दरभंगा : पूर्व विधान पार्षद ने लॉकडाउन की अवधि के फीस माफ करने की अपील - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 12 मई 2020

दरभंगा : पूर्व विधान पार्षद ने लॉकडाउन की अवधि के फीस माफ करने की अपील


ex-mlc-demand-fees-relief-in-lock-down
दरभंगा (आर्यावर्त संवाददाता) ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय (लनामिवि) सिंडिकेट के सदस्य एवं पूर्व विधान पार्षद प्रो० विनोद कुमार चौधरी में सरकार एवं महामहिम कुलाधिपति से  लॉकडाउन की अवधि में छात्रों के सभी प्रकार के फीस को माफ करना की अपील की है। प्रो० चौधरी ने कहा है कि लॉकडाउन में विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय जितने दिनों के लिए बंद रहे सरकार को छात्रों से उस अवधि का फीस नहीं लेने का फैसला लेना चाहिए। लॉकडाउन की अवधि में सभी छात्रावास एवं प्राइवेट लॉज भी खाली कराए गए तथा छात्रों को अपने-अपने घर को लौटना पड़ा इसलिए इस अवधि का सभी प्रकार का फीस चाहे वह शिक्षण शुल्क हो परीक्षा शुल्क हो या छात्रावास शुल्क हो पूरे तौर पर माफ कर देना चाहिए। प्राइवेट लॉज में रहने वाले छात्रों के किराया माफ करने के लिए भी सरकार को, प्रशासन को कोई योजना बनानी चाहिए। एक बात साफ है की मिथिला के किसान या छोटे व्यापारी अपने बच्चों को काफी कठिनाइयों का सामना करते हुए शहर में पढ़ाते हैं जिस कारण यदि उनका फीस माफ हो जाए तो उन्हें काफी राहत पहुंचेगा। यहां एक बात और सोचने की है कि लॉकडाउन की अवधि में शिक्षक लगातार ऑनलाइन शिक्षण कार्य कर रहे हैं लेकिन ग्रामीण परिवेश में आईटी तकनीकी अभाव के कारण छात्र इस शिक्षण व्यवस्था से कितना लाभ उठा पाए होंगे इसका तो अंदाजा स्वभाविक रूप से लगाया जा सकता है। अतः महामहिम कुलाधिपति एवं बिहार सरकार से मांग करता हूं कि छात्रों के लॉकडाउन की अवधि का फीस माफ किया जाय। विभिन्न छात्र संगठनों ने भी इस संबंध मैं स्मार पत्र भी दिया है।

कोई टिप्पणी नहीं: