जमशेदपुर में मिक्स्ड फ्रूट प्लांटेशन योजना का शुभारंभ, पौधों के बारे में दी गई जानकारी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 31 मई 2020

जमशेदपुर में मिक्स्ड फ्रूट प्लांटेशन योजना का शुभारंभ, पौधों के बारे में दी गई जानकारी

निदेशक एनईपी ज्योत्सना सिंह की उपस्थिति में मिक्स्ड फ्रूट प्लांटेशन योजना का शुभारंभ मुकरुडीह ग्राम पंचायत में किया गया. इस दौरान लाभुकों को पौधा लगाने और पौधों की देखभाल करने की जानकारी दी गई.
mixed-fruits-plant-jamshedpur
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता)  पूर्वी सिहभूम जिले में बोड़ाम प्रखंड में निदेशक एनईपी ज्योत्सना सिंह की उपस्थिति में मिक्स्ड फ्रूट प्लांटेशन योजना का शुभारंभ मुकरुडीह ग्राम पंचायत में किया गया. इस मौके पर लाभुक के खेत में बागवानी हेतु गड्ढा किया गया. मौके पर निदेशक एनईपी द्वारा लाभुक को तीन दिनों के अंदर गड्ढा बनाने का कार्य पूर्ण करने हेतु निदेशित किया गया. साथ ही पौधा लगाने और पौधों की देखभाल करने की जानकारी दी गई पौधे लगाने के पश्चात उसका घेराव कैसे करना है और जलकुंड बनाने के संबंध में जानकारी दी गई कि अगर गर्मी के वक्त पौधों हेतु पानी उपलब्ध नहीं है तो जलकुंड की मदद से तीन- चार महीने जमा किए गए पानी से पौधों को सींचा जा सकता है. साथ ही साथ कृषक मित्रों को मिक्स्ड फ्रूट बागवानी के साथ-साथ उसी भूमि पर अन्य फसल लगाकर लाभ कमाने के लिए भी जानकारी दी गई, जिससे भूमि की उर्वरक क्षमता भी बढ़ती है. लाभुकों को बताया गया कि जितने भी लाभुक दीर्घ इच्छा के साथ बागवानी करेंगे, उन्हें जिला स्तर से सहयोग प्रदान किया जाएगा  इस मौके पर बागवानी के दौरान गड्ढों को कैसे भरना है और गड्ढों को भरने के समय मिट्टी के स्तर के बारे में बताया गया और अन्य तकनीकी जानकारी भी दी गई. साथ ही मनरेगा के तहत मेड़बंदी कराई गई. इसके अलावा निदेशक एनईपी ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान विभिन्न प्रखंडों में 19 प्रधानमंत्री आवास का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है. इसमें पोटका 4, पटमदा 3, गुडाबान्दा 1, डुमरिया 5, धालभूमगढ़ 2, चाकुलिया 2 एवं बहरागोड़ा में 2 शामिल है. निदेशक एनईपी द्वारा बताया गया कि जिले में अब तक 692 प्रवासियों को जॉब कार्ड उपलब्ध कराया गया है. इसमें 162 लोगों को मनरेगा के तहत रोजगार मुहैया कराया जा चुका है.

कोई टिप्पणी नहीं: