बिहार : तेजस्वी यादव मोकामा टाल क्षेत्र के घोसवरी पहुंचे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 1 जून 2020

बिहार : तेजस्वी यादव मोकामा टाल क्षेत्र के घोसवरी पहुंचे

tejaswi-reach-mokama-tall-ghoswari
पटना (आर्यावर्त संवाददाता)  कोरोना काल में चार चरण में लॉकडाउन किया गया. इस दौरान अपराधियों का तांडव थमने का नाम नहीं लिया. आए दिन अपराधी बेखौफ होकर वारदात को अंजाम देते रहे.गोपालगंज में गोलीमार कर ट्रिपल मडर को अंजाम तक पहुंचा गया और मोकामा टाल क्षेत्र में डबल मडर पीट- पीट कर हत्या कर दी.ट्रिपल मडर और डबल मडर का मामला प्रकाश में आया मगर रामजीचक नहर के किनारे व दीघा एलिवेटेड रोड के नीचे झोपड़पट्टी में रहने वाले ज्वाला मांझी की हत्या पीट-पीट करने का मामला अंधकार में ही रह गया. दीघा थाना के बगल में ही झोपड़पट्टी है. मोकामा टाल क्षेत्र में डबल घटना के बारे में बताया जा रहा है कि दोनों युवकों की पीट-पीटकर हत्या की गई है. दोनों के शरीर पर पिटाई के निशान है. ग्रामीण जब सुबह काम पर जा रहे थे तो दोनों युवकों का शव देखा तो पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने मृतकों की पहचान कर ली है. मृतक रामनगर मुसहरी के देवव्रत मांझी और सोल्जर मांझी के रूप में हुई है. दोनों मजदूरी कर अपना घर चलाते थे. राजधानी पटना से सटे घोसवरी थाना क्षेत्र के रामनगर गांव के समीप टाल इलाके में महादलित समुदाय के दो युवकों की निर्मम हत्या कर दी गई.वारदात के बाद आरोपितों ने दोनों का शव फेंक दिया. मृतकों की पहचान सोल्जर कुमार (18) पिता गणेश मांझी और देवब्रत कुमार उर्फ गोलू (17) पिता संजय मांझी के रूप में हुई है.रविवार को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पीड़ित के घर रामनगर पहुंचे और पीड़ित परिवारों को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया. दोनों युवक घोसवरी के रामनगर के रहने वाले थे.वारदात के पीछे मारे गये युवकों की लाउडस्पीकर बजाने को लेकर कुछ लोगों से हुये विवाद कोअहम कारण माना जा रहा है.तनाव को देखते हुए पुलिस पूरे मामले पर नजर रखते हुए आरोपितों की तलाश में जुटी है. बताया गया है कि मृतक दोनों युवक शुक्रवार की शाम क्रिकेट खेलकर घर आए थे. फिर शौच के लिए खेत गये थे.उसके बाद से ही दोनों संदिग्ग्ध स्थिति में गायब हो गये. रातभर घरवालों ने खोजबीन शुरू की लेकिन पूरी रात दोनों का पता नहीं चला. शनिवार सुबह कुछ लोगों ने मधवा टाल के गड्ढे में दोनों युवकों का शव देखा.दोनों की नृशंस हत्या की गई थी. उनके शरीर पर गम्भीर चोट के निशान थे.घटनास्स्थल पर मौजूद लोग पिटाई के बाद दोनों की गला घोंटकर मारने की आशंका व्यक्त कर रहे थे. दोनों युवकों का कुछ कपड़ा रामनगर गांव स्थित एक बगीचे से बरामद हुआ है. साथ ही वहां कुछ अन्य लोगों के जूते- चप्पल मिलने की भी सूचना है, जिसे हमलावरों का माना जा रहा है. स्थानीय लोगों और पुलिस को संदेह है कि दोनों की पिटाई बगीचे में की गई और शव को मधवा टाल में ठिकाने लगाकर हमलावर भाग गये.एक साथ रामनगर के दो युवकों की निर्मम हत्या होने से इलाके में सनसनी फैल गई. विशेषकर महादलित बस्ती के लोग काफी भयभीत दिखे.मृतकों के घर में परिजनों की चीख-पुकार से कोहराम मच उठा. स्थानीय लोगों का कहना है कि कुछ दिन पहले मृतक युवकों द्वारा घर पर लाउडस्पीकर बजाने को लेकर गांव के ही कुछ लोगों से विवाद हुआ था. आशंका जाहिर की जा रही है कि जिन लोगों ने सबक सिखाने की चेतावनी दी थी उन लोगों ने ही दोनों की हत्या की. घटना की सूचना पर  एसएसपी उपेंद्र शर्मा, ग्रामीण एसपी कांतेश मिश्रा, एएसपी बाढ़ अंबरीश राहुल दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और मामले की जांच की. उधर लॉकडाउन में अपराधियों ने बेखौफ होकर दीघा एलिवेटेड रोड के नीचे झोपड़पट्टी में रहने वाले ज्वाला मांझी को पीट- पीट कर हत्या कर दी.पीट- पीट कर अर्धमरा हो जाने के बाद बदमाश ज्वाला मांझी को छोड़कर भाग गये. पीएमसीएच में इलाज के दौरान ज्वाला मांझी दम तोड़ दिया.वह 37 साल का था.

कोई टिप्पणी नहीं: