बिहार में 61 पॉजिटिव मरीज,22 ठीक हुए - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 11 अप्रैल 2020

बिहार में 61 पॉजिटिव मरीज,22 ठीक हुए

त्रिपोलिया होली क्रॉस सोसाइटी की सिस्टरों ने सैकड़ों पॉकेट गरीबों के बीच में वितरित किया।पॉकेट में 5 किलोग्राम चावल, 3 किलोग्राम आटा,1 बोतल तेल और 2 किलोग्राम चीनी था..
61-posetive-22-recoverd-in-bihar-corona
पटना,11 अप्रैल। बिहार में 61 पॉजिटिव मरीज हैं। इनमें 22 ठीक हो गए हैं। 1 व्यक्ति की मौत हो गयी है।नवादा,बेगूसराय और सीवान को शीलडाउन कर दिया गया है।इस बीच यह जरूरी है कि समान बांटने वाले लोगों को मास्क पहनने पर जोर देना चाहिए। इसके साथ सोशल डिस्टेंसिंग को सख्ती से पालन करवाना चाहिए । केवल खाद्य सामग्री वितरण न करें।आज त्रिपोलिया होली क्रॉस सोसाइटी की सिस्टरों ने सैकड़ों पॉकेट गरीबों के बीच में वितरित किया।पॉकेट में 5 किलोग्राम चावल, 3 किलोग्राम आटा,1 बोतल तेल और 2 किलोग्राम चीनी था।

बिहार में वैश्विक महामारी कोरोना का हॉटस्पॉट सीवान जिला बना
सीवान जिले के रघुनाथपुर प्रखंड के पंजवार गांव में पॉजीटिव मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। यहां 29 कोरोना पीड़ित मरीज मिल चुकेहैं। जबकि एक ही परिवार में पीड़ितों की संख्या बढ़कर 23 हो गई है। जबकि दो युवक उसके पड़ोसी हैं। पंजवार गांव के पहले मरीज की कोरोना पॉजिटिव होने की रिपोर्ट 3 अप्रैल को आई थी। जबकि उसकी मां और पत्नी समेत चार की रिर्पोट 7 अप्रैल को आई थी। कहा जा रहा है कि युवक के परिवार के अलावा दो अन्य जो कोरोना के पॉजिटिव मरीज हैं, उसके पड़ोसी हैं। दोनों उसके साथ क्रिकेट खेलने व अन्य कार्यों में शामिल रहे हैं। इधर पंजवार में कोरोना के पॉजीटिव मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या से जिले में हड़कंप मच गया है। बता दें कि पंजवार के इस युवक की नादानियों का खामियाजा पूरा गांव भुगत रहा है। गांव के लोगों का कहना है कि यहीं दो अन्य युवक एक दो-दिन आगे पीछे विदेश से अपने घर आये थे। उन दोनों युवकों ने एयरपोर्ट पर मिले निर्देशों का कर्तव्य पालन बखूबी के साथ किया। जबकि कोरोना पॉजीटिव हो चुके इस लापरवाह युवक की चपलता और बदमाशियां जारी रही। वह टारी बाजार में कई दुकानों पर खरीदारी की। लोगों से मिलते-जुलते रहा। बच्चों के साथ क्रिकेट खेला और गांव में कई लोगों को पार्टी दी। गांव के लोगों को भी इस बात का थोड़ा भी ख्याल नहीं रहा। फलस्वरुप परिवार के साथ-साथ पड़ोस के लोग भी संक्रमित हो गये हैं। गांव के अन्य मोहल्ले में अगर यह मामला किसी सामने आया तो फिर कुछ कहा नहीं जा सकता। इसका रूप ही भयावह होगा। ओमान से लौटे युवक के पूरे परिवार कोरोना पॉजिटिव पाए जाने से उसके ससुराल घुरघाट में दहशत है। पंजवार के मरीज का ससुराल व ननिहाल घुरघाट गांव में है। उसे यहां आने की खबर से गांव के लोगों में दहशत फैला हुआ है। कोरोना वायरस संक्रमित युवक कुछ दिन पहले ओमान से लौटा था। उसका पूरा परिवार क्वारंटाइन सेन्टर में रखा गया है। स्थानीय ग्रामीणों में चर्चा है कि कोरोना वायरस से संक्रमित युवक पत्नी के साथ ससुराल आया था। बीडीओ रंजीत कुमार सिंह व सीओ इन्द्रवंश राय दो बार उसके ससुरालवालों से पूछताछ कर चुके हैं। हालांकि ससुरालवालों का कहना है कि संक्रमित युवक यहां नहीं आया था। ससुरालवालों ने बताया कि कोरोना से संक्रमित युवक की शादी सात दिसम्बर 2017 को हुई थी। शादी के बाद अबतक वह यहां नहीं आया है। भले ही ससुरालवाले उसके यहां आने से इंकार कर रहे हैं लेकिन गांव वाले इस बात को नहीं मानते हैं। समाचार पत्रों व टीवी चैनलों पर कोरोना के बारे में मिल रही जानकारी से लोगों में भय है। स्थानीय मुखिया सुनील कुमार मिश्रा ने बताया कि ओमान से 23 मार्च को आया था। वह आने के बाद घर पर ही रहा। तीन-चार दिन के बाद पता चला तो उसके घर जाकर कहा गया कि सीवान जाकर जांच करवा लें।उसका सीवान में 26 मार्च को सैंपल लिया गया और उसे घर भेज दिया।इसका खामियाजा भुगता जा रहा है।फिलहाल उसके ससुरालवालों को उसके घर में ही क्वारंटीन कर दिया गया है। उन्हें घर से बाहर निकलने की इजाजत नहीं है। बीडीओ रंजीत कुमार सिंह ने कहा कि उसके ससुरालवालों पर बराबर नजर रखी जा रही है। पंजवार गांव के लोगों पर नजर रखने के लिए बीएमपी दो कंपनियों की तैनाती की गयी है। एक कंपनी गुरूवार की रात में ही पहुंच गयी थी। जबकि एक दूसरी कंपनी शुक्रवार को पहुंची। बीएमपी की पहली कंपनी के जवान शुक्रवार को अहले सुबह जगने के साथ ही रघुनाथपुर बाजार समेत आसपास के गांवों में फ्लैग मार्च किया। सुबह 8 बजे के बाद सभी जवान पंजवार गांव की ओर बाइक से रूख कर गये। दोपहर में जवानों ने गली-गली का भ्रमण कर लोगों को घर में ही रहने की हिदायत दी। अपने घर से निकलकर इधर-उधर घूमने वालों पर इनका डंडा भी चला। स्वास्थ्य विभाग द्वारा पंजवार गांव में पीड़ित परिवार के 200 मीटर के घेरे में स्थित  घर-घर जाकर सैंपल लेने की तैयारी शुरू की गई। प्रधान स्वास्थ्य सचिव संजयकुमार ने खासकर सीवान में संक्रमितों की पहचान को लेकर लोगों से सहयोग की अपील की। जिले में अब मरीजों की तादाद बढ़कर 29 हो गई है। सीवान के जिस परिवार में सबसे ज्यादा कोरोना के मामले सामने आए हैं उसमें अब नए संक्रमितों में 10 साल की एक बच्ची और 28 साल के एक पुरुष भी शामिल हो गए हैं। इन सभी को ओमान से आए एक शख्स के संपर्क में आने से संक्रमण हुआ है। पूरे इलाके के करीब 200 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं: