संविधान के लिए लड़ रहे लोगों का दमन कर रही है सरकार : प्रियंका गाँधी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 22 दिसंबर 2019

संविधान के लिए लड़ रहे लोगों का दमन कर रही है सरकार : प्रियंका गाँधी

government-cruel-for-protesters-priyanka-gandhi
नयी दिल्ली, 21 दिसम्बर, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर-एनआरसी तथा नागरिकता संशोधन कानून को संविधान की आत्मा तथा गरीब जनता के खिलाफ बताते हुए कहा है कि लोग संविधान की रक्षा के लिए सड़क पर लड़ रहे हैं लेकिन सरकार बर्बरता से उनका दमन कर रही है। श्रीमती वाड्रा ने शनिवार को यहां जारी एक बयान में कहा कि एनआरसी और नागरिकता संशोधन कानून देश की गरीब जनता के खिलाफ है। सरकार का यह कदम संविधान की मूल आत्मा के विरुद्ध है और किसी भी कीमत पर बाबा साहेब अंबेडकर के संविधान पर हमला नहीं होने दिया जाएगा। संविधान पर हो रहे इसी हमले के विरुद्ध देश की जनता सड़कों पर लड़ रही है। उन्होंने कहा कि लोग अपने अधिकारों की लड़ाई सड़कों पर उतर कर लड़ रहे हैं लेकिन सरकार आंदोलन कर रहे लोगों के खिलाफ बर्बरता से पेश आ रही है और दमन तथा हिंसा पर उतारू है। संविधान को बचाने का यह आंदोलन देश के सभी हिस्सों में चल रहा है लेकिन देश के हर हिस्से में प्रदर्शनकारियों पर कार्रवाई की जा रही है। सरकार इन विरोध प्रदर्शनों में शामिल हो रहे छात्रों, बुद्धिजीवियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, वकीलों और पत्रकारों की गिरफ्तारी कर रही है और यह निंदनीय है। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने जैसे नोटबन्दी में गरीबों को लाइन में खड़ा किया था अब एनआरसी और नागरिकता संशोधन कानून के नाम पर लोगों को उसी तरह से लाइन पर खड़ा करने की तैयारी है। सरकार इसके लिए एक ‘निश्चित तारीख’ तय करेगी और हर एक भारतीय को अपनी भारतीयता सिद्ध करने के लिए उस तारीख से पहले का कोई मान्य दस्तावेज पेश करना पड़ेगा। इस प्रक्रिया में सबसे ज़्यादा गरीब और वंचित लोगों को प्रताड़ित किया जाएगा।  

कोई टिप्पणी नहीं: