बिहार : जब भी कठिन समय आया है, मिल-जुलकर सामना किया है : मुख्यमंत्री - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 11 अप्रैल 2020

बिहार : जब भी कठिन समय आया है, मिल-जुलकर सामना किया है : मुख्यमंत्री

बिहार से बाहर या देश से बाहर की यात्रा कर आये हैं, वे अपने-अपने  ट्र्ेवल हिस्ट्र्ी न छिपायें। इससे उन्हें तो खतरा है ही, उनके सम्मर्क में आने वाले अपने लोगों को भी खतरा है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों के द्वारा दिये गये निर्देशों का लोग पालन करें  
will-fight-corona-togather-nitish-kumar
पटना,11 अप्रैल। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्य सचिव एवं अन्य वरीय पदाधिकारी के साथ कोरोना संक्रमण के संबंध में अघतन स्थिति की समीक्षा की। समीक्षा के क्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि लोग लाॅकडाउन के पालन में अनुशासन बनाये रखें, इससे कोरोना संक्रमण की चेन टूटेगी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश किया कि यह सुनिश्चित कराया जाय कि बाजारों में, दुकानों पर, सब्जी मंडी में जहां पर भी लोग जरूरत का सामान खरीदने के लिये जा रहे हैं, वहां पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो। लोग अपने घरों में भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने से अधिक से अधिक लोग सुरक्षित रहेंगे। उन्होंने कहा कि लोगों के लिए खाघ साम्रगी एवं आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति बाधित नहीं होगी। लोग घबरायें नहीं, अपने घरों में सुरक्षित रहें। उन्होंने लोगों से अपील की कि जब भी कठिन समय आया है,हमलोगों ने मिल-जुलकर मुकाबला किया है। मुझे पूरी उम्मीद है कि इस बार भी आप सबके सहयोग से कोरोना महामारी से निपटने में सक्षम होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि सीवान के साथ-साथ राज्य के जिन अन्य क्षेत्रों में भी कोरोना पाॅजिटिव मरीजों की संख्या अधिक मिल रही है। वहां पर विशेष निगरानी एवं सतर्कता बनाये रखें। उन क्षेत्रों में सघन अभियान चलाकर प्रोटोकाॅल के अनुरूप समुचित कार्रवाई सुनिश्चित की जाय। उन्होंने लोगों से अपील की कि जिन्हें भी संक्रमण की थोड़ी भी आशंका हो तो वे जांच केन्द्र पर जाकर जांच करायें, इससे उनके परिवार एवं आसपास के लोग भी सुररिक्षत रहेंगे। जो लोग बिहार से बाहर या देश से बाहर की यात्रा कर आये हैं, वे अपने-अपने  ट्र्ेवल हिस्ट्र्ी न छिपायें। इससे उन्हें तो खतरा है ही, उनके सम्मर्क में आने वाले अपने लोगों को भी खतरा है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों के द्वारा दिये गये निर्देशों का लोग पालन करें। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि जहां-जहां संदिग्ध कोरोना मरीजों का सम्पर्क क्षेत्र पता चलता है उन इलाकों में अधिक से अधिक लोगों की गहन स्क्रीनिंग की जाय। जिन क्षेत्रों में कोरोना के मरीज पाये जा रहे हैं,वहां सघन अभियान चलाकर कोरोना मरीजों का काॅन्टैक्ट  ट्र्ेस का तेजी से पता करें जो काॅन्टैक्ट  ट्र्ेस होता है उनकी जांच तुरंत करायी जाय। उन्होंने कहा कि स्क्रीनिंग एवं टेस्टिंग प्रक्रिया में और तेजी लायी जाय। टेस्टिंग कैपिसिटी को और बढ़ाया जाय तथा कुछ अन्य स्थानों पर भी कोरोना जांच केन्द्र शीघ्र खोलने की कार्रवाई की जाय। मुख्यमंत्री ने कहा कि राशन कार्ड के अस्वीकृत एवं लम्बित आवेदनों की पुनः समीक्षा कर नियमानुसार तेजी से उसका समाधान करें ताकि योग्य लाभुकों को ससमय सुविधा मिल सके। मुख्यमंत्री ने निर्देश किया कि लोग क्वारंटाइन है तथा आइसोलेशन सेंटर में रह रहे हैं, उनकी काउंसिलिंग भी कराययें। उन्होंने कहा कि क्वारंटाइन सेंटर पर जरूरी सभी सुविधाओं का माॅनिटरिंग करते रहें। वे क्वारंटाइन में रहने के दौरान जरूरी प्रक्रियाओं का पालन करें, इससे वे खुद भी स्वस्थ हो सकेंगे और समाज की भी सुरक्षा होगी। लोगों की समस्याओं के प्रति पदाधिकारी संवेदनशील रहें तथा जरूरतमंद व्यक्तियों की सूचनाओं पर तत्काल कार्रवाई कर आवश्यक मदद दिलायें। उन्होंने कहा कि लोगों की मदद के लिये सरकार हर जरूरी कदम उठा रही है। 

कोई टिप्पणी नहीं: