जमशेदपुर: उलेमाओं के साथ सिटी एसपी ने की बैठक, रमजान में मस्जिद में केवल 4 लोग ही पढ़ेंगे नमाज - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 24 अप्रैल 2020

जमशेदपुर: उलेमाओं के साथ सिटी एसपी ने की बैठक, रमजान में मस्जिद में केवल 4 लोग ही पढ़ेंगे नमाज

कोरोना वायरस से बचाव रोकथाम के उद्देश्य से आजादनगर के दारुल उलूम मदरसा में मानगो और आजादनगर के मस्जिदों के सभी उलेमाओं के साथ नगर पुलिस अधीक्षक ने बैठक की.
only-4-in-mosq-in-ramzan-jamshedpur
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) : इस्लाम धर्मावलंबियों के पाक त्योहार रमजान को देखते हुए जिला प्रशासन ने कोरोना वायरस (कोविड-19) से बचाव और रोकथाम के उद्देश्य से मंगलवार को आजादनगर के दारुल उलूम मदरसा में मानगो और आजादनगर के मस्जिदों के सभी उलेमाओं के साथ नगर पुलिस अधीक्षक और अपर जिला दंडाधिकारी ने संयुक्त रूप से बैठक की बैठक में पदाधिकारियों ने कोरोना वायरस के संक्रमण के गंभीरता के बारे में उपस्थित उलमाओं को बताया और उनसे रमजान के पाक महीने में सावधानी बरतने की अपील की. उन्हें बताया गया कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु सोशल डिस्टेंसिंग ही बेहतर उपाय है. इसलिए रमजान के महीने में अपने परिवार, समाज के स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करें. इस बैठक के दौरान प्रशासन ने सामूहिक रूप से नमाज़ पढ़ने और इफ्तार पार्टी का आयोजन नहीं करने की अपील की. उलेमाओं ने स्वत: ही लॉकडाउन के नियमों के पालन करने की बात कही, वहीं उन्होंने आश्वस्त किया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए सामूहिक रूप से मस्जिद में नमाज नहीं पढ़ा जाएगा और न ही सामूहिक रूप से इफ्तार पार्टी का आयोजन किया जाएगा. लोग घरों में ही रह कर नमाज पढ़ेंगे. पदाधिकारियों ने रमजान के अवसर पर लोगों को ई मार्केटिंग के माध्यम से खरीदारी करने को कहा ताकि फोन कॉल के माध्यम से आवश्यक सामग्रियों की खरीदारी आसानी से सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करते हुए सामान घर पर उपलब्ध हो सके. अपर जिला दंडाधिकारी द्वारा जिला नियंत्रण कक्ष, हेल्पलाइन और चिकित्सा सुविधा से संबंधित जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर के बारे में उलेमाओं को जानकारी दी गई. उन्होंने उलेमाओं से कहा कि किसी भी परिस्थिति में वे नियंत्रण कक्ष में सूचना दे सकते हैं जिसका त्वरित निष्पादन किया जाएगा. उन्होंने कहा कि जिला नियंत्रण कक्ष 24 घंटे कार्यरत है ,लोगों की शिकायतों और समस्याओं का त्वरित निष्पादन करने के लिए अलग-अलग टीम गठित की गई है. जो मदद के लिए 24 घंटे मौजूद रहेंगे. इस बैठक में उपस्थित नगर आरक्षी अधीक्षक ने उपस्थित सदस्यों से पूर्व की तरह सहयोग करने की अपील की. उन्होंने कहा जिस प्रकार अब तक आप लोगों ने लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए जिला प्रशासन को सहयोग किया है,वो बहुत सराहनीय है. आगे भी जिला प्रशासन उन्हें हर संभव सहयोग एवं सहायता करेगा. उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन उनसे यह अपेक्षा रखता है कि वे लॉकडाउन के नियमों का शत प्रतिशत अनुपालन करेंगे और सहयोग करेंगे.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...