कोरोना संक्रमण के साथ AES, JE बर्ड फ्लू एवं स्वाइन फीवर को लेकर सतर्कता बरते : नीतीश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 28 अप्रैल 2020

कोरोना संक्रमण के साथ AES, JE बर्ड फ्लू एवं स्वाइन फीवर को लेकर सतर्कता बरते : नीतीश

  • मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण के साथ-साथ ए0ई0एस0, जे0ई0बर्ड फ्लू एवं स्वाइन फीवर को लेकर भी पूरी सतर्कता बरती जाय । तेजी से काॅन्टैक्ट ट्र्ेसिंग, सैंपल कलेक्शन और टेस्टिंग होने से ही समय रहते कोरोना चेन को तोड़ा जा सकेगा

nitish-warning-for-aes-je-bird-flue-swaine-fever-alert
पटना,28 अप्रैल। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को कोविड-19 की अघतन स्थिति की समीक्षा की। बाहर से आये लोगों की संघन जांच एवं सतत् निगरानी जरूरी है। उनके स्वास्थ्य परीक्षण पर ध्यान दें और हेल्थ रिपोर्ट पर भी नजर बनाये रखें। लोग अपनी ट्र्ैवल हिस्ट्र्ी न छिपायें, सामान्य सर्दी, खांसी और बुखार के लक्षण दिखने पर तुरंत जांच करायें। मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी छह जगहों पर टेस्टिंग करायी जा रही है। उन्होंने कहा कि तेजी से काॅन्टैक्ट ट्र्ेसिंग, सैंपल कलेक्शन और टेस्टिंग होने से ही समय रहते कोरोना चेन को तोड़ा जा सकेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग हरसंभव स्त्रोत से वेंटिलेटर, टेस्टिंग किट, पी0पी0आई0किट,दवाओं एवं जरूरी उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित करे ताकि आवश्यकतानुसार समुचित उपयोग हो सके, इसके लिए राशि की कोई कमी नहीं होने दी जायेगी। अभी भी कोरोना उन्मूलन कोष में पर्याप्त राशि उपलब्ध है। मुख्यमंत्री ने निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण के साथ-साथ ए0ई0एस0, जे0ई0बर्ड फ्लू एवं स्वाइन फीवर को लेकर भी पूरी सतर्कता बरती जाय। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व में यह ट्र्ेंड देखने को मिल रहा था कि पहले विदेश से आये हुए लोग संक्रमित हुए, उसके बाद उनके काॅन्टैक्ट्स के लोग संक्रमित पाये गये। संक्रमण की इस चेन को बहुत हद तक तोड़ा जा चुका है किंतु अब नया ट्र्ेंड मिल रहा है कि जो प्रवासी मजदूर अथवा राज्य के बाहर से लोग आये हैं, उनमें संक्रमण पाया जा रहा है और उनके माध्यम से यह लोगों में फैल रहा है। उन्होंने कहा कि इसके लिए सघनता से डोर टू डोर स्क्रीनिंग आवश्यक है ताकि कोरोना से संक्रमित के इस नये ट्र्ैंड को नियंत्रित किया जा सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से संक्रमित मरीज लगातार ठीक होकर अपने घर जा रहे है। लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते रहें। धैर्य रखें, सचेत रहें, सतर्क रहें, तभी स्वस्थ रहेंगे। 

कोई टिप्पणी नहीं: