्ड लाईन और व्हाटसेप ग्रुप की मदद से 12 वर्षीय  बालक मिल पाया अपने बिछड़े माता-पिता से 

sehore news
बाल संरक्षण अधिकारी श्री अनिल पोलाया ने जानकारी देते हुए बताया कि 19 नवंबर को श्री अमीर सिंह लोधी का 12 वर्षीय बालक निवासी ग्राम नयागांव पोस्ट गजोरा तहसील पिछोरा जिला शिवपुरी म.प्र. जो कि किसी भैया के साथ घूमने फिरने शादी विवाह के कार्यक्रम में आया हुआ था, वह अपने साथी से बिछड़ गया और ग्राम बैदाखेडी तहसील आष्टा जिला सीहोर में इधर-उधर घूम रहा था, जिसे ग्राम के लोगों की मदद से 1098 चाईल्ड को सूचना दी गई, चाईल्ड द्वारा विषैष किषोर पुलिस इकाई थाना आष्टा में लाया गया जहां पर बालक से पूछताछ की लेकिन बालक मानसिक रूप परेषान एवं कमजोर होने से ज्यादा पूछताछ नहीं की गई, ओर बालक को चाईल्ड लाईन द्वारा बाल कल्याण समिति में प्रस्तुत किया गया, जहां पर बालक की काउंसलिंग की गई, बालक द्वारा उपरोकतानुसार अपने परिवार का नाम एवं पता समिति को बताया गया, समिति द्वारा बालक को बाल गृह भोपाल मे तात्कालिक प्रवेश कराया गया।  बालक के विषय में जिला बाल संरक्षण इकाई सीहोर द्वारा जिला बाल संरक्षण इकाई षिवपुरी से संपर्क किया गया, शिवपुरी बाल संरक्षण अधिकारी श्री राघवेन्द्र शर्मा द्वारा उक्त बालक के विषय में गंम्भीरता दिखाई एवं परियोजना अधिकारी से लेकर मिनी आगंनवाडी नयागांव तक बालक के विषय में जानकारी जुटाई गई, एवं बालक कि रिपोर्ट वाटसएप ग्रुप के माध्यम से भेजी गई, जिसे सीहोर बाल संरक्षण अधिकारी श्री अनिल पोलाया एवं जिला बाल संरक्षण इकाई सीहोर द्वारा बालक के पालक से संपर्क कर पालक को बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत करवाया गया, जहां से बालक के माता-पिता के दस्तावेजों के आधार पर एंव बालक के द्वारा माता-पिता के साथ जाने की सहमति दिये जाने पर बालक को माता-पिता की सुपुर्दगी में दिया गया।  इस प्रकार एक गुमषुदा बालक को विभाग की सक्रियता एवं वाटसएप ग्रुप पर सूचनाओं के आदन प्रदान से उसके घर पहुचाने में मदद मिली।

समय सीमा बैठक में कलेक्टर ने दिए निर्देश 

sehore news
कलेक्टर श्री अजय गुप्ता की अध्यक्षता में मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में समय सीमा बैठक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर ने सभी अनुविभागीय अधिकारी एवं तहसीलदारों को निर्देशित किया कि रबी फसलों के मौसम के दौरान किसानों को खाद या पानी की कोई समस्या न हो इसके लिए को समय-समय पर निरीक्षण करें। बैठक में कलेक्टर ने सभी अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि सीएम हेल्प लाईन पर राजस्व से संबंधित प्रकरणों का जल्द ही निराकरण कराया जाए। भूमि सुरक्षा अधिनियम के तहत शासकीय महाविद्यालयों की भूमि की जांच करें यदि भूमि पर अतिक्रमण है तो भूमि का नियमानुसार सीमांकन करें। इस संबंध में सभी अनुविभागीय अधिकारी 15 दिसंबर तक प्रतिवेदन प्रस्तुत करें।  कलेक्टर ने निर्देशित किया कि नगरीय क्षेत्रों में पट्टे वितरण को लेकर जानकारी प्रस्तुत करें। नगरीय निकाय द्वारा अभी तक कितने पट्टे वितरित किए गए हैं इसकी संपूर्ण जानकारी जल्द तैयार करें। 20 दिसंबर के पहले पट्टे वितरित किए जानें हैं। कलेक्टर ने अनुविभागीय अधिकारी बुदनी को निर्देशित किया कि ग्राम मठागांव में बाघिन को लेकर कोतवालों से मुनादी करवाएं एवं शाम होने के बाद लोगों को जंगल में न जाने दें। बाघिनी की वजह से कोई जनहानि न हो इस हेतु वनकर्मी लगातार निरीक्षण करते रहें।  कलेक्टर ने जिला परिवहन अधिकारी को निर्देशित किया कि इंदौर-भोपाल चलने वाली बसें जो सीहोर में नहीं रुकती हैं उन बस ऑपरेटरों को नोटिस जारी किया जाए। इसी प्रकार जिला शिक्षा अधिकारी को शिक्षक विहीन शालाओं की संपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए। इसी प्रकार कलेक्टर ने अनुविभागीय अधिकारी आष्टा को सड़कों के पेचवर्क व निर्माण का कार्य तथा जावर की पुलिया का कार्य शुरु करवाने के निर्देश दिए गए। 

प्रभारी मंत्री श्री आरिफ अकील 28 को सीहोर आएंगे  

गैस त्रासदी, राहत एवं पुर्नवास, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग मध्यप्रदेश शासन तथा सीहोर जिले के प्रभारी मंत्री श्री आरिफ अकील 28 नवंबर गुरुवार को सीहोर आएंगे। जारी दौरा कार्यक्रम अनुसार प्रभारी मंत्री श्री आरिफ अकील 28 नवंबर को प्रात: 11 बजे भोपाल से कार द्वारा प्रस्थान कर दोपहर 12 बजे सीहोर पहुंचेंगे। जहां नवीन कलेक्ट्रेट भवन के सभाकक्ष में आयोजित जिला योजना समिति की बैठक में भाग लेंगे। दोपहर 2 बजे प्रभारी मंत्री कार द्वारा भोपाल के लिए प्रस्थान करेंगे।  

संविधान दिवस पर अधिकारियों, कर्मचारियों ने ली शपथ 

डॉ. अम्बेडकर द्वारा प्रस्तुत संविधान 26 नवम्बर 1949 को अपनाया गया। इसके तहत शासन के निर्देशानुसार कलेक्ट्रेट सीहोर में भी 26 नवम्बर 2019 को संविधान दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने संविधान दिवस की शपथ दिलाई।  इस अवसर पर जिला अधिकारी एवं विभिन्‍न विभागों के कर्मचारियों ने संविधान दिवस पर उपस्थित होकर सामुहिक रूप से संविधान दिवस की शपथ ली। 

नशामुक्ति एवं शासकीय योजनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए विशेष अभियान 

प्रदेश को नशामुक्त बनाने के लिए 31 मार्च 2020 तक प्रचार-प्रसार कर विशेष अभियान संचालित किया जायेगा। अभियान के तहत शासकीय कला पथक दलों के माध्यम से नशामुक्ति के साथ-साथ शासकीय योजनाओं के प्रचार-प्रसार का कार्य भी किया  जायेगा। प्रत्येक संभाग के लिए दो कला पथक दल का गठन किया जायेगा। कला पथक दलों के माध्यम से नशामुक्ति,  शासकीय योजनाओं पर आधारित नुक्कड़ नाटक एवं गीतों के माध्यम से प्रचार-प्रसार का कार्य किया जायेगा। 

2 दिसंबर से होगा धान का उपार्जन 

धान का उपार्जन 25 नवम्बर 2019 से किया जाना था लेकिन धान उपार्जन की तिथि बढ़ा दी गई है।  अब 2 दिसम्बर से धान का उपार्जन प्रारंभ किया जाएगा। यह निर्णय खरीफ विपणन मौसम 2019-20 की समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन हेतु जारी नीति के अनुसार के अनुसार 25 नवम्बर से प्रारंभ किया जाना था, लेकिन प्रदेश में निरंतर वर्षा होने से धान में नमी का अंश भारत सरकार द्वारा निर्धारित एफएकयू  की सीमा से अधिक होने के कारण राज्य शासन द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि अब धान का 2 दिसम्बर से किया जाएगा।

जिला प्रशासन के निर्देशानुसार रास्जव अमले ने किया  ग्राम चंदेरी पहुंचकर सीमाकंन  

sehore news
बडिय़ाखेड़ी औद्योगिक क्षेत्र के नाम से स्थापित किये गये औद्योगिक क्षेत्र के पूर्व में किये गये सीमांकन के विपरीत ग्राम चन्देरी वासियों की जमीनें अवैध तरीके से कब्जाने से दुखी होकर समाजसेवी एम.एस. मेवाड़ा के नेतृत्व में ग्राम चन्देरी के किसानों ने कलेक्ट्रेट कार्यालय में एकत्रित होकर एकेवीएन ओद्योगिक क्षेत्र के अधिकारी के खिलाफ प्रदर्शन किया था एवं मांग की थी कि पूर्व में हुए सीमांकन के अनुसार ही जमीन का निर्धारण होना चाहिये।  इस पर संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन द्वारा राजस्व दल गठित कर मौके पर भेजा गया। दल द्वारा विवादित स्थल की जांच एवं नपती आदि की गई है। इसके अलावा चन्देरी वासियों की एक और भी मांग है कि औद्योगिक क्षेत्र चन्देरी के अन्तर्गत आने वाली भूमि पर बना है, किन्तु इसे बडिय़ाखेड़ी औद्योगिक क्षेत्र का नाम दिया गया है, जो कि गलत है। मौके पर उपस्थित ग्राम वासियों में ग्राम चन्देरी के समाजसेवी श्री एम.एस.मेवाड़ा, श्री गिरधारीलाल, श्री शंकरलाल, श्री प्रहलादसिंह, श्री चन्दरसिंह पटेल, श्री तुलसीराम, श्री ज्ञानसिंह, श्री माधोसिंह, श्री प्रेमसिंह, श्री सुनील, श्री रामचन्दर, श्री रामकिशन, श्री कैलाश,  श्री अर्जुन, गोविन्द, श्री फूलसिंह सहित अन्य किसान थे।

"शुद्ध के लिए युद्ध" के तहत किया जा रहा है कीटनाशक, उर्वरक एवं बीज विक्रय केन्द्रों का निरीक्षण, लिए जा रहे नमूने

sehore news
कृषकों को मानक स्तर का खाद बीज एवं कीटनाशक प्राप्त हो इसके लिए जिले में 30 नवंबर तक गुणनियंत्रण ‘‘शुद्ध के लिए युद्ध’’ हेतु सघन अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें जिला स्तर/अनुविभाग स्तर एवं विकासखण्ड स्तर पर टीम गठित कर खाद, बीज एवं कीटनाशक विक्रेताओं के विक्रय केन्द्रों का निरीक्षण किया जा रहा है। इसी तारतम्य मंगलवार को जिला अन्तर्गत 150 कीटनाशक विक्रेताओं के विक्रय केन्द्र का निरीक्षण करते हुए 31 कीटनाशक नमूनें लिए गये एवं 133 बीज विक्रेताओं के विक्रय केन्द्र का निरीक्षण करते हुए 115 नमूने एवं इसी प्रकार 176 उर्वरक विक्रेताओं के विक्रय केन्द्रों का निरीक्षण करते हुए 138 उर्वरक नमूने लिये गये। विक्रेताओं के विक्रय केन्द्रों के अव्यवस्थित रिकार्ड पाये जाने पर संबंधित विक्रेताओं को वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी द्वारा 03 दिवस के अन्दर रिकार्ड दुरूस्त कर दिखाने हेतु निर्देशित किया गया। इस कार्यालय में प्राप्त निरीक्षण प्रतिवेदन में पाई गई अनियमितताओं के कारण 42 विक्रेताओं को कारण बताओं नोटिस जारी किये गये हैं। प्रतिउत्तर प्राप्त होने पर आगामी कार्यवाही की जाएगी। इस अभियान के तहत 30 नवंबर  तक लगातार सघन निरीक्षण किये जायेंगें एवं किसी भी प्रकार की अनियमितता पाये जाने पर कीटनाशी अधिनियम 1968/ उर्वरक नियंत्रण आदेश 1985 एवं बीज अधिनियम 1966 के तहत कार्यवाही की जावेगी।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने मनाया संविधान दिवस

sehore news
सर्वोच्च न्यायालय नई दिल्ली के अंतर्गत राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण एंव उच्च न्यायालय जबलपुर के अंतर्गत राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार एंव माननीय जिला एवं सत्र न्यायाधीशध्अध्यक्ष मार्गदर्शन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा संविधान दिवस के उपलक्ष्य में सत्य साई कॉलेज पचामा में संविधान दिवस मनाया गया। जिसमें श्री एस.के.नागौत्रा अपर जिला एंव सत्र न्यायाधीश/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, अधिवक्ता श्री शिवकुमार दलोद्रिया, श्रीमती बरखा वर्मा, रिटेनर श्री संजय पटेल व कॉलेज रजिस्ट्रार जी. एस. तेलोकर व परीक्षक नियंत्रक श्री संजय राठौर, कॉलेज की डीन त्रिपाठी मेडम एवं अन्य फेकल्टी लगभग 150 की संख्या में एवं पैरालीगल वालेंटियर्स सना खान, श्री आबिद खान, मोना प्रजापति, श्री सोहेल खान, दिव्या शुक्ला, पूजा महेश्वरी, जगदीश दुबे सहित जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कर्मचारीगण उपस्थित थे। कार्यक्रम में श्री शैलेन्द्र कुमार नागौत्रा अपर जिला न्यायाधीश/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा सरस्तवती माँ परदीप प्रज्जवलन कर कार्यकम का शुभारंभ कर प्रस्तावना का वाचन किया गया। सचिव द्वारा उपस्थित छात्र/छात्राओं व फेकल्टी को संविधान के अनुच्छेद 51.ए के अतिरिक्त अनुच्छेद 39.ए के बारे में बताया गया एव श्री शिवकुमार दलोदिया ने मौलिक अधिकारए मौलिक कर्तव्य व संविधान का पालन करने की सलाह देकर उनको अच्छे नागरिक बनने के लिए प्रेरित किया गयाए श्रीमती बरखा वर्मा ने संविधान महत्वपूर्ण है उसके बारे में संविधान की रचना विभिन्न देशों से प्राप्त करने के बारे में विस्तृत चर्चा कर उन्होने देशभक्ति गीत की प्रस्तुति दी गई। साथ ही रिटेनर अधिवक्ता ने संविधान की उद्देशिका के बारे में एंव संविधान का निर्माण डाक्टर भीमराव अम्बेडकर के द्वारा किया गया हैए भारत देश का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा संविधान कहा गया हैए विस्तृत रूप से बताया गया है। कार्यक्रम में परीक्षक नियंत्रक संजय राठौर के द्वारा अधिकारीगणों का आभार व्यक्त कर शिविर का समापन किया गया। 

सृष्टि के अस्तित्व के लिए आवश्यक है महासागरों का संरक्षण "विशेष लेख"

विश्व एक परिवार है, हम इस विचार में विश्वास करते हैं वैश्वीकरण के वर्तमान युग में यह ध्यान से समझना होगा कि वे कौन से विषय हैं, जिन पर हमें काम करना है, ध्यान देना है और ध्यान केंद्रित करना है। नई पीढ़ी और विशेष रूप से युवा पृथ्वी की रीढ़ हैं। हमारे जीवन की कुछ जीवन रेखाएँ हैं जो जीवन जीने के लिए अविभाजित भाग हैं। हम उन्हें अच्छे और पृथ्वी के अनुकूल पर्यावरण, जल, शिक्षा, संरक्षित समाज और प्रदूषण मुक्त वातावरण आदि के रूप में उल्लेखित कर सकते हैं।े पृथ्वी के सामने कई चुनौतियां भी हैं जैसे जलवायु परिवर्तन और कई अन्य पर्यावरणीय मुद्दे। आइए महासागरों और पर्यावरण के बारे में बात करते हैं।
“झूमेगा हर जीव का कण-कण, महासागर का करें संरक्षण॥”

वर्तमान मुद्दे - समुद्र पर लाखों जीवन निर्भर हैं। महासागरों से जुड़े कुछ सबसे बड़े मुद्दे हैं जो दुनिया के लिए बहुत हानिकारक हैं। मुद्दे निम्नानुसार हैं: -
क्लाइमेट चेंज - क्लाइमेट चेंज एक वैश्विक मुद्दा है, जो तापमान, निवास, पर्यावरण, मनुष्य और जानवरों को प्रभावित कर रहा है । मानव कर्मों के कारण पृथ्वी का तापमान लगातार बढ़ रहा है जो हिमालय की बर्फ, ग्लोबल वार्मिंग और पानी की कमी का कारण बनता है। महासागरीय प्रदूषण - महासागर लगातार प्रदूषित हो रहे हैं । यह प्रदूषण वाटर एनिमल्स, कोरल रीफ्स और जलीय जीवों के लिए हानिकारक है । इसके अलावा महासागरों में प्लास्टिक भी प्रदूषण का एक उत्पादक है । यह कई मृत जानवरों के लिए जिम्मेदार है। महासागरीय अम्लीकरण -महासागर प्राकृतिक प्रक्रियाओं के माध्यम से CO2 को अवशोषित करता है, लेकिन जिस दर से हम इसे जीवाश्म ईंधन के माध्यम से वायुमंडल में पंप कर रहे हैं, महासागर का पीएच संतुलन उस बिंदु तक गिर रहा है, जहां समुद्र के भीतर जीवन का सामना करने में कठिनाई हो रही है । यह अम्लीकरण समुद्रों के पारिस्थितिक तंत्र को प्रभावित करता है और महासागरों के वातावरण को खराब करता है। ओवरफिशिंग - ओवरफिशिंग पृथ्वी के सबसे बड़े निवास स्थान को खतरे में डालती है । ओवरफिशिंग से होने वाले नुकसान ने समुद्री पर्यावरण को प्रभावित किया है । अरबों लोग प्रोटीन के लिए मछली पर भरोसा करते हैं, और मछली पकड़ना दुनिया भर के लाखों लोगों के लिए प्रमुख आजीविका है। परिवहन का बढ़ना-समुद्रों और महासागरों के माध्यम से परिवहन के बढ़ते स्तर ने इसे प्रदूषित बना दिया है। इसने समुद्री पारिस्थितिकी तंत्र और समुद्री जीवों के जीवन को विचलित कर दिया है।  प्रमुख तथ्य - संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन के अनुसार 31.4 प्रतिशत मछली स्टॉक या तो क्षमता से अधिक है या ओवरफिशिंग है। हम एक साथ काम कर सकते हैं। लाखों लोगों के जीवन और पर्यावरण को बचाने के लिए, एक साथ काम करना बुनियादी आवश्यकता है। यह सही कहा गया है कि "संगठन ही शक्ति है।" केवल कुछ संगठन या देश इन वैश्विक मुद्दों को नियंत्रित नहीं कर सकते हैं । पर्यावरण की रक्षा के लिए राष्ट्रमंडल देश आसानी से मिलकर काम कर सकते हैं । कनेक्टेड कॉमनवेल्थ पर्यावरण को बचाने के लिए कई तरह की सकारात्मक कार्रवाई कर सकता है।  कुछ नवीन विचार हैं जो उपयोगी हो सकते हैं । विचार निम्नलिखित हैं: - अंतर्राष्ट्रीय व्यापार और परिवहन देशों के बीच महासागरों पर आधारित हैं । व्यापारियों या जहाज मालिकों को अंतरराष्ट्रीय या स्वयंसेवी संगठनों के स्थान पर स्वच्छता और प्रदूषण मुक्त व्यापार की जिम्मेदारी लेनी चाहिए । राष्ट्रमंडल देशों को रणनीति बनाने और एक साथ काम करने के लिए वैश्विक कार्यक्रमों और अभियानों का आयोजन करना चाहिए। पर्यावरण को बचाने के लिए युवाओं को शामिल करना सबसे महत्वपूर्ण है । महासागरों के रास्ते पर वैश्विक युवा विनिमय कार्यक्रम होने चाहिए। उन्हें सटीक वर्तमान मुद्दों और विचारों के बारे में व्यावहारिक रूप से सिखाया जा सकता है। सतत विकास लक्ष्य सही कार्य दिशा का मार्ग भी हो सकता है। प्रदूषण अभिनेताओं को कानूनी रूप से दंडित किया जाना चाहिए। विश्व स्तर पर स्वयंसेवी संगठनों को बढ़ाया जाना चाहिए।  संपूर्ण तथ्यों और क्षेत्रों को देखकर निष्कर्ष पानी के रूप में पारदर्शी है। महासागर पृथ्वी की रीढ़ की तरह हैं। यह खाद्य स्रोत, तापमान नियंत्रक, लाखों प्रजातियों का आवास और पर्यावरण का जीवन है। पर्यावरण को बचाने के लिए महासागरों को बचाना होगा। महासागरों से जुड़कर हम पर्यावरण की रक्षा के लिए मिलकर काम कर सकते हैं। इसकी सुरक्षा करना हमारी जिम्मेदारी है। यह जिम्मेदारी केवल एक देश के लिए नहीं है, बल्कि यह विश्व के लिए भी जिम्मेदारी है। हमें लाखों जल प्रजातियों को बेघर नहीं करना है। हमें उन्हें एक नई पहल के साथ बचाना होगा। हमें एक शांतिपूर्ण विश्व बनाना है। 

कोई टिप्पणी नहीं: