बिहार : मदरसा बोर्ड अध्यक्ष भी दिल्ली मरकज में गए थे, नहीं कराई जांच - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 3 अप्रैल 2020

बिहार : मदरसा बोर्ड अध्यक्ष भी दिल्ली मरकज में गए थे, नहीं कराई जांच

madarsa-board-president-visit-tablighi-meeting
पटना (आर्यावर्त संवाददाता)  बिहार राज्य मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष अब्दुल कयूम अंसारी भी पिछले दिनों दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में हुए तबलीगी जमात के जलसे में शामिल हुए थे, लेकिन अभी तक वे आइसोलेशन या क्वारंटाइन में नहीं गए हैं। वे राजधानी पटना में तमाम जगहों पर घूम रहे हैं और इस प्रकार कोरोना का खतरा बढ़ा रहे हैं। जबकि सरकार ने मरकज में शामिल हुए सभी लोगों को जांच कराने और क्वारंटीन में रहने का फरमान दिया है। जानकारी के अनुसार बिहार स्टेट मदरसा एजुकेशन बोर्ड के चेयरमैन का नाम भी दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में शामिल होने वाले लोगों की लिस्ट में आया है। मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष अब्दुल कयूम अंसारी पिछले शुक्रवार को दिल्ली में मरकज के सामूहिक नमाज में शामिल हुए थे। कुछ दिन पहले से ही वे वहां रूके हुए थे। वहां से पटना लौटने के बाद बोर्ड की एक बैठक भी उन्होंने की थी। केंद्र और राज्य सरकार ने तबलीगी मरकज में शामिल होने वाले प्रत्येक जिम्मेदार नागरिक को डॉक्टर के पास जाने व उनकी सलाह से इलाज कराने को कहा था। लेकिन, बिहार मदरसा बोर्ड के चेयरमैन अब्दुल कयूम अंसारी ने अब तक यह नहीं किया है। इस मामले की छानबीन में लगे लोगों ने उनकी पहचान कर ली है। इसके बाद इससे संबंधित अधिकारियों को इस मामले में उचित कार्रवाई करने के लिए पत्र जाने वाला है। कोरोना वायरस को लेकर कार्य कर रहे विषेशज्ञों का मानना है कि उस भीड़ में शामिल एक भी व्यक्ति यदि बाहर घूमता रह गया तो वह पूरे समाज को खतरे में डाल सकता है। इस मामले में अब्दुल कयूम अंसारी से संपर्क करने का प्रयास किया गया। लेकिन, उनसे बात नहीं हो सकी। दिल्ली में बाहर से आने वालों के बारे में जब जानकारी एकत्रित की गयी तब यह पता चला कि बिहार में तबलीगी जमात के मुख्य संरक्षक मदरसा बोर्ड के चेयरमैन अब्दुल कयूम अंसारी हैं। उनके नेतृत्व में ही बिहार से लोग वहां गए थे। एक बड़े संस्थान के मुखिया का यह व्यवहार कानून व नैतिकता के लिहाज से निश्चित तौर पर गलत है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...