सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 16 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 16 अप्रैल 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 16 अप्रैल

सैकड़ों जरूरतमंद गरीबों को सेवादल कांग्रेस जिलाध्यक्ष खंगराले ने मास्क और सेनिटाइजर के बाद बांटा अनाज 

sehore news
सीहोर। मजदूर गरीब विधवा दिव्यांग वृद्ध लॉक डाउन के चलते हैरान परेशान है कोरोना संकटकाल में सेवादल कांग्रेस नागरिकों की सेवा कार्य में अग्रसर बना हुआ है। सेवादल कांग्रेस जिलाध्यक्ष नरेंद ्रखंगराले के नेतृत्व में कार्यकर्ताऔं के द्वारा वार्ड क्रमांक ११ में मुहिम चलाई जा रहीं है। जिस के तहत कार्यकर्ताओं के द्वारा शुरू में नागरिकों को सेनिटाईजर और मास्क का वितरण किया गया जिस से की वह कोरोना जैसी महामारी से सुरक्षित रहे। जिस के बाद सेवादल कार्यकर्ताओं ने जरूरतमंद नागरिकों को दूध का वितरण भी किया। सेवादल के कार्यकर्ताओं ने स्वयं आगे आकर सर्वे किया और वार्ड के गरीब मजदूर विधवा दिव्यांगजन नागरिकों को गेंहु का वितरण भी किया। कार्यकर्ता श्री खंगराले के नेतृत्व में यहीं नहीं रूके नगर पालिका के माध्यम से भोजन के पेकेटों का भी वितरण किया गया। श्री खंगराले ने बताया की सेवादल का सेवा कार्य निरंतर जारी रहेगा। हम किसी भी गरीब को भूखा नहीं सोने देंगे। जिला प्रशासन और दानदाताओं की मदद से हर गरीब के द्वार तक भोजन भेजा जा रहा है।   इस पुनित कार्य में क्षेत्रीय कांग्रेस पार्षद आरती खंगराले के द्वारा भी महत्वपूर्ण सहयोग किया जा रहा है। भोजन सामग्री वितरण में जिला कांग्रेस महामंत्री दर्शन सिंह वर्मा, डॉ अनीस खान, महिला सेवादल कांग्रेस जिलाध्यक्ष आशा गुप्ता, सेवादल कांग्रेस अध्यक्ष मांगीलाल टीमरई,सेवादल कांग्रेस यूथ बिग्रेड के अध्यक्ष जितेंद्र सिंह,डॉ जितेंद्र चंद्रवंशी, ब्लाक  राहुल जाटव योगेंद्र महोबिया आदि सहयोग कर रहे है। 

कलेक्टर ने ली उपार्जन संबंधी बैठक, दिए आवश्यक निर्देश

sehore news
कलेक्टर श्री अजय गुप्ता की अध्यक्षता में एवं उपार्जन के नोडल अधिकारी श्री अरुण कुमार विश्वकर्मा की उपस्थिति में उपार्जन संबंधी बैठक का आयोजित किया गया। बैठक में केन्द्रों पर सभी प्रकार की व्यवस्थाओं के लिए निर्देश दिए गए ताकि उपार्जन के लिए किसानों को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो सके। इसके अलावा उपार्जन से संबंधित गेंहू के भंडारण की व्यवस्था, परिवहन की व्यवस्था, कृषकों को भेजे जाने वाले एसएमएस, खरीदे गए गेंहू की ऑनलाईन एंट्री एवं भुगतान की व्यवस्थाओं की समीक्षा करते हुए आवश्यक निर्देश दिए गए। बैठक के दौरान जिला नापतौल निरीक्षण श्री राजेश पिल्लई, वेयर हाउस प्रबंधक श्री सदाब अर्ते, नागरिक आपूर्ति अधिकारी श्री सहावत सलमान, डीआरसीएस श्री भूपेन्द्र सिंह, सहकारिता बैंक प्रबंधक श्री मुकेश श्रीवास्तव, जिला खाद्य अधिकारी शैलेष शर्मा उपस्थित थे।

आई.आई.टी.टी. रणनीति के अन्तर्गत टेस्टिंग और ट्रीटमेंट व्यवस्था का विस्तार

कोविड-19 के संक्रमण पर नियंत्रण के लिए आई.आई.टी.टी. रणनीति के तहत टेस्टिंग और ट्रीटमेंट कि दायरे का लगातार विस्तार किया जा रहा है। प्रदेश में 12940 सेंपल टेस्ट के लिए भेजे जा चुके हैं, जिसमें 8,105 सेम्पल की रिपोर्ट प्राप्त हो चुकी है। टेस्ट की प्रक्रिया को गति देने के लिए इंडियन कांउसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च, दिल्ली का सहयोग लिया जा रहा है। प्रदेश की 303 संस्थाओं को कोविड समर्पित संस्थान के रूप में चिन्हित किया गया है, जिसमें 20 हजार 243 बैड और 690 वेंटिलेटर उपलब्ध हैं। आडडेंटिफिकेशन, आइसोलेशन, टेस्टिंग और ट्रीटमेंट पर आधारित इस रणनीति के अंतर्गत कोविड-19 के लक्षणों से प्रभावित/संभावित व्यक्तियों की त्वरित जाँच के लिए 1149 मोबाइल हेल्थ टीम और 644 रैपिड रिस्पांस टीम गठित की गई है। कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के लक्षण की गंभीरता के आधार पर मरीज को उपचार उपलब्ध कराने के लिए 192 डैडिकेटेड कोविड केयर सेन्टर, 86 डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर और 25 डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल संचालित किये जा रहे हैं।

मलेरिया निरीक्षक देंगे विकासखण्डवार आनकाल सेवाएं, सर दर्द,बदन दर्द, उल्टी, बुखार व चक्कर आने पर तुरंत मोबाइल नंबर पर संपर्क किया जा सकता है

कोविड-19 (कोरोना वायरस) संक्रमण से बचाव व सावधानी के लिए जिले  में लाकडाउन बढ़ाया गया है। ऐसी स्थिति के चलते राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत मलेरिया से पीड़ित मरीजों की जांच एवं उपचार तुरंत मिलना अत्यंत आवष्यक है। सीहोर जिले में यदि बुखार से पीड़ित है साथ ही उन्हें सर दर्द, उल्टी, चक्कर आना आदि लक्षण भी है तो वह मलेरिया पीड़ित हो सकता यदि ऐसी किसी स्थिति में कोई व्यक्ति हो तो विकासखण्ड स्तरीय जिम्मेदार व्यक्तियों से दूरभाष पर संपर्क कर सहायता प्राप्त कर सकता है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के निर्देश पर जिला मलेरिया अधिकारी ने किए संपर्क नंबर जारी
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सुधीर डेहरिया के निर्देश पर जिला मलेरिया अधिकारी श्रीमती क्षमा बर्वे ने मलेरिया कार्यक्रम से संबंधित अधिकारियों को आपातकालीन के लिए संपर्क नंबर जारी किए है। जिसमें विकासखण्ड सीहोर के लिए श्रीमती शीलोमीत वसुनिया सहायक जिला मलेरिया अधिकारी मो.नंबर-7000334621, विकासखण्ड श्यामपुर के लिए मलेरिया निरीक्षक श्री संतोष नायर मो.न.9229696857, इछावर के लिए मलेरिया निरीक्षक श्री सुनील भलावी मो.न.9340699256, 7067424509, नसरूल्लागंज के लिए मलेरिया निरीक्षक श्री रामवृक्ष सिंह मो.न.9981378161, विकासखण्ड बुदनी के लिए मलेरिया निरीक्षण श्री ओम प्रकाश मो.न.9131503974, 9691941334, विकासखण्ड आष्टा के लिए श्री मलेरिया निरीक्षक श्री भोपाल सिंह परमार मो.न.7987186183,9229573541 से संपर्क किया जा  सकता है।  

नगरीय निकायों एवं पंचायतों की मतदाता सूची पुनरीक्षण का कार्य स्थगित

सचिव राज्य निर्वाचन आयोग श्री दुर्ग विजय सिंह ने जानकारी दी है कि नगरीय निकायों एवं त्रिस्तरीय पंचायतों के मतदाता सूची पुनरीक्षण वर्ष 2020 का कार्यक्रम आगामी आदेश तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। यह निर्णय कोविड-19 के कारण किये गये लाकडाउन के संदर्भ में लिया गया है। 

जिले में अभी तक कुल 24431 व्यक्तियों को किया गया होमकोरेंटाईन एवं स्कीनिंग

स्वास्थ्य विभाग के अमले द्वारा मैदानी स्तर पर ग्राम एवं शहरी वार्डो में निरंतर घर-घर सर्वे कर विदेश से सीहोर जिले में लौटे तथा अन्य जिलों व राज्यों से व्यक्तियों की खोजबीन की जा रही है। पिछले 24 घंटे के दौरान जिले में अन्य राज्यों व अन्य जिलों से आए हुए करीब 816 व्यक्तियों की पहचान व पता लगाकर उनकी तत्काल स्क्रीनिंग की गई तथा उन्हें होम क्वारेंटाईन किया गया है। सीहोर जिले में अन्य जिलों अथवा राज्यों से लौटे हुए यात्रियों की संख्या अब तक कुल 24431 है। उन्हें होम कोरेंटाईन से संबंधित गाईड लाईन की जानकारी प्रदान कर सख्त हिदायत दी गई है कि  होम कोरेंटाइन गाइड लाइन का कड़ाई से पालन करेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर डेहरिया ने जानकारी दी कि जिले में अन्य देशों से सीहोर पहुंचे कुल व्यक्तियों की संख्या 232 है जिनमें से 184 लोगों की अब तक स्क्रीनिंग स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा चुकी है। पिछले 24 घंटों के दौरान 816 ऐसे व्यक्तियों की पहचान की गई जो अन्य राज्यों और अन्य जिलों से लौटे थे इन सभी व्यक्तियों की तत्काल स्क्रीनिंग कर इन्हें 16 अप्रैल को ही होम कोरेंटाईन कर दिया गया है जिले में अब तक होम कोरेंटाईन किए गए व्यक्तियों की संख्या 24431 है। डॉ.डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान ऐसे व्यक्ति जो विदेश से सीहोर जिले में नहीं लौटे थे परंतु अन्य जिलों एवं राज्यों से लौटे थे और विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा घर-घर सर्वे के दौरान चिन्हित किए गए उन्हें तत्काल होम कोरेंटाईन किया गया उनकी संख्या पिछले 24 घंटे के दौरान 871 है तथा ऐसे अब तक 16833 व्यक्तियों को होम कोरेंटाइन किया जा चुका है। जिले से अब तक 99 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 74 की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। बुधवार को ही 9 सेम्पल जांच के लिए भोपाल भेजे गए है। 9 सेंपलों सहित कुल 21 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। आज की स्थिति में हास्पिटल आईसोलेशन, कोरोना संक्रमण पाजीटिव मरीजों की संख्या शून्य है। विभाग की ओर से मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर 7247704181 है इस नंबर पर बाहर से बाहर से आए हुए व्यक्तियों की जानकारी 24 घंटे दी जा सकती है। वहीं कलेक्ट्रेट कार्यालय में भी 24 घंटे के लिए काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 9893635076 है इस नंबर पर संपर्क कर कोविड-19 के संबंध में किसी प्रकार की सलाह ली जा सकती है 24 घंटे संचालित उक्त काल सेंटर में चिकित्सा अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है जिनके द्वारा विदेश, अन्य राज्यों व जिलों से आकर होम कोरेंटाइन किए गए व्यक्तियों को फोनकर  प्रतिदिन फीडबैक लिया जाता है तथा इसकी जानकारी जिला स्तरीय नोडल अधिकारी, संबंधित ब्लाक मेडिकल आफिसर को तत्काल दी जाती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसिन सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-401259 है यहां पर टेलीमेडिसिन के संबध में उचित सलाह ली जा सकती है।  

लॉकडाउन में आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई पर विशेष ध्यान देने के निर्देश

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में कोरोना की स्थिति और इस पर नियंत्रण तथा उपचार की व्यवस्थाओं की वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सामग्रियों की सप्लाई पर विशेष ध्यान दिया जाये। यह व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाये कि लोगों को आवश्यक साम्रगी आसानी से उपलब्ध हो, इसके लिये परेशान न होना पड़े। उन्होंने निर्देश दिये कि कमजोर वर्गों को खाद्यान्न वितरण के लिये सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत संचालित उचित मूल्य दुकाने प्रतिदिन 12 घंटे खुलें।

भाप्रसे के 10 अधिकारी करेंगे कोरोना की जिलेवार समीक्षा
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के 10 अधिकारियों को कोरोना की जिलेवार समीक्षा की जिम्मेदारी सौंपने के निर्देश दिये। ये अधिकारी इन्हें सौंपे गये जिलों में कोविड-19 स्ट्रेटजी के अनुसार प्रतिदिन जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन द्वारा किये गये कार्यों की स्वतंत्र समीक्षा करेंगे। ये अधिकारी जिले से संबंधित जन-प्रतिनिधियों, आमजन आदि से टेलीफोन पर कोरोना संबंधी फीडबैक प्राप्त कर सकते हैं। इन अधिकारियों को आवंटित जिलों की समीक्षा रिपोर्ट हर दो दिन में एक बार मुख्य सचिव को उनके मेल पर देना अनिवार्य होगा।

कोरोना से लड़ेंगे और जीतेंगे भी
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सरकार सबके साथ मिलकर कोरोना से लड़ेगी और जीतेगी भी। श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के 24 जिले प्रभावित है। अभी तक कोरोना के 730 प्रकरण सामने आए हैं। कुल 24 हजार 187 सैम्पल लिए गए है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि हमने कोरोना से निपटने के लिए त्रिस्तरीय रणनीति अपनाई है। उन्होंने कहा कि हमारा सतत प्रयास है कि कोरोना से इस युद्ध को हमें हर हाल में जीतना है। सभी अधिकारी और कर्मचारी पूरी लगन से इस लड़ाई को लड़ रहे है। नागरिकों की रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करने के लिए आयुर्वेदिक दवाओं का वितरण किया जा रहा है। विशेषज्ञों की टीम लगातार सक्रिय है। हमारी हर संभव कोशिश है कि आवश्यक वस्तुओं की श्रृंखला कहीं से भी ना टूटे।

अन्य राज्यों में रुके मजदूरों को दिये जाएंगे एक-एक हजार रूपये - मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि लॉकडाउन के कारण अन्य राज्यों में रुके प्रदेश के मजदूरों को उनके रूकने एवं भोजन व्यवस्था के लिए उनके खातों में एक-एक हजार रूपये जमा कराये जायेंगे। इसके अलावा, आवश्यकता पड़ने पर उन्हें और अधिक राशि दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि अन्य प्रदेशों में इन व्यवस्थाओं की निगरानी के लिये सात वरिष्ठ अधिकारियों को भी तैनात किया गया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उन्होंने अन्य प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों से लॉकडाउन के कारण उनके प्रदेश में रुके मध्यप्रदेश के मजदूरों के रुकने एवं राशन की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए चर्चा की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सांसदों और विधायकों से उनके क्षेत्र के ऐसे प्रभावित मजदूरों की सूची शीघ्र भेजने के लिए कहा जा रहा है। जैसे-जैसे सूची आती जायेगी, नाम आते जायेंगे, हम यह राशि उन मजदूरों के खातों में हस्तांतरित करते जायेंगे।

मजदूरों को राशन-   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि प्रदेश में फसल कटाई के बाद मजदूरों के पास काम समाप्त हो चुका है। उन्होंने कहा कि मैंने कलेक्टर्स को ऐसे मजदूरों के रुकने एवं राशन की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। मजदूरों की व्यवस्था के लिए उन्होंने जनप्रतिनिधियों से भी चर्चा की है।   राशन कार्ड धारियों को फ्री मिलेगा 2 माह का राशन-   मुख्यमंत्री ने कहा कि राशन कार्ड धारकों को इस माह से दो माह के लिए प्रति व्यक्ति 5 किलो राशन नि:शुल्क दिए जाने की व्यवस्था की जा रही है।इसमें 1 किलो दाल और गेहूँ-चावल दिया जाएगा। इसके अलावा, जिनके पास राशन कार्ड नहीं है, उनके लिये राशन की व्यवस्था की जा रही है।

लॉकडाउन में "चलो कुछ अच्छा करते हैं" (अच्छी खबर) पुलिस विभाग को भेंट की स्क्रीन शीट

जिले की पर्वतारोही मेघा परमार और शोभित नाथ शर्मा एवं उनकी टीम ने निर्णय लिया कि लॉकडाउन के दौरान चलो कुछ अच्छा करते हैं। मेघा परमार और शोभित नाथ द्वारा पुलिस विभाग को स्क्रीन शीट भेंट की गई जो कोरोना वायरस की रोक में सहायक है यह शीट केवल प्ला‍स्टिक और इलास्टिक से बनाई गई है जिसकी कुल लागत 9 से 10 रु. के बीच है। मेघा परमार का कहना है कि जो पुलिस वाले हमारी रक्षा के लिए जिंदगी दांव पर लगाकर अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं उनके लिए यह एक छोटा सा सहयोग एक अतिरिक्त बचाओ कवच के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। मेघा और शोभित द्वारा और युवाओं से अपील की है के ऐसी चीजों से जिससे कोरोना से बचाव वह अपने घर पर बैठकर बनाएं और हमारे जांबाजों को भेंट करें। शोभित और मेघा मेघा द्वारा पुलिस विभाग को 110 स्क्रीन शीट भेंट की गई हैं उनका मानना है कि वह कुल 5000 सीटें इस  महीने के अंत तक पुलिस विभाग को भेंट करने का प्रयत्न करेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: