100CC: आजतक का वो पत्रकार जिसकी किताब ने मचाई है धूम - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 29 फ़रवरी 2020

100CC: आजतक का वो पत्रकार जिसकी किताब ने मचाई है धूम

new-book-100cc-by-journalist
क्राइम की खबरों से अपनी एक अलग पहचान बनाने वाले आजतक के सीनियर पत्रकार श्‍याम सुंदर गोयल एक बार फिर चर्चा में हैं. इस बार वह अपनी किताब ”100CC बाइक पर भारत में रोमांचक सफर” की वजह से सुर्खियां बटोर रहे हैं. प्रभात प्रकाशन पब्लिकेशन से प्रकाशित ये किताब श्‍याम सुंदर गोयल का यात्रा वृतांत है. किताब के प्रकाशन की जानकारी देते हुए श्‍याम सुंदर गोयल ने बताया, ” 2013 में 100 सीसी बाइक से अकेले यात्रा का जो सफर शुरू हुआ था, उसको लेकर कभी-कभी ऐसा भी लगा कि कहीं ब्रेक न लग जाये…लेकिन धीरे-धीरे 6 सालों में 25 हजार किलोमीटर का सफर तय कर ही लिया.” बता दें कि इस किताब का विमोचन हाल ही में भोपाल में हुआ है. इसके विमोचन में केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल समेत कई दिग्‍गज नेता शामिल हुए. इसके अलावा पत्रकारिता और समाजिक सुधार से जुड़े लोग भी किताब के विमोचन का गवाह बने.

क्‍या खास है इस किताब में
इस पुस्तक में 100 CC बाइक से अकेले भोपाल से भोपाल के बीच 3850 किलोमीटर के सफर को बताया गया है, जो 12 दिन में पूरा हुआ. इस दौरान पत्रकार श्‍याम सुंदर गोयल का भारत के सात राज्यों—मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान और एक केंद्रशासित प्रदेश चंडीगढ़ में जाना हुआ. इस सफर के दौरान एक तरफ तो हिमालय की बर्फीली वादियों में ठंड का सामना किया तो वहीं मई की तपती दोपहरी में राजस्थान की भयानक गरमी भी इस शरीर पर झेली. इस पुस्तक में पाठक आज से 5 हजार साल पुराने हड़प्पाकालीन सभ्यता स्थल राखीगढ़ी, मीतात्थल को महसूस कर सकेंगे तो वहीं महाभारत कालीन हस्तिनापुर के कई रहस्यों से रोमांचित हो जाएँगे.इसमें मौर्यकालीन सम्राट् अशोक के गुजर्रा और कालसी शिलालेख का वर्णन है; साथ ही राजपूत काल के शहरों उदयपुर, जयपुर, हल्दीघाटी, चित्तौड़गढ़ की गरिमा के बारे में विवरण है. बता दें कि श्याम सुंदर गोयल पेशे से पत्रकार हैं, लेकिन जुनून घूमने का भी है. वे भोपाल में दैनिक भास्कर ग्रुप की प्रोफेशनल लाइफ के बीच हर साल अचानक से लंबा गैप लेते थे और फिर परिवार और दीन-दुनिया से पूरी तरह अलग होकर एक दूसरी दुनिया में चले जाते थे. वे वर्तमान में इंडिया टुडे ग्रुप, दिल्ली में ‘आजतक ऑनलाइन’ में चीफ सब-एडिटर के पद पर कार्यरत रहे हैं.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...