विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 02 जनवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 2 जनवरी 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 02 जनवरी

अरिहंत हिल्स में पं.अंकितकृष्ण (बटुकजी) की संगीतमय भागवत का शुभारंभ मंडीवाले श्रीगणेश मंदिर से धूमधाम से निकली कलश यात्रा

vidisha news
विदिशाः नगर में संगीतमय श्रीमद् भागवत कथा का आज विशाल भव्य कलश यात्रा के साथ शुभारंभ हुआ, गौवत्स पं.अंकितकृष्ण तेनगुरिया (बटुकजी) के मुख से अरिहंत हिल्स, अरिहंत बिहार कॉलोनी में सात दिवसीय कथा प्रारंभ हई, कथा के पहले दिन मंडी वाले श्रीणेश मंदिर से मुख्य यजमान और बड़ी संख्या में पहुंची माता बहनों ने सबसे पहले भगवान गणेश की पूजा अर्चना की तत्पश्चात कथावाचक बटुकजी और आचार्यों के साथ कलश यात्रा प्रारंभ हुई। यात्रा मुख्य मार्ग से होती हुई अरिहंत हिल्स स्थित कथास्थल पर पहुंची। जहां व्यास गादी की पूजा अर्चना के साथ भागवत कथा का वाचन प्रारंभ हुआ। कथास्थल पर मौजूद श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए पहले दिन महात्म वर्णन, भक्ति नारद संवाद के प्रसंगों पर महाराजश्री ने प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि भागवत सुनने के लिए इंसान तो इंसान देवता भी तरसते हैं आज स्थिति यह है कि कथाएं और सत्संग हमको सहज उपलब्ध है यही कारण है कि हम लोग इनकी कद्र करना भूल गए हैं। महाराजश्री ने कहा कि आज यदि ये शुभ कार्य करने और कराने का जिनको सौभाग्य मिला है यह हमारे पुण्यों का फल है। आचार्य सतेंद्र शास्त्री ने कहा कि कथा के दूसरे दिन प्रथम स्कंध प्रारंभ, व्यास नारद संवाद,परीक्षित जन्म, शुकदेव आगमन की कथा होगी। आयोजकों ने  बताया कि कथा प्रतिदिन दोपहर 2 से शाम 5 बजे तक होगी। जो कि दिनांक 8 जनवरी तक चलेगी । नगरवासियों से उन्होंने अधिक से अधिक संख्या में पधारकर धर्म लेने की अपील की है। कथा में संगीत के कलाकार राजा विश्वकर्मा, राहुल शर्मा के साथ ही पवन पेड कथा में अपनी प्रस्तुति देंगे।

एमपी पीएससी प्रारंभिक परीक्षा 12 को आयोग द्वारा जारी एसओपी के अनुरूप परीक्षा का आयोजन हो-प्रभारी कलेक्टर 

vidisha news
राज्य सेवा एवं राज्य वन सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2019 का आयोजन विदिशा जिला मुख्यालय पर 12 जनवरी को दो सत्रों में किया गया है। परीक्षा के मद्देनजर किए जाने वाले प्रबंधो के परिपेक्ष्य में आज प्रभारी कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने केन्द्राध्यक्षों की बैठक आहूत कर उन्हें मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा जारी एसओपी के अनुरूप प्रारंभिक परीक्षा आयोजन पूर्व की जाने वाली तैयारियों से अवगत कराया।  प्रभारी कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि विदिशा जिला मुख्यालय पर विदिशा नगर में सात परीक्षा केन्द्र बनाए गए है उन परीक्षा केन्द्रों पर 3600 परीक्षार्थी शामिल होंगे। 12 जनवरी को आयोजित होने वाली उक्त परीक्षा दो सत्रों में प्रथम सत्र प्रातः 10 बजे से 12 बजे तक एवं द्वितीय सत्र दोपहर 2.15 बजे से 4.15 बजे तक सम्पन्न होगा। प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर की जाने वाली तैयारियों के अलावा परीक्षा नोडल अधिकारी, उडनदस्ता, परीक्षा केन्द्र पर पुलिस व्यवस्था तथा समस्त परीक्षार्थिंयो को प्रवेश पत्र, फोटोयुक्त मूल परिचय पत्र तथा पात्रताधारी के लिए दिए जाने वाला यात्रा भत्ता हेतु जाति प्रमाण पत्र की सत्यप्रति, छायाप्रति प्राप्त करने के संबंध में आवश्यक मार्गदर्शन दिया गया। परीक्षा में परीक्षार्थी केवल काली स्याही वाली बाल पेन का ही उपयोग कर सकेंगे।  प्रभारी कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने सभी केन्द्राध्यक्षों से कहा कि परीक्षा संबंधी पूरा कार्य चुनावी तर्ज पर हो। इसके लिए समय सीमा का पूरा ध्यान रखा जाए। सुव्यवस्थित रूप से जिले में परीक्षा सम्पन्न हो के लिए पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। संबंधित परीक्षा केन्द्र के केन्द्राध्यक्ष का परीक्षा अवधि के दौरान क्या-क्या दायित्व रहेंगे और इन दायित्वों का निर्वहन कैसे करना है कि जानकारी मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा जारी दिशा निर्देशो से भलीभांति अवगत कराते हुए प्रिन्ट मटेरियल उपलब्ध कराया गया है।  बैठक में बताया गया कि परीक्षार्थी परीक्षा में जूते, मौजे पहनकर एवं चेहरे को ढककर एवं एसेसरी जैसे बालों का क्लेचर, बक्कल, घडी, हाथ में पहने जाने वाली किसी भी प्रकार के बैंड, कमर में पहने जाने वाले बेल्ट, धूप में पहने जाने वाले चश्में, पर्स, वायलेट, टोपी आदि प्रवेश हेतु वर्जित होगी।  आयोग द्वारा जारी प्रवेश पत्र व परीक्षार्थी का मूल फोटो परिचय पत्र अर्थात जो आयोग द्वारा मान्य तिथि अनुसार है। आवश्यक रूप से दिखाकर ही प्रवेश दिया जाएगा। केवल आधार कार्ड हेतु मूल प्रति की जगह छाया प्रति मान्य की जाएगी। परीक्षा केन्द्र एवं सम्मिलित होने वाले परीक्षार्थियों की संख्या के संदर्भ मेंं बताया गया कि शासकीय कन्या (नोडल) कॉलेज ईदगाह चौराहे के पास सांची रोड विदिशा केन्द्र पर चार सौ परीक्षार्थी शामिल होंगे। इसी प्रकार शासकीय उत्कृष्ट हायर सेकेण्डरी स्कूल सांची रोड विदिशा में पांच सौ, शासकीय महारानी लक्ष्मी बाई कन्या हायर सेकेण्डरी स्कूल डंडापुरा बडा बाजार विदिशा में छह सौ, अशासकीय एसएसएल जैन उच्चतर माध्यमिक विद्यालय विदिशा में चार सौ पचास, साकेत एमजीएम सीनियर सेकेण्डरी स्कूल विदिशा में चार सौ, सम्राट अशोक टेक्नोलाजिकल इंस्टीट्यूट पालिटेक्निक कालेज विदिशा में छह सौ तथा सम्राट अशोक टेक्नोलाजिकल इंस्टीट्यूट इंजीनियर कॉलेज सिविल लाइन विदिशा परीक्षा केन्द्र में  छह सौ पचास परीक्षार्थी शामिल होंगे। नवीन कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में सम्पन्न हुई उक्त बैठक में परीक्षा के नोडल अधिकारी डिप्टी कलेक्टर श्री बिजेन्द्र सिंह यादव, एसडीएम श्री प्रवीण प्रजापति, डिप्टी कलेक्टर श्री तन्मय वर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी श्री एसपी त्रिपाठी, लोक सेवा गारंटी केन्द्र के जिला प्रबंधक श्री अमित अग्रवाल, जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू, कॉ-आपरेटिव बैंक के सीइ्रओ श्री विनय प्रकाश सिंह के अलावा परीक्षा केन्द्रों हेतु नियुक्त केन्द्राध्यक्ष मौजूद थे। 

खुशियों की दास्तां : योजना से स्थिरता व स्वरोजगार के संसाधन मिलें 

vidisha news
नटेरन तहसील के राजेश खटीक ठेले पर रखकर हर रोज सब्जी बेचा करते थे। शाम को ठेला अपने घर ले जाते थे बाजार में उनका कोई स्थाई ढीया नही था। बड़ी मुश्किल से परिवार का गुजारा कर रहें राजेश खटीक को आजीविका मिशन के सहयोग से मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना अंतर्गत पचास हजार का लोन एसबीआई नटेरन ने प्रदाय किया। जिससे हितग्राही राजेश ने दुकान क्रय कर सब्जी व्यवसाय का कार्य दुकान के माध्यम से करना शुरू किया। धीरे-धीरे उन्होंने कार्यक्षेत्र बढाया और अनाज खरीदने का कार्य शुरू किया। साप्ताहिक चिकिन शॉप की भी दुकान की भी शुरूआत की। इन सबसे हर रोज पांच सौ रूपए की आमदनी होने लगी थी जिससे परिवार का भरण पोषण एवं आवश्यकताओें की पूर्ति मे पहले से अच्छी स्थिति में राजेश खटीक का परिवार आने लगा था।  हितग्राही ने बताया कि बैंक द्वारा स्वीकृत ऋण में से 35 हजार रूपए सब्जी व्यवसाय को बढाने में लगाए जिससे क्षेत्र में हर रोज ताजी सब्जी विक्रय करने का सौभाग्य मुझे मिला और मेरे स्थायी ग्राहक बन गए। आजीविका मिशन से जुड़ने के बाद उनकी मदद से आई जागरूकता का प्रभाव परिवारिक एवं सामाजिक दोनो स्तर पर स्पष्ट रूप से दिख रहा है को रेखांकित करते हुए हितग्र्राही राजेश खटीक ने बताया कि जहां लोग पहले बच्चों को स्कूल भेजने में आनाकानी करते थे वही अब मिशन की पहल से शत प्रतिशत बच्चे स्कूल जाने लगे है। आजीविका मिशन की पहल से स्वच्छता की ओर कदम बढ़े है। सामाजिक सरोकार के साथ-साथ आर्थिक विकास की कड़ी को मजबूत कर रहें मध्यप्रदेश ग्रामीण आजीविका मिशन की मदद को में कभी नही भुला पाऊंगा। यह कहना है हितग्राही राजेश खटीक का। जहां पहले में ठेले से सामान बेचा करता था मुश्किल से सौ -दो सौ रूपए की आमदनी हो रही थी और कोई स्थायी ढीया नही था। एक योजना ने मेरे जीवन ही नही बल्कि परिवारिक जीवन में बदलाव आया है। अब स्थायी दुकान हो गई है जो मैंने कभी सपने में नही सोचा था। क्रमांक 24
सिटी हास्पिटल में आज 103 मरीजों का उपचार 

पुराने जिला चिकित्सालय में संचालित हो रही सिटी हास्पिटल के शुभांरभ उपरांत दूसरे दिन 103 मरीजों का पंजीयन कर चिकित्सको द्वारा जांच एवं उपचार किया गया है। सिटी हास्पिटल के प्रभारी डॉ अजय कुमार उपाध्याय ने बताया कि हर रोज सिटी हास्पिटल में प्रातः नौ बजे से सायं चार बजे तक चिकित्सक मौजूद रहा करते है और सामान्य बीमारियों से ग्रस्त मरीजों का निःशुल्क उपचार कर उन्हें आवश्यक दवाईयां प्रदाय कर रहे है। गुरूवार को सिटी हास्पिटल में परीक्षण किए गए मरीजों में से चार उच्च रक्तचाप के तथा पांच मधुमेह के रोगी पाए गए है। ज्ञातव्य हो कि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने सिटी हास्पिटल के समस्त स्टाप को निर्देशित किया है कि जन सामान्य के साथ मधुर व्यवहार कर उनके स्वास्थ्य परीक्षण करते हुए स्वास्थ्य सेवाओं से लाभांवित करें 

चार को नटेरन खण्ड स्तर पर स्वास्थ्य शिविर 

आयुष्मान भारत ‘‘निरामयम’’ योजना के तहत जिले के सभी विकासखण्ड मुख्यालयों पर स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन किया जा रहा है इसी कडी के तहत चार जनवरी शनिवार को नटेरन के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में उक्त शिविर का आयोजन किया गया है। शिविर प्रातः 11 बजे से शुरू होगा।  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अहिरवार ने शिविर में आने वाले मरीजों के स्वास्थ्य का बेहतर परीक्षण कर उन्हें रोगोपचार दवाईयां निःशुल्क प्रदाय कराने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। उन्होंने चिकित्सकों को निर्देश दिए है कि परीक्षण में यदि कोई गंभीर बीमारी से ग्रस्त मरीज पाया जाता है के इलाज हेतु वाहन से जिला चिकित्सालय भिजवाने के प्रबंध किए जाएं। 

जय किसान फसल ऋण माफी शिविर में 184 में से 137 पात्र पाए गए

जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत बैंको मे दर्ज आपत्तियों के निराकरण हेतु आज दो जनवरी गुरूवार को जिले के सभी खण्ड मुख्यालयों पर विशेष शिविरों का आयोजन किया गया था।  लटेरी विकासखण्ड में सम्पन्न हुए उक्त शिविर की जानकारी देते हुए जिला पंचायत के अतिरिक्त सीईओ श्री दयाशंकर सिंह ने बताया कि लटेरी जनपद पंचायत क्षेत्र के अंतर्गत कार्यक्षेत्र में शामिल 16 बैंको के कुल 184 पिंक-एक एवं दो के दावे आपत्तियां शिविर में पंजीकृत किए गए थे जिसमें से दावे आपत्तियों के निराकरण उपरांत 137 प्रकरणों को मान्य किया गया है शेष 47 अपात्र पाए गए है। प्रकरणों की समीक्षा के दौरान लटेरी एसडीएम श्री शैलेन्द्र सिंह के अलावा जनपद सीईओ व बैंकर्स प्रतिनिधि मौजूद रहें। इसी प्रकार नटेरन जनपद पंचायत पर सम्पन्न हुए शिविर में 157 किसानों के द्वारा पंजीयन कराया गया था जिसमें से 36 पात्र पाए गए है जबकि 121 अपात्र पाए गए है।  

भोपाल संभागायुक्त द्वारा 15 को व्हीसी के माध्यम से समीक्षा 

भोपाल संभागायुक्त श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव के द्वारा 15 जनवरी को वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से समीक्षा की जाएगी। कलेक्टर्स वीडियो कांफ्रेसिंग सायं साढे चार बजे से शुरू होगी। वीडियो कांफ्रेसिंग का निर्धारित एजेण्डा बिन्दुओं की जानकारी (एक्सल लेण्डस्केप साइज) एवं पावर पाइंट प्रजेन्टेशन की साफ्टकापी छह जनवरी तक अनिवार्य रूप से संभागीय कार्यालय को उल्लेखित मेल आईडी पर प्रेषित करने के निर्देश संभाग के सभी कलेक्टरों को प्रेषित किए गए है। 
222 सेम्पल लिए गए

शुद्व के लिए युद्व, साथ आएं मिलावट खोरो को जड़ से मिटाएं अभियान के तहत विदिशा जिले में जुलाई से दिसम्बर तक कुल 222 नमूने संकलित किए गए है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि खाद्य औषधी अमले को अभियान के तहत सतत निरीक्षण करने के निर्देश पूर्व में ही प्रसारित किए गए है। संभाग स्तरीय समीक्षा में विदिशा जिला सेम्पल संग्रहण करने के मामले में दूसरे स्थान पर है।  पूर्व उल्लेखित अवधि तक मावा के आठ, दूध के 23, घी के नौ, पनीर के छह, अन्य दूध उत्पादक के 24 तथा अन्य खाद्य पदार्थो के 152 सेम्पल परीक्षण हेतु संग्रहित किए गए है। 

चिकित्सकों से संवाद

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने आज दोपहर में सिटी हास्पिटल का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के उपरांत सिटी हास्पिटल में स्वास्थ्य योजनाओं के क्रियान्वयन में नियुक्त चिकित्सकों से उन्होंने संवाद स्थापित कर सिटी हास्पिटल की मंशा को रेखांकित किया।  डॉ अहिरवार ने चिकित्सकों से कहा कि सिटी हास्पिटल स्वास्थ्य के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बनाए। सिटी हास्पिटल के लिए आवश्यक संसाधनों की पूर्ति की जाएगी। उन्होंने सिटी हास्पिटल में आने वाले मरीजों एवं उनके परिजनों से मधुर व्यवहार करने के निर्देश स्वास्थ्य अमले को भी दिए है। निरीक्षण के दौरान सिटी हास्पिटल के प्रभारी चिकित्सक डॉ एके उपाध्याय ने वस्तुस्थितियों से अवगत कराया। 

फायलेरिया दिवस 31 को

फायलेरिया से बचाव के लिए प्रत्येक व्यक्ति को फायलेरिया दिवस 31 जनवरी  को डी.ई.सी की एक खुराक को अवश्य लेना चाहिए। यह दवा फायलेरिया ग्रसित इलाकों में मुफ्त दी जाएगी। फायलेरिया (हाथी पांव) एक ऐसी बीमारी है, जो किसी भी व्यक्ति को किसी भी उम्र में हो सकती है। यह धागे के समान फायलेरिया-परजीवी कृमि द्वारा उत्पन्न रोग है। 
फायलेरिया का संक्रमण, संक्रमित मादा क्यूलेक्स मच्छर के काटने से होता है। इसलिए घर एवं आसपास साफ-सफाई रखी जानी चाहिए। इस रोग से बचाव के लिए फायलेरिया दिवस 31 जनवरी  को डी.ई.सी. एवं एल्वेण्डा जोल की गोली दी जाएगी। दो साल के बच्चों, गर्भवती महिलाओं एवं अत्यन्त बीमार व्यक्तियों को यह दवा नहीं लेना चाहिए।

शीत लहर से बचाव हेतु रखें सावधानियां

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने जिले में जारी शीत लहर एवं अत्यधिक ठंड के दौरान आमजन अपने स्वास्थ्य के प्रति क्या-क्या सावधानियां बरते की सलाह देते हुए उनका पालन करने का आग्रह किया है। शीतलहर की चपेट में आने से ऐसी स्थिति में दीर्घकालीन बीमारियों जैसे डायबिटीज, उच्च रक्तचाप, श्वास संबंधी बीमारियों वाले मरीज, वृद्ध, पांच वर्ष से कम आयु के बच्चे, गर्भवती महिलाएं आदि को विशेष देखभाल की आवश्यकता होती है। इस विशेष समूह को तथा जन-सामान्य को भी सलाह दी जाती है कि पर्याप्त गर्म कपड़े पहने, जहां तक संभव हो सके घर पर ही रहें, नियमित रूप से गर्म पेय पीते रहें। अल्प तापवस्था के लक्षण जैसे शरीर का तापमान सामान्य से कम होने, न रूकने वाली कंपकंपी, याददाश्त चले जाना, बेहोशी या मूर्छा की अवस्था का होना, जबान का लड़खड़ाना आदि प्रकट होने पर चिकित्सक को अवश्य दिखायें।

उपभोक्ता टोल फ्री नम्बर लगाएँ समस्या का समाधान पाएँ

उपभोक्ता को टोल फ्री नम्बर 1800-233-0046 डायल करने पर उनकी शिकायत एवं समस्या का समाधान घर बैठे मिलेगा। राज्य उपभोक्ता हेल्प लाइन का संचालन खाद्य विभाग द्वारा किया जा रहा है। टोल फ्री नम्बर उपभोक्ता द्वारा की गई शिकायत-समस्या ऑनलाइन दर्ज की जाएगी। उपभोक्ता को यह सेवा निःशुल्क प्रदान की जाएगी। समस्या के समाधान निराकरण से उपभोक्ता को अवगत भी कराया जाएगा। पहले चरण में हेल्प लाइन द्वारा आटो मोबाईल, बैकिंग, दवाएं, घरेलू उपकरण, बिजली, नाप-तौल, चिकित्सा सेवाएं, विमानन, गैर-बैकिंग वित्तिय कम्पनी, डाक, पेट्रोलियम पदार्थ, रियल स्टेट, और दूर संचार आदि क्षेत्र चयनिय किये गये है । सुबह 10 बजे से शाम 05 बजे तक हेल्प लाइन चालू रहेगी। 

रजा पुरस्कार के लिये प्रविष्टियाँ आमंत्रित

उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत एवं कला अकादमी द्वारा रजा पुरस्कार के लिये 15 फरवरी तक प्रविशिष्टयां आमंत्रित की गई है। यह पुरस्कार वर्ष 2012 से 2019 तक कविता और चित्रकला के लिये प्रदान किया जाएगा। रजा पुरस्कार के लिये प्रदेश के 42 वर्ष तक आयु के चित्रकार और 55 वर्ष तक आयु के कवि प्रविष्टि प्रस्तुत कर सकेंगे। चित्रकला और कविता के लिये 25-25 हजार रूपये के पुरस्कार प्रदान किये जाएंगे।  रजा पुरस्कार के लिये भोपाल के बाणगंगा स्थित उस्ताद अलाउद्दीन खां अकादमी से 5 जनवरी  के बाद आवेदन प्राप्त किये जा सकते हैं। इस संबंध में अन्य जानकारी अकादमी के फोन नम्बर 0755.2553782 से भी जानकारी प्राप्त की जा सकती है। 

बाल संरक्षण सप्ताह का आयोजन छह

महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बृजेश शिवहरे ने बताया कि जिले में बच्चों की सुरक्षा, संरक्षण एवं अधिकारों के प्रति बच्चों एवं आम नागरिकों में जागरूकता लाने के लिए 6 से 11 जनवरी तक बाल संरक्षण सप्ताह का आयोजन किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश शासन के निर्णय अनुसार बाल संरक्षण सप्ताह का आयोजन संपूर्ण प्रदेश में किया जाना है। जिले में आयोजित बाल संरक्षण सप्ताह के तहत खण्ड एवं जिला स्तरीय कार्यशालाओं का आयोजन, संस्था संपर्क अभियान, जागरूकता रैली, ग्राम एवं वार्ड स्तर पर बाल चौपालों का आयोजन, स्कूलों में बाल अधिकार से संबंधित विशेष कक्षाओं का आयोजन सहित खेलकूद एवं सांस्कृतिक गतिविधियां आयोजित की जाएगी। जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री शिवहरे ने शासन के निर्णय अनुरूप सप्ताह अवधि में आयोजित होने वाली गतिविधियों का क्रियान्वयन आंगनबाडी केन्द्र तक हो इसके लिए संबंधितों को आवश्यक दिशा निर्देश प्रसारित किए है। उन्होंने समस्त परियोजना अधिकारियों को सप्ताह अवधि में भ्रमण कर गतिविधियों पर नजर रखते हुए क्रास मानिटरिंग की व्यवस्था क्रियान्वित करने के भी निर्देश दिए है।   

वेब-पोर्टल पर मिलेगी बिजली बिल भुगतान की रसीद

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी के उच्च-दाब उपभोक्ताओं को एक जनवरी से कम्पनी के पोर्टल पर बिल भुगतान की रसीद मिलेगी। भुगतान के दो दिन बाद रसीद को डाउनलोड करने की सुविधा उपलब्ध रहेगी। उच्च-दाब उपभोक्ता कंपनी के वेब-पोर्टल portai-mpcz-in पर जाकर इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। उच्च-दाब उपभोक्ताओं के लिए बिजली बिल ई-मेल, व्हाट्सएप के अलावा कंपनी के पोर्टल पर भी उपलब्ध हैं। अब उच्च-दाब उपभोक्ताओं को बिल जनरेट होते ही उपलब्ध हो रहे हैं। कंपनी मुख्यालय में इसके लिए केन्द्रीयकृत एचटी ई-बिलिंग सेल गठित किया गया है। एचटी ई-बिलिंग के संबंध में अधिक जानकारी के लिए ई-मेली htbilling-mpcz@gmail-com पर अथवा हेल्पलाइन नम्बर 0755-2601167 कार्यालयीन समय में सम्पर्क किया जा सकता है।

दिवंगत समाजसेवी सेवानिवृत्त षिक्षक कमलसिंह रघुवंशी को श्रद्धा-सुमन समर्पित 

vidisha news
विदिषा 2 जनवरी 2020/रघुवंशी समाज के वरिष्ठ समाजसेवी एवं सेवानिवृत्त शिक्षक पालकी निवासी 65 वर्षीय कमलसिंह रघुवंशी का हृदयाघात से दुखद निधन होने पर जिला षिक्षक कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष, षिक्षक प्रकोष्ठ के वर्तमान जिलाध्यक्ष तथा सेवानिवृत्त विकासखण्ड षिक्षा अधिकारी अमरचन्द शर्मा और जिला षिक्षक कांग्रेस अध्यक्ष मनोज कुमार शर्मा एवं श्रीकांत वैद्य आदि ने दिवंगत आत्मा को श्रद्धा-सुमन समर्पित करते हुए शोक संतप्त परिवार को इस असीम दुख को सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना ईष्वर से की है। वे पत्रकार सुरेन्द्र रघुवंशी, महेन्द्र सिंह और बृजेन्द्र रघुवंशी के पूज्य पिताजी थे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...