बिहार : आज हार्टमन बालिका उच्च विघालय में हार्टमन दिवस मनाया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 29 फ़रवरी 2020

बिहार : आज हार्टमन बालिका उच्च विघालय में हार्टमन दिवस मनाया

hartman-day
पटना,29 फरवरी. आज हार्टमन बालिका उच्च विघालय  में हार्टमन दिवस मनाया गया.मुख्य अतिथि कुर्जी पल्ली के प्रधान पल्ली पुरोहित फादर प्रशांत पीयूस माइकल ओस्ता ने दीप जलाकर हार्टमन दिवस का उद्घाटन किया.मौके पर उन्होंने पटना धर्मप्रांत के पूर्व बिशप हार्टमन अनास्तासियुस के बारे में विस्तार से जिक्र किया.संत माइकल हाई स्कूल के संस्थापक थे. बताते चले कि संत इग्नासियुस स्कूल बंद होने के बाद हार्टमन स्कूल खोला गया.यह स्कूल सिस्टर ऑफ नोट्रे डेम के द्वारा संचालित है.प्रारंभ में कुर्जी स्थित सेवा केंद्र में संचालित था.यहां पर बालकों को पांचवीं कक्षा तक और बालिकाओं को मैट्रिक स्तर तक की पढ़ाई होती थी.उसके बाद कुर्जी पल्ली में खुद का भवन बन जाने के बाद तब प्रथम कक्षा से बारहवीं कक्षा तक की पढ़ाई होनी शुरू की गयी.पटना धर्मप्रांत के बिशप अनास्तासियुस हार्टमन के नाम से हार्टमन स्कूल संचालित है.फिलवक्त संत माइकल हाई स्कूल के सामने हार्टमन बालिका हाई स्कूल है.इसमें स्कूल में पहली से बाहरवीं कक्षा तक की पढ़ाई होती है.इस समय 1500 कन्याएं अध्ययनरत हैं.40 टीचर और 10 गैर टीचर हैं.बिहार विघालय  परीक्षा समिति द्वारा मान्यता प्राप्त है.8 जनवरी,1959 से संचालित हार्टमन हाई स्कूल को बिहार सरकार ने अल्पसंख्यक हाई स्कूल के रूप में मान्यता प्राप्त है.हार्टमन स्कूल दीघा घाट में रहने वालों के लिए वरदान साबित हो रहा है. हार्टमन स्कूल की स्थापना काल से ही स्कूल उच्च से उच्चतर परिणाम देने को विख्यात हो गया है. हार्टमन स्कूल की छात्राओं ने लजीज पकवानों के स्टॉल भी लगाए थे.पानी पुरी पर काफी भीड़ देखी गयी. इस अवसर पर बिशप हार्टमन की जीवनी पर आधारित झांकी और नाटक पेश किए.हार्टमन स्कूल की प्रधानाध्यापिका सिस्टर रेमीया,सिस्टर पूनम, सिस्टर हर्षिता, फादर निकोलस,शिक्षकगण व विघार्थियों ने खुब मजा लुटे.

कोई टिप्पणी नहीं: