तेजस्वी का तंज, धूल चेहरे पर जमी है और वो आइने बदल रहे हैं - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 27 जुलाई 2020

तेजस्वी का तंज, धूल चेहरे पर जमी है और वो आइने बदल रहे हैं

tejaswi-attack-nitish
पटना : बिहार में कोरोना संकट के बीच स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव के तबादले को लेकर तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर हमला बोलते हुए ट्वीट कर कहा कि माननीय मुख्यमंत्री जी, सबसे पहले अपने महा असफल स्वास्थ्य मंत्री को हटाइए। जिनके कार्यकाल में कितनी बहनों का सुहाग छिन गया, कितनी माँओं की कोख सूनी हो गयी। चमकी से लेकर कोरोना में उन्होंने लापरवाही और अगंभीरता की पराकाष्ठा पार की है। वाह! ताली आप बटोरिएगा और गाली प्रधान सचिव। तेजस्वी ने दूसरे ट्वीट में कहा कि धूल चेहरे पर जमी है और वो आइने बदल रहे है। बिहार इकलौता ऐसा प्रदेश है जहाँ कोरोना काल में स्वास्थ्य विभाग को तीसरा प्रधान सचिव मिला है। अब आपदा, स्वास्थ्य और ऊर्जा विभाग एक ही अधिकारी देखेंगे। बाक़ी सब शायद नाकाबिल है क्योंकि कारण सब जानते है।

नीतीश जी, काल कोठरी से निकलिए।
मालूम हो कि स्वास्थ्य विभाग के नए प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत के बारे में बताया जाता है कि वे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के भरोसेमंद अधिकारियों में से एक हैं। प्रत्यय अमृत नीतीश सरकार के भरोसेमंद अफसर माने जाते हैं, हाल के वर्षों में कई बार कठिन परिस्थितियों में उन्हें मोर्चे पर लगाया गया है। लेकिन, इस कोरोनाकाल में बिहार के स्वास्थ्य सचिव की कुर्सी कांटों का ताज बना हुआ है, क्योंकि स्वास्थ्य सचिव के परफॉर्मेंस पर मीडिया के साथ-साथ केंद्रीय टीम की भी नजर है। इस बदलाव के पीछे केंद्रीय टीम की नाराजगी भी एक कारण है। बिहार शायद देश का एकमात्र राज्य है जहां कोरोनाकाल के दौरान दो स्वास्थ्य सचिव नपे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: