झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 25 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 27 अप्रैल 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 25 अप्रैल

आपसी रंजिश के चलते चले कुल्हाडी ओर लट्ठ दो गंभीर घायल

jhabua news
पारा । करिब छः माह पुराने आपसी विवाद के चलते आज सुबह ग्राम छापरी रणवास मे पुनः दो खेमो मे जबरजस्त विवाद हुआ जिसमे कुल्हाडी व लटठ चलने से दो आदमी गंभीर रुप से घायल होगए। घायलो जिला चिकित्सालय रेफर किया गया हे। उक्त जानकारी देते हुए चैकि प्रभारी केसरसिह पांडव ने बताया कि आज दिनांक 24 अप्रेल को राकेश पिता रामचंद वाखला निवासी छापरी रणवास नें पुलिस चोकि पारा पर रिपोर्ट दर्ज करवाते हुवे बताया कि करिब छह-सात माह पहले हमारे गांव के तोलिया पार सिंह दीनू रकसीह आदि लोगों ने गो वंश को मार दिया था जिसकी रिपोर्ट राकेश के पिताजी रामचंद्र की थी उसी बात को लेकर आज फिर से इन सभी लोगो ने उसके परिवार के सदस्य रामचरण को बोल कर विवाद किया कि तुने हमारे खिलाफ पुलिस मे रिपोर्ट कि थी। जिससे हम लोगो को कोर्ट में बहुत खर्चा होगया हे। अब तू हमारे खर्चे के रुपए हमको वापस दे। रामचरण अपने खेत में काम कर रहा था उसी समय यह लोग अपने हाथ में लट कुल्हाड़ी लेकर आए व आने के साथ गाली गुप्ता कर मारपीट करना शुरू कर दिया। अपने पिता से झागडा हुआ देखकर रामचरण का लड़का राकेश व बाबु बीच-बचाव करने गए तो उनके साथ भी लकड़ी से मारपीट कर चोट पहुंचाई । घटना कि जानकारी मीलते ही चैकि प्रभारी दलबल सहीत घटना स्थल पर गए व घायलों को सामुदायीक स्वास्थ्य केन्द्र पारा लाया गया जहा से प्राथमीक उपचार के बाद घायलो को जिला चिकित्सालय  झाबुआ रेफर किया गया है। पुलिस ने धारा 294, 323,  506, 34 आईपीसी मे मुकदमा दर्ज कर लिया हे।चौकि प्रभारी ने बताया कि सभी आरोपी फरार हे। आरोपियों की तलाश जारी है।

राजनैतिक दबाव में पुलिस रिपोर्ट दर्ज की गई तत्काल निरस्त करने की मांग

झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया, जिला कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल मेहता एवं डाॅ विक्रान्त भूरिया अध्यक्ष युवक कांग्रेस एवं गौरव सक्सेना सहित अन्य कांग्रेसी पदाधिकारीयों पर झाबुआ कोतवाली पर अनुविभागीय अधिकारी झाबुआ अभय खराडी ने एफआईआर दर्ज करवाई गई है वह पूरी तरह राजनैतिक दबाब में आकर करवाई गई है । भारतीय जनता पार्टी अपना वजुद जिले में खो चुकी है । ऐसी स्थिति में वह प्रशासन पर दबाव बनाकर भय पैदा करना चाहती है। जिला कांग्रेस के पदाधिकारी एवं झाबुआ अलीराजपुर जिले के विधायकों ने तत्काल उक्त एफआईआर निरस्त करने की मांग की है। इस सबंध में कांग्रेस नेताओं ने प्रेस नोट के माध्यम से अवगत कराया है कि दिनांक 23 अप्रेल को कलेक्टर जिला झाबुआ को विधायक कांतिलाल भूरिया जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्री निर्मल मेहता, युवक कांग्रेस अध्यक्ष डाॅ विक्रान्त भूरिया एवं शहर कांग्रेस अध्यक्ष श्री गोरव सक्सेना अपने अपने वाहन से कलेक्टोरेट पहुंच कर कलेक्टर को ज्ञापन प्रस्तुत करने गये थें किन्तु .कलेक्टर महोदय द्वारा मुस्लिम समाज के मौलवीयों से बैठक होने के कारण एवं पोर्च में वाहन खडे होने से धूप से बचने के कारण उक्त कांग्रेस नेतागण सामने बगीचे में कलेक्टर महोदय का इन्तजार कर रहे थे तथा वहीं पर जहां पूर्व से किसी के द्वारा बैठने की चटाई थी उस पर बैठ गये तथा उसी समय अन्य कांग्रेस के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता अपने अपने कार्य से कलेक्टोरेट में अनुमति अथवा पास के कार्य से आये थे वे भी वहीं श्री भूरियाजी से चर्चा करने लगे तथा उसके उपरान्त कलेक्टर साहब के बहार आने पर विधायक एवं अन्य तीन पदाधिकारीयों द्वारा कलेक्टर महोदय को राज्यपाल के नाम ज्ञापन प्रस्तुत किया गया । विधायक भूरियाजी एवं अन्य साथी पदाधिकारी सामने बगीचे में छाया जा कर बैठ गये थे। उनके द्वारा किसी प्रकार का धरना देने के उद्देष्य से नहीं बैठे थे। इस सबंध में कलेक्टर महोदय द्वारा स्वयं इस बात की पुष्टि की है कि वे इन्तजार के कारण वहां पर बैठ गये थे। तथा पुलिस रिपोर्ट दर्ज कर्ता अनुविभागीय अधिकारी श्री अभय खराडी ने भी यह बात कही है कि उनके द्वारा किसी को धरना देते हुए नहीं देखा गया है। कांग्रेस पदाधिकारीयों ने यहा यह भी कहा कि जिला अलीराजपुर में भी वहां के विधायकगण एवं कांग्रेस के पदाधिकारी द्वारा ज्ञापन प्रस्तुत किया गया तथा जिला अलीराजपुर में किसी प्रकार की पुलिस रिपोर्ट वहां के प्रशासन द्वारा दर्ज नहीं की गई है। कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारी झाबुआ ,अलीराजपुर,रतलाम एवं अन्य जिले के जो ग्रामीण मजदुर अन्य राज्यों में लाॅक डाउन के कारण फंसे हुए है तथा उन्हे वहां मूल भूत सुविधा तथा राशन भोजन आदि की व्यवस्था नही होने के कारण राज्यपाल के नाम ज्ञापन कलेक्टर महोदय को प्रस्तुत करने गये थे। किन्तु भाजपा के पदाधिकारीयों को आम जनता गरीब मजदुरों की कोई चिन्ता नहीं है उन्हे वे चाहते है कि वे वही भूख से मर जाने के हाल पर छोड दिया जावे। जबकि म0प्र0शासन एक राज्य में दो तरह की व्यवस्था के खिलाफ आवाज उठाने कांग्रेस के पदाधिकारी गये थे। इस सबंध में विधायकगण श्री कांतिलाल भूरिया ,वालसिंह मेडा वीरसिंह भूरिया,अलीराजपुर जिले के विधायकगण मुकेश पटेल एवं कलावती भूरिया तथा जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्री निर्मल मेहता, महेश पटेल, युवक कांग्रेस के विक्रान्त भूरिया आशिष भूरिया  एवं गौरव सक्सैना शहर कांग्रेस अध्यक्ष तथा पूर्व विधायक जेवियर मेडा, कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष हेमचन्द्र,रूपसिंह डामोर सहित ब्लाक के पदाधिकारी श्री शंकरसिंह भूरिया मानसिंह मेडा प्रवक्ता साबीर फिटवेल, हर्ष भटट ,नामदेव आचार्य,विजय शाह, एनएसयुआई विनय भाभर सहित पदाधिकारीयों ने प्रशासन की कांग्रेस नेताओं के ख्लिाफ दर्ज एफआईआर की निन्दा करते हुए तत्काल उक्त पुलिस रिपोर्ट निरस्त करने की मांग की है।

’भाजपा की सरकार बनते ही प्रदेश में संबल योजना लागू जिला भाजपा ने मुख्यमंत्री का माना आभार’

झाबुआ। गरीबी हटाओ का नारा लगाने वाली कांग्रेस ने गरीबों को हटाने का ही काम किया। कमलनाथ सरकार ने राजनीतिक प्रतिशोध के चलते भाजपा सरकार द्वारा शुरू की गई संबल योजना पर रोक लगाकर गरीबों से न सिर्फ बच्चों के जन्म की खुशियां ही छीनी थी,बल्कि उसे जीवन भर अभाव की जिंदगी जीने पर मजबूर कर दिया था। यह पाप कांग्रेस सरकार ने संबल योजना बंद करके किया था, लेकिन मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान ने संबल योजना को फिर शुरू करके गरीबों को उनकी खुशियां तो लौटा ही दी हैं। कांग्रेस के इस महापाप से भी उन्हें मुक्त कर दिया है। उक्त बयान सांसद गुमानसिंह डामोर एवं भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा ने संबल योजना को फिर से शुरू किए जाने पर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान को धन्यवाद और आम जनता को संयुक्त रूप से बधाई देते हुए कही।  सांसद गुमानसिंह डामोर एवं भाजपा जिला अध्यक्ष शर्मा ने अपने सयुक्त वक्तव्य मे कहा कि पीड़ित मानवता की सेवा के धर्म को निभाते हुए भाजपा की सरकार ने मनुष्य के जन्म से लेकर पूरे जीवन की चिंता करने वाली संबल योजना प्रारंभ की थी। इस योजना के माध्यम से लोगों को भोजन,शिक्षा,स्वास्थ्य और अंतिम संस्कार तक की व्यवस्था करके भाजपा सरकार ने प्रदेश के लाखों गरीबों को सामाजिक सुरक्षा देने का काम किया था। लेकिन झूठे वादे करके सत्ता में आई कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने सिर्फ राजनीतिक प्रतिशोध वश संबल योजना को बन्द कर दिया,बल्कि कांग्रेस की कथनी और करनी का फर्क इस बात से साफ हो जाता है कि वह गरीबी हटाओ का नारा तो देती है,लेकिन भाजपा सरकार द्वारा गरीबों के लिए शुरू की गई संबल योजना को सत्ता में आते ही बंद कर देती है,जिसके कारण प्रदेश के गरीब तबके के लोगों को अपना जीवन अंधकारमय लगने लगा था। उन्होंने कहा पिछले 15 महीनों में कमलनाथ सरकार ने सिर्फ गरीबों से जुड़ी योजनाओं को बंद करने का ही काम किया तो कहीं भाजपा सरकार की अलग-अलग वर्गों के लिए शुरू की गई महत्त्वकांक्षी योजनाओं के नाम बदलने का अभियान चलाया। कमलनाथ सरकार ने 15 महीने में गरीबों के लिए एक भी ऐसा काम नहीं किया जिसे वह गरीब के हित में बता सके,जबकि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने अप्रैल 2018 में संबल योजना को प्रारंभ किया था। कांग्रेस ने सत्ता हासिल करते ही इस योजना को बंद कर गरीब विरोधी मानसिकता का परिचय दिया,। सांसद एवं जिला भाजपाध्यक्ष ने कहा कि शिवराजसिंह चैहान ने चैथी बार मुख्यमंत्री बनते ही किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराने,फसल बीमा की प्रीमियम जमा कराने और संबल योजना फिर शुरू करने का निर्णय लेकर यह बता दिया है कि  भाजपा को गरीब और किसानों की चिंता है। उक्त जानकारी भाजपा जिला मीडिया प्रभारी राजेन्द्र सोनी और भाजयुमो मीडिया प्रभारी जीतू सेन द्वारा दी गई।

पेंषनर्स एसोसिएषन द्वारा कोराना वायरस की रोकथाम के लिये सहायता

झाबुआ । मध्यप्रदेश पेंशनर्स एसोसिएशन जिला झाबुआ के अध्यक्ष रतनसिंह राठौर एवं प्रचार सचिव राजेन्द्र सोनी द्वारा बताया गया कि झाबुआ जिले के समस्त पेंशनर्स साथियों की ओर से कोराना वायरस की रोकथाम हेतु झाबुआ जिले के जरूरत मंदों के लिये सहायता राशि देने का निर्णय संगठन द्वारा लिया गया है । इस संबंध में सभी तहसील शाखाओं के अध्यक्षों द्वारा  भी सहयोग राशि देने का आश्वासन दिया गया है । अतः इस पुनित कार्य में जो भी पेंशनर्स साथी सहयोग राशि देना चाहे वे अपनी शाखा के कोषाध्यक्ष के पास रकम जमा करवा कर रसीद प्राप्त कर लेवें । श्री राठौर के अनुसार उक्त राशि एकत्रित की जाकर  प्राप्त राशि कलेक्टर झाबुआ को चैक द्वारा प्रस्तुत की जावेगी । श्री राठौर एवं श्री सोनी ने जिले के सभी पेंशनरों से इस पुनित कार्य हेतु अधिक से अधिक सहयोग राशि जमा कराये जाने का अनुरोध किया है।

अक्षय तृतीया  एक अचिन्त्य महिमावत पर्व- यषवंत भंडारी
पुरातन काल से अक्षय तृतीया को माना जाता है शुभमुहर्त का दिन
झाबुआ। हमारे देश की सभ्यता एवं  संस्कृति हमारी सबसे बड़ी धरोहर हैे , हमारा देश पर्वों और त्योहारों का देश हेै , धर्म और आध्यामिकता के प्रति हमारी आस्था , श्रद्धा और विश्वास ही हमारी सबसे बड़ी विशेषता है । अनेकता मे एकता का सूत्रपात देश मे मनने वाले पर्व एवं त्यौहार ही करते हैे अलग अलग धर्म जाति एवं समूह मे बँटे इस देस मे वर्ष भर पर्व और त्यौहार मनाने का सिलसिला निरंतर चलता रहता हैे । वर्ष प्रतिपदा से होलिका दहन के मध्य सारा राष्ट्र अनेक पर्व और त्यौहार मनाता है । , ये पर्व और त्यौहार व्यक्तिगत , परिवारिक , सामाजिक एवं धार्मिक रूप से परम्परागत ढंग से सौहार्द्र पूर्वक मनाना हमारी सबसे बड़ी खासियत हेै । उक्त जानकारी देते हुए वरिष्ठ समाजसेवी यशंवत भंडारी ने अक्षय तृतीया पर्व के पोराणिक एवं वर्तमान परिप्रेक्ष्य में इसके महत्व को बताया है । विभिन्न पर्वों पर त्योहारों के अंतगर्त आता है,े एक महत्वपूर्ण पर्व दिवस जिसे हम अक्षय तृतिया जो प्रति वर्ष बैेशाख सुदी तीज को आती हेै । जिसे हम सामान्य भाषा मे आखा तीज या खातरिज कहते हैे हम सब मनाते है । इस पर्व की सबसे बड़ी विशेषता यह हेै यह पर्व पुरे हिन्दू समाज (सनातन , ब्राह्मण , जैन , आदिवासी , एवं अन्य समाजों द्वारा बड़ी श्रद्धा , भक्ति एवं आस्था के साथ मनाया जाता हैे । हमारे प्राचीन इतिहास को द्रष्टिगत करते है तो कई प्रसंग आते है,े जिसके कारण इस दिन को अत्यंत महिमावत दिवस के रूप मे मनाया जाता हेै जिसमें निम्नांकित पर्व मुख्य है ।

श्री परशुराम भगवान की जयंती ,
इस दिन को भगवान श्री परशुराम जी का अवतरण दिवस माना गया , श्री परशुराम जी एक महान तपस्वी एवं पराक्रमी अवतार हुए है, जिनके बारे मे कहा जाता हे कि अपने बल एवं पराक्रम से अपने कई बार इस पृथ्वी को क्षत्रिय विहीन कर दी थी , ऋषि पुत्र होने के कारण सम्पूर्ण ब्राह्मण समाज आपको अपना आराध्य देव मानता है

प्रथम पारणा दिवस (आहार दान दिवस )
जैन धर्म के इतिहास अनुसार इस दिन का बहुत महत्व बताया गया , जिसके अनुसार इस धर्म के प्रथम तीर्थकर श्री ऋषभ देव जी को अपने दीक्षा ग्रहण के पश्चात से चार सो दिन तक लगातार निराहार रहना पड़ा तब आज के दिन हस्तिनापुर मे श्रेयांश कुमार द्वारा इक्छू रास (गन्ने के रस ) से आपका पारणा करवाया था याने भगवान को आहार दान दिया था । तब से लेकर आज तक हजारो जैन धर्मावलम्बी वर्षीतप का दीर्घ तप करते हैे तथा आज के दिन उसकी पूर्णाहुति कर इक्छू रस से पारना करते हे ।

पितरों को अर्पण दिवस
आदिवासी समुदाय विशेष  कर भील समुदाय मे यह पर्व विशेष आस्था एवं श्रद्धा के साथ मनाया  जाता हे  जिन्हे ये खातरिज कहते हे इस दिन प्रत्येक आदिवासी के घर पर सेवइयां , गुड , नारियल , आदि पलाश के पत्ते पर रखकर घर का मुखिया पर पूर्वजो को अर्पण करता तथा उनसे शांति एव समृद्धि की प्रार्थना करता हें ।

सर्व श्रेष्ठ मुहूर्त
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मांगलिक अनुष्ठानों एवं कार्यो के लिये इस दिन को श्रेष्ट माना गया हेंै , अक्षय याने कभी क्षय नही होने वाली , इस कारण ये दिन अत्यंत शुभ माना गया , विवाह , गृह प्रवेश , नया व्यवसाय आदि प्रारम्भ करने के लिये इस को सर्वश्रेष्ठ दिवस माना गया ।,

श्रेष्ठ अनुकूल मौसम एवं अवसर
ठंड के जाने एवं गर्मी के आने के बीच ये दिन आता है । इसलिए यह दिन मौसम के हिसाब से भी अत्यंत अनुकूल होता हैे तथा फसल कट जाने के कारण किसान भी अपने कार्यो से फ्री हो जाते है।

कोविड-19 (नोबल कोरोना वायरस) के संक्रमण से बचाव एवं फैलने से रोकने के लिये आम जनता से घर में रहने की अपील

झाबुआ। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री प्रबल सिपाहा ने जिले की आम जनता से अपील की है कि वे कोविड-19 (नोबल कोरोना वायरस) के संक्रमण से बचाव एवं फैलने से रोकने के लिए घर से बाहर न निकले। नोबल कोरोना वायरस की रोकथाम के संबंध में भारत सरकार द्वारा देष भर में नागरिकों को 1921 नम्बर से काॅल करके एक टेलीफोनिक संर्वेक्षण एन आई सी द्वारा प्टत्ै के माध्यम से किया जाना है। इस संबंध में झाबुआ जिले की आम जनता से अपेक्षा की गई है कि वे काॅल के दौरान सर्वे की सही जानकारी दी जाए। जिससे की सरकार को कोरोना की वास्तविक स्थिति की जानकारी प्राप्त हो सके। साथ ही आम जनता से यह भी अपील की गई है कि वे 1921 से मिलते-जुलते नम्बर से आने वाले काॅल से सावधान रहे और 1921 के अलावा मिलते-जुलते नम्बरों से आने वाले काॅल पर अपनी जानकारी साझा न करें।

डिप्टी कलेक्टर श्री गर्ग को विभिन्न षाखाओं का प्रभार सौंपा

 झाबुआ। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने डिप्टीकलेक्टर श्री अनिल भाना को सौपी गई समस्त षाखाओं का प्रभार  डिप्टी कलेक्टर श्री लक्ष्मीनारायण गर्ग, को सौपा है। ज्ञात हो कि डिप्टी कलेक्टर श्री भाना का स्थान्तरण झाबुआ से इन्दौर हो जाने पर भार मुक्त किया गया है।

1 हजार 111 व्यक्तियों को भोजन प्रदाय

झाबुआ। कोविड -19 (कोरोना वायरस) संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए जिला स्तर से अब तक सर्दी, खांसी के मरीजों के साथ आईसोलेषन वार्ड क्वारेंटाइन केन्द्र एवं बाॅर्डर पर तैनात स्वास्थ्य कर्मी, पुलिस के लोग, आंगनवाड़ी एवं आषा कार्यकर्ता के कुल 317 सेम्पल जांच के लिए भेजे गये है। जिनमें से 259 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हो गई है। जिनमें से एक भी सेम्पल कि जांच रिपोर्ट में कोरोना पाॅजिटिव नहीं पाया गया है। जिले में कुल 491 लोगों को कोरेण्टाइन सेन्टर में रखा गया है।कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने अवगत कराया कि षुक्रवार को 1 हजार 111 जरूरतमंद व्यक्तियों को भोजन प्रदाय किया गया है। पुलिस विभाग द्वारा जिले में अब तक कुल 17 व्यक्तियों के खिलाफ एफ आई आर, धारा 151 के तहत 3 प्रकरण तथा 16 व्यक्तियों को अस्थाई जेल में निरूद्ध किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: