बिहार : ईसाई समुदाय के द्वारा CAA, NRC व NPR रूपी काले कानून का विरोध होगा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 16 मार्च 2020

बिहार : ईसाई समुदाय के द्वारा CAA, NRC व NPR रूपी काले कानून का विरोध होगा

'संविधान बचाओ देश बचाओ' के बैनर तले ईसाई समुदाय के द्वारा सीएए, एनआरसी व एनपीआर रूपी काले कानून का विरोध होगा
christian-will-protest-caa-nrc-npr
पटना,16 मार्च। विश्व के 150 देशों में काल बनकर आए नोवेल कोरोना वायरस से उत्पन्न कोहराम के आलोक में यूनाइटेड क्रिश्चियन फोरम ने सीएए, एनआरसी व एनपीआर का विरोध करने के क्रम कैडल लाइट रैली को स्थगित कर रखा है। यूनाइटेड क्रिश्चियन फोरम के संयोजक फादर अमल राज ने कहा कि पटना महाधर्मप्रांत में पड़ने वाले धर्मप्रांतों में  सीएए, एनआरसी व एनपीआर का विरोध करना है। उन्होंने कहा कि आज मुसलमानों को द्येरे में लाया गया है।इसके बाद ईसाइयों को द्येरने का प्रयास होगा। इसके तहत अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति को चपेट ली जाएगी। बहरहाल  'संविधान बचाओ देश बचाओ' के बैनर तले ईसाई समुदाय ने सीएए, एनआरसी व एनपीआर रूपी काले कानून के विरोध में बेतिया चर्च परिसर स्थित सभागार में बैठक की। बैठक की अध्यक्षता करते हुए रंजीत केरोबीन ने बताया कि केन्द्र की सरकार संविधान के साथ खिलवाड़ कर रही है। देश की जन्मजात जनता को जबरन संविधान के विपरित कानून लागू करने पर तुली है। आज हमारा देश गहरे संकट के दौर से गुजर रहा है। लोकतंत्र सामाजिक न्याय एवं समता जैसे मूल्यों पर लगातार प्रहार किया जा रहा है।सरकार के किसी निर्णय के विरोध में शांतिपूर्ण तरीके से विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस की बर्बता,प्रजातंत्र एवं विचारों की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हिंसक प्रहार है। केन्द्र की भाजपा सरकार ने इस काले कानून को लागू करके संविधान को तार-तार किया है। ईसाई समुदायों ने इस कानून की निंदा करते है। इस कानून के विरोध में अनिश्चितकालीन धरने पर जाने का निर्णय लिया है। जब तक काला कानून वापस नहीं होगा तक इस ईसाई समुदाय इसका विरोध करता रहेगा। बैठक में अनिश्चिकालीन धरने को शुरू करने के लिए रुप रेखा तैयार की गयी। बैठक में आनंद सिरिल, रिचर्ड फ्रांसिस, अनिल आर डिक्रूज, सुनील डिक्रूज, विनोद रफायल, डेनिस, इग्नासियुस, रेमी बेनेडिक्ट आदि थे। यह एक ऐतिहासिक कदम है यह उक्ति अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अल्पसंख्यक विभाग के उपाध्यक्ष सिसिल साह ने कहा कि बेतिया चर्च से जुड़े ईसाई लोकधर्मियों द्वारा खुद ही निर्णय लेकर बेमियादी धरना देंगे। यह समुदाय अपने वजूद व अपने भारतवर्ष के संविधान की रक्षा के लिए प्रत्यनशील हैं।बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी का भरपूर सहयोग मिलेगा।अल्पसंख्यक विभाग के उपाध्यक्ष सिसिल साह ने कहा कि विधायक मदन मोहन तिवारी, यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष विनय यादव,यूथ कांग्रेस के सचिव गोल्डेन अंथोनी ठाकुर आदि का सहयोग मिलेगा ताकि  सीएए,एनसीआर और एनपीआर पर अनिश्चितकालीन धरना देने वालों को हिम्मत मिल सके। श्री साह ने कहा कि मेरा साथ, आपके साथ , मैं आपके साथ रहूंगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...