बिहार : पटना विश्वविघालय छात्रसंघ के कोष से एक लाख रू0 निकालने में एबीवीपी आमने-सामने - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 27 अप्रैल 2020

बिहार : पटना विश्वविघालय छात्रसंघ के कोष से एक लाख रू0 निकालने में एबीवीपी आमने-सामने

बिहार सरकार और विश्वविघालय प्रशासन के द्वारा कदम नहीं उठाने पर छात्रसंघ के कोष से राहत पहुंचाने का प्रयास होगाःकोमल
patna-university-student-union-fund-and-abvp
पटना, पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ की कोषाध्यक्ष हैं कोमल कुमारी। आइसा की ओर से मुख्यमंत्री नीतीष कुमार को ज्ञापन दिया गया था। पटना विश्वविघालय के छात्रावासों,अन्य सरकारी छात्रावासों, अम्बेदकर छात्रावासों सहित बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं निजी छात्रावासों में फंसे हुए हैं। उनके सामने भोजन व अन्य दूसरी समस्याएं उठ खड़ी हुई है। वे इस संकट की इस घड़ी में घर जाना चाहते हैं। इस ओर कारगर कदम उठाया जाए।  पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ की कोषाध्यक्ष कोमल कुमारी ने कहा कि पटना विश्वविद्यालय छात्रावासों में या निजी लाॅज में फँसे हुए हैं। उनलोगों की सुधि अभी तक न ही सरकार और न ही विश्वविद्यालय प्रशासन के द्वारा कोई सहायता ही उपलब्ध करवाई जा रही है। बताते चले कि आइसा,पटना विश्वविघालय छात्र संघ व समस्त छात्र समुदाय की ओर से छात्रों की एक लिस्ट मुख्यमंत्री नीतीष कुमार को सुपुर्द की गयी हैं। आलोक कुमार, दरभंगा हाउस,हथवा हाॅस्टल,मधुबनी। सत्यम प्रियदर्शी, सी.वी.रमन छात्रावास,शिवहर। अमन कुमार, सैदपुर छात्रावास,मुंगेर। अरविंद कुमार चैधरी,पी.जी. हाॅस्टल,समस्तीपुर। आलोक कुमार, हथवा हाॅस्टल,पश्चिम चम्पारण। अशोक कुमार उपाध्याय,राजापुर गेट नम्बर-32,पश्चिम चम्पारण। विभूति कुमार हथवा हाॅस्टल, सीतामढ़ी। सौरभ कुमार, दलदली रोड,बरबीघा। रौशन कुमार, रामनिवास भवन, खटाल गली,मधेपुरा। मो. सफी, कुमकुम सिंह लेन,पश्चिम चम्पारण। सुमित कुमार केसरी, पटना टर््ेनिंग काॅलेज हाॅस्टल, आरा।प्रदीप कुमार, सैदपुर छात्रावास ब्लाॅक, पूर्वी चम्पारण। ज्ञानकुंज कुमार, महेन्दू, पटना, खगड़िया। राहुल कुमार, चैरसिया भवन, महेन्दू, दरभंगा। अशोक कुमार उपाध्याय,राजापुर,गेट नम्बर-32, पश्चिम चम्पारण। अदनाम, एनआईटी,गोलकपुर के पास। अमन कुमार भारती, रामप्यारी कुवंर हाॅल, बाकरगंज,पटना। संतोष कुमार, सैदपुर छात्रावास।

वह कहती हैं कि पटना विवि की कोषाध्यक्ष के नाते पटना विवि के छात्र जो इस समय भयंकर आपदा में फंसे है मेरे पास  कम से कम 80 छात्रों का एक डाटा है यह डाटा मैंने पटना विवि को भी दिया है और अपने संघटन  आइसा के राज्य सह सचिव आकाश कश्यप और मैं पटना विवि कोषाध्यक्ष के नाते मुख्यमंत्री बिहार को भी दी हूँ ,अब सरकार जदयू और भाजपा की है वो छात्रों के लिए कुछ नही कर पा रही है तो मेरा एक सीधा छात्र संघ पदाधिकारी के नाते इनके संकट में मदद करने के लिए पटना विवि छात्र संघ फंड ही है। जो इन छात्रों को राहत पहुँचाने के लिए ज्यादा नहीं तो कुछ ज्यादा करेंगा। पटना विवि के अध्य्क्ष,उपाध्यक्ष,सह सचिव और मैं खुद कोषाध्यक्ष के नाते पटना विवि से 1 लाख का फंड मुहैया कराने का एक अपील जारी की हूँ। दूसरी तरफ महासचिव प्रियंका श्रीवास्तव से हम पदाधिकारी बहुत पर संपर्क करने की कोशिश की लेकिन इनका रवैया कुछ समझ से परे रहा है अभी तक यह पैसा निकासी नहीं हुआ है। अगर यह पैसा निकासी होगा तो कोषाध्यक्ष के नाते 1-1 रुपया का ब्यौरा सार्वजनिक करूंगी। दूसरी तरफ प्रियंका जी का आरोप है यह समझ से परे नही है इनका संघटन एबीवीपी है और सरकार से बड़ा अच्छा नाता है। लेकिन यह नाम के छात्र संघटन है याद है न पिछले चुनाव में इनका सरकारी पैनल जीतता रहता था करते क्या थे छिपा नही है आज जब छात्रहित में कोई काम हो रहा है तो इन्हें समझ मे नही आएगा क्योंकि डीयू में इनके जीते अध्यक्ष जो एबीवीपी के होते है 26 लाख के छात्रहित फंड में से 22 लाख चाय पर ही खर्चा करते है अगर ऐसा पीयू में यह करना चाहते है तो यह  बर्दाश्त नहीं होगा। हम छात्रहित के फंड छात्रों के बीच ही खर्च करेंगे।

कोमल कुमारी, पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ, कोषाध्यक्ष, आप तमाम पटना विश्वविद्यालय के छात्र- छात्राओं को सूचित करना चाहती हूँ कि इस   लाॅकडाउन और कोरोना वायरस जैसी आपदा को देखते हुए पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ के कोष से 1,00,000 की राशि निर्गत की जा रही है। इस आपदा जनक परिस्थिति को देखते हुए पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ के द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि उन छात्रों को पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ की ओर से राशन एवं अन्य जरूरी सामग्रियां उपलब्ध करवाई जाएगी।और पटना विश्वविद्यालय कुलपति ने भी हमारे इस प्रयास की सराहना की है जिसके लिए कुलपति महोदय का आभार व्यक्त करती हूँ। पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ कोष पर  पटना विश्वविद्यालय के छात्रों का हक है और इस कोष का इस्तेमाल पटना विश्वविद्यालय के छात्र हित के लिए ही होगा। और अगर अभी भी किसी को आरोप- प्रत्यारोप करना है, तो मैं तैयार हूँ।

सिंह कुमार सन्नी ने कहा है कि इससे बेहतर होगा मैम कि जो 80 छात्रों का लिस्ट आपके पास है वह ऑफिस छात्रों की लिस्ट को पटना विश्वविद्यालय प्रशासन को आप सौंप दें ताकि पटना विश्वविद्यालय प्रशासन उन छात्र एवम छात्राओं से बात करके उनके अकाउंट में डायरेक्ट मनी ट्रांसफर कर दे आप लोग पैसा निकालिए गा राशन खरीद लेगा 1 छात्रों तक पहुंच आइएगा तो सबसे बेहतर है पटना विश्वविद्यालय प्रशासन खुद ही पैसे ट्रांसफर कर देंगे कोई लोचा ही नहीं रहेगा और पिछले 1 मंथ से आपके दिमाग में नहीं आ रहा था पटना विश्वविद्यालय छात्र जो पटना में फंसे हुए हैं कि जो अंतिम 7 दिनों में आपके दिमाग में इतनी बड़ी समस्या क्रिएट हो गई जो कि 7 दिनों के लिए अप्रॉक्स पटना में पता नहीं कितने छात्र हैं । 

कोई टिप्पणी नहीं: