तब्लीग़ी जमात के कारण देश में बढ़ा कोरोना : स्वास्थ्य मंत्रालय - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 1 अप्रैल 2020

तब्लीग़ी जमात के कारण देश में बढ़ा कोरोना : स्वास्थ्य मंत्रालय

tabligi-cause-increase-corona
दिल्ली (आर्यावर्त संवाददाता)  देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में भारत के अंदर कोरोना के 386 नए केस सामने आए हैं। तथा अब तक कुल 1637 मामले सामने आए हैं, इनमें से 132 लोग ठीक हो चुके हैं और 38 लोगों की जान जा चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने प्रेस वार्ता में बताया कि “तब्लीग़ी जमात के कार्यक्रम के कारण देश में कोरोना वायरस के संक्रमण का मामला बढ़ा है”। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि तब्लीग़ी जमात से संबंधित 1800 से अधिक लोगों को 9 अलग-अलग अस्पतालों और क्वारंटाइन सेंटर में भेजा गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि पिछले 24 घंटे में जितने मामलों का इजाफा हुआ है, उसमें तब्लीग़ी जमात की बड़ी भूमिका रही है। साथ ही यह भी कहा गया कि तब्लीग़ी जमात के लोगों के घूमने से मामले बढ़े हैं। इसलिए राज्य सरकार को इनके संक्रमण में आये लोगों का पता लगाने को कहा गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि भारतीय रेल 3.2 लाख आइसोलेशन और क्वारंटाइन बेड बनाने की तैयारी कर रही है। इसके तहत 20000 रेल डिब्बों को मॉडिफाइड करने का कार्य शुरू किया गया है, तथा 5000 डिब्बों का मॉडिफिकेशन शुरू किया जा चुका है। इसके तहत हमें 80000 नए आइसोलेशन बेड प्राप्त होंगे। मालूम हो कि दिल्ली के निजामुद्दीन में कोरोना वायरस का केंद्र बने इस्लामी तबलीगी मरकज में बिहार के 86 लोग शामिल हुए थे। इनमें से 37 लोगों का पता चल गया है। इनमें 17 पटना, 13 बक्सर और 7 कटिहार और 10 लोग अररिया से हैं। बाकी 39 लोगों की तलाश की जा रही है। ट्रेस हो चुके लोगों का सैंपल लिया गया है और उन्हें क्वारंटाइन किया गया है।अररिया के 10 लोगों के अलावा सूचना मिली है कि दिल्ली के तबलीगी मरकज में शामिल होने वाले कई लोग किशनगंज और मधुबनी भी पहुंचे हैं। जानकारी के अनुसार अररिया पहुंचने वालों में सभी मलेशिया से आये विदेशी हैं। इनमें से एक व्यक्ति की मौत गुरुवार को हो गई थी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...