बिहार : 108 जमातियों का ट्रेसल्स होना बना प्रशासन के लिए सिरदर्द - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 6 अप्रैल 2020

बिहार : 108 जमातियों का ट्रेसल्स होना बना प्रशासन के लिए सिरदर्द

jamati-tension
अरुण शाण्डिल्य (बेगूसराय)  मुजफ्फरपुर जिला प्रशासन के लिए ट्रेसलेस जमाती बहुत ही बड़ा सरदर्द साबित हो रहा है।जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को यह जानकारी मिली थी कि मुजफ्फरपुर में तबलीगी जमात से जुड़े 248 लोग हैं लेकिन इनमें से 108 लोगों से अब तक संपर्क नहीं हो पाया है।जमातियों के मोबाइल नम्बर और पते के आधासर पर लगातार खंगाले जा रहे हैं लेकिन ये सब के सब अभीतक ट्रेसलेस ही है। जिले में अब तक केवल 53 लोग ही क्वॉरेंटाइन हो पाया है।दरअसल मुख्यालय की तरफ से मुजफ्फरपुर जिले से जुड़े तबलीगी जमात के लोगों की पूरी लिस्ट जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को मुहैया करा दी गई थी। मुजफ्फरपुर में 248 जमातियों का सम्पूर्ण विवरणिका भी मुहैया कराया गया था जिनमें से 140 लोगों से मोबाइल पर संपर्क हो पाया है।जिन लोगों से संपर्क हुआ उनमें 87 अभी भी राज्य से बाहर हैं।जबकि 108 ऐसे जमाती लोग हैं जो भी भी ट्रेसलेस हैं। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक जिले में अब तक 17 जमातियों के सैंपल लिए गए हैं और इनकी रिपोर्ट आनी अभी बाकी है।आगे आपको बता दें कि इंडोनेशिया से जुड़े 12 तब्लीगीयों कि जानकारी बिहार आने की मिली थी।इनमें से दो लोगों का पता कटरा प्रखंड के बाजी बुजुर्ग का बताया गया है। इंडोनेशिया से आए 12 लोगों में तीन व्यक्ति गोपालगंज के दरभंगा,मधुबनी और पश्चिम चंपारण के एक-एक व्यक्ति और पटना के नाला रोड के रहने वाले 2 व्यक्तियों के बारे में जानकारी साझा दी गई है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...