सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 16 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 16 जुलाई 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 16 जुलाई

संस्कृत भाषा, साहित्य और संस्कृति को बढावा देने की पहल
  • - इंग्लिश की जगह संस्कृत में होंगे अभिवादन।
  • - संस्कृत सप्ताह 31 जुलाई से 6 अगस्त तक होंगे आयोजन।
सीहोर। संस्कृत भाषा, साहित्य और संस्कृति को बढावा देने के लिए संस्कृत सप्ताह का आयोजन किया जाएगा। 31 जुलाई से 6 अगस्त तक इसमें अनेक गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। संस्कृृत भारती जिला सीहोर द्वारा गूगल मीट पर आयोजित की गई जिला बैठक में विभाग संयोजक नरवरसिंह पंवार ने बैठक में उपस्थित सभी को जानकारी देते हुए बताया कि 31 जुलाई को अभिवादन दिवस के रूप में इसका शुभारंभ किया जायेगा। इसमें अभिवादन के लिए इंग्लिश शब्दों की जगह संस्कृत के शब्दों को प्रचलन में लाने का प्रयास किया जाएगा। संस्कृत सप्ताह को लेकर बनी योजना की समीक्षा प्रांत संगठनमंत्री नीरज दीक्षित ने करते हुऐ बताया कि संस्कृत सप्ताह का शुभारंभ 31 जुलाई को अभिवादन दिवस से होगा। इसमें संस्कृत निष्ठ शब्दों को बतौर अभिवादन प्रचलन मे लाने का प्रयास किया जाएगा। इसमें नमो नमः, सुप्रभात, शुभ संध्या, शुभ मध्यान्ह, शुभरात्रि शामिल है भारतीय त्यौहार, जन्मदिवस, विवाह दिवस आदि विशेष अवसरों पर शुभकामनाएॅं भी संस्कृत में प्रेषित करेंगे। इसी प्रकार एक सप्ताह तक विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जायेगा।

इस प्रकार से होंगे कार्यक्रमः
संस्कृत भाषा, साहित्य और संस्कृति को बढावा देने के लिए होने वाले कार्यक्रमों की श्रंृखला में 1 अगस्त को भारतीय बौद्धिक संपदा के अन्तर्गत संस्स्कृत भाषा के वैज्ञिानिक स्वरूप् और प्रासंगिकता जैसे आठ बिन्दुओं पर लेखन कार्य होगा। 2 अगस्त को संस्कृत के सामाजिक स्वरूप के मूल्यांकन के लिए प्रश्न माला कार्यक्रम होगा। 3 अगस्त को संस्कृत और संस्कार निष्ठ आचरण और व्यवहार कार्यक्रम में संस्कृत को व्यवहारिक रूप् प्रदान करने की पहल होगी। 4 अगस्त को संस्कृत विषय पर केन्द्रित संभाषण, लघु संवाद एवं लघु नाट्कों का मंचन करके वीडियों अपलोड किए जायेंगे। 5 अगस्त को विषय विशेषज्ञों के व्याख्यान और 6 अगस्त को समापन किया जावेगा। उक्त आशय की जानकारी विभाग संयोजक नरवर सिंह पंवार ने गूगल मीट बैठक में दी।

इनको दी गई जिम्मेदारी:
संस्कृत सप्ताह में गतिविधि आॅन लाइन ही होनी है इस में प्रत्येक बिन्दुओं पर कार्य मूर्तरूप् ले सके इस उद्देश्य से विकासखण्ड प्रभारी बनाये गए है। प्रत्येक दिवस के लिए प्रभारी बनाए गए है जिसमें जितेन्द्र राठौर, सीहोर व आष्टा नगर, ओमप्रकाश सेन इछावर व बुधनी, मनोज तिवारी नसरूल्लागंज नगर व ग्रामीण, पवन शर्मा को आष्टा ग्रामीण व जावर तहसील, राकेश सिंह ठाकुर को सीहोर व श्यामपुर तहसील की जिम्मेदारी दी गई ह।। संभाषण प्रदर्शनम् एवं नाट्य प्रदर्शनम् के लिये ज्ञानप्रकाश मिश्रा व व्याख्यानमाला के लिए धर्मेन्द्र पाटीदार को प्रभारी बनाया गया है। संस्कृत भारती प्रांत संगठन मंत्री नीरज दीक्षित ने सभी दायित्ववान कार्यकर्ताओं सहित संस्कृत अनुरागियों से इस मौके पर आग्रह किया है कि संस्कृत भाषा बोलचान में लाई जा सके इसके लिए संस्कृत सप्ताह के आयोजन में सहभागी बने क्योकि प्रचीनकाल में श्रवण पूर्णिमा से ही विद्याध्ययन प्रारंभ होता था। संस्कृत भारती सीहोर जिला संयोजक राकेश सिंह ठाकुर ने बताया कि संस्कृत भारती मध्यभारत प्रांत द्वारा दिनांक 21 जुलाई से 30 जुलाई तक दस दिवसीय आॅन लाईन संस्कृत संभाषण वर्ग का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें जो भी संस्कृत सम्भाषण सीखना चाहते है वे गूगल फार्म के माध्यम से पंजीयन करा सकते है। यह निःशुल्क वर्ग रहेगा। लिंक प्राप्त करने के लिए निम्न नंबरों से प्राप्त कर सकते है। 

ऑल इंडिया दलित एक् शन कमेटी महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष बनी श्रीमती मालवीय

sehore news
सीहोर। ऑल इंडिया दलित एक् शन कमेटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ चीनारामू के निर्देश पर प्रदेशाध्यक्ष राहुल जाटव ने संभागीय अध्यक्ष हरीश कौशल ऑल इंडिया दलित एक् शन कमेटी महिला मोर्चा की संभागीय अध्यक्ष अनिता भडेरिया की अनुशंसा पर समाजसेवी श्रीमती संतोष मालवीय को ऑल इंडिया दलित एक् शन कमेटी महिला मोर्चा की सीहोर जिलाध्यक्ष नियुक्त किया है। नवनियुक्त जिलाध्यक्ष श्रीमति मालवीय ने कहा की समाज की महिलाओं के लिए काम किया जाएगा। पीडि़त महिलाओं को न्याय दिलाया जाएगा। श्रीमति मालवीय की नियुक्ति पर इंडिया दलित एक् शन कमेटी जिलाध्यक्ष श्ररण बाल्मिकी, ग्रामीण अध्यक्ष मूलचंद्र छाया,सुरेश मालवीय, मु केश मालवीय, राजेश प्रजापति, लोकेश भडेरिया, दिव्या मालवीय, सम्राट मालवीय दुर्गेश मालवीय आदि कार्यकर्ताओं ने वरिष्टजनों का आभार व्यक्तकर श्रीमति मालवीय को बधाई दी है।

बिना पूर्व इत्तला के उजाड़ दिया प्रशासन ने दलित का घर खेत में खड़ी सोयाबीन की फसल को भी कर दिया तबाह

sehore news
सीहोर। अल्हादाखेड़ी पहुंचकर सूने दलित के घर को गुरूवार दोपहर में प्रशासन ने निशाना बना दिया। बिना पूर्व इत्तला के गरीब के घरोंदे को जेसीबी मशीन से नेस्तानाबूत कर दिया। प्रशासन का अमला यही नही रूका घर के पीछे खेत में खड़ी सोयाबीन की फसल और फल फूलदार वृक्षों सहित कृषि उपयोगी सामग्री को भी जेसीबी मशीन चलाकर तबाह कर दिया। ग्राम अल्हादाखेड़ी में निवासरत हरि प्रसाद मालवीय पुत्र देवा जी अपने पुत्र संतोष, निर्दोष के साथ बीते कई सालों से इछावर रोड डाईड के पास स्थित भूमि पर कृषि कार्य कर अपने परिवार का पालन पौषण कर रहे है। भूमि को लेकर कोर्ट में विवाद चला है न्यायालय आयुक्त भोपाल कोर्ट ने हरि प्रसाद के पक्ष में हीं निर्णय सुनाया है। तत्कालीन एसडीएम सीहोर ने भी जांच में केशव कुमार पुत्र गेंदालाल को कूट रचित दस्तावेज बनाने का दौषी पाया गया था जिस के प्रमाण फरियादी के पास मोजूद है। ग्राम पंचायत अल्हादाखेड़ी के द्वारा भी लिखित में हरि प्रसाद को भूमि का कब्जादार बताया है बावजूद इस के गुरूवार को नायब तहसीलदार शैफाली जैन, पटवारी निलेश यादव गिरदावर सहित राजस्व अमले और पुलिस के साथ पहुंचे और सूने मकान को जेसीबी मशीन चलाकर गिरा दिया। इस समय पीडि़त हरि प्रसाद का परिवार गांव में की जा रही सत्ताजी में शामिल होने गया था वापस आकर देखा तो परिवार की महिलाओं के पेरो के नीचे से जमीन ही खिसक गई। हरि प्रसाद की पत्नि ललता बाई ने काम पर गए बेटे संतोष और निर्दोष को मोबाईल के जरिया मकान गिराने और खेत में खड़ी सोयाबीन की फसल सहित संतरे नीबूं अमरूद आम के वृक्षों को तोड़े जाने की सूचना दी। पीडि़त हरि प्रसाद मालवीय ने बताया की गांव का चौकीदार श्यामलाल पुत्र गनपत जमीन को जबरन अपनी बताता है। केशव भी भूमि पर अपना दावा जता रहा था। उन्होने कहा की बीते पचास सालों से इस भूमि पर हम खेती कर रहे है मकान भी हमारा था तहसील में मामला विचाराधीन है। प्रशासन ने  बिना पूर्व सूचना के मकान तोड़ दिया है परिवार के सदस्य अब सड़क पर आ गए है। हरि प्रसाद ने कहा की अगर सरकार के द्वारा संबंधित राजस्व अधिकारियों पर सख्त कार्रवाहीं नही की जाती है तो परिवार के साथ जहर खाकर जीवनलीला समास्त करने के लिए विवश होंगे।

जिले में आज 15 व्यक्तियों की कोरोना जांच पॉजीटिव आई, कुल एक्टिव/पजीटिव व्यक्तियों की संख्या 63 हुई
  • आज 4 व्यक्ति स्वस्थ होने के उपरांत कोविड केयर सेंटर से डिस्चार्ज किए गए
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि आज 15 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। 15 व्यक्तियों में 9 पुरूष और 6 महिला शामिल है। पॉजीटिव में नसरूल्लागंज के 6 व्यक्ति जिसमें नसरूल्लागंज के भैयालाल कालोनी निवासी 4 व्यक्ति, सीहोर नाका नसरूल्लागंज के 2 व्यक्ति, इछावर विकासखण्ड से कुल 3 व्यक्ति जिसमें वार्ड नंबर 3 इछावर, सुभाष चंद्र बोस वार्ड एवं पटेल वार्ड इछावर से 1-1 व्यक्ति, विकासखण्ड आष्टा को कालोनी चौराहा से 2 व्यक्ति, वार्ड नंबर 1 अलीपुर से 1 व्यक्ति तथा आष्टा शहरी क्षेत्र इदगाह कालोनी  से 1 व्यक्ति शामिल है। सीहोर के तलैया क्षेत्र से तथा बुदनी  के वार्ड नंबर 01 से 1-1 व्यक्ति शामिल है। जिले में कोरोना संक्रमित एक्टिव अथवा पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या वर्तमान में 63 है। आज आष्टा निवासी 4 व्यक्तियों को कोरोना पॉजीटिव के उपरांत स्वस्थ होने पर कोविड केयर सेंटर से डिस्चार्ज किया गया है। जिले में कोरोना संक्रमण के उपरांत स्वस्थ होने के उपरांत घर भेजे गए व्यक्तियों की संख्या 21 हो गई है। 3 कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की मृत्यु उपचार के दौरान हुई है। जिसमें सीहोर निवासी एक महिला एवं अहमपुद निवासी 1 पुरूष की मृत्यु भोपाल में उपचार के दौरान हुई है तथा आष्टा निवासी 1 व्यक्ति की मृत्यु इंदौर में उपचार के दौरान हुई है।

सैम्पलः -आज 75 व्यक्तियों के कोरोना जांच हेतु सैम्पल लिए गए है। जिसमें नसरूल्लागंज क्षेत्र से 15 , आष्टा के 03 , बुदनी से 2, रेहटी के 5 सैम्पल, इछावर से 14 तथा  सीहोर के 40 सैम्पल शामिल है। जिले में कुल एक्टिव कंटेनमेंट एरिया की संख्या 21 है।

स्वास्थ्य,सर्वे/फॉलोअपः- प्रशासनिक स्तर पर प्रस्तावित तथा सक्रिय सभी कंटेनमेंट एरिया में स्वास्थ्य सर्वे प्रारंभ कर दिया गया है। सघन स्वास्थ्य सर्वे के लिए प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में दो से तीन दल लगाए गए है। पॉजीटिव मिले सभी व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की सूची तैयार कर कोरोना जांच के लिए उनकी पहचान की जा रही है। इधर कस्बा के दीवान बाग मे बनाए गए कंटेनमेंट एरिया में 40 घरों का स्वास्थ्य सर्वे कर 212 व्यक्तियों के स्वास्थ्य का फॉलोअप लिया गया। वहीं बफर जोन में 48 घरों का सर्वे कर 227 व्यक्तियों के स्वास्थ्य का फॉलोअप लिया गया। वहीं सीहोर के वार्ड नंबर 14 करोली वाली माता मंदिर एरिया में 2 स्वास्थ्य दलों द्वारा 51 घरों का सर्वे कर 279 व्यक्तियों का स्वास्थ्य फॉलोअप लिया गया वहीं बफर जोन में 118 घरों का स्वास्थ्य सर्वे कर 477 व्यक्तियो के स्वास्थ्य का फॉलोअप लिया गया। सीहोर मंडी क्षेत्र के वार्ड नंबर 23 कंटेनमेंट एरिया में आज 17 घरों का सर्वे कर 113 व्यक्तियों के स्वास्थ का फॉलोअप लिया गया वहीं बफर एरिया में 48 घरों का सर्वे कर 303 व्यक्तियों के स्वास्थ्य का फॉलोअप लिया गया। आष्टा के वार्ड नंबर 1 जैन मंदिर क्षेत्र कंटेनमेंट एरिया में आज स्वास्थ्य सर्वे दलों द्वारा 66 घरों का सर्वे कर 358  व्यक्तियों के स्वास्थ का फॉलोअप लिय गया वहीं बफर जोन में 11 घरों का सर्वे कर 64 व्यक्तियों का स्वास्थ्य फॉलोअप लिया गया। वहीं  आष्टा के अलीपुर वार्ड नंबर 2 कंटेनेमेंट एरिया में आज सर्वे दल द्वारा 23 घरों का सर्वे कर 117 व्यक्तियों के स्वास्थ्य का परीक्षण किया तथा फॉलोअप लिया। इछावर षहरी क्षेत्र के कंटेमेंट एरिया वार्ड नंबर 6 में आज दो सर्वे दलों द्वारा 25 घरों का सर्वे कर 103 व्यक्तियों के स्वास्थ्य की जानकारी प्राप्त की गई वही श्यामपुर विकासखण्ड के अहमपुर कंटेनमेंट एरिया में 84 घरों का स्वास्थ्य सर्वे कर 359 व्यक्तियों का स्वास्थ्य फॉलोअप लिया गया है।जिले में अन्य देशों से सीहोर पहुंचे कुल व्यक्तियों की संख्या 232 है जिनमें से 184 लोगों की अब तक स्क्रीनिंग स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा चुकी है। पिछले 24 घंटों के दौरान एक भी ऐसे व्यक्ति की पहचान नहीं की गई जो अन्य राज्यों और अन्य जिलों से लौटे थे। जिले में अब तक होम कोरेंटाईन किए गए व्यक्तियों की संख्या 43913 है। डॉ. डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान ऐसे व्यक्ति जो विदेश से सीहोर जिले में नहीं लौटे थे परंतु अन्य जिलों एवं राज्यों से लौटे थे और विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा घर-घर सर्वे के दौरान चिन्हित किए गए। अब तक कुल 43913 व्यक्तियों का होम कोरेंटाइन पूर्ण किया जा चुका है। जिले में कुल कोराना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 87 है जिसमें से 3 की मृत्यु हो चुकी है 21 स्वस्थ्‍ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में 63 पॉजीटिव व्यक्तियों का उपचार चल रहा है। जिले से अब तक कुल 2247 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 1848 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। अभी तक हास्पिटल आईसोलेशन में भर्ती मरीजों की कुल संख्या 14 है। 283 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 29 है। वहीं विदेश से आए यात्री जो गृह जिला या निवासरत जिला में वापस नहीं आए उनकी संख्या 48 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104  नंबर पर ई-परामर्ष सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई-संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.inकराया जा सकता है। कलेक्टेªट कार्यालय सीहोर में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है।  

कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए कलेक्टर ने धारा 144 के तहत जारी किए आदेश
  • सार्वजनिक स्थलों पर नहीं होगा धार्मिक कार्य, त्यौहारों का आयोजन
कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम और बचाव के लिये राज्य शासन द्वारा जारी नवीन दिशा-निर्देशों के तहत कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री अजय गुप्ता ने दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अंतर्गत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए है। जारी आदेश के तहत कोई भी धार्मिक कार्य/त्यौहार का आयोजन सार्वजनिक स्थलों पर नहीं किया जायेगा और न ही कोई धार्मिक जुलूस या रैली निकाली जायेगी। सार्वजनिक स्थानों पर किसी प्रकार की मूर्ति, झाँकी आदि स्थापित नहीं की जायेगी। आमजन अपने-अपने घरों में ही पूजा-अर्चना करेंगे। इसी प्रकार धार्मिक/उपासना स्थलों पर कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिये एक समय में 5 से अधिक व्यक्ति इकट्ठे नहीं होंगे। साथ ही उपासना स्थलों पर फेस कवर एवं सोशल डिस्टेंसिंग के मानकों का कड़ाई से पालन किया जाना सुनिश्चित किया जायेगा। विवाह समारोह में मेहमानों की संख्या 20 से अधिक नहीं होगी। इसमें वर एवं वधु पक्ष के अधिकतम 10-10 व्यक्ति सम्मिलित हो सकेंगे। इसी प्रकार किसी पारिवारिक कार्यक्रम यथा जन्म-दिन सालगिरह आदि समारोह में भी 10 से अधिक व्यक्ति सम्मिलित नहीं होंगे। अंतिम संस्कार से संबंधित कार्यक्रमों में पूर्ववत् अधिकतम 20 व्यक्ति सम्मिलित हो सकेंगे। यह आदेश तत्काल प्रभाव से आगामी आदेश तक प्रभावशील रहेगा। इस आदेश का उल्लंघन करने पर भादवि की धारा 188 के तहत दण्डनीय कार्यवाही की जाएगी।

नगरीय निकायें में साफ-सफाई, शुद्ध पेयजल एवं विद्युत व्यवस्था के लिए अभियान चलाने के संबंध में कलेक्टर ने दिए निर्देश

कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा समस्त अनुविभागीय अधिकारी एवं समस्त मुख्य नगरपालिका, नगरपंचायत अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि नगरीय निकायों में साफ-सफाई, शुद्ध पेयजल व्यवस्था एवं विद्युत व्यवस्था के लिए 27 जुलाई तक विशेष अभियान चलाकर कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। इस अभियान के दौरान वित्तीय आवश्यकता की पूर्ति राजस्व संग्रहण यथा संपत्तिकर, जलकर आदि की वसूली के लिए भी कार्यवाही की जाए। सभी अपने-अपने अनुभाग, निकाय क्षेत्र में संभाग आयुक्त के निर्देशानुसार कार्यवाही करना सुनिश्चित करें एवं कार्यवाही कर कलेक्टर कार्यालय को अवगत कराएं।   

ज्ञानपुंज योजना अन्तर्गत चयन हेतु इच्छुक उम्मीदवारों की जानकारी भेजने की अंतिम तिथि 24 जुलाई

जिला शिक्षा अधिकारी श्री एसपीसिंह बिसेन ने समस्त विकासखंड शिक्षा अधिकारियों एवं प्राचार्यों को निर्देशित किया है कि ज्ञानपुंज योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए ज्ञानपुंज दल का गठन किया जाएगा। स्वीकृत 9 पदों पर ज्ञानपुंज दल का गठन मापदंड अनुसार विषयवार किया जाएगा। उन्होंने निर्देशित किया है कि योग्य, कम्प्युटर कार्य में दक्ष एवं इच्छुक व्यख्याता, उच्च माध्यमिक शिक्षक, वरिष्ठ शिक्षक, वरिष्ठ अध्यापक, जिनका स्नातकोत्तर में विषय अंग्रेजी, गणित भौतिकी, रसायन, जीव विज्ञान, संस्कृत, हिन्दी अथवा (कला समूह के विषय ऐसा व्याख्याता, उच्च माध्यमिक शिक्षक, वरिष्ठ शिक्ष, वरिष्ठ अध्यापक जिसके स्नातकोत्तर स्तर पर इतिहास, नागरिक शास्त्र एवं अर्थव्यवस्था, भूगोल विषय रहे हों) से आवेदन प्राप्त कर 24 जुलाई 2020 को अपरान्ह 5 बजे तक समस्त जानकारी भेजना सुनिश्चित करें।      

जिले में अब तक 365.7 मि.मी. औसत वर्षा

जिले में आज 16 जुलाई, 2020 की प्रात:8 बजे समाप्त पिछले चौबीस घन्टों में 9.2 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। इसे मिलाकर 1 जून से अभी तक जिले में 365.7 मि.मी औसत बारिश रिकार्ड की जा चुकी है जबकि गत वर्ष इस अवधि में 288.2 मि.मी बारिश रिकार्ड की गई थी। अधीक्षक, भू-अभिलेख से मिली जानकारी के अनुसार पिछले चौबीस घन्टों में सीहोर में 1.2, आष्टा में 4, जावर में 0.4, इछावर में 4, नसरुल्लागंज में 23, बुधनी में 3, रेहटी में 38 मिमी बारिश दर्ज की गई है। जबकि श्यामपुर में वर्षा की स्थिति शून्य रही। आंकड़ों के मुताबिक जिले में अभी तक सीहोर में 389.5, श्यामपुर में 274, आष्टा में 364.6, जावर में 333.6, इछावर में 307.5, नसरुल्लागंज में 397, बुदनी में 345 एवं रेहटी में 514.6 मिमी बारिश दर्ज की गई है। गत वर्ष इस अवधि में सीहोर में 246.7, श्यामपुर में 253, आष्टा में 331, जावर में 170, इछावर में 334, नसरुल्लागंज में 409, बुधनी में 236 रेहटी में 329.6 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई थी।    

कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत नागद्वारी मेला स्थगित

कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के दृष्टिगत होशंगाबाद जिले के पचमढ़ी में 16 जुलाई से 25 जुलाई तक नागद्वारी मेला आयोजन को स्थगित किया गया है। कलेक्टर ने बताया है कि नागद्वारी मेले में प्रदेश के बैतूल, हरदा, बालाघाट, नरसिंहपुर, रायसेन, सीहोर, छिंदवाड़ा, बुरहानपुर, खरगोन, खंडवा व महाराष्ट्र राज्य के जिले जैसे नागपुर, अमरावती, वर्धा, पुणे, जलगांव, अकोला सहित अन्य जिलो से अत्यधिक संख्या में श्रद्धालुगण नागद्वारी मंदिर में दर्शन हेतु आते है। वर्तमान में जिले में धारा 144 लागू है तथा कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत इस वर्ष नागद्वारी मेला को स्थगित रखे जाने का निर्णय लिया गया है। होशंगाबाद कलेक्टर ने पत्र के माध्यम से संबंधित जिलों के कलेक्टर से अनुरोध किया है कि वे अपने-अपने जिले में संचार माध्यमों, सोशल मीडिया के माध्यम नागद्वारी मेला बंद रहने की सूचना का प्रचार-प्रसार कराना सुनिश्चित करे ताकि श्रद्धालुजन नागद्वारी मेले के लिए प्रस्थान न करे और उन्हें परेशानी का सामना न करना पड़े।      

उत्सवों पर सार्वजनिक झांकियां नहीं लगाई जाएंगी

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए उत्सवों पर सार्वजनिक झाकियां नहीं लगाई जाएंगी। धार्मिक  स्थलों, उपासना स्थलों पर एक बार में 5 से अधिक व्यक्ति इकट्ठे नहीं होंगे। शादी, सगाई आदि में दोनों पक्षों के 10-10 व्यक्ति से अधिक सम्मिलित नहीं होंगे। जन्मदिन आदि उत्सवों में 10 से अधिक व्यक्ति शामिल नहीं होंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि कोरोना संक्रमण रोकने के लिए घर पर ही आगामी त्यौहार मनाएं। देव प्रतिमा घर पर ही स्थापित कर पूजा-अर्चना करें। सार्वजनिक स्थलों पर प्रतिमा स्थापित करने, त्योहार मनाने की अनुमति नहीं होगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश के सभी संभागायुक्तों के साथ कोरोना की स्थिति की समीक्षा की। सभी ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि उनके जिलों में क्राइसिस मैनेजमेंट समूह की बैठकों में यह सुझाव आया है कि आगामी त्यौहार सार्वजनिक रूप से मनाए जाने से संक्रमण फैलने का खतरा है, अत: त्यौहार घर पर ही मनाए जाएं।

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए शासन ने नई गाइड लाइन जारी की 

अपर  मुख्य सचिव गृह विभाग ने प्रदेश के सभी कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारियों को कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम एवं बचाव हेतु आवश्यक दिशा- निर्देश जारी किए हैं। जारी निर्देशों में कहा गया है कि कोई भी धार्मिक कार्य, त्योहार का आयोजन सार्वजनिक स्थलों पर नहीं किया जाएगा ना ही कोई धार्मिक जुलूस या रैली निकाली जाएगी। साथ ही सार्वजनिक स्थानों पर किसी प्रकार की मूर्ति, झांकी आदि स्थापित नहीं की जाएगी। सर्व संबंधितों  से अपेक्षा है कि अपने-अपने घरों में पूजा, उपासना करेंगे। धार्मिक, उपासना स्थलों पर कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक है कि एक समय में 5 से अधिक व्यक्ति कट्ठे ना हो साथ ही उपासना स्थलों पर फेस कवर एवं सोशल डिस्टेंसिंग के मानकों का कड़ाई से पालन किया जाना सुनिश्चित किया जाए। विवाह समारोह में मेहमानों की संख्या 20 से अधिक नहीं होगी इससे वर एवं वधू पक्ष के अधिकतम 10-10 व्यक्ति सम्मिलित हो सकेंगे इसी प्रकार किसी पारिवारिक कार्यक्रम यथा जन्मदिन सालगिरह आदि समारोह में 10 से अधिक व्यक्ति सम्मिलित नहीं होंगे। अंतिम संस्कार से संबंधित कार्यक्रमों में अधिकतम 20 व्यक्ति सम्मिलित हो सकेंगे। उपरोक्त निर्देशों का कड़ाई से पालन किए जाने हेतु कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी द्वारा अपने अपने क्षेत्राधिकार में धारा 144 दंड प्रक्रिया संहिता के अंतर्गत आवश्यक आदेश पारित किए जाएं।

कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए कलेक्टर ने धारा 144 के तहत जारी किए आदेश सार्वजनिक स्थलों पर नहीं होगा धार्मिक कार्य, त्यौहारों का आयोजन

कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम और बचाव के लिये राज्य शासन द्वारा जारी नवीन दिशा-निर्देशों के तहत कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री अजय गुप्ता ने दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अंतर्गत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए है। जारी आदेश के तहत कोई भी धार्मिक कार्य/त्यौहार का आयोजन सार्वजनिक स्थलों पर नहीं किया जायेगा और न ही कोई धार्मिक जुलूस या रैली निकाली जायेगी। सार्वजनिक स्थानों पर किसी प्रकार की मूर्ति, झाँकी आदि स्थापित नहीं की जायेगी। आमजन अपने-अपने घरों में ही पूजा-अर्चना करेंगे। इसी प्रकार धार्मिक/उपासना स्थलों पर कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिये एक समय में 5 से अधिक व्यक्ति इकट्ठे नहीं होंगे। साथ ही उपासना स्थलों पर फेस कवर एवं सोशल डिस्टेंसिंग के मानकों का कड़ाई से पालन किया जाना सुनिश्चित किया जायेगा। विवाह समारोह में मेहमानों की संख्या 20 से अधिक नहीं होगी। इसमें वर एवं वधु पक्ष के अधिकतम 10-10 व्यक्ति सम्मिलित हो सकेंगे। इसी प्रकार किसी पारिवारिक कार्यक्रम यथा जन्म-दिन सालगिरह आदि समारोह में भी 10 से अधिक व्यक्ति सम्मिलित नहीं होंगे। अंतिम संस्कार से संबंधित कार्यक्रमों में पूर्ववत् अधिकतम 20 व्यक्ति सम्मिलित हो सकेंगे। यह आदेश तत्काल प्रभाव से आगामी आदेश तक प्रभावशील रहेगा। इस आदेश का उल्लंघन करने पर भादवि की धारा 188 के तहत दण्डनीय कार्यवाही की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं: