सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 19 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 19 मार्च 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 19 मार्च

धामनखेड़ा के आदिवासियों को दिए जाए पट्टे  सेवादल कांग्रेस ने की अजजा आयोग के अध्यक्ष से मांग 

sehore news
सीहोर। सेवादल कांग्रेस अध्यक्ष नरेंद्र खंगराले के द्वारा नवनियुक्त अनुसुचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष गजेंंद्र सिंह राजूखेड़ी पूर्व सासंद का स्वागत कर धामनखेड़ा के पचास वर्षो से काबिज आदिवासियों को वन भूमि के पट्टे प्रदान करने की मांग की गई। इस अवसर पर श्री खंगराले ने बताया की उक्त आदिवासी पचास वर्षो से वनविभाग की भूमि पर काबिज है पट्टे के लिए  प्रस्ताव धामनखेड़ा की ग्राम पंचायत द्वारा भी कलेक्टर जिला सीहेार को दिया गया है।  आदिवासियों की पट्टे की समस्या को गजेंद्र सिंह राजखेड़ी के द्वारा गंभीरता पूर्वक लिया गया तथा जिले के कलेक्टर को पचास वर्षो से काबिज आदिवासियों के वनभूमि के पट्टे तत्काल आदिमजाति कल्याण विभाग से परिक्षण कराया जाकर प्रदान किए जाए। मांग करने वालों में प्रमुख रूप से पूर्व रिटायर डिप्टी रेंजर डीएस शाक्य, बाबूलाल धनगर पूर्व सरपंच सागौनी, प्रदीप राय,रामलाल बारेला, रामसिंह भील, प्रेम सिंह भील, शोभाराम भील आदि शामिल है। 

नोवल कोरोना (कोविद-19) संक्रामक रोग घोषित
कलेक्टर ने जिले की समस्त शासकीय एवं अशासकीय शैक्षणिक संस्थानों के लिए किया अवकाश घोषित
राज्य शासन द्वारा नोवल कोरोना (कोविद-19) को सम्पूर्ण राज्य के लिये संक्रामक रोग घोषित किया गया है। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार मध्यप्रदेश पब्लिक हेल्थ एक्ट 1949 की धारा 50 के अन्तर्गत यह कार्यवाही की गई है। इस अधिनियम की धारा 51 के अन्तर्गत सम्पूर्ण राज्य के लिये यह अधिसूचित संक्रामक रोग (नोटिफाईड इन्फेक्शीयस डिसीज़) घोषित किया गया है। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा जिले के समस्त शासकीय, अशासकीय शैक्षणिक संस्थानों में अवकाश घोषित कर दिया गया है। आदेशानुसार जिले में संचालित समस्त प्रकार के कोचिंग, समर कैंप, खेल से संबंधित कोचिंग कैंप संचालित करने पर तत्काल प्रभाव से आगामी आदेश तक प्रतिबंध लगाया गया है।

आदेश का पालन नहीं किए जाने पर संबंधित के विरुद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।
राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षा की तैयारी हेतु आवेदन की अंतिम तिथि आज
आकांक्षा योजना के अंतर्गत वर्ष 2020-21 में आदिवासी विद्यार्थियों को राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षा की तैयारी के लिये आवेदन-पत्र विभागीय वेबसाइट www.tribal.mp.gov.in MPTASS पर अपलोड कर दिया गया है। इच्छुक छात्र-छात्राएँ अपने आवेदन 20 मार्च तक भर सकते हैं। अनुसूचित जनजाति के ऐसे छात्र-छात्राएं जो कक्षा 11 वीं एवं 12 वीं में अध्ययनरत रहते हुए राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षा जेईई, नीट्स, एम्स, क्लेट की तैयारी करना चाहते हैं, उनके लिए चार संभागीय मुख्यालयों भोपाल, जबलपुर, इंदौर, एवं ग्वालियर में द्विवर्षीय निःशुल्क कोचिंग दिए जाने हेतु आकांक्षा योजना संचालित है।

हाईस्कूल परीक्षा में उर्दु एवं अंग्रेजी विषय के प्रश्न पत्र में बनाए गए तीन नकल प्रकरण

जिला शिक्षा अधिकारी श्री एस.पी.सिंह बिसेन ने जानकारी देते हुए बताया कि माध्यमिक शिक्षा मंडल मध्यप्रदेश भोपाल द्वारा आयोजित हायर सेकेण्डी परीक्षा सीहोर जिले के निर्धारित  परीक्षा केन्द्रों पर आयोजित हुई। हायर सेकेण्ड्री परीक्षा के अंतर्गत उर्दू विशिष्ट विषय का प्रश्न पत्र सीहोर जिले के निर्धारित 16 परीक्षा केन्द्रों पर आयोजित हुआ तथा हाईस्कूल परीक्षा के अंतर्गत द्वितीय व तृतीय भाषा अंग्रेजी विषय का प्रश्न पत्र सीहोर जिले के निर्धारित 100 परीक्षा केन्द्रों पर आयोजित हुआ। जिले के समस्त परीक्षा केन्द्रों पर शांतिपूर्ण परीक्षा का आयोजित हुई। जिले में आयोजित हाईस्कूल परीक्षा अन्तर्गत 03 नकल प्रकरण बनाए गए जो कि आष्टा विकासखण्ड के शा. माडल उमावि आष्टा में संयुक्त संचालक लोक शिक्षण भोपाल संभाग भोपाल के निरीक्षण दल द्वारा बनाए गए। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के निर्देशानुसार परीक्षा केन्द्रों पर नकल रोकने के लिए निरीक्षण दल द्वारा लगातार एवं सतत निरीक्षण किये जा रहें है। जिले के समस्त विकासखंडों के अनुविभागीय अधिकारी एवं विकासखंड शिक्षा अधिकारी के  गठित निरीक्षण दल द्वारा परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण किया गया। जिले में कक्षा 12 वीं में कुल 148 में से 145 परिक्षार्थी उपस्थित हुए तथा कक्षा 10 वीं में 22018 में से 21260 परिक्षार्थियों ने परीक्षा दी।

आंगनवाड़ी एवं मिनी आंगनवाड़ी केंद्र 31 तक बंद

राज्य शासन द्वारा नोबल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर प्रदेश के सभी आंगनवाड़ी केंद्र और मिनी आंगनवाड़ी केंद्रों को 31 मार्च तक तत्काल प्रभाव से बंद रखने का निर्णय लिया गया है। साथ ही, आंगन कार्यक्रम/ डे-केयर सेंटर का क्रियान्वयन भी स्थगित कर दिया गया है। आयुक्त महिला-बाल विकास द्वारा इस संबंध में निर्देश जारी किये हैं। जिलों को निर्देशित किया गया है कि वर्तमान में शालाओं का संचालन स्थगित होने के कारण सांझा चूल्हा कार्यक्रम में आंगनबाड़ी केंद्रों में नाश्ता और भोजन प्रदाय प्रभावित होने से आंगनवाड़ी केंद्र में दर्ज 3 से 6 वर्ष के बच्चों को भी अन्य हितग्राहियों के साथ टेक होम राशन प्रदाय किया जाना सुनिश्चित किया जाए।

पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति के ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि आज

अनुसूचित जाति कल्याण विभाग द्वारा पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति योजनांतर्गत वर्ष 2019-20 हेतु विद्यार्थियों के आवेदन ऑनलाइन प्राप्त किये जाने की अंतिम तिथि 20 मार्च, 2020 निर्धारित की गई है। जिला कार्यालय द्वारा प्राप्त आवेदनों की स्वीकृति की अंतिम तिथि 31 मार्च, 2020 है। अनुसूचित जाति के समस्त विद्यार्थियों जिन्होंने छात्रवृत्ति हेतु आवेदन नहीं किया है वे पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन 20 मार्च तक कर सकते है।

आज मनाया जाएगा अंतर्राष्ट्रीय खुशहाली दिवस

मध्यप्रदेश शासन के राज्य आनंद संस्थान के निर्देशानुसार 20 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय खुशहाली दिवस मनाया जा रहा है। अंतर्राष्ट्रीय खुशहाली दिवस पर जिले में राज्य आनंदम संस्थान द्वारा आयोजित कार्यक्रमों में विद्यार्थी, व्यवसायी, स्वैच्छिक संस्थाएं, समाजसेवी, मोटिवेशनल स्पीकर्स, शिक्षाविद, विचारक आदि शामिल होंगे। उल्लेखनीय है कि संयुक्त राष्ट्र के आव्हान पर प्रति वर्ष 20 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय खुशहाली दिवस मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य व्यक्ति को इस बात का आभास कराना है कि केवल आर्थिक विकास ही आवश्यक नहीं है बल्कि लोगों की खुशहाली और सुख को बढ़ाना भी अत्यंत महत्वपूर्ण हैं। इसके अतिरिक्त यह दिवस समावेशी, न्यायोचित एवं सतुलित आर्थिक विकास की जरूरत पर बल देता है जिसमें सतत् उन्नति, गरीबी उन्मूलन और सभी की खुशहाली व सुख को निश्चित किया जा सके।

मछली और उसके उत्पाद पूरी तरह सुरक्षित

कोरोना वायरस कोविड-19 के बारे में सोशल मीडिया पर संदेश प्रसारित हो रहे है कि मछली और उसके उत्पाद कोरोना वायरस को फैलाने में सहायक है। मछली से उपभोक्ताओं को प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ प्राप्त होते है। कोरोना वायरस संबंधी प्रसारित होने वाले संदेशों से उपभोक्ताओं को प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थो से वंचित रहने की संभावना है भारत सरकार द्वारा भी इस संबंध में सभी राज्यों के संचालक मत्स्योद्योग को पत्र के माध्यम से रोकथाम और नियंत्रण करने के लिए निर्देशित किया है। अब तक प्राप्त अधिकृत और आधिकारिक जानकारी अनुसार यह वायरस मानव से मानव में फैलता है। मछली और इसके उत्पाद पूरी तरह इसके प्रभाव से मुक्त है। मछली व मछली के उत्पाद उपयोग योग्य है।

पीडीएस की राशन दुकानों को कोरोना वायरस से मुक्त रखने के निर्देश जारी

राज्य शासन ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली की राशन दुकानों पर उपभोक्ताओं को नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिये विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किये हैं। राशन विक्रेता के लिये मॉस्क और सेनेटाइजर का उपयोग आवश्यक कर दिया गया है। संचालक खाद्य-नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण द्वारा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अन्तर्गत राशन दुकानों के विक्रेताओं से कहा गया है कि दुकान नियमित रूप से खोलें और पात्र परिवारों को सतत रूप से राशन का वितरण करें। दुकान पर अधिक उपभोक्ता एक साथ एकत्रित न हों तथा वे एक-दूसरे से आवश्यक दूरी पर रहें। राशन वितरण करते समय हितग्राहियों के मध्य न्यूनतम 3 मीटर की दूरी रखी जाए। यथासंभव यह कोशिश की जाए कि वृद्ध एवं बीमार उपभोक्ताओं को राशन प्राप्त करने दुकान पर न आना पड़े। यदि फिर भी ऐसे हितग्राही दुकान पर आते हैं, तो उनकी लाइन अलग से लगवाई जाए और उन्हें प्राथमिकता के आधार पर राशन वितरण किया जाए। बायोमेट्रिक मशीन के स्केनर को सेनेटाइजर से साफ करने के निर्देश-   राशन दुकानों के विक्रेताओं से कहा गया है कि बायोमेट्रिक सत्यापन के आधार पर प्रत्येक उपभोक्ता को राशन वितरण के बाद मशीन के स्केनर को सेनेटाईजर से साफ कराया जाए। इसके लिये दुकान पर पर्याप्त मात्रा में सेनेटाईजर रखा जाए जिन उपभोक्ताओं को बायोमेट्रिक सत्यापन में कठिनाई होती है, उन्हें आगामी माह में भी राशन प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करें। निर्देश जारी किये गये हैं कि पीडीएस की प्रत्येक दुकान पर विक्रेता और सहयोगी भी राशन वितरण करते समय मास्क का उपयोग अवश्य करें और अपने हाथों को भी बार-बार सेनेटाईजर से साफ करें।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...