बिहार : रांची से मेल स्टाफ नर्स का पार्थिव शरीर पटना में आया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 3 दिसंबर 2019

बिहार : रांची से मेल स्टाफ नर्स का पार्थिव शरीर पटना में आया

पटना के कुर्जी पल्ली में 11 बजे से मिस्सा होने के बाद पार्थिव शरीर को कब्रिस्तान में दफन कर दिया जाएगा.इसके पूर्व शव को बांसकोठी में दर्शनार्थ रखा जाएगा.
nurse-body-take-came-from-ranchi-to-patna
पटना,3 दिसम्बर. रांची बरियातू रोड पर मौत दौड़ती है.कारण रांची पुलिस रात में चादर तान सोती रहती है. पुलिसिया बंदिश से बेफिक्र भारी वाहन चलाने वाले चालक नाजायज फायदा उठाते रहते हैं. इस बार आज मंगलवार को तड़के सवा एक बजे रात में सेवन डेज हॉस्पिटल के दो मेल स्टाफ नर्स चपेट में आ पड़े. उनका कसूर यह था कि रात में बाइक चलाकर किनारे-किनारे से ही डेरा जा रहे थे. रात के बादशाह भारी वाहन चलाने वाले होते हैं. ट्रक पर बैठकर बेलगाम हो जाते हैं। तेज रफ्तार से ट्रक चलाकर जाने वाले के बाइक में जोरदार ठोकर मार दी.जिसके कारण आशीष रोबिन व रॉबर्ट की मौत हो गई.वहीं सुनशान राह देखकर ट्रक चालक वाहन को भगा ले जाने में सफल हो गया. सेवन डेज हॉस्पिटल में बिहार के आशीष रोबिन और सिक्किम के रॉबर्ट मेल स्टाफ नर्स थे.दो ईसाई परिवार से संबंधित थे.सड़क दुर्घटना में मारे जाने से दोनों परिवारो के बीच में गम का वज्रपात हो गया.दोनों का पोस्टमार्टम रांची स्थित हॉस्पिटल में हुआ.इसके बाद शव को दोनों मेल स्टाफ नर्स के परिजनों को सौंप दिया गया.बिहार के रेमंड ओस्ता को आशीष रोबिन का शव सौंप दिए जो रिश्ते में मामा हैं. अंतोनी जोन ने कहा कि रांची से दो बजे शव के साथ पटना आ रहे हैं. शव जब हजारीबाग पहुंचा तो राजन क्लेमेंट साह ने आशीष रोबिन को बरही विधानसभा क्षेत्र में वाहन को रोककर श्रद्धांजलि अर्पित किए. गम का इजहार गुरूजी के द्वारा रक्सौल स्थित डंक्कन हॉस्पिटल में कार्यरत मेल स्टाफ नर्स रोनी ने कहा कि पटना के आशीष रोबिन सात साल डंक्कन में कार्यरत थे.इसके बाद सेवन डेज हॉस्पिटल में मेल नर्स का ट्रेनिंग लेने गए थे.वहां पर तीन साल बिहार के आशीष रोबिन और सिक्किम का रॉबर्ट ट्रेनिंग लिए.दोनों डंक्कन हॉस्पिटल में आकर 6 मासीय गैयनी का प्रशिक्षण लिए. यहां पर मेल स्टाफ नर्स रोनी ने ट्रेनिंग दिए.इसी साल ग्रेजुएट हुए थे.उन्होंने  असामयिक मौत पर गम का इजहार किया और श्रद्धांजलि दिए. पटना के कुर्जी पल्ली में 11 बजे से मिस्सा होने के बाद पार्थिव शरीर को कब्रिस्तान में दफन कर दिया जाएगा.इसके पूर्व शव को बांसकोठी में दर्शनार्थ रखा जाएगा.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...