झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 31 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 31 मार्च 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 31 मार्च

खादय अधिकारी ने कि मुनाफाखोरो विरुद्ध कारवाही पंचनामा बनाकर दि हिदायत

jhabua news
पारा। देश भर मे कोरोना वायरस के चलते 21 दिन के लिए किए गए लाकडाउन मे किराना व्यापारीयो ने आम जन कि मजबुरी का फयदा उठाने मे कोई कसर नही छोडी। सोश्यलमिडिया पर लगातार चल रही मुनाफाखोरी कि बाते व आम जन कि शिकायते जब जिला मुख्यालय पर पहुची तो आननफानन मे जिले के डिप्टी कलेक्टर ने दल बना कर आज सोमवार की सुबह मे पारा पहुच कर मुनाफाखोरो के विरुद्ध कारवाही कि। देश भर मे लाकडाउन के चलते जिले भर मे आमजन के लिए रोजमर्रा कि जरुरत के सामान के लिए सुबह 7 से 10 बजे तक खुल रहा हे। जिसमे दुध सब्जी सहीत किराना सामान की दंुकाने भी खंुल रही हे।  इसी के चलते किराना दुकानदारो ने माल कि आपुर्ति कम होने का बहाना बना कर किराना सामान मे तेल शक्कर जेसी कई जरुरी चिजो को भाव ढेडे दुगुने कर दिये । वही पेकिग सामान के भाव भी प्रिंट रेट से ज्यादा कर दिए। किराना व्यापारीयो ने पारा बाजार से शक्कर गायब कर शक्कर  70 से 80 रुपए किलो का भाग कर दिया जब कि सुत्रो के अनुसार नगर मे किराना सामान के बडे व्यापारीयो के यहां भारी मात्रा सारा सामान मोजुद हे। बावजुद इसके इन बडे व्यापारीयो ने सामान का स्टाक समाप्त बता कर बाजार मे रेट ढडे दुने करवा दिए। नगर के जमाखोरो के पास करिब 400 से ज्यादा शक्कर की बोरी मोजुद हे। वही तेल भी बिसलरी कि बोतल मे भर कर बिना लेबल के नो सो ग्राम वजनी 90 रुपये मुल्य कि का भाव 130 रुपए का कर दिया हे उस पर तुर्रा यह कि माल नही हे। इसी प्रकार विमल पाउच के पकेट का रेट 120 रुपए जिसका मुनाफाखेरो द्वारा भाव 150 से 170 रुपए लिया जा रहा था। इसी प्रकार सभी प्रकार के समानो पर अनाप शनाप मुल्यो कि बढोतरी कर आमजनता से जमकर लुटखसोट कि जा रहा थी व जनता कि मजबुरी का फायदा उठाया जा रहा था। जब कि पुलिस विभाग द्वारा माईक से लगातार अपिल कि जा रही थी कि सामान को उचित मुल्य पर बेचे व मुनाफाखंोरी नही करे यह समय मुनाफाखोरी का नही सेवा करने का हे।। इस प्रकार कि बाते सोश्यलमिडिया पर लगातार चलने लगी वही कुछ दुकानदारो के खिलाफ भी इस प्रकार कि शिकायत कलेक्टर कार्यालय पहुची। इसी के चलते आज सुबह डिप्टी कलेकटर श्री गर्ग कनिष्ठ जिला आपुर्ति अधिकारी श्री पाटील खादय एवं ओषघि विभाग व नापतोल विभाग के अधिकारी कर्मचारी ने दल बना कर पारा नगर मे दुकानो से नकद खरीदी करवाई व बाद उक्त सभी मुनाफाखोर दुकान दारो के विरुद्ध जब्ती पंचनामा बनाकर कारवाही कि। जिसकी गाज छोटे दुकानदारो पर गिरी जब कि सुत्रो कि माने तो जिले एक अधिकारी ने रात्री मे पारा नगर के किसी व्यापारी से बात कि थी जिससे व्यापारीयो को रात मे पता चलगया था कि नगर मे सुबह कारवाही होने वाली हे। जिसके चलते नगर थोक व्यापारीयो ने सुबह से ही अपनी अपनी दुकान व गांेदामो पर तला लगा दिया था। वही इस प्राकर कि कारवही के चलते नगर के कई दुकानदार अपनी अपनी दुकानो पर ताला लगा कर गायब हो गए। 

कोरोना का डर सता रहा डॉक्टर्स व नर्सेस को फिर भी दे रहे सेवायें

jhabua news
थांदला। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण का डर जहाँ हर व्यक्ति को सत्ता रहा है व कमाने से ज्यादा जान बचाने के लिये वे अपने घरों में लॉक डाउन हो गए है लेकिन ऐसे में भी कुछ विभाग अपनी जान जोखिम में रख कर कार्य कर रहे है। उनमें से नगर पालिका के सभी कर्मचारियों की सराहना करना होगी जो नगर के सभी गली मोहल्लों में सेनेटाइज दवाइयों का छिड़काव कर रहे है गन्दगी साफ कर रहे है। पुलिस विभाग इस दौरान सभी की जान सुरक्षित रहे इसके लिये पूरा सजग है। इन सभी में सबसे महत्वपूर्ण स्वास्थ्य विभाग है। इनको पृथ्वी का भगवान कहा जाता है तो यह कोई अतिशयोक्ति नही है। वे आज भी अपनी ड्यूटी उसी तरह से कर रहे है। कोरोना का भय डाक्टर्स से ज्यादा नर्सेस व वार्ड बॉय के चेहरे पर साफ देखा जा सकता है जिनके पास कोरोना किट नही होने के बावजूद वे सभी मरीजों की सेवा में लगे हुए है। शासन प्रशासन हर सुविधाओं की तरफ ध्यान दे रहा है लेकिन फिर भी वह कोई ना कोई चूक कर ही देता है। आज कोरोना फाइट में लगे हुए डॉक्टर्स, नर्सेस व वार्ड बॉय को कोरोना किट की सबसे ज्यादा जरूरत है। लेकिन आश्चर्य की बात है न उनके पास पर्याप्त मास्क है, न हाथों के दस्ताने है और न ही सेनेटाइज के पर्याप्त इंतजाम किये गए है, ऐसे में कोरोना का भय उन्हें सताये तो कोई आश्चर्य की बात नही

जिलें में आइसोलेशन व क्वारेंटाईन केंद्र की स्थापना - शासकीय भवन किये अधिग्रहीत

jhabua news
थांदला। वर्तमान में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के व्यापक असर को देखते हुए जिला कलेक्टर प्रबल सिपाहा ने झाबुआ जिलें में सभी विधानसभा क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण से संदिग्ध मरीजों को सेल्फ आइसोलेशन व 14 दिनों के क्वारेंटाईन केंद्रों के लिये शासकीय भवन अधिग्रहित कर नोडल अधिकारी बनाये है। जिनकी देखरेख में सभी स्थानों पर डॉक्टर्स, साफ सफाई व सेनेटाइजेशन व्यवस्था, भोजन, पानी व विद्युत आदि व्यवस्था के साथ उनकी सुरक्षा के लिये चैकीदार आदि की संपूर्ण व्यवस्था की जा रही है। झाबुआ में विकास खण्ड संयोजक जय नारायण बैरागी की देखरेख में उत्कृष्ट बालक छात्रावास व कन्या क्रीड़ा परिसर हवाई पट्टी पर व्यवस्था की जा रही है। पेटलावद में कन्या उमावि के प्राचार्य ओंकारसिंह मेड़ा की देखरेख में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर ही केंद्र बनाया गया है। थांदला व मेघनगर के दोनों स्थानों पर विकास खण्ड संयोजक दीपेश सोलंकी को नोडल अधिकारी बनाया गया है जिनकी देखरेख में नवीन आई टी आई भवन पर कोरोना के संदिग्ध मरीज रखे जाएंगे। उक्त स्थानों पर झाबुआ सीएमएचओ द्वारा डॉक्टर्स नर्सेस स्टॉफ कोरोना के संदिग्ध मरीजों की स्क्रीनिंग करेंगे। उक्त भवन पर सहायक आयुक्त आ.जाति कल्याण विभाग की टीम भोजन व साफ सफाई की व्यवस्था करेगी, स्थानीय नगर पालिका सेनेटाइजेशन व पेयजल आदि की व्यवस्था करेगी, विद्युत मण्डल पर्याप्त विद्युत व्यवस्था करेगा वही सुरक्षा के लिये चैकीदार आदि अन्य व्यवस्था एसडीएम द्वारा की जाएगी। झाबुआ में डॉ. जय झाला व डॉ. हेमेंद्र देवड़ा व लेब टेक्नीशियन मंजू डामोर व वर्षा पचाया, पेटलावद में डॉ. चन्दन जैन व लेब टेक्नीशियन वालचन्द बामनिया, मेघनगर में डॉ. अमित गणावा व लेब टेक्नीशियन लक्ष्मीनारायण सोनी तथा थांदला में डॉ. संजय कटारा लेब टेक्नीशियन निखिलेश नामदेव अपनी सेवाएं प्रदान करेंगे। थांदला में 20 कक्ष बनाये गए है जिसका एसडीएम, तहसीलदार, थाना प्रभारी ने अवलोकन किया। सम्भावित है प्रशासन 21 दिनों के बाद लॉक डाउन खोल दे यह उसकी प्रारम्भिक तैयारियों के रूप में भी देखा जा सकता है।

युवा डॉक्टर यश तलेरा, अय्यूब खान ने तैयार किया 15 वर्ष  पुराना खराब वेल्टीनेटर

jhabua news
थांदला। कोरोना वायरस  के संक्रमण पाए जाने के पश्चात मरीज को वेंटीलेटर पर अपना होता है चुंकि प्रदेश या देश में इतने अधिक वेंटिलेटर नहीं उपलब्ध हैं की हजारों की तादाद में अगर मरीजों की संख्या बढ़े तो उन्हें वेंटिलेटर दिया जा सके। देश की इस समस्या को ध्यान में रखते हुए  थांदला नगर  के  आशीष कारा ने फेसबुक पर पोस्ट डाली कि क्या किसी प्रकार से मैनुअल वेंटीलेटर मशीन को तैयार किया जा सकता है क्या ऐसे कोई साधन का जुगाड़ करके वेंटिलेटर के रूप में कार्य करने वाला मशीन को बनाया जा सकता है, उक्त पोस्ट को एक निजी ग्रुप में फेसबुक पर शेयर किया गया,  उक्त पोस्ट को थांदला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ एक पुराने कर्मचारी अयूब खान द्वारा देखा गया और उन्होंने याद किया कि ऐसी एक मशीन 15 साल पहले थांदला हॉस्पिटल में पोर्टेबल मैनुअल वेंटिलेटर मशीन आई थी जिसका बिल्कुल भी उपयोग नहीं किया गया परंतु वह अब किस हालत में होगी कैसी होगी एक सोचनीय विषय था । अयूब खान ने उक्त बात ग्रुप एडमिन आशीष कारा तक पहुंचाई, आशीष कारा ने डॉक्टर यश तलेरा जो कि कुछ समय पहले भोपाल के चिरायु हॉस्पिटल से प्रैक्टिस कर थांदला लौटे हैं जिन्हें वेंटीलेटर किस तरह से कार्य करता है वह उसके किस वालों में किस तरह का प्रेशर आना चाहिए का अनुभव था  के साथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जो कि अब सिविल हॉस्पिटल बन चुका है पर पहुंचे व अयूब खान एवं सेवानिवृत्त डॉ किरण बाला चतुर्वेदी की मदद से उक्त मशीन को बाहर निकाला, मशीन की हालत बहुत खराब हो चुकी थी उसके सारे पाइप लगभग खराब हो चुके थे ज्वाइंट सारे खत्म हो चुके थे , परंतु मशीन को ऑपरेट करने के लिए आवश्यक मशीन अभी भी चालू स्थिति में थी। चूंकि डॉ यश तलेरा भोपाल में प्रैक्टिस के दौरान उक्त मशीन पर कार्य कर चुके थे उन्होंने बताया कि अगर इन में लगने वाली कुछ ऐसे सरीज अगर उपलब्ध हो जाए तो शायद ही वेंटिलेटर ट्रैवलिंग  उपयोग में लाया जा सकेगा। फिर क्या था कुछ लोगों को जोकि हाल में कोरोना वायरस के लोगों के दौरान आमजन की मदद में लगे थे जैसे गोलू उपाध्याय एवं टीम ने वेंटिलेटर मशीन को ठीक करने के लिए आवश्यक जुगाड़ की समस्त सामग्री उपलब्ध कर दी वह जिन सामग्रियों की आवश्यकता थी उनका एक फेसबुक पोस्ट बना दिया कि इस तरह की सामग्री किसी के पास भी उपलब्ध है तो वह संपर्क करें। हार्डवेयर व्यापारी राहुल तालेरा ने फोन करके उक्त टीम को सूचित किया कि मेरे पास इसमें की सामग्री उपलब्ध है और आप इसे ले जा सकते हैं और उपयोग कर सकते हैं। समस्त आवश्यक सामग्री मिलने के पश्चात वह 2 दिन की इस मेहनती जुगाड़ में उक्त वेंटीलेटर को जॉइंट किया गया  ऑक्सीजन सिलेंडर से , और वर्तमान में थांदला सिविल हॉस्पिटल में पदस्थ डॉक्टर कमलेश परस्ते एवं डॉ मनीष दुबे को उक्त वेंटिलेटर की टेस्टिंग हेतु बुलाया गया। दोनों डॉक्टरों ने उक्त मशीन को चेक करा उसकी पंपिंग को टेस्ट करा तो उन्होंने देखा कि सही  तरह कार्य कर रही है वह भविष्य में इसका उपयोग किया जा सकता है। उक्त वेंटीलेटर पूर्ण रूप से साफ करने हेतु सैनिटाइजर , विषाणु मुक्त किया जा रहा है। सभी ने डॉक्टर के स्थल एवं पूरी टीम जिसने इस मशीन को पुनः स्थापित करने में योगदान दिया की सराहना की । मशीन को अभी पूर्ण रूप से उपयोगी बनाना है तो उसके टेस्टिंग किया जाना बाकी है जिसके पश्चात मशीन को मरीजों पर इस्तेमाल किया जा सकेगा।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के निर्देश पर नगर झाबुआ मे सामग्री एकत्रिकरण भाजपाईयो ने की

jhabua news
झाबुआ । भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वी डी शर्मा के आदेश पर झाबुआ नगर के 18 ही वार्डो व मोहल्लो मे भाजपा कार्यकर्ता व पदाधिकारी कोरोना महामारी से पीडित ओर आवश्यक मंद लोगो के लिये खाद्यान्न सामग्री घर घर जाकर एकत्रित कर रहे है। ओर वह सामग्री बाद मे जरुरतमंदो को वितरित की जा रही है। सिद्वेश्वर कालोनी मे भाजपा के अध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा उपाध्यक्ष अजय पोरवाल ओ पी राय पाषर्द नरेन्द्र राठोरिया सहित अन्य कार्यकर्ता घर घर पहुचकर सामग्री एकत्रित कर रहे है तो वही वार्ड नंबर 12 मे भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य दौलत भावसार नगर उपाध्यक्ष अंकुर पाठक सचिन वाणी कीर्ति भावसार सामग्री एकत्रित करने मे लगे है। इसी प्रकार वार्ड क्र0 4 मे नगर महामंत्री नाना राठौर ओर उनकी टीम इस कार्य मे लगी है। इसी प्रकार नगर के अन्य वार्डो के अंतर्गत आने वाले मोहल्लो मे भी घर घर जाकर भाजपा कार्यकर्ता सामग्री एकत्रित करेगे। उक्त जानकारी भाजपा मिडिया प्रभारी ने दी।

पारा तथा राणापुर में स्थित किरना दुकानो का आकस्मिक निरीक्षण किराना दुकानो पर प्रकरण दर्ज

झाबुआ । कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा के निर्देषानुसार में राजस्व विभाग खाद्य विभाग तथा औषधी प्रषासन की संयुक्त टीम ने सोमवार को पारा तथा राणापुर में स्थित किराना दुकानो का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस टीम में डिप्टी कलेक्टर श्री लक्ष्मी नारायण गर्ग, के नेतृत्व में इन दुकानो का निरीक्षण किया गया। मेसर्स भवानी किरानो स्टोर्स पारा, मनीष सोनी किराना स्टोर्स में विधिक माप विज्ञान अधिनियम 2009 के उल्लघन का प्रकरण दर्ज किया गया। इसी प्रकार खाद्य एवं औषधी प्रषासन विभाग द्वारा मनीष सोनी की राना पारा एवं गोपाल हर्षोला किराना रानापुर अमान्क दुघ पावडर तथा खाद्य  पदार्थ नष्ट करवाया गया। जिला आपूर्ति अधिकारी ने अवगत कराया कि पारा एवं रानापुर की सभी बडी किराना दुकानो पर स्थानीय ग्राहको ंको भेजकर मल्य की समीक्षा की गई। इस तरह की कार्यवाही आगे भी सतत जारी रहेगी।

पूर्व में नियत पेंषी की तिथियों में परिवर्तन

झाबुआ। उच्च न्यायालय म.प्र. जबलपुर तथा गृह विभाग के द्वारा जारी निर्देषानुसार कोविद-19 के संक्रमण को रोके जाने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर लोक डाउन घोषित करते हुए इसी क्रम में 24 मार्च 2020 की रात्रि से 3 सप्ताह तक अर्थात (10 अप्रैल 2020 से 14 अप्रैल 2020 के अवकाष को षामिल करते हुए) म.प्र. राज्य के अधिनस्थ न्यायालयों में अकार्य दिवस रहेगा और इस अवधि में जिला स्थापना झाबुआ बाह्यवर्ती न्यायालय थांदला, पेटलावद बंद रहेगे और उनमें कोई कार्य सम्पादित नहीं किया जावेगा। प्रभारी जिला एवं सत्र न्यायाधीष झाबुआ, श्री महेष कुमार षर्मा ने अवगत कराया कि 14 अप्रैल 2020 तक न्यायालय में अकार्य दिवस होकर न्यायालय बंद रहेगे। ऐसी दषा में जिला एवं सत्र न्यायालय तथा संबंधित अपर जिला न्यायाधीष, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, समस्त व्यवहार न्यायाधीष वर्ग-1 एवं वर्ग-2 के न्यायालय (मुख्यालय एवं समस्त तहसील न्यायालयो में लम्बित समस्त प्रकरणो) में सुनवाई के लिए नियत सिविल एवं आपराधिक प्रकरणो (अत्यावष्यक प्रकृति के प्रकरण जमानत, रिमाण्ड, निषेधाज्ञा संबंधी आवेदनो को छोडकर) 1 अप्रैल 2020 से 14 अप्रैल 2020 तक आगामी तिथियां नियत की गई है। नियत तिथियों के अनुसार 1 अप्रैल के स्थान पर 1 मई, 3 अप्रैल के स्थान पर 2 मई, 4 अप्रैल के स्थान पर 4 मई, 7 अप्रैल के स्थान पर 5 मई, 8 अप्रैेल के स्थान पर 6 मई, 9 अप्रैल के स्थान पर 8 मई तथा 11 अप्रैल 2020 के स्थान पर 9 मई 2020 पेंषी नियत की गई है।

न्यायालय परिसर में प्रवेष के लिए आवष्यक जानकारी प्रस्तुत करना होगी

झाबुआ, । प्रभारी जिला एवं सत्र न्यायाधीष झाबुआ श्री महेष कुमार षर्मा ने अवगत कराया कि 14 अप्रैल 2020 तक केवल ऐसे अधिवक्ता, पक्षकार-जिनके द्वारा जिला न्यायालय की ई मेल आई डी कबवनतजरींण्उच/दपबण्पद एवं श्री दिनेष जैन, प्रषासननिक अधिकारी से मोबाईल नंबर 9406659922 पर एवं ई मेल आई डी कपदमेी7816/हउंपसण्बवउ पर अधिवक्ता का नाम, पक्षकार का नाम, अधिवक्ता/पक्षकार के आवेदन दिनांक से विगत 14 दिन के पूर्व झाबुआ जिले के बाहर आवागमन की जानकारी, न्यायालय परिसर में प्रवेष का प्रयोजन की जानकारी प्रस्तुत कर अनुमति प्राप्त की गई है। उपरोक्त आवेदन प्रवेष दिनांक को दोपहर 1 बजे तक उपरोक्त ई-मेल आई डी पर प्रस्तुत किया जा सकेगा, उसके बाद प्रस्तुत आवेदन पत्रों पर विचार नहीं किया जावेगा। केस डायरी/रिमाण्ड प्रस्तुत करने वाले आरक्षक को न्यायालयीन स्टाफ, अधिवक्ता एवं पक्षकार को भी 4 से 5 बजे तक ही प्रवेष दिया जावेगा।

किराएदारों से जबरन मकान खाली कराने पर होगी दण्डात्मक कार्यवाही, लाॅकडाउन के दौरान कामगारों को पूरा वेतन देने के निर्देश

झाबुआ,। नोवेल कोरोना वायरस कोविद-19 संक्रमण से बचाव एवं नियंत्रण के लिए 25 मार्च से 14 दिनों तक घोषित किए गए लाॅकडाउन की अवधि में केन्द्र सरकार द्वारा कामगारों, छात्रों तथा श्रमिकों के लिए समुचित व्यवस्था किए जाने तथा उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराए जाने के निर्देश दिए गए हैं। केन्द्र सरकार द्वारा उद्योगों, कम्पनियों, व्यवसायिक संस्थानों के संचालकों को उनके यहां कार्यरत कर्मचारियों को लाॅकडाउन अवधि में बिना किसी कटौती के पूरा वेतन भुगतान किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। इसी प्रकार जो श्रमिक, कामगार किराए के मकानों में रहते हैं, उनसे लाॅकडाउन अवधि में किराया नहीं लेने के निर्देश मकान मालिकों को दिए गए हैं। यदि किसी मकान मालिक द्वारा छात्रों, कामगारों से मकान खाली कराया जाता है तो उसके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जाएगी।

बेवजह बाजार में घूमने आएं, तो होगी सख्त कार्यवाही, पुलिस ऐसे लोगों के विरूद्ध सख्त रवैया अपनाएं
      
झाबुआ, । जिला प्रशासन द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने हेतु हर संभव प्रयास किए जा रहे है। ऐसे में जिले के नागरिकों का भी दायित्व बनता है कि वे टोटल लाॅकडाउन का पालन कर प्रषासन का सहयोग करें। जो प्रतिबंधात्मक आदेष सोषल डिस्टेसिंग मेंटेन करने के लिए जिले में लागू किए गए है, उनका पूरा पालन करें। बेवजह घरों से न निकलें, एक-दूसरे से दूरी स्थापित कर एकांत मे रहें। अधिक लोगों के सम्पर्क में न आएं। सामूहिक रूप से एक स्थान पर इकट््ठा न हो। वायरस को लेकर सावधानी बरतें तथा सतर्क रहें। उक्त अपील कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने जिले के नागरिकों से की है। श्री सिपाहा ने कहा कि लॉकडाउन किया गया है। लॉक डाउन के चलते किसी भी व्यक्ति को घर से निकलने की अनुमति नहीं है। इसके बावजूद भी कई युवा वर्ग अनावश्यक रूप से बाहर घूमते रहते हैं एवं पुलिस प्रशासन को देखकर घर में चले जाते हैं या दवाई की दुकानों पर दवाई के बहाने खड़े हो जाते हैं। ऐसे व्यक्तियों को सख्त हिदायत दी जा रही है कि वह अपने अपने घरों में रहे एवं अपने वह अपने परिवार को सुरक्षित रखे एवं लॉक डाउन को सफल बनाने में प्रशासन का सहयोग करें। यदि कोई व्यक्ति बेवजह बाहर एवं बाजार में घूमता पाया गया, तो उसके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने निर्देष दिए कि इस दौरान ड््यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी बिना वजह घुमते पाए जाने वालों पर सख्त रवैया अपनाएं, उनके विरूद्ध कार्यवाही करे।

लॉक डाउन के दौरान रहेगा स्वैच्छिक रक्तदान

झाबुआ। राज्य शासन ने सभी जिला कलेक्टरों को निर्देश दिये हैं कि आम नागरिकों से जिले के शासकीय ब्लड बैंक में अपाइंटमेंट लेकर स्वैच्छिक रक्तदान के लिये अपील जारी करें। लॉक डाउन के कारण स्वैच्छिक रक्तदान शिविर आयोजित नहीं कर पाने के कारण ब्लड बैंक (ब्लड सेंटर) में रक्त की कमी को देखते हुए यह कार्यवाई की गई है। आयुक्त लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण श्री प्रतीक हजेला ने कलेक्टर्स से कहा है कि जिले के ब्लड बैंक द्वारा स्वैच्छिक रक्तदाता के मोबाइल नंबर, ई-मेल पर रक्तदान के लिये अपाइंटमेंट लेटर भेजा जाए। स्वैच्छिक रक्तदाताओं को ब्लड सेंटर द्वारा भेजा जाने वाला अपाइंटमेंट लेटर ही रक्तदान के  दिन एवं समय के लिये पास के रूप में मान्य किया जाये।

मध्यप्रदेश के निवासी लॉक डाउन के दौरान कही फंसे हो तो 104 तथा 180 पर कॉल करें

झाबुआ, । यदि मध्यप्रदेश के निवासी लॉक डाउन के दौरान कही फंस गए हैं तो मद्द के लिए भोपाल स्थिति नम्बर 104 या 180 पर कॉल करे। इसी तरह मध्यप्रदेश के निवासी प्रदेश के बाहर कही फसे है तो मदद के लिए 0755-2411180 पर कॉल करें।

सामान्य सर्दी, खॉसी, बुखार होने पर कोरोना वायरस के संभावित लक्षण नहीं माना जाए

  झाबुआ। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि सामान्य सर्दी, खॉसी, बुखार होने पर कोरोना वायरस के संभावित लक्षण नहीं माना जाए जब तक वह व्यक्ति विदेश यात्रा से वापस न आये हो या कोरोना वायरस के पाजीटिव व्यक्ति के संपर्क में न आया हो इसलिये आप सबको यह समझना जरूरी है, सामान्य सर्दी, खाँसी, बुखार होने पर यह कतई न माना जाए कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति है साथ ही यह भी बतलाना जरूरी है कि जो लोग झाबुआ जिले के रहने वाले है वे लोग बाहर से आये है खासतौर मजदूर वर्ग एवं नौकरी पेशा वर्ग जिन्हें सर्दी, खाँसी सूखी खांसी, तेज बुखार सांस लेने में तकलीफ आदि लक्षण बिलकुल नहीं है, तथा वे लोग पूर्ण रूप से स्वस्थ है। ऐसे सभी लोगों से अपील की जाती है कि वे अपने घरों में आगामी 14 दिवस तक सुरक्षित रहें तथा घर के बाहर बिलकुल न निकले।  जिले के गणमान्य नागरिकों, जनप्रतिनिधि, मीडिया प्रतिनिधि एवं आम जनता से अपील की जाती है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से झाबुआ जिले को बचाने में पूर्ण सहयोग प्रदान करें।

कोई टिप्पणी नहीं: