जमशेदपुर : टाटा मोटर्स और इस पर आश्रित उद्योगों को खोलें जाने की कवायद शुरू, लोगों में खुशी की लहर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 29 मई 2020

जमशेदपुर : टाटा मोटर्स और इस पर आश्रित उद्योगों को खोलें जाने की कवायद शुरू, लोगों में खुशी की लहर

सरकार के प्रयास से टाटा मोटर्स में एक बार फिर उत्पादन शुरू होने जा रहा है. लंबे अरसे बाद टाटा मोटर्स और इस पर आधारित उद्योगों के खोले जाने से उद्यमियों और मजदूरों में खुशी की लहर है. इसके खुलने से सरायकेला के आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र में रौनक आने वाली है.
practicing-to-opent-tata-moters
सरायकेला (आर्यावर्त संवाददाता)  कोविड-19 संक्रमण को लेकर भारत में विगत 2 महीने से लॉकडाउन जारी है, जिससे टाटा मोटर्स में भी उत्पादन ठप था. ऐसे में सरायकेला जिले के आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र में वीरानी छाई थी. अब सरकार के प्रयास से टाटा मोटर्स में एक बार फिर उत्पादन शुरू होने जा रहा है. लम्बे समय तक टाटा मोटर्स और इस पर आश्रित उद्योगों के बंद रहने से एक ओर जहां औद्योगिक विकास रुका पड़ा था, वहीं दूसरी ओर मजदूरों के सामने बेरोजगारी की समस्या शुरू हो गई थी, लेकिन सरकार के प्रयास से फिर से टाटा मोटर्स और इस पर आश्रित उद्योगों को खोलें जाने की कवायद शुरू की गई है, जिससे स्थानीय उद्यमी, उद्योगपति से लेकर औद्योगिक क्षेत्र के मजदूर और औद्योगिक क्षेत्र में ठेला-खोमचा लगाकर आजीविका गुजर-बसर करने वाले लोगों में भी आशा की किरण देखने को मिल रही है. कोरोना बंदी के कारण औद्योगिक क्षेत्र के डेढ़ हजार से भी अधिक उद्योगों में लगभग ताला लटक चुका था. लंबे अरसे बाद टाटा मोटर्स और इस पर आधारित उद्योगों के खोले जाने से उद्यमियों ने खुशी जाहिर की है. एशिया के सबसे बड़े औद्योगिक क्षेत्र आदित्यपुर स्मॉल इंडस्ट्री एसोसिएशन एसिया के अध्यक्ष इंदर अग्रवाल ने कहा कि टाटा मोटर्स को खोले जाने का फैसला स्थानीय उद्योगों के साथ-साथ मजदूरों को भी राहत प्रदान करने वाला है. उन्होंने कहा कि सरकार के इस फैसले से तत्काल 40 हजार से भी अधिक मजदूरों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लाभ मिलेगा.औद्योगिक क्षेत्र के उद्यमी अजय सिंह ने कहा की लंबे समय के बाद टाटा मोटर्स और इस पर आश्रित स्थानीय उद्योग खुल रहे हैं. ऐसे में देखने वाली बात है कि टाटा मोटर्स का शेड्यूल क्या रहेगा और किस प्रकार से यह स्थानीय उद्योगों को बाजार से जोड़ता है. उन्होंने कहा कि बंद पड़े उद्योगों के खुलने से मजदूरों को भी अब रोजगार मिलने लगेगा. स्थानीय उद्यमी और आदित्यपुर नगर निगम के डिप्टी मेयर अमित सिंह ने कहा कि यह फैसला स्वागत योग्य है. उन्होंने कहा कि अगर स्थानीय उद्योग से एक व्यक्ति जुड़ता है तो उस पर पांच अन्य लोग आश्रित रहते हैं. ऐसे में एक बड़े तबके के लिए यह राहत भरी खबर है और इसके परिणाम सुखद रहेंगे.  ऑटोमोबाइल क्षेत्र से जुड़े स्थानीय उद्यमी संजय शर्मा ने कहा कि कोरोना संकट काल के दौरान उद्योग बंद होने से मजदूर और उद्यमी भी समस्याओं से घिरे थे. ऐसे में सरकार का निर्णय सुखद है. इससे मजदूर भी मुख्यधारा में लौटेंगे. वहीं, स्थानीय उद्यमी दशरथ उपाध्याय ने कहा कि टाटा मोटर्स खुलने के बाद आगर फिर से अधिक से अधिक वाहन बनेंगे तो स्थानीय उद्योग को इसका सबसे अधिक फायदा मिलेगा. टाटा मोटर्स खोले जाने से स्थानीय कल-कारखाने जो महीनों से बंद पड़े थे वह भी तैयारी में जुट गए हैं. इधर, औद्योगिक क्षेत्र के पास ठेला-खोमचा लगाकर आजीविका चलाने वाले लोगों में भी खुशी का माहौल है.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...