सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 03 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 4 मई 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 03 मई

कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में बांटीजरूरतमंदों को राहत सामग्री सैनीटाईजर और मास्क 

sehore news
सीहोर। कोरोना वायरस के खौफ के मध्य जीवन यापन कर रहे लॉक डाउन से प्रभावित गरीब जरूरतमंद नागरिको को कांग्रेस कार्यकर्ताओं के द्वारा रविवार को कांग्रेस के कार्यकारी जिलाध्यक्ष नईम नबाव के नेतृत्व में खाद्य सामग्री और सुरक्षा के लिए सैनीटाईजर और मास्क का वितरण किया गया।  जिला कांग्रेस के महामंत्री गुलजारी वाजपेयी ने बताया की कांग्रेस जिलाध्यक्ष नईम नबाव लॉक डाउन से प्रभावित गरीब तबके के नागरिकों को लेकर पहले दिन से हीं सक्रीय बने हुए है। निजी रूप श्री नबाव के द्वारा गरीब जरूरतमंदों को आटा दाल चावल का वितरण किया जाता रहा है। रविवार को इंग्लिशपुरा, सुदामा नगर गंज, कुम्हार मोहल्ला रानी मोहल्ला आदि क्षेत्रों में सैकड़ोंं गरीब नागरिकों के घर घर पहुंचकर आटे का वितरण किया गया। श्री नबाव के द्वारा कार्यकर्ताओं के साथ कोराना से सुरक्षा के लिए सैनीटाईजर और मास्क का वितरण भी किया गया। माहल्लों में पहुंचकर श्री नबाव ने कहा की कोरोना से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग बहुत जरूरी है। नागरिकों को जिला प्रशासन के द्वारा दिए जा रहे सभी निर्देशों का पालन करते हुए लॉक डाउन को सफल बनाना चाहिए। श्री नबाव ने कहा की आगामी दिनों में भी शहर की सभी गरीब बस्तियों में  स्वयं के खर्च पर खाद्य सामग्री का वितरण किया जाएगा। श्री नबाव ने कहा की लॉक डाउन से नागरिक हीं नहीं गौमाता भी परेशान है भोजन नहीं मिल रहा है गाय के लिए भी चारे की व्यवस्था की जाएगी। कांग्रेस जिलाध्यक्ष श्री नबाव ने कहा की जिला प्रशासन के द्वारा आपदा के दौरान सक्रियता से सराहनीय कार्य किया जा रहा है सभी नागरिक प्रशासन का सहयोग करें। राहत सामग्री वितरण के दौरान ओम सोनी, मुकेश ठाकुर, रेहान नबाव, अमान खान राजेंद्र ठाकुर आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे। 

रामद्वारा मंदिर कस्बा से पांच सौ से अधिक  जरूरतमंद नागरिकों को बांटा गया अनाज 
महंत ने सैनीटाईजर से पहले धुलाए हाथ, फिर लगवाए मुंह पर मास्क सोशल डिस्टेंसिंग का जिसने पालन नहीं किया उसको नहीे मिला अनाज 
sehore news
सीहोर। रामद्वारा मंदिर कस्बा में रविवार को महंत शांताराम महाराज एवं अंकुश महाराज के सानिध्य में कार्यकर्ताओं के द्वारा लॉक डाउन से प्रभावित ग्राम डाक पुलिया के पांच सौ से अधिक जरूरतमंद गरीब ग्रामीणों और स्थानीय नागरिकों को अनाज का नि: शुल्क वितरण किया गया। अनाज वितरण से पहले महंत ने कोरोना वायरस से सुरक्षा के लिए महिलओं और बच्चोंं के हाथ सैनीटाईजर से धुलवाए जिस के बाद मास्कों का वितरण भी किया। कोरोना वायरस से बचाव को लेकर सक्रिय महंत शांताराम महाराज ने जरूरतमंदों को सोशल डिस्टंसिंग के साथ परिसर में खड़े होने का निर्देश दिया नागरिकों ने पालन भी किया। निर्देशों का पालन नहीं किया उन्हे अनाज का वितरण भी नहीं किया गया। अखिल भारतीय अंकुश फाउंडेशन के कार्यकर्ताओं के द्वारा लॉक डाउन के प्रथम दिवस से हीं मानवता की सेवा की जा रहीं है। इस से पहले कार्यकर्ताओं के द्वारा महंत के सानिध्य में आटा दाल चावल सहित अन्य जरूरी सामग्री का वितरण भी किया जा चुका है। पुनित सेवा कार्य में सेवा यादव, अशोक बाबा, माराचंद्र प्रजापति, गेहलोत सिंह, लाल खंत्री, मंगला सोनी, मूलचंद्र छाया, चंतन यादव, राम सिंह, सोनू यादव, गब्बर यादव आदि कार्यकर्ता समर्पित भाव से लगे हुए है। 

कलेक्टर ने जारी किया संशोधित आदेश धारा 144 के अन्तर्गत लॉकडाउन अवधि को बढ़ाया  

कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्री अजय गुप्ता द्वारा कोरोना संक्रमण के नियंत्रण के मद्देनजर दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अन्तर्गत लॉकडाउन संबंधी आदेश जारी किया गया था। कलेक्टर ने जारी आदेश अनुसार लॉकडाउन की अवधि 3 मई 2020 से 17 मई 2020 की रात्रि 12 बजे तक बढ़ाई है। इस संबंध में समय-समय पर जारी आवश्यक सेवाओं में छूट संबंधी आदेशों के शेष भाग यथावत रहेंगे। यह आदेश तत्काल प्रभावशील होकर आगामी आदेश तक प्रभावशील रहेगा। आदेश का उल्लंघन करने पर भारतीय दण्ड विधान की धारा 188 एवं राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 51-60 के अन्तर्गत कार्यवाही की जाएगी।

अभी तक कुल 31864 लोगों की स्क्रीनिंग की गई, आज तक कुल 228 रिर्पोट निगेटिव आई

sehore news
स्वास्थ्य विभाग के अमले द्वारा मैदानी स्तर पर ग्राम एवं शहरी वार्डो में निरंतर घर-घर सर्वे कर विदेश से सीहोर जिले में लौटे तथा अन्य जिलों व राज्यों से व्यक्तियों की खोजबीन की जा रही है। पिछले 24 घंटे के दौरान जिले में अन्य राज्यों व अन्य जिलों से आए हुए करीब 382 व्यक्तियों की पहचान व पता लगाकर उनकी तत्काल स्क्रीनिंग की गई तथा उन्हें होम क्वारेंटाईन किया गया है। सीहोर जिले में अन्य जिलों अथवा राज्यों से लौटे हुए यात्रियों की संख्या अब तक कुल 31864 है। उन्हें होम कोरेंटाईन से संबंधित गाईड लाईन की जानकारी प्रदान कर सख्त हिदायत दी गई है कि होम कोरेंटाइन गाइड लाइन का कड़ाई से पालन करेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर डेहरिया ने जानकारी दी कि जिले में अन्य देशों से सीहोर पहुंचे कुल व्यक्तियों की संख्या 232 है जिनमें से 184 लोगों की अब तक स्क्रीनिंग स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा चुकी है। पिछले 24 घंटों के दौरान 382 ऐसे व्यक्तियों की पहचान की गई जो अन्य राज्यों और अन्य जिलों से लौटे थे इन सभी व्यक्तियों की तत्काल स्क्रीनिंग कर इन्हें 03 मई को ही होम कोरेंटाईन कर दिया गया है जिले में अब तक होम कोरेंटाईन किए गए व्यक्तियों की संख्या 31864 है। डॉ.डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान ऐसे व्यक्ति जो विदेश से सीहोर जिले में नहीं लौटे थे परंतु अन्य जिलों एवं राज्यों से लौटे थे और विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा घर-घर सर्वे के दौरान चिन्हित किए गए। पिछले 24 घंटों में होकोंरेटाईन की अवधि से 118 लोग बाहर आ चुके हैं जबकि अब तक कुल 25750 व्यक्तियों का होम कोरेंटाइन पूर्ण किया जा चुका है। जिले से अब तक कुल 247 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 228 की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। रविवार को 23 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए। 23 सेंपलों सहित कुल 247 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। आज की स्थिति में हास्पिटल आईसोलेशन में भर्ती मरीजों की संख्या, कोरोना संक्रमण पाजीटिव मरीजों की संख्या शून्य है। वहीं विदेश से आए यात्री जो गृह जिला या निवासरत जिला में वापस नहीं आए उनकी संख्या 48 है। विभाग की ओर से मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर 7247704181 है इस नंबर पर बाहर से बाहर से आए हुए व्यक्तियों की जानकारी 24 घंटे दी जा सकती है। वहीं कलेक्ट्रेट कार्यालय में भी 24 घंटे के लिए काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है इस नंबर पर संपर्क कर कोविड-19 के संबंध में किसी प्रकार की सलाह ली जा सकती है 24 घंटे संचालित उक्त काल सेंटर में चिकित्सा अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है जिनके द्वारा विदेश, अन्य राज्यों व जिलों से आकर होम कोरेंटाइन किए गए व्यक्तियों को फोनकर  प्रतिदिन फीडबैक लिया जाता है तथा इसकी जानकारी जिला स्तरीय नोडल अधिकारी, संबंधित ब्लाक मेडिकल आफिसर को तत्काल दी जाती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसिन सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-401259 है यहां पर टेलीमेडिसिन के संबध में उचित सलाह ली जा सकती है।

अब रेल मार्ग से वापस लाएंगे अन्य प्रदेशों में फंसे मजदूर

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि विभिन्न प्रदेशों से मध्यप्रदेश के लगभग 40 हजार मजदूरों को बसों के द्वारा सुगमतापूर्वक प्रदेश लाया जा चुका है। कुछ मजदूर मार्ग में है तथा अब शेष बचे एक लाख से अधिक मजदूरों को ट्रेन के माध्यम से मध्यप्रदेश वापस लाया जाएगा। श्री चौहान ने बताया कि इसके लिए रेल मंत्री से बात हो चुकी है तथा यह कार्य शीघ्र प्रारंभ होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपर मुख्य सचिव श्री आई.सी.पी. केशरी को निर्देश दिए हैं कि इस संबंध में रेल मंत्रालय को कल तक पूरी जानकारी दे दी जाए कि हमारे कितने मजदूर किन प्रदेशों में फँसे हुए हैं, वे किस स्थान से ट्रेन में चढ़ेंगे तथा मध्यप्रदेश में किस स्थान पर उतरेंगे। मजदूर सुगमतापूर्वक मध्यप्रदेश आ जाएँ, उनका आवश्यक स्वास्थ्य परीक्षण एवं भोजन आदि की व्यवस्था हो जाए, इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करें। अपर मुख्य सचिव श्री केशरी ने बताया कि वर्तमान में हमारे एक लाख से अधिक मजदूर विभिन्न प्राँतों में फँसे हुए हैं। वर्तमान में हमारे 50000 मजदूर महाराष्ट्र में, 30000 गुजरात में, 8000 मजदूर तमिलनाडु में, 5000 मजदूर कर्नाटक में, 10000 मजदूर आंध्र प्रदेश में तथा 3,000 मजदूर गोवा में फँसे हुए हैं।

मध्यान्ह भोजन डोर-टू-डोर पहुँचाने वाला देश का पहला राज्य बना मध्यप्रदेश

राज्य शासन द्वारा कोरोना संक्रमण में स्कूली बच्चों को मध्यान्ह भोजन उपलब्ध कराने के लिये प्राथमिक और माध्यमिक स्कूल के कुल 66 लाख 27 हजार विद्यार्थियों के अभिभावकों के बैंक खाते में 117 करोड़ रूपये की राशि ऑनलाइन ट्रान्सफर की गई है। साथ ही, 56 लाख 87 हजार बच्चों को डोर-टू-डोर मध्यान्ह भोजन का राशन भी पहुँचाया जा चुका है। अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास श्री मनोज श्रीवास्तव ने बताया कि भारत सरकार की समीक्षा बैठक में बताया गया कि मध्यप्रदेश डोर-टू-डोर मध्यान्ह भोजन राशन पहुँचाने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। अपर मुख्य सचिव ने बताया कि कोरोना संक्रमण में गत 23 मार्च को लॉक डाउन होने पर 29 मार्च को मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा एन.आई.सी. के माध्यम से बच्चों के अभिभावकों के खाते में खाद्य सुरक्षा भत्ते की राशि अंतरित की गई। यह राशि सभी बच्चों के अभिभावकों को प्राप्त हो गई है। डोर-टू-डोर मध्यान्ह भोजन राशन वितरण-  अपर मुख्य सचिव श्री मनोज श्रीवास्तव ने बताया कि अप्रैल माह में विद्यालय बंद हो जाने पर विद्यार्थियों को भोजन का राशन उनके घर पर ही भिजवाने में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं, पंचायत प्रतिनिधियों और स्थानीय शिक्षिकों का सहयोग प्राप्त किया गया। भारत सरकार ने मध्यप्रदेश में मध्यान्ह भोजन योजना के क्रियान्वयन में नवाचार के सफल प्रयासों की सराहना की है।

पात्रता पर्ची धारी को प्रति व्यक्ति 05 कि.ग्रा. चावल निःशुल्क वितरण करने के निर्देश

शासन द्वारा कोविड़-19 कोरोना वायरस को दृष्टिगत रखते हुए राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अन्तर्गत सम्मिलित पात्र अन्तोदय एवं प्रथामिक परिवारों/(पात्रता पर्ची धारी) को प्रति व्यक्ति 05 कि.ग्रा. के मान से चावल का निःशुल्क वितरण करने के निर्देश दिए गए है।  हितग्राहियों को माह अप्रैल एवं मई का अवंटन जारी किया गया है। जो कि नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा उचित मूल्य की दुकानों को प्रदाय किया जा रहा है। सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, सहायक/कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी को निर्देशित किया है कि सभी उपभोक्ताओं को चावल शीघ्र एवं एकरूपता में प्रदान हो सके इसके लिए सभी शासकीय उचित मूल्य की दुकानों से अभी केवल अप्रैल 2020 का चावल उपभोक्ताओ को पी.ओ.एस. मशीन से प्रदाय किया जाना सुनिश्चित करें। साथ ही निर्देशित किया है कि वितरण के समय सोशल डिस्टेंसिंग के मापदण्ड एवं कोविड़-19 के संबंध में जारी दिशा-निर्देशों का कडाई से पालन करें।

प्रदेश के बाहर फँसे श्रमिक टोल-फ्री नम्बर 0755-2411180 पर करायें पंजीयन

अपर मुख्य सचिव एवं प्रभारी स्टेट कंट्रोल-रूम श्री आई.सी.पी. केशरी ने बताया है कि प्रदेश के बाहर फँसे श्रमिक, जो मध्यप्रदेश अपने घर आना चाहते हैं, वे स्टेट कंट्रोल-रूम के फोन नम्बर 0755-2411180 पर पंजीयन करा सकते हैं। इसके अतिरिक्त,  http://mapit.gov.in/covid19 पर भी पंजीयन करवा सकते हैं। यह टेलीफोन नम्बर केवल मध्यप्रदेश के बाहर फँसे श्रमिकों के पंजीयन के लिये है। श्री आई.सी.पी. केशरी ने आग्रह किया है कि मध्यप्रदेश के बाहर फँसे श्रमिक इस टेलीफोन नम्बर अथवा पोर्टल में शीघ्र पंजीयन करायें। उन्होंने बताया कि श्रमिकों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर ही उनकी वापसी का प्रोग्राम तैयार किया जायेगा।

करोड़ों रूपयें की विकास कार्यो में व्यापारियों की अहम भूमिका  प्रशासन से करेंगे बात,लॉक डाउन से दिलाएंगे निजात- विधायक सुदेश राय
लॉक डाउन से परेशान कपड़ा व्यापारी,मोबाईल शॉप,बर्तन दुकानदार, जरनल स्टोर्स ऑटो मोबाईल शॉप सहित अन्य दुकानदारों ने विधायक को सौपा ज्ञापन 
sehore news
सीहोर। लॉक डाउन से प्रभावित व्यापारियों ने रविवार को कार्यालय पहुंचकर विधायक सुदेश राय को दुकान में लम्बे समय से जारी तालाबंदी से उत्पन्न आर्थिक परेशानियों से अवगत कराया। व्यापारियों ने विधायक सुदेश राय को लॉक डाउन से अन्य दुकानदारों की तरह राहत देते हुए दुकान खोलने की अनुमति की मांग को लेकर ज्ञापन भी दिया।  विधायक सुदेश राय ने कहा की व्यापारी प्रदेश की आर्थिक रूप से रीढ़ की हडडी है करोड़ों रूपयें के जनहितैशी विकास कार्यो में व्यापारियों की अहम भूमिका है। व्यापारियों दुकानदारों को किसी भी स्थिति में आर्थिक रूप से परेशान नहीं होने दिया जाएगा। विधायक श्री राय ने व्यापारियों से चर्चा करते हुए जिला प्रशासन से बात कर कपड़ा,मोबाईल शॉप,बर्तन दुकानदार, जरनल स्टोर्स ऑटो मोबाईल शॉप सहित अन्य दुकानदारों को लॉक डाउन से राहत दिलाए जाने का आश्वासन दिया।  व्यापारियों ने विधायक सुदेश राय को बताया की बीते २२ मार्च से दुकानों में ताले डले हुए है हम कोरोना की जंग में जिला प्रशासन के साथ है लेकिन अन्य दु़कानदरों को लॉक डाउन में दुकान खोलने के लिए समय बंद अनुमति दी जा रहीं है जबकी हमारे साथ अन्याय जैसा किया जा रहा है। जिस से काफी आर्थिक नुकसान हो रहा है दुकानों में लाखों रूपये का माल खराब हो रहा है तो वहीं बैंक कर्ज पर लगातार ब्याज बढ़ रहा है कर्मचारियों का खर्च और बिजली पानी के बिल बरकरार बने हुए है।  थोक व्यपारी नगदी मांग रहे है लेकिन धंधा बंद होने से भुगतान भी नहीं कर पा रहे है शादी विवाह और गर्मी का सीजन बुरी तरह पिट गया है जिस से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। व्यापारियों ने कहा की पुलिस के द्वारा भी बेवजह छोटे दुकानदारों पर धारा १८८ की कार्यवाहीं की जा रहीं है। जिस प्रकार अन्य दुकानदारों को चार से पांच घंटे का समय दिया गया है वैसे हीं हमें भी अनुमति प्रशासन से प्रदान कराई जाए।  विधायक सुदेश राय ने कहा की इस संबंध में जिला कलेक्टर से चर्चा की जाएगी बात नहीं बनी तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी ग्राीन जाने जिले के व्यापारियों की समस्याओं से अवगत कराया जाएगा। व्यापारियों ने अंगवस्त्र भेंटकर विधायक सुदेश राय का सम्मान कर आभार व्यक्त किया। 

कोई टिप्पणी नहीं: