विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 10 नवंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 10 नवंबर 2019

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 10 नवंबर

खुशियो की दास्तां : छात्रावास में हस्तकला नक्काशी से प्रशिक्षित हो रही है छात्राएं 

vidisha news
जिले की छात्रावासों में रह रहे छात्र-छात्राओं के लिए अध्यापन कार्यो के लिए तमाम बुनियादी सुविधाएं पूर्वानुसार मुहैया कराई जा रही है। विदिशा जिले के छात्रावासों मेंं किए गए नवाचारों से छात्राएं लाभांवित होकर हस्तकला नक्काशी के क्षेत्र में निपुणता हासिल कर रहे है।  जिले के दूरस्थ लटेरी तहसील के ग्राम झूकरजोगी में संचालित कस्तूरबा बालिका छात्रावास की छात्राओं द्वारा धागा, बांस, ऊन और काष्ठ पर की गई कलाकृतियां को प्रदर्शन गत दिवस सम्पन्न हुए आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के तहत आयोजित शिविर स्थल मुरवास में सबका ध्यान अनायास आकर्षित हो रहा था। दसवीं मेंं अध्ययनरत छात्राओं के द्वारा शासन की योजनाओं के तहत नक्काशी कला के क्षेत्र में बकायदा छात्रावास में ही प्रशिक्षण प्राप्ति के उपरांत अपने हुनर को निखारा है।  दसवीं में अध्ययनरत छात्रा भारत राजपूत, पूनम विश्वकर्मा और आठवीं में पढ़ रही छात्रा कुमारी उपासना मैना और कुमारी ज्योति रैकवार ने बताया कि छात्रावास में मास्टर ट्रेनर्स प्रियंका रैकवार दीदी के द्वारा सप्ताह में तीन दिन हम सबको हस्तकला के द्वारा हम कैसे कलाकृतियों का नवाचार कर सकें। छात्रावास की अधीक्षिका ने बताया कि शासन की मंशा के अनुरूप छात्रावासी छात्राओं को अध्ययनकाल के दौरान ही स्वरोजगारी बनाने हेतु बकायदा पढ़ाई लिखाई के दौरान ही प्रशिक्षित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि छात्रावास से पढ़कर निकली छात्रा आरती ने शादी के उपरांत यहा हासिल की गई हस्तकला का उपयोग योजना से लाभांवित होकर स्वंय को स्वरोजगार से स्थापित किया है।  छात्रावास यहां छात्राओं को शैक्षणिक कार्यो में सुगमता प्रदान कर रहे है वही उन्हें रोजगार के क्षेत्र में आत्म स्वावलम्बन की और कैसे बडे़ से भी शैक्षणिक काल में प्रशिक्षित हो रहे है। 

खुशियो की दास्तां : समुन्नत योजना ने मुर्रापाड़ा दिया कन्हैया को  पशु नस्ल सुधार में होगी मदद 

vidisha news
दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों के देशी भैंसवंशी पशुओं की नस्लों के सुधार के लिए राज्य सरकार द्वारा समुन्नत योजना के तहत अनुदान पर मुर्रापाड़ा प्रदाय किए जा रहे है। उक्त योजना से जिले के लाभांवित पशुपालकों के यहां हुए नस्ल सुधार के परिणाम स्पष्ट परलिक्षित हो रहे है।  लटेरी तहसील के ग्राम वीरपुरकलां के कृषक कन्हैया लाल ने जब दूसरों के यहां पशु नस्ल सुधार से हुई आमदनी को देखा तो उनका मन भी अपने यहां के भैंसवंशी पशुओं में नस्ल सुधार की ओर अग्रसर हुआ और इस कार्य में उनकी मदद पशुपालन विभाग के द्वारा मदद की गई है।  आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में जब पशुपालक कन्हैया पुत्र मांगीलाल को मुर्रापाड़ा स्वीकृति पत्र प्रदाय किया गया तो हितग्राही की आंखो में चमक अलग नजर आ रही थी। हितग्र्राही कन्हैया से चर्चा की तो उन्होंने बताया कि विभाग के अधिकारियों ने बताया कि नस्ल सुधार से जहां मुझे पहले दस लीटर दूध मिलता था अब उसकी जगह 15 से 18 लीटर मिलने लगेगा। शासन की योजना का पूर्व में लाभ ले चुके लोगो से जब मैंने जाना तब मुझे पता चला ‘‘हींग लगे ना फिटकरी सब चौंखा चौंखा’’। पशुपालन विभाग की और से कन्हैया को 45 हजार की लागत से उन्नत नस्ल का मुर्रापाड़ा हरियाणा राज्य से मंगवाकर प्रदाय किया गया है जिसमें हितग्राही को 75 प्रतिशत का अनुदान शेष राशि हितग्राही के द्वारा दी गई है। योजना के लाभ को देखकर अन्य हितग्राही योजना से लाभांवित होने के लिए लालायित हो रहे है।

दिशा की बैठक 16 को

जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति (दिशा) की बैठक 16 नवम्बर को आहूत की गई है। सांसद श्री राजबहादुर सिंह की अध्यक्षता में आहूत उक्त बैठक जिला पंचायत के सभागार कक्ष में दोपहर एक बजे से शुरू होगी।  कलेक्टर एवं समिति के सचिव श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने उक्त बैठक में विभागीय योजनाओं की  भौतिक एवं वित्तीय अद्यतन प्रगति की जानकारियों सहित समय पर बैठक में उपस्थित होने के निर्देश संबंधित विभागों के अधिकारियों को जारी किए गए है। 

बौनी रकवे का ऑन लाइन सत्यापन करें

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने जिले के समस्त तहसीलदारो को निर्देश दिए है कि पंजीकृत किसानों के बौनी के रकवे का ऑन लाइन सत्यापन कार्य बीस नवम्बर तक पोर्टल पर दर्ज करना सुनिश्चित करें।  प्रदेश में खरीफ 2018 फ्लैट भावांतर योजना के अंतर्गत विक्रय करने वाले पंजीकृत कृषकों के एनआईसी भोपाल के द्वारा मक्का, सोयाबीन की बौनी जिन कृषकों के द्वारा की गई है उनके रकवे का राजस्व अधिकारियों द्वारा सत्यापन ई उपार्जन पोर्टल पर दर्ज किया जाएगा। मध्यप्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड के प्रबंध संचालक श्री अशोक कुमार वर्मा ने बताया कि पोर्टल नवम्बर माह की 11 से 20 तक खुला रहेगा। उपरोक्त कार्य सुगमता से हो सकें इसके लिए तहसीलदारों को लॉगिग आईडी पासवर्ड पूर्व में ही प्रदाय किए जा चुके है।  ऑन लाइन अपलोड करने के लिए जो शर्ते उल्लेखित है उनमें सत्यापन करने वाले अधिकारी का नाम, पदनाम एवं भौतिक सत्यापन करने की तिथि का उल्लेख अनिवार्य है साथ ही साथ सत्यापन  की तिथि खरीफ 2018 में उपज की सीजन से मेल खाता है दर्ज करना होगा।  अतः जिले के सूचीबद्व ऐसे कृषक जिनके द्वारा मक्का एवं सोयाबीन के विक्रय हेतु पंजीयन कराया गया है। उन सभी पंजीकृत कृषकों के बौनी रकवे का पोर्टल पर सत्यापन समय सीमा में करने के निर्देश संबंधितों को दिए गए है। 

पोषण शालाओं का आयोजन

जिले की शालाओं में पोषण अभियान के अंतर्गत पोषण पाठशालाओं का आयोजन किया जाएगा इसके लिए निर्धारित सामग्री विकासखण्डों के प्रत्येक स्कूलों के लिए मुहैया कराई गई है। जिला शिक्षा अधिकारी श्री एसपी त्रिपाठी ने बताया कि आयोजन का मुख्य उद्वेश्य शैक्षणिक संस्थाओ में अध्ययनरत बच्चे कुपोषित ना हो साथ ही साथ कुपोषण से कैसे निजात मिले की जानकारी बच्चे अपने घर में पहुंचकर अपने अभिभावकों एवं अन्य को दे सकें।  जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि जिले के सभी सातों विकासखण्डो के लिए शालाओं में पोषण अभियान की मंशा पर आधारित प्रचार सामग्री मुहैया कराई गई है। उपलब्ध कराए गए फ्लैक्सो को शैक्षणिक संस्थान के सार्वजनिक स्थल पर चस्पा कराने के निर्देश भी दिए गए है। शाला में पोषण अभियान अंतर्गत प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएगी और विद्यालय में प्रथम आठ स्थान हासिल करने वालों को प्रमाण पत्र से सम्मानित करते हुए अन्य उपहार प्रदाय किए जाएंगे। 

क्षति के 23812 प्रकरणों में राहत राशि का वितरण

जिले में हुई अतिवर्षा एवं जलभराव के कारण हुए आंशिक पूर्ण मकान, कुंआ एवं  अन्य सामग्री क्षति के कुल 23812 प्रकरण पंजीबद्व किए गए थे उक्त सभी प्रकरणों में पीड़ितों को कुल नौ करोड़ सात लाख 33 हजार 811 रूपए की राहत राशि वितरित की जा चुकी है।  अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने बताया कि सर्वाधिक प्रकरण विदिशा नगरीय क्षेत्र में चार हजार दो सौ प्रकरणों में दो करोड़ 90 लाख तीन हजार 657 रूपए की राहत राशि वितरित की गई है शेष अन्य तहसीलो में दर्ज प्रकरणों एवं वितरित राहत राशि की जानकारी इस प्रकार से है। विदिशा (ग्रामीण) में 3091 प्रकरणों में एक करोड़ 37 लाख 95 हजार तीन सौ रूपए, सिरोंज में 2693 प्रकरणों में 85 लाख 87 हजार 775 रूपए, बासौदा में 4393 प्रकरणों में 58 लाख 49 हजार, त्योंदा के 842 प्रकरणों में 16 लाख 23 हजार, लटेरी के 1156 प्रकरणों में 43 लाख 78 हजार आठ सो रूपए, कुरवाई के 915 प्रकरणों में 47 लाख 70 हजार तीन सौ रूपए, पठारी के 172 प्रकरणों में पांच लाख 18 हजार, शमशाबाद के 2594 प्रकरणों में एक करोड़ बीस लाख 97 हजार पांच सौ, नटेरन के 2317 प्रकरणों में 61 लाख 76 हजार आठ सौ, ग्यारसपुर के 682 प्रकरणों में दस लाख 12 हजार दो सौ रूपए तथा गुलाबगंज तहसील के 757 प्रकरणों में 29 लाख 23 हजार पांच सौ रूपए की राहत राशि जारी की गई है। 

जन एवं पशुहानि के प्रकरणों में राहत राशि जारी

जिले में हुई अतिवर्षा एवं जलभराव से निर्मित स्थिति के कारण कुल 23 जनहानि एवं 87 पशुहानि हुई है। उपरोक्त प्रकरणों में राहत राशि का वितरण किया जा चुका है।  अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने बताया कि जिले की विदिशा ग्रामीण तहसील में सात जनहानि के प्रकरण पंजीबद्व किए गए थे इन प्रकरणों में मृतकों के निकटतम परिजनों को कुल 28 लाख की आर्थिक मदद जारी की गई है। इसी प्रकार सिरोंज तहसील के पांच प्रकरणों में बीस लाख, बासौदा के चार प्रकरणों में 16 लाख, त्योंदा के दो प्रकरणों में आठ लाख, लटेरी के तीन प्रकरणों में 12 लाख, कुरवाई के पांच प्रकरणों में बीस लाख , पठारी के एक प्रकरण में चार लाख, शमशाबाद एवं नटेरन के दो-दो प्रकरणों में क्रमशः आठ-आठ लाख रूपए की तथा गुलाबगंज तहसील में एक जनहानि के प्रकरण में चार लाख रूपए की राहत राशि जारी की गई है।  उपरोक्त अवधि के दौरान जिन पशुपालकों के पशुधन की हानि हुई है तदानुसार दर्ज कुल 87 प्रकरणों में पांच लाख 26 हजार रूपए की राहत राशि प्रदाय की गई है। तहसीलवार दर्ज प्रकरण और प्रदाय राशि की जानकारी तदानुसार विदिशा ग्रामीण क्षेत्र के पांच पशुहानि प्रकरणों में 31 हजार, सिरोंज के 17 प्रकरणों में एक लाख 76 हजार, बासौदा के दो प्रकरणों में 11 हजार तथा लटेरी तहसील के 11 प्रकरणों में एक लाख पांच हजार, कुरवाई के एक प्रकरण में तीस हजार, शमशाबाद के चार प्रकरण में छह हजार पांच सौ, नटेरन के 44 प्रकरण में एक लाख 35 हजार पांच सौ, ग्यारसपुर के दो प्रकरणों में छह हजार तथा पठारी तहसील के एक पशुहानि प्रकरण में 25 हजार रूपए की राहत राशि प्रदाय की गई है। 

आपातकालीन ड्यूटी डाक्टरों को जिम्मेदारी

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ग्यारसपुर के प्रभारी चिकित्सक डाक्टर कल्बे अब्बास जैदी 29 नवम्बर तक प्रशिक्षण प्राप्ति हेतु संस्थान से बाहर रहेंगे। उक्त अवधि तक चिकित्सकों के लिए आपातकालीन ड्यूटी निर्धारित दिवस पर उपस्थित होने के निर्देश प्रसारित किए गए है।  जिन चिकित्सकों के द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ग्यारसपुर में आपातकालीन ड्यूटी हेतु तैनात किया गया है तदानुसार सोमवार को डाक्टर टीएस मीना, मंगलवार एवं तृतीय रविवार को डॉ नथ्थी अहिरवार, बुधवार एवं गुरूवार, शनिवार एवं प्रथम एवं चतुर्थ रविवार को डॉ बीपी शर्मा, शुक्रवार एवं द्वितीय रविवार को डॉ विभूति श्रीवास्तव को दायित्व सौंपा गया है।

संभागायुक्त की वीडियो कान्फ्रेंसिंग 20 नवम्बर को

भोपाल संभागायुक्त श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव की अध्यक्षता में 20 नवम्बर को सांय साढे चार बजे से वीडियो कान्फ्रेस आयोजित की गई है।  कमिश्नर श्रीमती श्रीवास्तव ने संभाग के समस्त कलेक्टर्स को वीडियो कान्फ्रेंस में नियत तिथि एवं समय पर जानकारी सहित उपस्थित होने के निर्देश दिए हैं।

श्रेष्ठ सूक्ष्म एवं लघु इकाईयों से पुरस्कार के लिये आवेदन आमंत्रित

सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग द्वारा वर्ष 2018-19 में उत्कृष्ट कार्य करने वाली सूक्ष्म एवं लघु इकाईयों से राज्य स्तरीय पुरस्कार के लिये आवेदन आमंत्रित किये गये हैं। आवेदन विभागीय पोर्टल उचउेउमण्हवअण्पद पर 11 नवम्बर से 10 दिसम्बर तक स्वीकार किये जायेंगे। इच्छुक इकाईयाँ विभागीय पोर्टल पर निर्धारित प्रपत्र पर आवश्यक सहपत्रों के साथ ऑनलाइन आवेदन कर सकती हैं। पुरस्कार से संबंधित प्रपत्र एवं सभी अन्य आवश्यक जानकारी विभागीय पोर्टल उचउेउमण्हवअण्पद पर उपलब्ध है। उल्लेखनीय है कि विभाग द्वारा प्रदेश की सूक्ष्म एवं लघु इकाईयों को प्रोत्साहित करने के लिये प्रतिवर्ष श्रेष्ठ कार्य करने वाली इकाईयों को राज्य स्तरीय पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है।

जिले के प्रेरणादाई कार्य करने वाले व्यक्तियों पर बनेगी फिल्म

मध्यप्रदेश शासन द्वारा जिले की ऐसी शख्सियत की लघु फिल्म तैयार की जा जाएगी। जिन्होंने अपने व्यक्तित्व एवं कृतित्व से लोगों के कल्याण हेतु उल्लेखनीय कार्य किए हैं जिले में इस प्रकार के कार्य करने वाले व्यक्ति अपना बायोडाटा तथा किए गए कार्यों के संबंध में डिजिटल माध्यम से जानकारी फोटो वीडियो एकत्रित कर एक सप्ताह के अंदर जिला जनसम्पर्क कार्यालय में अधिकारी को प्रदाय कर सकते है  अथवा सूचनाएं संप्रेषित कर सकते है। कलेक्टर द्वारा इस प्रकार के व्यक्तित्वधारियों की सूची जनसम्पर्क विभाग के मध्यप्रदेश शासन को भेजी जाएगी ताकि चयनित व्यक्तित्व और कृतित्व के आधार पर एक लघु फिल्म तैयार की जाएगी।

खुले पेट्रोल विक्रय पर रोक-सुरक्षित भण्डार रखें

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने कानून एवं व्यवस्था की स्थिति का दृष्टिगत रखते हुए मप्र मोटर स्परीट तथा हाई स्पीड डीजल आयल (अनुज्ञापन तथा नियंत्रण आदेष) के अर्न्तगत निर्देषित किया जाता है कि सभी पेट्रोल /डीजल पम्पों पर पेट्रोल खुले डिब्बो में ना दिया जाए। 

कक्षा 5 से 12 तक छात्रों को मिलेगा रोजगार मूलक प्रषिक्षण

क्रिस्प संस्था भोपाल ;ैत्प्ैच्द्ध द्वारा 5 से 12 तक के छात्रों को रोजगार मूलक प्रषिक्षण दिया जाएगा। कलेक्टर द्वारा निर्देष दिए कि सभी नगरीय क्षेत्रों एवं ग्रामों में इसका व्यापक प्रचार प्रसार किया जाएगा। अधिक जानकारी के लिए आईटीआई संस्थान कार्यालय से सम्पर्क किया जा सकता है।

कच्ची समाज द्वारा डॉक्टर अग्रवाल का सन्मान  

vidisha news
शासकीय सेवा मे रहते हुए समाजसेवा की अनुकरणीय मिसाल पेश करने वाले शासकीय जिला चिकित्सलय रायसेन में पदस्थ डॉक्टर अबधेशचंद्र अग्रवाल का कच्छी जैन समाज विदिशा द्धारा  सन्मान किया गया। डॉ. अग्रवाल ने अपनी सेवा अबधि के दौरान 60000 से अधिक आंखो के  सफल ऑपरेशन कर शासकीय सेवा में एक अनूठी  मिशाल पेश की है। सन्मान करते हुए कच्ची जैन समाज के वरिष्ठ सदस्य अतुल रतनशी शाह ने   डॉक्टर अग्रवाल की सेवाओ को प्रेरणादायी बताते हुए, युवाओ, विशेषकर डॉक्टरो से ऐसी ही मिशाल पेश करने का आव्हान किया है। उन्होंने कहा कि डा‌. अग्रवाल ने सिफ॑ रायसेन-विदिशा में ही नहीं, ब्लकि भारतबर्ष को पहचान दी है। सम्मान को ग्रहण करते हुए डा. अग्रवाल ने कहा कि यह सन्मान उन्हे और अधिक सेवा करने की प्रेरणा देता रहेगा। वह विदिशा के समाजसेवियो के साथ मिलकर इस सेवा कार्य को आगे तक ले जायेगे। विदिशा कच्छी जैन ओसवाल समाज के अध्यक्ष श्री त्रिलोक सावला एंव सचिव अतुल साबला द्वारा अतिथियो का  स्वागत  पुष्पहारो से किया गया। इस अवसर पर समाजसेवी श्री दिनेश अग्रवाल, प्रवीण मिश्रा अनिल तिवारी सभी का सन्मान समाज के बरिष्टजनों द्वारा किया गया। कार्यक्रम में समाज के महिला- पुरुष बडी संख्या में उपस्थित थे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...