सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 13 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 13 अप्रैल 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 13 अप्रैल

भाजपा नगर मंडल  ने  कोरोना वायरस फाईटरों का किया सम्मान 

sehore news
सीहोर  भारतीय जनता पार्टी मध्यप्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा केआवाहन पर भाजपा नगर मंडल सीहोर द्वारा विधायक सुदेश राय एवं मंडल अध्यक्ष प्रिंस राठौर के नेतृत्व में 21 दिनों से लाक डाउन में कार्यरत पुलिस प्रशासन पुलिस अधीक्षक  एस एस चौहान समीर यादव   मंगल सिंह  कोतवाली थाना प्रभारी मंडी थाना प्रभारी यातायात प्रभारी अधिकारी एवं समस्त स्टाफजिला स्वास्थ्य विभाग के आरएमओ सुधीर श्रीवास्तव वरिष्ठ चिकित्सक डॉ बीके चतुर्वेदी डॉक्टर आरके वर्मा डा गगन नामदेवजी एवं समस्त स्टाफएवं नगरपालिका के मुख्य नगर पालिका अधिकारी संदीप श्रीवास्तव स्वास्थ्य अधिकारी दीपक देवगढ़ सभापति कमलेश राठौर एवं सफाई कर्मियों का पुष्पमाला पहनाकर एवं पुष्प डाल कर कार्यकर्ताओं ने स्वागत करते हुए भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष सीताराम यादव ने धन्यवाद प्रस्ताव पढ़कर सुनाया जिसमें भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा भारत के 130 करोड़ भारत वासियों को कोरोना वायरस से सावधानियां रखते हुए सभी विभागों द्वारा एवं उनके कर्मचारियों द्वारा जो मेहनत एवं लगन से कार्य किया जा रहा है उसकी हम प्रशंसा करते हैं एवं हम आपको धन्यवाद देते इस अवसर पर विधायक सुदेश राय पूर्व जिला अध्यक्ष सीताराम यादव वरिष्ठ भाजपा नेता राजकुमार गुप्ता मंडल अध्यक्ष प्रिंस राठौर् पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष नरेश मेवाडा जिला मंत्री धर्मेंद्र राठौर् जिला कार्यालय मंत्री राजु सिकरवार नगर महामंत्री आशीष पचोरी नगर मंत्री राजेश परिहार पार्षद कमलेश राठौर अर्जुन राठौर विजेंद्र परमार संतोष शाक्य मुकेश मेवाडा कपिल कुशवाहा पार्पद सुशील ताम्रकार राजू बोयत जी हिरदेश राठौर महेश दुबे संतोष कुशवाह आदि कार्यकर्ताओं द्वारा सोशल डिस्टेंडिंग का ध्यान रखते हुए वीडियो के सभी साथियों का भी स्वागत किया गया  

कोरोना से सुरक्षा के लिए राय परिवार ने नगर पालिका को  उपलब्ध कराया उच्चक्वालिटी का दो हजार लीटर सेनिटाईजर 
कोरोना जंग में जनता के साथ है हम,मुश्किलों का करेंगे सामना-समाजसेवी राय ट्रामा सेंटर के सामने विधायक सुदेश राय ने पंप चलाकर किया शहर सैनिट्राईज 
sehore news
सीहोर। कोरोना वायरस के संक्रमण से नागरिकों को बचाने के लिए विशिष्ठ राय परिवार पूर्ण रूप से संकल्पित है। नागरिकों की सुरक्षा और शहर में स्वच्छता को निरंतर जारी रखने के लिए नगर पालिका परिषद को राय परिवार ने उच्चक्वालिटी का दो हजार लीटर सेनिटाईजर शहर के सभी गली मोहल्लों कस्बों में छिड़काव के लिए प्रदान किया है ।  सोमवार को वरिष्ठ समाजसेवी अखिलेश राय और विधायक सुदेश राय ने जिला अस्पताल स्थित ट्रामा सेंटर तिराहा पर कलेक्टर अजय गुप्ता,एसडीएम आदित्य जैन, नगर पालिका सीएमओ संदीप श्रीवास्तव सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों कर्मचारियों पार्षदों मीडिया कर्मियों की उपस्थिति में सेनिटाईजर से भरे दो सौ लीटर के पांच बड़े ड्रमों को नगर पालिका परिषद को सौपा। गंगा आश्रम क्षेत्र में विधायक श्री राय ने नपा कर्मचारियों के साथ पंप चलाकर सैनेटाईज कार्य का शुभारंभ भी किया। 

जरूरत हुई तो और उपलब्ध कराएंगे सैनिटाईजर
वरिष्ठ समाजसेवी अखिलेश राय ने कहा की यह हमारे लिए खुशी की बात है की जिले में अबतक कोई भी कोरोना पीडि़त नहीं मिला है शहर के नागरिक कोरोना से सुरक्षित रहे इस के लिए शहर को पूरी तरह से सैनिट्राइज करने के लिए नगर पालिका  के सहयोग से अभियान शुरू करने का निर्णय लिया है। सेनिट्राइज कार्य के लिए नगर पालिका को दो हजार लीटर सैनिटाईजर उपलब्ध कराया है अगर शहर के नागरिकों के हित में और भी सेनिटाईजर की जरूरत पड़ती है तो उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होने कहा की कोरोना महामारी की जंग में हम जनता के साथ है चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। 

नागरिकों के हित में शुरू की गई मुहिम
विधायक सुदेश राय ने कहा की हमारे परिवार के द्वारा निजी रूप से शहर को सेनेट्राइज करने के लिए नागरिकों के हित में मुहिम शुरू की गई है। उन्होने कहा की विधायक होने के नाते यह हमारी जिम्मेदारी है की सभी नागरिकों की सुरक्षा हो और कोई भी इस कोरोना वायरस का शिकार नहीं हो। नागरिकों की सुरक्षा और गरीब मजदूर तबके को पर्याप्त भोजन की उपलब्धता सुश्चित हो इस के लिए भी हम नगर पालिका और प्रशासन के साथ मिलकर कार्य कर रहे है। नागरिकों को कोई भी परेशानी नहीं हो परेशानियों का निराकरण कराने की पूरी कोशिश की जा रहीं है उन्होने कहा की डॉक्टर नर्स सहित पुलिस कर्मी सफाई कर्मचारी और मीडिया कर्मी और शहर के कोने कोने में भोजन वितरण का कार्य कर रहे सभी समाजसेवी और दानदाता कोरोना फाईटर की भूमिका निभा रहे है सभी सादुवाद आभार के पात्र है आमजन घरों में रहे सुरक्षित रहें प्रशासन के निर्देशों का पालन करें और कोरोना वायरस को फैलने से रोकने की जंग भी सहयोग करें। 

समाजसेवी श्री अखिलेश राय ने नगरपालिका को 2 हजार लीटर सेनेटाईजर नि:शुल्क प्रदान किया

कोरोना वायरस के विश्वव्यपी संक्रमण को ध्यान में रखते हुए इस संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए सार्वजनिक स्थानों को सेनेटाईज करना एक प्रभावशील उपाय है। इस बात को ध्यान में रखते हुए नगर के समाजसेवी श्री अखिलेश राय ने नगरपालिका परिषद सीहोर को सार्वजनिक स्थानों, बाजारों, बैंक, ऑफिस तथा वार्डों में स्प्रे द्वारा सेनेटाईजर का छिड़काव करने के लिए 2 हजार लीटर सोडियन हाईपोक्लोराईट सोमवार को नि:शुल्क प्रदान किया गया। इस सेनेटाईजर का उपयोग सर्वप्रथम जिला चिकित्सालय परिसर में नगरपालिका के अमले द्वारा किया जाकर सेनेटाईज किया गया। इस अवसर पर सीहोर विधायक श्री सुदेश राय, कलेक्टर श्री अजय गुप्ता, अनुविभागीय अधिकारी श्री आदित्य जैन, मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री संदीप श्रीवास्तव सहित श्री नरेश मेवाड़ा, श्री सुशील ताम्रकार एवं अन्य जनप्रतिनिधि व नगरपालिका के अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे। सोडियन हाईपोक्लोराईट एक क्लोरिन आधारित रसायन है, जिसमें उपस्थित क्लोरिन वैक्टिरिया एवं वायरस को समाप्त करती है। समाजसेवी श्री राय द्वारा प्रदान किए गए 2 हजार लीटर सोडियन हाईपोक्लोराईट से लगभग 50 हजार लीटर सेनेटाईजर घोल तैयार किया जा सकेगा जिससे आने वाले एक माह तक नगर में सेनेटाईजेशन का कार्य किया जा सकेगा। श्री राय के इस सराहनीय कार्य के लिए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने जिला प्रशासन की ओर से आभार व्यक्त करते हुए इस जनउपयोगी कार्य की सराहना की।

विधायक ने किया कोरोना वारिर्यस का सम्मान

sehore news
सोमवार को विधायक सीहोर श्री सुदेश राय ने जिला चिकित्सालय पहुंचकर संकट की घड़ी में अपनी अमूल्य सेवाएं दे रहे डॉक्टर एवं स्वास्थ्य कर्मचारियों को प्रशंसा पत्र प्रदान कर उनका सम्मान किया। इस अवसर पर श्री राय ने कहा कि हम सभी आप लोगों द्वारा कठिन परिस्थिति में दी जा रही अमूल्य सेवाओं के लिए आपको नमन करते हैं।

आरोग्य सेतु - कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने पे देगा अलर्ट

भारत सरकार द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम और बचाव के  लिए ‘आरोग्य सेतु’ नाम का एक स्मार्टफोन ऐप लॉन्च किया गया है। यह ऐप कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने पर उपयोग कर्ता को सतर्क करता हैं और आवश्यकता पड़ने पर सेल्फ आइसोलेशन की सलाह व आवश्यक स्वास्थ सुविधा उपलब्ध कराता है। स्वास्थ्य विभाग की पहल यह आरोग्य सेतु ऐप ऐंड्रॉयड स्मार्टफोन्स और आईफोन दोनों के लिए उपलब्ध है। यह ऐप ब्लूटूथ और लोकेशन जेनरेशन ग्राफ की मदद से कोरोना पॉजिटिव लोगो के साथ आपके संभवतः संपर्क को ट्रेस करता है और आपको सूचित करता है। इस ऐप को इस्तेमाल करते वक़्त अपने मोबाइल की लोकेशन और ब्लूटूथ को सदैव ऑन रखे। ऐप अलर्ट के माध्यम से निर्देश दिए जाएंगे। यदि आपको सेल्फ आइसोलेट होने की आवश्यकता है या आप में कोरोना संक्रमण के लक्षण दिखाई देते है तो उस परिस्थिति में सहायता की जाएगी। ऐप में और भी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कोरोना वायसर हेल्प सेंटर्स और सेल्फ असेसमेंट टेस्ट शामिल हैं, जिससे आप चेक कर सकते हैं कि आप पर इस संक्रमण का खतरा तो नहीं है।

क्वारेंटाइन लोगों और उनके परिजनों के लिये 24×7 हेल्पलाइन- नंबर 18002330175

प्रदेश में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन द्वारा कोरोना (कोविड-19) में क्वारेंटाइन लोगों तथा उनके परिजनों को भावनात्मक सहयोग एवं चिकित्सीय परामर्श प्रदान करने के लिये 24×7 टोल-फ्री हेल्पलाइन 1800-233-0175 शुरू की गई है। इस पर क्वारेंटाइन लोगों के साथ आम लोग भी कोरोना संबंधित तनाव इत्यादि महसूस करने पर विशेषज्ञों से सलाह और परामर्श प्राप्त कर रहे हैं। मिशन संचालक श्रीमती स्वाति मीणा नायक ने जानकारी दी है कि कोविड-19 संबंधी चिकित्सकीय एवं मनोवैज्ञानिक परामर्श के लिये यह हेल्पलाइन 24×7 घंटे सक्रिय रूप से कार्य कर रही है। इसके माध्यम से पंजीकृत मानसिक स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं द्वारा पूरी गोपनीयता बनाये रखते हुए परामर्श एवं सलाह दी जा रही है। इस नम्बर पर प्रोएक्टिव कॉल भी लिये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना से संबंधित अन्य मानसिक तथा भावनात्मक समस्याओं में भी इस टोल-फ्री हेल्पलाइन नम्बर पर कॉल कर चिकित्सीय सलाह और मनोवैज्ञानिक परामर्श प्राप्त किया जा सकता है।

बिना भीड़ के सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हो उपार्जन कार्य - मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में आगामी 15 अप्रैल से इंदौर, उज्जैन एवं भोपाल छोड़कर शेष जिलों में समर्थन मूल्य पर रबी उपार्जन का कार्य प्रारंभ किया जाएगा। इस दौरान मंडियों में बिना भीड़ के सोशल डिस्टेंसिंग तथा अन्य समस्त सुरक्षात्मक उपायों का उपयोग करते हुए उपार्जन कार्य सुनिश्चित किया जाए। श्री चौहान ने कहा कि इस बार किसानों को मंडियों से बाहर भी सीधे व्यापारियों को समर्थन मूल्य पर अपना अनाज बेचने की सुविधा दी जा रही है। मुख्यमंत्री मंत्रालय में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ प्रदेश में रबी उपार्जन कार्य की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे।

सीमित किसानों को ही प्रतिदिन बुलाएं
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि खरीदी के लिए किसानों को एस.एम.एस. पर यह सूचना दी जाए कि वे किस दिनांक को तथा किस पारी में समर्थन मूल्य केन्द्रों पर अपनी फसल बेचने के लिए आएं। उसी दिन तथा पारी में किसान केन्द्रों पर फसल बेचने आएं, यह सुनिश्चित किया जाए। इस प्रकार की व्यवस्था की जाए कि प्रतिदिन लगभग 10 से 12 किसानों को खरीदी के लिए बुलाया जाए।

सौदा पत्रक के माध्यम से भी खरीदी
बैठक में बताया गया कि कोरोना की वर्तमान परिस्थितियों के चलते इस बार किसानों को यह सुविधा दी जा रही है कि वे श्सौदा पत्रकश् के माध्यम से भी व्यापारियों को सीधे अपना अनाज समर्थन मूल्य पर बेच सकेंगे। प्रदेश में यह व्यवस्था 2009 तक चली थी, बाद में इसे बंद कर दिया गया था। इसके अलावा, किसान आई.टी.सी. के खरीदी केन्द्रों पर भी अपनी उपज बेच सकेंगे।

मंडियों के बाहर चना, मसूर, सरसों खरीदी केंद्र
बैठक में बताया गया कि समर्थन मूल्य पर चना, मसूर, सरसों की खरीदी के लिए मंडियों के बाहर गत वर्ष अनुसार इस वर्ष भी खरीदी केन्द्र बनाए जा रहे हैं। इन केन्द्रों की संख्या 790 है, जो पर्याप्त होगी। इन अनाजों की लगभग 8 लाख एमटी की समर्थन मूल्य पर खरीदी संभावित है। सभी व्यस्थाएँ हों उत्कृष्ट- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि किसानों से समर्थन मूल्य पर उनका अनाज खरीदने के लिए खरीदी केंद्रों पर बारदाना, तुलाई, लदाई, अनाज के परिवहन, भंडारण आदि की सभी व्यवस्थाएं उत्कृष्ट हों। कोरोना संकट के चलते विशेष सतर्कता बरती जाने की आवश्यकता है।

पूरी सख्ती और चुस्ती से कार्य करें सभी कलेक्टर - मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश से कोरोना संकट को जल्दी से जल्दी समाप्त करने के लिए सभी कलेक्टर पूरी सख्ती और चुस्ती से कार्य करें। संक्रमण रोकने के लिए ज़िलों की सीमाएं सील रखें तथा हॉटस्पॉट क्षेत्रों से आना-जाना पूर्ण रूप से बंद रहे। जनता को दवाएं, दूध, सब्ज़ी, फल, किराना आदि की आपूर्ति ज़िला प्रशासन के माध्यम से सुनिश्चित हो। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के सभी जिलों में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि कोरोना टेस्टिंग लैब्स की संख्या बढ़ाई जाए। अभी 7 लैब कार्य कर रही हैं। सभी मेडिकल कॉलेज में टेस्टिंग चालू की जाए। निजी मेडिकल कॉलेज में भी टेस्टिंग व्यवस्था करें। कोरोना से 22 जिले प्रभावित अपर मुख्य सचिव श्री मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि  कोरोना से प्रदेश के 22 जिले प्रभावित हो गए हैं।  नए संक्रमित जिलों रतलाम में एक एवं मंदसौर में कोरोना संक्रमित मरीज पाए गए हैं। ऐसे प्रयास करें कि संक्रमण फैले नहीं। मुख्यमंत्री ने कलेक्टरों को निर्देश दिए कि संक्रमित क्षेत्रों को तुरंत सील करें, पूरी कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग करें तथा हर आवश्यक कदम उठाएं, जिससे संक्रमण न फैले। दवाई, दूध, फल, सब्ज़ी, किराना की आपूर्ति बनी रहे। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि प्रदेश में दवाई, दूध, फल, सब्ज़ी, किराना की आपूर्ति बनी रहे, यह सभी कलेक्टर सुनिश्चित करें। इस कार्य में स्वयंसेवी संस्थाओं और जन-प्रतिनिधियों का सहयोग लें। बड़ी मंडियों को विकेन्द्रीकृत कर किसानों से फल एवं सब्जियाँ खरीदी जाएं तथा प्रशासन इसकी आपूर्ति व्यवस्था करें। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि विभिन्न योजनाओं की जो राशि हितग्राहियों के खातों में गई है, उसे बैंक से निकालने में हितग्राहियों को दिक्कत न हो, यथासंभव उन्हें घर पहुँच सेवा दी जाए। बैंकों को इस संबंध में निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि कोरोना बीमारी को समझने, उससे बचाव, संक्रमण रोकने, कार्य की मॉनिटरिंग आदि के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल एप अत्यंत उपयोगी है। सभी कलेक्टर अपने ज़िलों में आरोग्य सेतु मोबाइल एप के उपयोग के लिए लोगों को प्रेरित करें। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में एस्मा कानून लागू किया गया है। अब निजी अस्पताल भी जनता को स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए मना नहीं कर सकते। कलेक्टर अपने ज़िलों में इनकी सेवाएं लें। साथ ही सरकारी अस्पताल में भी सभी बीमारियों के इलाज के लिए स्वास्थ्य सेवाएं पूर्ववत जारी रहें। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस समय प्रदेश विपरीत परिस्थितियों से गुजर रहा है। ऐसे में यदि कोई व्यापारी जमाखोरी या कालाबाज़ारी करता है, तो यह मानवता के प्रति बड़ा अपराध है। अतः सभी कलेक्टर सुनिश्चित करें कि उनके जिले में कालाबाजारी, जमाखोरी न हो। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि कोरोना संकट के समय बिना भीड़भाड़ के, पूरी सोशल डिस्टेंसिंग के साथ फसल के उपार्जन के लिए ज़िलों में अधिक से अधिक उपार्जन केन्द्र बनाए जाएं। किसानों को स्पष्ट रूप से यह संदेश दिया जाए कि एसएमएस मिलने पर ही किसान अपनी फसल बेचने उपार्जन केन्द्र पर आएं। मुख्यमंत्री को बताया गया कि इस प्रकार की व्यवस्था की जा रही है कि एक दिन में औसतन 10 किसान फ़सल बेचने आएं। इसके लिए किसानों को दिनांक व पारी का एसएमएस किया जाएगा। इस बार प्रतिदिन दो पारियों में खरीद होगी। वे नियत दिनांक व पारी पर ही उपार्जन केंद्र पर आएंगे। भोपाल, इंदौर एवं उज्जैन को छोड़कर शेष ज़िलों में 15 अप्रैल से उपार्जन प्रारम्भ होगा।

कोरोना योद्धाओं के लिए 50 लाख का सुरक्षा कवच
मुख्यमंत्री ने बताया कि कोरोना संक्रमण को रोकने के कार्य में लगे अमले को किसी अनहोनी की स्थिति में सरकार पीड़ित परिवार को 50 लाख रुपये की सहायता देगी। यह राशि सुरक्षा कवच की प्रतीक होगी। अपर मुख्य सचिव श्री मोहम्मद सुलेमान ने निर्देश दिए कि सभी क्वारेंटाइन सेन्टर में सीसीटीवी कैमरे लगवाए जाएं, जिससे राज्य-स्तरीय कंट्रोल रूम से भी वहां कार्यरत व्यक्तियों की निगरानी की जा सके। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि हर कलेक्टर यह सुनिश्चित करे कि उनके ज़िले में कोई भूखा नहीं सोए। शासन द्वारा प्रत्येक गरीब व्यक्ति के लिए पर्याप्त खाद्यान्न एवं भोजन की व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि वनोपज संघ के माध्यम से महुआ, चिरौंजी, करंजा, निम्बोली आदि वनोपजों की खरीदी की व्यवस्था की जाए। आगामी दिनों में तेंदूपत्ता संग्रहण का कार्य किया जाएगा। इसके लिए वनवासी भाइयों के लिये आवश्यक सुविधाएं सुनिश्चित की जाएं। उन्होंने ने सभी कलेक्टरों को निर्देश दिए कि वे अपने जिलों में ऐसे क्तियों के विरुद्ध एफ.आई.आर. दर्ज करें, जो कोरोना रोग को छुपाते हैं। जब वे मरीज ठीक हो जाएं, तब उनके विरुद्ध दंडात्मक कार्रवाई की जाए।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा 24 घंटे का हेल्थ बुलेटिन जिले में कोरोना पॉजिटिव की संख्या शून्य

नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) संक्रमण बीमारी के रोकथाम एवं बचाव के लिए जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं एवं राज्य स्तर पर जारी किए गए दिशा निर्देशों का पालन पूर्ण गंभीरता से किया जा रहा है। जिले में 13 अप्रैल की स्थिति में अन्य जिलों से आए हुए यात्रियों की संख्या 200 है जिनमें सभी का क्वारेंटाईन एवं स्कीनिंग की गई। पिछले 24 घंटों में कुल 1423 व्यक्ति होम क्वांरेंटाईन अवधि पूर्ण कर चुके हैं।  सीएमएचओ ने बताया कि जांच के लिए 11 सेंपल भेजे गए हैं। जबकि 11 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। विदेश भ्रमण कर जिले में आए हुए यात्रियों की संख्या, विदेश से आए यात्री जो ग्रह जिला निवासरत जिला में वापस नहीं आए, हॉस्पिटल आईसोलेशन में भर्ती मरीजों की संख्या, कोरोना वायरस सेंपल पॉजिटिव संख्या, कोरोना वायरस सेंपल रिजेक्ट संख्या, कोरोना संक्रमित ठीक हुए व्यक्तियों की संख्या, कोराना के कारण मृत्यु एवं कुल कंटेटमेंट एरिया की संख्या एवं कोरोना वायरस सेंपल निगेटिव की संख्या शून्य है। सीएमएचओ ने बताया कि विभाग द्वारा टेलीमेडिसिन मो.नंबर 07562-401259 जारी किया गया है जिसमें होम क्वारेंटाअर्न किए गए व्यक्ति व्हाटसएप, ऑडियो काल, वीडियो काल एवं zoom/skype के माध्यम से संपर्क कर चिकित्सीय सलाह ले सकते हैं। जिला स्तरीय कंट्रोल रूम नं. 9893635076 पर संपर्क कर नोवल कोरोना वायरस के संबंध में आवश्यक जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

नगर के आराकश मोहल्ला में कराया जा रहा है 400 परिवारों को नि:शुल्क भोजन

sehore news
सोमवार को मृदुल तोमर निवासी आराकश मोहल्ला नागरची कॉलोनी द्वारा रसोई का संचालन कर करीब 400 परिवारों को भोजन कराया जा रहा है। श्री तोमर द्वारा कलेक्टर श्री अजय गुप्ता को अवगत कराया गया कि रसोई में कुछ राशन की कमी हो रही है। जिस पर कलेक्टर श्री गुप्ता द्वारा रसोई संचालन के लिए 1.50 क्विंटल चावल की व्यवस्था की गई।

दवा विक्रेताओं के साथ एसडीएम ने ली बैठक

sehore news
अनुविभागीय अधिकारी श्री आदित्य जैन ने सोमवार को फार्मेसी एसोसिएशन के लोगों के साथ बैठक आयोजित की। बैठक में बताया गया कि सभी फार्मेसी के डिपो इंदौर मैं देवास नाके पर जो केवल 2 घंटे खुल रहे है वहां से दवाई आते है फिर सीहोर के दवा विक्रेता वहां से लेते है। डिपो मार्केट नहीं खोलने से भोपाल मैं दवाएं उपलब्ध नहीं हो पा रही है। इस संबंध मे ड्रग कंट्रोलर भोपाल को अवगत कराया गया जल्द निराकरण किया जाएगा। इंसुलिन कोल्डस्टोरेज के माध्यम से आते है courier  सर्विस बन्द होने से नहीं आ पा रहे है इस संबंध मे भोपाल मैं madhur courier से चर्चा की जा रही है। बैठक के दौरान श्री जैन ने निर्देश दिए गए के नगर मैं दबा की उपलब्धता बनी रहे।

दो हजार लीटर से बनाया जाएगा 50 हजार लीटर सेनिटाइजर 

सोडियन हाईपोक्लोराईट एक क्लोरिन आधारित रसायन है, जिसमें उपस्थित क्लोरिन वैक्टिरिया एवं वायरस को समाप्त करती है। समाजसेवी श्री राय द्वारा प्रदान किए गए 2 हजार लीटर सोडियन हाईपोक्लोराईट से लगभग 50 हजार लीटर सेनेटाईजर घोल तैयार किया जा सकेगा जिससे आने वाले एक माह तक नगर में सेनेटाईजेशन का कार्यं किया जा सकेगा। श्री राय के इस सराहनीय कायज़् के लिए कलेक्टर अजय गुप्ता ने जिला प्रशासन की ओर से आभार व्यक्त करते हुए इस जनउपयोगी कार्यं की सराहना की।

कोई टिप्पणी नहीं: