बिहार : मसौढ़ी में चिकित्सक और स्वास्थ्यकर्मी गए हड़ताल पर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 3 मार्च 2020

बिहार : मसौढ़ी में चिकित्सक और स्वास्थ्यकर्मी गए हड़ताल पर

  • चेहरे पर कालिख पोतने के विरोध में

जब निजी क्लिनिक  में मसौढ़ी अनुमंडल अस्पताल के  उपाधीक्षक डॉक्टर हरिश्चंद्र हरि को बैठा देख लोग भड़क गए और उनके चेहरे पर कालिख पोत डाली
doctor-strike-masaudhi-bihar
मसौढ़ी,03 मार्च. मसौढ़ी अनुमंडल अस्पताल के उपाधीक्षक डॉक्टर हरिश्चंद्र हरि सोमवार को ड्यूटि से गायब होकर प्राइवेट प्रैक्टिस कर रहे थे.निजी क्लिनिक  में डॉक्टर साहब को बैठा देखकर लोग भड़क गए और उनके चेहरे पर कालिख पोत डाली.अपने उपाधीक्षक के चेहरे पर कालिख पोत डालने के विरोध में अस्पताल के चिकित्सक और स्वास्थ्यकर्मी हड़ताल मंगलवार को हड़ताल पर चले गए.

जब उपाधीक्षक प्राइवेट प्रैक्टिस करते पकड़े गए
स्थानीय सती स्थान स्थित एक निजी नर्सिंग होम में सोमवार की दोपहर अनुमंडलीय अस्पताल के उपाधीक्षक डाॅ. हरिश्चंद्र हरि को बैठा देख नारी जनशक्ति संघ के कार्यकर्ता भड़क उठे और उनके मुंह पर कालिख पोत दी. संघ के अध्‍यक्ष मुकुल कुमार शर्मा, सचिव प्रिंस सोली, महिला प्रदेश अध्‍यक्ष आशा किरण सिंह, रीना देवी, बबीता कुमारी, कांग्रेस किसान सेल के मीडिया प्रभारी मृत्युजंय पेरियार समेत अन्य कार्यकर्ताओं का आरोप था कि वे अपनी ड्यूटी छोड़कर निजी नर्सिंग होम में मरीजों का उपचार करते हैं.मरीजों पर निजी नर्सिंग होम में उपचार कराने के लिए दबाव डालते हैं.इससे शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में दर्जनों क्लिनिक व नर्सिंग होम खुल गए हैं और उनमें झोला छाप डॉक्टरों की भरमार हो गई है. इसी का नतीजा है कि बीते शुक्रवार की रात गांधी मैदान के मुख्य गेट के पास स्थित नर्सिंग होम में गया के बेलागंज के कोरियावां निवासी योगेंद्र दास की पत्नी गुड़िया देवी की मौत हो गई थी.

लोग भड़क उठे और उनके चेहरे पर कालिख तक पोत डाली
मसौढ़ी अनुमंडल अस्पताल के उपाधीक्षक डॉक्टर हरिश्चंद्र हरि को निजी क्लिनिक में मजे से प्राइवेट प्रैक्टिस कर रहे थे.ड्यूटी से गायब डॉक्टर साहब को देखकर लोग भड़क उठे और उनके चेहरे पर कालिख तक पोत डाली.दरअसल मसौढ़ी अनुमंडल अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ हरीश चंद्र हरि अपनी ड्यूटी से गायब थे. इलाज कराने के लिए लोग परेशान होकर उन्हें तलाश रहे थे तभी किसी ने जानकारी दी कि डॉक्टर साहेब मसौढ़ी के ही सती स्थान स्थित एक निजी नर्सिंग होम में मरीजों का इलाज कर रहे हैं. इसकी जानकारी मिलने के बाद नारी जनशक्ति संघ नाम के एक संगठन के कार्यकर्ता एकजुट हो गए. निजी क्लिनिक पर पहुंचकर डॉक्टर साहब की खूब लानत मलामत की और फिर उनके चेहरे पर कालिख तक पोत डाली.डॉक्टर साहब पर आरोप है कि वह मरीजों को निजी क्लिनिक में बुलाते थे. सरकारी अस्पताल में इलाज कराने वाले मरीजों और उनके परिजनों पर इस बात के लिए दबाव बनाया जाता था कि वह प्राइवेट नर्सिंग होम में आकर अपना इलाज करा ले. उधर अपनी फजीहत होने के बाद हरिश्चंद्र हरि ने कहा है कि पिछले दिनों नर्सिंग होम में इलाज के दौरान एक मरीज की मौत हो गई थी इसी की रिपोर्ट देने के लिए वह नर्सिंग होम संचालक से मिलने आए थे. उन्होंने इस आरोप को खारिज किया है कि वह ड्यूटी से आए थे इस पूरे बवाल के बाद दोनों पक्षों की तरफ से थाने में प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई है पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है.

दोनों पक्षों ने दर्ज कराई प्राथमिकी
इस संबंध में दोनों पक्षों ने थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है.नारी जनशक्ति संघ की महिला प्रदेश अध्यक्ष आशा किरण सिंह ने उपाधीक्षक पर ड्यटी आॅवर में निजी क्लिनिक में मरीजों का उपचार करने, निजी क्लिनिकों में उपचार कराने के लिए मरीजों पर दबाव बनाने, ऐसे क्लिनिक खोलने व झोला छाप डॉक्टरों को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है. इधर अनुमंडलीय अस्पताल के उपाधीक्षक डाॅ. हरिश्चंद्र हरि ने संस्था के अध्यक्ष मुकुल कुमार शर्मा व सचिव प्रिंस सोनी समेत 6-7 अन्य पर विभागीय कार्यवश निजी क्लिनिक में जाने पर मुंह पर कालिख पोतने, बदसलूकी और दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...