विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 25 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 27 अप्रैल 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 25 अप्रैल

टीएल बैठक चार को

कलेक्टर डॉ पंकज जैन की अध्यक्षता में टीएल बैठक चार मई सोमवार को आयोजित की गई है यह बैठक नवीन कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में प्रातः 11 बजे से आयोजित की गई है। उक्त बैठक में उत्तरा पोर्टल पर लंबित आवेदनों की समीक्षा के अलावा पेपर कंटिग इत्यादि के निराकरण हेतु विभिन्न विभागों के अधिकारियों द्वारा की गई कार्यवाही की समीक्षा की जाएगी। 

एक लाख मेट्रिक टन गेंहू का उपार्जन

जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि जिले में समर्थन मूल्य पर पंजीकृत किसानों से 199 उपार्जन केन्द्रों पर क्रय कार्य जारी है। श्रीमती साहू ने बताया कि 25 अपै्रल शनिवार तक 18910 किसानों से  एक लाख मेट्रिक टन गेंहू की खरीदी कार्य पूर्ण हुआ है। 

ई-पास हेतु 872 आवेदन प्राप्त हुए

लॉकडाउन अवधि के दौरान मेडीकल ग्रांट और गमीं में शामिल होने तथा अतिआवश्यक सेवाएं जैसे मेडीकल दवाईयां लाने के प्रकरणों में एक जिले से दूसरे जिले अथवा दूसरे राज्य में आने-जाने हेतु आवेदकों को अनुमति ऑन लाइन प्रक्रिया के तहत आवेदन जमा करने पर ई-पास जारी किए जा रहे है। डिप्टी कलेक्टर एवं नोडल अधिकारी श्री प्रवीण प्रजापति ने बताया कि जिले में अब तक कुल 872 आवेदन ऑन लाइन ई-पास हेतु प्राप्त हुए है जिसमें से 650 आवेदनों को निर्धारित मापदण्डो के अनुरूप नही पाए जाने पर निरस्त (रिजेक्ट) हुए है। जबकि 141 आवेदकों को ई-पास जारी हुए है। नोडल अधिकारी श्री प्रजापति ने बताया कि प्रदेश के तीन जिले क्रमशः भोपाल, इन्दौर और उज्जैन के लिए ई-पास की अनुमति राज्य स्तर से प्रदाय की जा रही है। बेवसाइट उंचपजण्हवअण्पदऋबवअपक19 पर घर बैठे ऑन लाइन आवेदन कर सकते है। ई-पास हेतु प्राप्त कुल 872 आवेदनों में से 791 आवदनों का निराकरण किया गया है। जबकि 81 आवेदन लंबित है कुल आवेदनों में से 650 आवेदन मापदण्डो के अनुरूप सही नही पाए जाने के फलस्वरूप निरस्त किए गए है जबकि 141 आवेदको को ऑन लाइन ई-पास जारी किए गए है।

497 हितग्राहियों के खातो में एक-एक हजार रूपए जमा 

मुख्यमंत्री प्रवासी मजदूर सहायता योजना के अंतर्गत विदिशा जिले के अन्य राज्यों में लॉकडाउन अवधि के दरम्यिन रूके हुए मजदूरो को वित्तीय सहायता प्रदाय किए जाने के जारी निर्देशो के अनुपालन में कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा जिले के 497 हितग्राहियों के बैंक खातो में क्रमशः एक-एक हजार रूपए की राशि जमा कराई गई है। कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में सामाजिक न्याय विभाग के उप संचालक डॉ पीके मिश्रा ने बताया कि विदिशा जिले के अन्य राज्यों में लॉकडाउन के दौरान रह गए मजदूरो में से कुल 1014 से उनके मोबाइल नम्बर पर सम्पर्क हुआ है जिसमें से पात्र पाए गए 597 व्यक्तियों में से 497 के बैंक खातो में राशि आज जमा कराई गई है शेष अन्य व्यक्तियों के बैंक खातो की जानकारियां संग्रहित की जा रही है।

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा दिशा निर्देश जारी

जिला शिक्षा अधिकारी श्री एसपी त्रिपाठी ने बताया कि लॉकडाउन के परिपेक्ष्य में विभिन्न हितग्राहियों द्वारा गैर अनुदान प्राप्त अशासकीय विद्यालयों की फीस के भुगतान तथा इन विद्यालयों के शिक्षकों आदि के वेतन संबंध में केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड को ज्ञापन प्रस्तुत किए गए है। उक्त ज्ञापनों के परिपेक्ष्य में सीबीएसई द्वारा दिशा निर्देश जारी किए गए है।  सीबीएसई के द्वारा जारी दिशा निर्देशो का हवाला देते हुए जिला शिक्षा अधिकारी श्री त्रिपाठी ने बताया कि ऐसे पालकगण जो परिस्थितियोंवश शैक्षणिक सत्र 2019-20 की बकाया शुल्क जमा नही कर पाए है वे उक्त शुल्क तीस जून 2020 तक जमा कर सकेंगे। इसके लिए उन पर कोई विलम्ब शुल्क देय नही होगा। वर्तमान शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए आगामी आदेश तक अशासकीय विद्यालयों द्वारा कोई शुल्क वृद्वि नही की जा सकेगी। इसके अलावा पालकों को फीस की एक मुश्त अदायगी के लिए बाध्य नही किया जाएगा।  निजी विद्यालय द्वारा पालको की सुविधा अनुसार मासिक रूप से अथवा न्यूनतम चार किश्तो में फीस ली जा सकेगी। फीस जमा ना किए जाने के कारण किसी छात्र-छात्रा का नाम विद्यालय से नही काटा जाएगा। वर्तमान परिस्थितियों को ध्यानगत रखते हुए अभिभावको की आर्थिक कठिनाईयों के कारण यदि उनके द्वारा आपदा अवधि में शुल्क को स्थगित किए जाने का अनुरोध किया जाता है तो निजी विद्यालय सकारात्मक विचार कर फीस स्थगित किए जाने की स्थिति में उक्त शुल्क को आगामी माहो मेंं किश्तो के आधार पर समायोजित कर सकेंगे। ऐसे अशासकीय विद्यालय द्वारा वर्तमान में ऑन लाइन अध्यापन गतिविधियां प्रारंभ की गई है अथवा यदि वे ऐसी गतिविधियां प्रारंभ करना चाह रहे है तो वे गतिविधियां जारी रख सकेंगे। प्रारंभ कर सकेंगे तथापि इस हेतु कोई अतिरिक्त फीस नही ली जाएगी। विद्यालयों में कार्यरत शैक्षणिक तथा गैर शैक्षणिक स्टाप को नियमित रूप से वेतन का भुगतान किया जाएगा। संबंधित बोर्ड की पुस्तकों के अतिरिक्त किसी अन्य पुस्तकों के क्रय हेतु पालको, अभिभावकों को बाध्य नही किया जा सकेगा। जिला शिक्षा अधिकारी श्री त्रिपाठी ने जिले के समस्त सीबीएसई, आईसीएसई, मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मण्डल तथा अन्य समस्त बोर्ड से संवंद्व गैर अनुदान प्राप्त अशासकीय विद्यालयों पर समान रूप से लागू होंगे। अशासकीय विद्यालयों द्वारा उपरोक्त निर्देशो का पालन ना करने की स्थिति में ऐसे विद्यालयों के विरूद्व मान्यता नियमों के विरूद्व कार्यवाही प्रस्तावित की जाएगी। 

टीमों के सदस्‍यगण प्रशिक्षित हुए 

vidisha news
नोबेल कोरोना से संक्रमण के बचाव हेतु  जिला कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा हर स्‍तर पर प्रबध सुनिश्चित किए गए है के द्वारा पहले जिला स्‍तरीय मास्‍टर टेेनर्सो को प्रशिक्षित कराया तदोपरांत उक्‍त मास्‍टर टेनर्सो के द्वारा दो दिवसीय खण्‍ड स्‍तर पर प्रशिक्षण के माध्‍यम से टीमो के सदस्‍यों को मेडीकल मोबाइल यूनिट तथा वायोमेडिकल बेस्‍ट मैनेजमेंट एवं सेम्‍पल कलेक्‍शन विधाओं से प्रशिक्षित किया गया है। जिले के सभी विकासखण्‍डो में कोविड-19 के स्ंक्रमण से बचाव हेतु नोडल अधिकारियों एवं सर्वे टीम के सदस्‍यों को प्रशिक्षित किया गया टीम में एएनएम ,आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को सम्मिलित किया गया है। विकास खंडों में सम्‍पन्‍न हुए जागरूकता एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम की जानकारी देते हुए नोडल अधिकारी डॉ दीप्ति शुक्ला के द्वारा  सर्वे टीम प्रमुख रूप से दो प्रकार के फॉर्म भरवाए। जिसमें कांटेक्ट ट्रेसिंग के पश्चात सर्वे टीमों के द्वारा हाई रिस्क एवं लो रिस्क व्यक्तियों की सूची  के साथ अपनी दैनिक सर्वे रिपोर्ट  सभी भरे हुए प्रपत्र के साथ  ब्लॉक लेवल  नोडल अधिकारी को भेजेंगे इसके बारे में सर्वे टीम को प्रशिक्षण दिया गया सभी टीम के द्वारा सर्वेक्षक सभी कांटेक्ट से प्रतिदिन दूरभाष के माध्यम से ऐप के माध्यम से या व्यक्तिगत रूप से मिलकर उनकी स्थिति की निगरानी की जाएगी आज मेडिकल मोबाइल यूनिट का प्रशिक्षण भी ब्लॉक लेवल पर आयोजित किया गया इस यूनिट में मेडिकल ऑफिसर पैरामेडिकल स्टाफ डॉक्यूमेंटेशन स्टाफ टेक्नीशियन पुलिसकर्मी आदि सम्मिलित किए गए हैं सर्वे टीम के द्वारा ऐसे मरीज का रेगुलर फॉलो अप लेना है और यदि मरीज में उन्हें संक्रमण के लक्षण दिखाई देते हैं तो सर्वे टीम तत्काल नोडल ऑफिसर और मेडिकल मोबाइल यूनिट को सूचित करेंगे। मेडिकल मोबाइल यूनिट के द्वारा मरीज का परीक्षण किया जाएगा और आवश्यकतानुसार उनका सैंपल लिया जाएगा। जिला स्तर पर जिला स्तरीय  कंटेनमेंट जोन नोडल अधिकारी,  कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग नोडल अधिकारी , मेडिकल मोबाइल यूनिट नोडल अधिकारी,  सैंपल कलेक्शन नोडल अधिकारी, बायोमेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट नोडल अधिकारी  एंबुलेंस नोडल अधिकारी  नोडल अधिकारी निर्धारित किए गए हैं। समस्त विकासखंड में बायो मेडिकल वेस्ट एवं सैंपल कलेक्शन टीम को प्रशिक्षित किया जा चुका है। कोविड-19 के संक्रमण से संक्रमित मरीज के द्वारा उपयोग किए गए मास्क गिलास मरीज के उपचार आइसोलेशन वार्ड साफ सफाई एप्रेन ट्रैकसूट कपड़े के मास्क आदि को पीले रंग के डस्टबिन में एकत्रित किया जाना है तथा कोविड-19 के जैव अपशिष्ट के संग्रहण और निष्कासन हेतु पीले रंग के डस्टबिन का उपयोग करना है डस्टबिन में पीले रंग की दो नॉन क्लोरिनेटेड पॉलीबैग रखी जाएंगी जिसमें डबल लेयर पॉलीबैग में अपशिष्ट डाला जाएगा जिससे किसी प्रकार का लीकेज ना हो और डस्टबिन पर कोविड-19 bhi और बायोहजार्ड का लेबल लगाया जाएगा यह प्रशिक्षण भी बायोसेफ्टी में जिसके अंतर्गत सर्वे टीम और एमएमयू यूनिट के सदस्यों को दिया गया यह ट्रेनिंग विकासखंड स्तरीय नोडल अधिकारियों के द्वारा उनके विकासखंड में मास्टर ट्रेनर्स की सहायता से दी जा रही है इसका प्रमुख उद्देश्य कोरोना संक्रमण से जुड़ी आवश्यक जानकारियां एवं सावधानियों से सभी को अवगत कराया जा  सके। सोमवार को कांटेक्ट रेसिंग टीम एवं पेरीमीटर कंट्रोल की टीम का प्रशिक्षण प्रत्येक विकासखंड स्तर पर आयोजित किया जाएगा

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...