विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 23 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 24 अप्रैल 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 23 अप्रैल

मुख्यमंत्री जी की पहल पर कोटा से विदिशा पहुंचे छात्र-छात्राएं

vidisha news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की पहल पर आज विदिशा जिले के 32 छात्र-छात्राएं जो राजस्थान राज्य के कोटा जिले में संचालित विभिन्न कोचिंग सेन्टरों में अध्ययन कर रहे थे वे सभी आज विदिशा पहुंचे। जैसे ही प्रायवेट बस विदिशा के आरटीओ कार्यालय परिसर में पहुंची तो वहां पूर्व से मौजूद विदिशा नगरपालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन ने छात्र-छात्राओं का ताली बजाकर स्वागत सत्कार किया और यात्रा के दौरान किसी भी प्रकार की कोई तकलीफ तो नही हुई की जानकारी चर्चा के माध्यम से जानी।  मीडिया से मुखातिर होते हुए नपा अध्यक्ष श्री टण्डन ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने विदिशा के जो बच्चे पढने के लिए कोटा गए थे उनके परिवारजन चिन्तित थे ऐेसे समय मुख्यमंत्री जी ने उदारता का परिचय देते हुए प्रदेश के सभी बच्चों को उनके घर तक पहुंचाने के प्रबंध मुहैया कराए है बच्चे सुरक्षित अपने घरो में पहुंचे यही शासन प्रशासन की मंशा है। 

धन्यवाद ज्ञापित
कोटा से विदिशा पहुंचे सभी छात्र-छात्राओं ने मुख्यमंत्री जी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि उनकी पहल के कारण ही हम सब लोग आज विदिशा में अपने परिवारजनों से आकर मिल सकेंं है लॉकडाउन के दौरान हमें और हमारे परिवारजनों को एक दूसरे की चिन्ताएं सता रही थी। उन चिन्ताओं से मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह  चौहान ने मुक्ति दिलाई है हम सब पुनः धन्यवाद ज्ञापित करते है। निजी बस जैसे ही आरटीओ कार्यालय में पहुंची तो नगरपालिका की ओर से सबसे पहले बस का सेनेटाइजेशन किया गया इसके पश्चात् बस से उतरने वाले विद्यार्थियों के सामानो का भी सेनेटाईजेशन किया गया। मौके पर मौजूद चिकित्सकों के द्वारा प्रत्येक छात्र-छात्रा के स्वास्थ्य का परीक्षण किया गया है और उन्हें 14 दिन तक होम क्यूरेन्टाइन में रहने से अवगत कराते हुए होम क्यूरेन्टाइन के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों की भी जानकारी दी गई है। इस अवसर पर जिला तिलहन संघ के अध्यक्ष श्री राधेश्याम महेश्वरी, एसडीएम श्री संजय कुमार जैन, आरटीओ श्री गिरजेश वर्मा, सामाजिक न्याय विभाग के उप संचालक श्री पीके मिश्रा के अलावा अन्य अधिकारी, कर्मचारी तथा नगरपालिका का अमला मौजूद था। कोटा से विदिशा आने वाली बस को  जिले की सीमा रेखा पर नायब तहसीलदार श्री सिद्वांत सिंगला, सहायक आबकारी अधिकारी श्री राहुल कुमार ढोंगे, उप निरीक्षक श्री योगेन्द्र परमार तथा खनिज निरीक्षक श्री पंकज वानखडे के द्वारा रिसीव किया गया है और उक्त दल के मार्गदर्शन में छात्र-छात्राओं को लेकर आने वाली बस सबसे पहले सिरोंज, कुरवाई मेहलुआ चौराहा यहां सभी छात्र-छात्राओं के स्वास्थ्य का परीक्षण किया गया इसके पश्चात् अंबानगर, नया गोला होते हुए बस विदिशा के आरटीओ कार्यालय में पहुंची है। उक्त बस में विदिशा जिले के 32 छात्र-छात्राएं कोटा से सफर कर विदिशा आई है। जिसमें सिरोंज के दो, कुरवाई के सात, बासौदा के छह, नटेरन के चार तथा विदिशा तहसील क्षेत्र के 13 बच्चे शामिल है। विदिशा उतरने वाले सभी 13 छात्र-छात्राओं का स्वास्थ्य का परीक्षण पुनः चिकित्सकों द्वारा किया गया है और उन्हें होम क्यूरेन्टाइन में रखने की निर्देश व जानकारी छात्र-छात्राओं के साथ-साथ उनके माता-पिता को भी दी गई है। 

प्रधानमंत्री केयर फंड में डेढ़ लाख रूपए की राशि दी 

कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी के संक्रमण को रेकने में हरेक व्यक्ति अपने-अपने स्तर पर सहयोग कर रहा है। प्रधानमंत्री केयर फंड में सुखप्रीत कौर पुत्री स्वर्गीय श्री गुरूचरण सिंह जी की ओर से डेढ लाख रूपए की राशि का चेक कलेक्टर डॉ पंकज जैन को आज गुरूवार को सौंपा है। 

वायोमेडिकल संग्रह के प्रबंध संग्रह हेतु अलग-अलग रंगो की डस्टबिनो का उपयोग

vidisha news
कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से चिन्हित हुए मरीजों के रहवास क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन में विभक्त किया गया है। उक्त जोन क्षेत्र में वायोमेडिकल वेस्ट के प्रबंधन और संग्रह के लिए विशेष व्यवस्थाएं क्रियान्वित की गई है। प्रत्येक जोन में निर्धारित रंगो के डस्टबिन रखे गए है ताकि उनमें उल्लेखित अनुसार वायोमेडिकल वेस्ट (उपयोग सामग्री) का संग्रह सुगमता से किया जा सकें।   कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा वायोमेडिकल संग्रह के लिए निर्धारित मापदण्डो के अनुरूप कार्यो का सम्पादन हो रहा है कि नही की मानिटरिंग हेतु पीडब्ल्यूडी ईएनएमडी की उपयंत्री आकांक्षा जैन को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। नोडल अधिकारी आंकाक्षा जैन ने बताया कि येलो पॉलिथिन डस्टबिन में पीपीई, मास्क, ग्लोबज, एप्रोन, ट्रेक सूट इत्यादि को तथा रेड पॉलिथिन डस्टबिन मेंं फोर सेट, प्लास्टिक सीरिंज (विदआउट निडिल), यूरिन बेग, रबर ओर ग्लोबज तथा ब्लू पॉलिथिन में कांच इत्यादि सामग्री और सफेद पॉलिथिन डस्टबिन में निडिल, ब्लैड सिरिंज बिथ निडिल इत्यादि शामिल है। 

सूखी खिचड़ी व सत्तू का वितरण

आंगनबाडी केन्द्रों के माध्यम से छोटे बच्चो को उनके घरों पहुंचकर सूखी खिचड़ी और सत्तू का वितरण किया जा रहा है कि जानकारी देते हुए विदिशा शहरी परियोजना अधिकारी श्री संजय सिंह ने बताया कि पुलिस लाइन के पीछे नवनिर्मित पुलिस क्वार्टरों के आस-पास 22 परिवार कच्चे झोपडी बनाकर रह रहे है। इन परिवारों के लिए पुलिस द्वारा सुबह एवं शाम को भोजन के पैकेट प्रदाय किए जा रहे है किन्तु इनके छोटे बच्चो को सुबह खाने मे कुछ नही मिल रहा था कि जानकारी प्राप्त होने पर गुरूवार से सभी छोटे बच्चों के लिए आंगनबाडी के माध्यम से सुखी खिचड़ी ओर सत्तू का वितरण किया गया है। 

कोई टिप्पणी नहीं: