टाटा मुख्य अस्पताल में हुआ डॉ वीरेंद्र सेठ का निधन, सांस लेने में हो रही थी परेशानी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 2 जून 2020

टाटा मुख्य अस्पताल में हुआ डॉ वीरेंद्र सेठ का निधन, सांस लेने में हो रही थी परेशानी

जमशेदपुर टाटा मेन अस्पताल में डॉक्टर वीरेंद्र सेठ का निधन हो गया. उन्हें सांस लेने मे परेशानी और बुखार होने की वजह से टीएमएच में भर्ती कराया गया था. जहां इलाज के दौरान उनका निधन हो गया. उनके निधन पर सूबे के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने दुख जताया है.
dr-virendra-seth-passes-away
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता)  पूर्वी सिंहभूम के डुमरिया प्रखंड के सामुदायिक हेल्थ सेंटर में कार्य कर रहे डॉक्टर वीरेंद्र सेठ का निधन हो गया. सोमवार की सुबह टाटा मेन अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली. उन्हें शुक्रवार को टीएमएच में एडमिट कराया गया था.  डॉक्टरों के मुताबिक उन्हें हार्ट अटैक, सांस लेने में परेशानी, अस्थमा की शिकायत थी. डॉक्टर के कोरोना वायरस की जांच के लिए भी सैंपल लिया गया था, लेकिन जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है. वहीं, मृतक डॉक्टर बुंडू के रहने वाले थे. इसके साथ ही इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष भी थे. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने ट्वीट कर कहा कि डॉक्टर के अस्पताल में भर्ती होने के उपरांत चिकित्सक से मिलने स्वास्थ्य मंत्री टाटा मेन अस्पताल पहुंचे थे. स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट में लिखा कि डॉ वीरेंद्र सेठ के निधन से दुखी हूं. उन्होंने सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि उनके इलाज में जो भी खर्च हुआ है. उसका वहन स्‍वास्‍थ्‍य विभाग करेगा, इसके साथ ही उनकी अंत्‍येष्टि का इंतजाम करें. इस दुख की घड़ी में स्‍वास्‍थ्‍य विभाग उनके परिवार के साथ खड़ा है.

कोई टिप्पणी नहीं: