बिहार : बे-वजह मटरगस्ती करनेवालों के साथ पुलिस सख्ती से पेश आए - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 27 अप्रैल 2020

बिहार : बे-वजह मटरगस्ती करनेवालों के साथ पुलिस सख्ती से पेश आए

केन्द्र सरकार के आदेश पर कुछ दुकान खोलने के लिए आदेशित करते हुए हिदायत 
government-strict-on-lock-down-relief
अरुण शाण्डिल्य (बेगूसराय) केंद्र सरकार के गृहमंत्रालय द्वारा कुछ दुकानों को खोलने की छूट मिलने के बाद कुछ ऐसा माहौल बनने लगा है मानों लॉक डाउन में ही छूट दे दी गई जो। हर कोई एक दूसरे से इसको लेकर पूछताछ करने में लगा है,वहीं दूसरी ओर स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी सूचना में कहा गया है कि 30 अप्रैल तक कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलने का खतरा अपने चरम पर होगा और उसके बाद इसमें गिरावट की संभावना हो सकता है।ऐसे में अगर लोग लॉक डाउन को तोड़कर घर से बाहर निकलते हैं तो खतरा बढ़ने की शत प्रतिशत खतरे की संभावना है।गौरतलब हो कि लम्बी अवधि से लॉक डाउन का पालन कर रहे लोग घर में बैठे-बैठे ऊब रहे हैं।ऐसे में यकायक समूह में घर बैठे लोग बाहर निकल सकते हैं।अगर ऐसा हुआ तो लॉक डाउन का पालन कराना पुलिस के लिए भी बड़ी चुनौती बन सकती है।

पुलिस कप्तान अवकाश कुमार कहते हैं 
लॉक डाउन के बीच कुछ दुकानों को खोलने के केंद्र सरकार के निर्णय के आलोक में पुलिस कप्तान अवकाश कुमार का कहना है कि राज्य सरकार की ओर से कोई निर्देश नहीं आया है।उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे पूर्व की भाँति लॉक डाउन का पालन करते रहे हैं।उन्होंने कहा है कि बेगूसराय जिलेवासियों ने जिस धैर्य का परिचय दिया है उसी का परिणाम है कि कोरोना संक्रमण फैलने से अनुपातानुपात रूक पाया  है।उन्होंने जिले के सभी थाना को लॉक डाउन पालन को लेकर सख्ती बरतने का निर्देश दिया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...