विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 27 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 27 अप्रैल 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 27 अप्रैल

प्रधानमंत्री फसल बीमा राशि 75 प्रतिशत कृषकांे को भुगतान नहीं किये जाने एवं उक्त योजना में विसंगतियों को दूर किये जाने के संबंध में तत्काल कार्यवाही किये जाये - विधायक भार्गव

विदिशाः- विदिशा विधायक शशांक भार्गव ने मुख्यमंत्री को मध्यप्रदेश शासन श्री शिवराज सिंह चैहान को पत्र लिख कर मांग की है कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनांतर्गत विदिशा जिले में लगभग 587 पटवारी हल्के है, जिसमें से मात्र 148 पटवारी हल्कों के कृषकों के ही खाते में बीमा राशि का भुगतान हुआ है। जिले में लगभग 145500 कृषको की फसलो का बीमा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अंतर्गत किया गया जिसमें से मात्र 62915 कृषको ही बीमा क्लेम की राशि दी गई है। मेरे द्वारा इसी विभाग के फसल बीमा प्रभारी से चर्चा की गई उनके द्वारा जानकारी दी गई शेष किसान क्रापकाटिंग में अपात्र कर दिये गये है जिस कारण से क्लेम राशि का भुगतान नही किया जा सका साथ ही जिन किसानो को क्लेम राशि दी गई है उनमें से कई किसानो को 90 रूपये बीघा के मान से तो कई किसानो को 2250 रूपये बीघा के मान से बीमा राशि का भुगतान किया गया है जो कि बीमा कम्पनीयों की कार्यशैली पर प्रश्न चिन्ह है एक ही जिले में इस तरीके से भेदभाव पूर्ण बीमा राशि का भुगतान अनुचित है। वर्ष 2018 में अति वर्षा एवं अल्प वर्षा से किसानो की फसलो को पूर्ण क्षति होने के बाद भी बीमा राशि का क्लेम बीमा कम्पनीयो द्वारा नही दिया जाने से ऐसा प्रतित होता है कि जहाॅ बीमा कम्पनीया एक ओर किसानो से प्रीमियम की राशि ले रही है वही दूसरी ओर सरकार से भी राशि ले रही है। बीमा कम्पनीया किसानो का गला काट रही है एवं वही दूसरी ओर सरकार की ओर से दी जाने वाली राशि भी हजम कर रही है, या तो बीमा कम्पनीयो की कार्यशैली दोष पूर्ण है अथवा केन्द्र सरकार द्वारा बनाई गई फसल बीमा योजना केवल किसानो को गुमराह करने के लिये बनाई गई योजना है जिसका किसानो को वास्तिविक लाभ नही मिल पा रहा है, इस प्रकार की दोष पूर्ण फसल बीमा योजना से विदिशा जिला ही नही पूरे देश में किसानो के साथ छलवा किया जा रहा है और जान बूझ कर बीमा कम्पनीयो को लाभ पहंुचाने का काम किया जा रहा है। इस संबंध में विधायक शशांक भार्गव ने मुख्यमंत्री जी से अनुरोध किया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की समीक्षा कर कृषको के हित में सरकार शीघ्र उचित निर्णय ले एवं सभी कृषको को जिन्होने फसल बीमा की प्रीमियम की राशि जमा की है को फसल के नुकसान का क्लेम समानरूप से प्राप्त हो एवं बीमा कंपनीयो द्वारा किसानो के प्रति दौहरे व्यवहार पर रोक लगाई जाये जिससे की किसानो को फसल बीमा की राशि समानरूप से ईमानदारी से प्राप्त हो सके।

प्रत्येक उपार्जन केन्द्र हेतु बीस-बीस एसएमएस 

कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा समर्थन मूल्य पर उपार्जन कार्यो एसएमएस प्रेषित एनआईसी भोपाल के अधिकारियों को पूर्व में जारी निर्देषो के अनुरूप अब तक प्रत्येक उपार्जन केन्द्रो पर बीस-बीस एसएमएस प्राप्त नही होने को अति गंभीरता से लेते हुए संबंधितों से चर्चा कर उन्हें नियमानुसार समर्थन मूल्य उपार्जन केन्द्रों के पंजीकृत किसानों को एसएमएस की सुविधा मुहैया कराए जाने के साथ-साथ सभी उपार्जन केन्द्रों पर बीस-बीस एसएमएस किसानो को प्रेषित करने के निर्देष दिए है। 

उपखण्ड अधिकारी अधिकृत 

कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा जिले में जारी लॉकडाउन अवधि के दौरान कटेंनमेंट जोन के बाहर ग्रामीण क्षेत्रों में समस्त दुकाने खोले जाने के संबंध में प्राप्त निर्देषो के अनुरूप स्थानीय उपखण्ड अधिकारी को अधिकृत किया है। ततसंबंध में दिषा निर्देष भी स्थानीय एसडीएम अपने-अपने कार्य क्षेत्रों में दिषा निर्देष जारी कर सकेंगे। इस प्रकार समस्त कटेंनमेंट जोन के बाहर ग्रामीण क्षेत्रों में शॉपिंग मॉल को छोडकर समस्त दुकाने खोले जाने के संबंध में कार्यवाही सम्पादित करने हेतु संबंधित क्षेत्र के उपखण्ड अधिकारी, मजिस्ट्रेट को अधिकृत किया गया है। उपखण्ड मजिस्ट्रेट कोविड-19 की गाइड लाइन का पालन करते हुए तदानुसार कार्यवाही सुनिष्चित करेंगे। 

राजस्थान के लिए रवाना हुए

jhabua news
नगरपालिका अध्यक्ष श्री मुकेष टण्डन ने आज विवेकानंद चौराहे पर राजस्थान  के सवाईमाधौपुर को रवाना होने वाले मजदूरों से चर्चा की। उनके द्वारा प्रत्येक मजदूरो को मास्क, सेनेटाइजर के अलावा भोजन प्रसादि उपलब्ध कराई गई है। ज्ञातव्य हो कि विदिषा जिले में मानोरा मंदिर के निर्माण कार्यो में संलग्न राजस्थान के मजदूरो द्वारा वापिस अपने गांव जाने की इच्छाएं जाहिर करने के उपरांत लॉकडाउन अवधि के दरम्यिन जिला प्रषासन के द्वारा वाहनों के प्रबंध सुनिष्चित किए गए थे उक्त वाहनो में बैठने के पूर्व आज ईदगाह चौराहे पर नगरपालिका अध्यक्ष श्री मुकेष टण्डन ने मजदूरो से संवाद स्थापित किया और उन्हें सकुषल घर तक पहुंचने की शुभकामनाएं व्यक्त की है। इससे पहले नगरपालिका अध्यक्ष श्री टण्डन के द्वारा मजदूरो को ले जाने वाले अनुबंधित बस का पूर्ण सेनेटाइजर कराया गया और वाहन चालको को निर्देष दिए कि रास्ते में कही भी किसी प्रकार की तकलीफ हो तो सीधे मुझे सूचित करें। ज्ञातव्य हो कि विदिषा जिले में राजस्थान से आए नौ श्रमिक मजदूरो के द्वारा मानोरा मंदिर के निर्माण कार्यो को सम्पादित किया जा रहा था। टीम के लीडर श्री हरिदास ने बताया कि सभी सदस्यों के द्वारा वापिस जाने की इच्छा जाहिर करने पर उनकी मंषा के अनुरूप मैने मध्यप्रदेष शासन को अवगत कराया। हम सब मध्यप्रदेष शासन के अति आभारी है जिन्होने हमें घर तक पहुंचाने हेतु वाहन उपलब्ध कराया है। ज्ञातव्य हो कि विदिषा जिले में कार्यरत श्रमिकों को ले जाने वाले वाहन से वापसी में ऐसे श्रमिक जो विदिषा के राजस्थान राज्य की सीमा में कार्यरत है उन सभी को लेकर उक्त वाहन वापिस आएंगे।

राजेश और राकेश होम क्यूरेन्टाइन में 

vidisha news
नटेरन बीएमओ डॉ नीतू राय ने बताया कि डोर-टू-डोर सर्वे कार्य महिला बाल विकास विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त अमले के द्वारा जारी है। सर्वे दल को अवगत हुआ कि 25 अपै्रल को इन्दौर से लौटे द्वय भाई, राजेश पिता उमराव और राकेश पिता उमराव से सम्पर्क किया गया और उन्हें होम क्यूरेन्टाइन में रहने के दिषा निर्देषो से अवगत कराया गया साथ ही उनके ग्राम में होम क्यूरेन्टाइन के सूचना पटल को चस्पा किया गया है। 

24384 किसानों से 1402376.24 कि्ंवटल गेंहू का उपार्जन

जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि जिले में समर्थन मूल्य पर पंजीकृत किसानों से 199 उपार्जन केन्द्रों पर क्रय कार्य जारी है। श्रीमती साहू ने बताया कि 27 अपै्रल सोमवार तक 24384 किसानों से  1402376.24 कि्ंवटल गेंहू की खरीदी कार्य पूर्ण हुआ है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...