मधुबनी : सर्वेक्षण करने पहुंची मेडिकल टीम, गांव वाले नही दे रहे साथ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 22 अप्रैल 2020

मधुबनी : सर्वेक्षण करने पहुंची मेडिकल टीम, गांव वाले नही दे रहे साथ

people-madhubani-oppose-medical-team
जयनगर/मधुबनी (अनुराग कुमार) वैश्विक महामारी बन चुके कोविड-19 नोबल कोरोना वायरस को लेकर इन दिनों मधुबनी जिले के सभी प्रखंड, पंचायत, गाँव स्तर पर आशा कार्यकर्ताओं एवं स्वास्थ विभाग की टीम के द्वारा हर परिवारो  से अपडेट ली जा रही है, जिसमें बाहर से आने वाले लोगों की जानकारी, बिंमार लोगों की जानकारी इत्यादि जानकारी शामिल है। इस बाबत जिले के भारत-नेपाल सीमा पर इस्तिथ जयनगर प्रखंड क्षेत्रों में डोर-टू-डोर जाके मेडिकल टीम द्वारा सर्वे किया जा रहा है। इस दौरान प्रखंड के बल्डीहा, बेला, देवधा के लोगों का असहयोग बाधक बन रही है। लगातार दूसरे दिन स्थानीय लोगों ने मेडिकल सर्वे टीम को सर्वे नहीं करने दिया। व्यस्त कर्मियों द्वारा समझाने और जागरूक करने के बावजूद लोग कोरोना को लेकर सर्वे नहीं कराने दे रहा है। मंगलवार को भी मेडिकल टीम डोर-टू-डोर सर्वे करने के लिए जैसे ही बेला व बल्डीहा पहुंची लोगों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया। जबकि स्वास्थ्य विभाग सरकार के निर्देश के बाद कोरोना  वायरस को लेकर घर घर सर्वे कर रहा है। इस दौरान स्वास्थ्य कर्मी किसी भी घर में कोरोना संक्रमण जैसे लक्षण पाए जाते हैं, तो तत्काल व्यक्ति को जांच के लिए प्रेरित कर अस्पताल के क्वॉरेंटाइन मैं भर्ती कराते हैं। सर्वे करने के कार्य स्वास्थ्य कर्मी घर के सभी परिवार के सदस्यों का नाम बाहर से आने वाले सदस्यों का नाम व संख्या कोरोना संक्रमण जैसे लक्षण पाए गए सदस्यों की संख्या को नोट करते हैं। इसके अलावा दूसरे प्रदेश व विदेशी से आए लोगों की भी रिपोर्ट तैयार कर विभाग को सुपुत्र करते हैं, इसके बाद आवश्यक कदम उठाते हैं। स्वास्थ्य कर्मियों ने बेला व बल्डीहा में हुई विरोध की जानकारी प्रशासन को दी है। वहीं, जयनगर अनुमण्डल पदाधिकारी शंकर शरण ओमी ने बताया कि इस संबंध में अभी तक ऐसी कोई रिपोर्ट नही मिली हियी है, अगर ऐसा हुआ है तो जल्द ही जयनगर प्रखंड विकास पदाधिकारी से बात करके आवश्यक कदम उठाएंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...