जमशेदपुर : राष्ट्रीय युवा दिवस पर डीसी बने टीचर, ग्रामीण बच्चों को पढ़ाया संविधान का पाठ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 12 जनवरी 2020

जमशेदपुर : राष्ट्रीय युवा दिवस पर डीसी बने टीचर, ग्रामीण बच्चों को पढ़ाया संविधान का पाठ

राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर पूर्वी सिंहभूम जिले के उपायुक्त रविशंकर शुक्ला ने नक्सल प्रभावित सुदूर ग्रामीण क्षेत्र से आए बच्चों को संविधान का पाठ पढ़ाया और स्वामी विवेकानंद जी के आदर्शों की जानकारी दी.
national-youth-day
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर पूर्वी सिंहभूम जिले के उपायुक्त रविशंकर शुक्ला ने जमशेदपुर के सुंदर नगर स्थित पटेल नगर भवन में कार्यक्रम का आयोजन किया. इस कार्यक्रम में नक्सल प्रभावित सुदूर ग्रामीण क्षेत्र से आए बच्चों को संविधान का पाठ पढ़ाया और स्वामी विवेकानंद जी के आदर्शों की जानकारी दी. इस मौके पर उपायुक्त ने कहा है कि आज के युवाओं को स्वामी विवेकानंद जी के दर्शन को पढ़ कल उसे आत्मसात करने की जरूरत है. वहीं ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों ने कहा कि डीसी सर ने हमें पढ़ाया है, हम बहुत खुश हैं. युवाओं के प्रेरणा स्रोत स्वामी विवेकानंद की जयंती को आज पूरा देश राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मना रहा है. युवा दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे, पूर्वी सिंहभूम जिला के उपायुक्त रविशंकर शुक्ला ने स्वामी विवेकानंद जी की जीवनी पर आधारित लिखी एक पुस्तक का विमोचन भी किया. प्रखंड विकास पदाधिकारी मलय कुमार और कई प्रबुद्ध बुद्धिजीवी मौजूद रहे. इस दौरान पूर्वी सिंहभूम जिला के उपायुक्त रविशंकर शुक्ला ने बच्चों के बीच खड़े होकर घूम- घूमकर उन्हें संविधान की जानकारी दी और कई प्रश्न पूछे. प्रश्न का जवाब नहीं मिलने पर उपायुक्त ने उन्हें सही जवाब बताया. स्वामी विवेकानंद जी के विचारों की जानकारी देते हुए बताया कि शिक्षा के साथ-साथ अपने देश के महापुरुषों की जीवनी को भी पढ़ना अति आवश्यक है

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...