"सरप्राइज" को खजुराहो अंतराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में जूरी सहित दर्शको ने खूब सराहा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 24 दिसंबर 2019

"सरप्राइज" को खजुराहो अंतराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में जूरी सहित दर्शको ने खूब सराहा

surprise-awarded-in-khajuraho
खजुराहो / उज्जैन : बॉलीवुड फेम सिनेमेटोग्राफर व डायरेक्टर वसीम अब्बास द्वारा पिता-पुत्र के रिश्तों पर केंद्रित वृद्धाश्रम पर आधारित हिंदी शार्ट फिल्म "सरप्राइज" की स्कीनिंग मध्य प्रदेश के खजुराहो में आयोजित 17 से 23 दिसंबर तक आयोजित "खजुराहों अंतराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल - 2019" में किया गया जहाँ देश सहित विश्व स्तर से आयी फिल्मों में चुनिंदा फिल्मों का प्रसारण किया गया जिनमे वसीम अब्बास द्वारा निर्देशित "सरप्राइज" की सराहना दर्शकों सहित आयोजन समिति द्वारा की गयी वहीँ फिल्म सरप्राइज के लिए निर्देशक निर्माता अब्बास को मुख्य मंच से बॉलीवुड व रंगांच की विख्यात अदाकारा सुस्मिता मुखर्जी द्वारा सम्मानित किया गया.

हर कलाकार के लिए सम्मान से बढ़कर कोई किम्मत नहीं : अब्बास
बॉलीवुड में बतौर सिनेमेटोग्राफर व निर्देशक के तौर पर अपने आपको स्थापित करने वाले मधरा प्रदेश के उज्जैन शहर के 45 वर्षीय वसीम अब्बास का कहना है की किसी भी कलाकार का मुख्य सपना सिर्फ सम्मान ही होता है सम्मान से बढ़ कर कलाकार की कोई किम्मत नहीं होती.

वसीम अब्बास ने सरप्राइज पर डाली नजर, साथी कलाकार व टीम का किया धन्यवाद
वसीम अब्बास ने मीडिया से बात करते हुए कहा की पिता पुत्र पर केंद्रित शार्ट फिल्म "सरप्राइज" पिता के वृद्धावस्था में आजाने के बाद जो आज कल के बच्चे करते है उनको वृद्धाश्रम का रास्ता दिखने वाला काम उसपर आधारित है. अब्बास ने आगे कहा मुझे यकीन एक बार जो फिल्म देख ले वो ऐसा कृत करने के पहले एक बार जरूर सोचेगा उसकी अंतर आत्मा जरूर झंझोड़ेगी. अब्बास ने अपने सहकर्मियों साथियों का भी धन्यवाद करते हुए कहा की रफीक खान जी का कांसेप्ट वाली फिल्म को स्क्रिप्ट व संवाद सुधीर दुबे ने दिया तो वहीँ कैलाश चौहान, कुमार शिवम्, सुधीर गोयल, निकिता तिवारी, ज़ीशान अब्बासी ने अपनी कला का भरपूर प्रदर्शन किया व म्यूजिक वसीम रोमी ने दिया.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...