विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 22 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 22 जुलाई 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 22 जुलाई

प्रभारी सचिव द्वारा समीक्षा 

vidisha news
राज्य शासन द्वारा कोरोना वायरस कोविड 19 की समीक्षा हेतु विदिशा जिले के लिए नियुक्त प्रभारी सचिव एवं आदिम जाति कल्याण विभाग के आयुक्त श्री बी चन्द्रशेखर बोरकर ने आज जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने, प्रभावित मरीजो के इलाज हेतु किए गए प्रबंधो के अलावा चिन्हित कोरोना पॉजिटिव मरीजो के कांटेक्ट ट्रेसिंग, कंटेनमेंट जोन के दायरे की बिन्दुवार समीक्षा की है।  प्रभारी सचिव श्री बोरकर ने विदिशा जिले में होम कोरोन्टाइन की मानिटरिंग में नवाचार करने पर बल देते हुए आरआर टीम निर्णय लें। उन्होंने बगैर मास्क के सार्वजनिक स्थलों पर किसी भी प्रकार की आवाजाही ना हो के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित किए जाए। उन्होंने मानव जीवन की सुरक्षा के लिए सोशल डिस्टेन्सिग पर बल देते हुए कहा कि जैसे पहले गोले बनाकर सोशल डिस्टेन्सिग का पालन किया जा रहा था ठीक वैसे ही कार्यवाही पुनः सम्पादित की जाए। उन्होंने कंटेनमेंट एरिया में आंतरिक सुरक्षा पर विशेष बल देते हुए कहा कि कंटेनमेंट एरिया के रहवासी भ्रमण कर आपस में सम्पर्क ना करें। उन्होंने मरीजो की काटेक्ट सूची के तहत पारिवारिक सम्पर्को की जो छानबीन की जा रही है। बाह्य सम्पर्क की भी सूची संधारित कर छानबीन के दायरे को बढाया जाए।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने प्रभारी सचिव को कोविड केयर सेन्टरों में किए गए प्रबंधो से अवगत कराया। खासकर अटल बिहारी वाजपेयी मेडीकल कॉलेज में संचालित हो रहे कोविड केयर सेन्टर में बुनियादी सुविधाओं के अंतर्गत किए गए प्रबंधो पर प्रकाश डाला। जिले में कोरोना वायरस संक्रमण के प्रभाव को कम करने के लिए इजाद की गई व्यवस्थाओं से अवगत कराया है। कलेक्टर द्वारा जिले में अब तक चिन्हित कोरोना पॉजिटिव की केस हिस्ट्री के संबंध में भी जानकारी दी। पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा ने सुरक्षा की दृष्टि से सोशल डिस्टेन्सिग का पालन तथा मास्क का उपयोग करने पर बल देने हेतु पुलिस द्वारा किए गए प्रबंधो से अवगत कराया है। एनआईसी के वीडियो कांफ्रेसिंग कक्ष में सम्पन्न हुई इस समीक्षा बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केसी अहिरवार भी मौजूद थे। 

प्रत्येक शनिवार और रविवार को सम्पूर्ण लॉक डाउन पर सहमति व्यक्त हुई
कोविड केयर सेन्टरों की निगरानी व व्यवस्था हेतु अधिकारियों को दायित्व
जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समिति की बैठक आज कलेक्टर डॉ पंकज जैन की अध्यक्षता में आयोजित की गई थी। जिसमें कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के संबंध में चर्चा कर निर्णयों पर आम सहमति व्यक्त की गई है। जिसमें प्रमुख रूप से विदिशा जिले में प्रत्येक शनिवार और रविवार दोनो दिवसों को सम्पूर्ण लॉक डाउन घोषित पर सहमति शामिल है।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा जिले के तीनो कोविड केयर सेन्टरों के लिए पृथक-पृथक अधिकारियों को निगरानी व सुव्यवस्थाओं के लिए दायित्व सौंपे है। अटल बिहारी वाजपेयी शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में संचालित कोविड केयर सेन्टर की सम्पूर्ण व्यवस्थाओं के लिए कॉ-आपरेटिव बैंक के सीईओ श्री विनय प्रकाश सिंह  का मोबाइल नम्बर 7089902700 को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। इसी प्रकार सिरोंज एवं लटेरी के कोविड केयर सेन्टर हेतु सहकारी संस्थाएं के उप पंजीयक श्री केके द्विवेदी का मोबाइल नम्बर 9424652412 तथा आरईएस के कार्यपालन यंत्री श्री शरद तंतुवाय को मोबाइल नम्बर 9009019221 को तथा बासौदा के कोविड केयर सेन्टर के लिए जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक श्री पीडी वंशकार का मोबाइल नम्बर 9893091046 को दायित्व सौंपा है। नियुक्त नोडल अधिकारी संबंधित कोविड केयर सेन्टरों में भर्ती मरीजो को शासन की मंशा के अनुरूप तमाम बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराए जाने के प्रबंधो का क्रियान्वयन करेंगे। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभाकक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में कुरवाई विधायक श्री हरि सिंह सप्रे, सिरोंज विधायक श्री उमाकांत शर्मा, बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन, शमशाबाद विधायक श्रीमती राजश्री रूद्रप्रताप सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी, नगरपालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन , भाजपा जिलाध्यक्ष श्री राकेश जादौन के अलावा समिति के अन्य सदस्यगण तथा पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा, जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे। जिले में सम्पूर्ण लॉकडाउन दिवस शनिवार, रविवार को सब्जी मंडी भी बंद रहेंगी पर भी समिति के सदस्यों द्वारा सहमति व्यक्त की गई है शेष अतिआवश्यक सेवाएं पूर्वानुसार नियत समयावधि तक संचालित हो सकेगी। जिले में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए मास्क और सोशल डिस्टेन्स पर विशेष बल दिया गया है। इसी प्रकार कंटेनमेंट जोन में बाहरी आवाजाही ना हो सकें के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। सिरोंज विधायक श्री उमाकांत शर्मा ने सिरोंज में कोरोना वायरस के बढते संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा जो जनहितैषी निर्णय लिए जा रहे है उनका क्रियान्वयन मानव हित में किया जाए। साथ ही स्थानीय नागरिकों, गणमान्य नागरिकों को विश्वास में लिया जाए। उन्होंने कोविड केयर सेन्टरों में तमाम प्रबंध बेहतर हो पर जोर देते हुए कहा कि जिम्मेवारी एक दूसरे पर ना टाली जाए। डाक्टर दो शिफ्टो में विजिट करें। इस दौरान प्रति मरीज के लिए भोजन, चाय, नाश्ता के लिए निर्धारित राशि सौ रूपए में वृद्वि करने पर भी सहमति व्यक्त की गई है। इसी प्रकार प्रत्येक कोविड केयर सेन्टर की डाइट मीनू का प्रदर्शन पर सहमति व्यक्त की गई है।   नगरपालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन ने कोरोना वायरस के संक्रमण को कम करने के लिए सामाजिक संगठनों को शामिल करते हुए जागरूकता कार्यक्रमों से संदेश देने साथ ही समाज के प्रमुख व्यक्तियों को 10 से 15 परिवारों की जिम्मेदारी सौंपने का सुझाव रखा है। इसी प्रकार विधायकों के द्वारा दिए गए सुझावों पर अमल कर निर्णय लेने पर आम सहमति बनी है।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के द्वारा समयावधि में संचालन बंद नही किया जाता है तो उनके खिलाफ पांच सौ रूपए जुर्माना व सोमवार को बंद रखने के निर्णय पर सहमति व्यक्त की गई है। इसी प्रकार दुकानो में व्यापारियों द्वारा मास्क का उपयोग किया जा रहा है कि नहीं तथा ग्राहकों को मास्क पहनने के बाद ही प्रवेश दिया जा रहा है कि नहीं इत्यादि की अब सघन जांच पड़ताल हेतु अन्य जिलाधिकारियें को दायित्व सौंपे गए हैं कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि रोको-टोको अभियान के अलावा अब गोपनीय तौर पर वीडियो बनाए जाएंगे जिनका उपयोग साक्ष्य के रूप में किया जाएगा।  बैठक में सोशल डिस्टेन्सिग पर विशेष बल देते हुए बैंकिंग संस्थानो के अलावा अनेक शासकीय कार्यालयों तथा आधार पंजीयन स्थलों पर अत्यधिक जनमानस का जमावडा ना हो के लिए विशेष प्रबंध सुनिश्चित करने पर सहमति व्यक्त की गई है।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा इस बैठक के पहले व्यापारिक संगठनों की बैठक आयोजित कर कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में सहयोगप्रद के लिए आपसी समन्वय से लिए जाने वाले निर्णयों पर विचार विमर्श किया है। उन्होंने कहा कि अंतिम निर्णय जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समिति के द्वारा लिया जाएगा।

शासकीय जिला चिकित्सालय विदिशा के कोंविड सेंन्टर में मरीजो को दी जाने वाली सुविधाओं में भारी अनियमिताये एवं लापरवाही - भार्गव 

vidisha news
विदिशाः- विधायक शशांक भार्गव ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान एवं प्रमुख्य सचिव स्वस्थ्य विभाग मध्यप्रदेश शासन एवं कलेक्टर विदिशा को पत्र लिखकर शासकीय जिला चिकित्सालय विदिशा अंतर्गत कांेविड सेंन्टर में व्याप्त भारी अनियमिताओं एवं लापरवाही कें संबंध में शासन प्रशासन को आगाह किया कि कोंविड मरीजो को दी जाने वाली चिकित्सकीय सुविधाये एवं उनके दिये जाने वाले भोजन में भारी अनियमिताये एवं लापरवाही बरती जा रही है जिसके संबंध में कोंविड मरीज ने स्वयं उक्त अव्यवस्थाओं एवं असुविधाओं का वीडियांे बनाकर, सुधार किये जाने की मांग की जिसमें स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है कि मरीजो को दिये जाने वाले भोजन में गुणवत्ता का अभाव है, रोटिया कच्ची दी जा रही है दोपहर का भोजन दो-ढाई के बीच दिया जाता है, एवं सफा-सफाई पर किसी प्रकार का ध्यान नही दिया जा रहा है यहा तक संक्रमण के इस भीषण दौर में बेडशीट भी समय पर नही बदली जा रही हैं। उन्हौने कहा कि कोंविड सेन्टर में भर्ती मरीजो को शासन एवं स्वास्थ्य विभाग की गाईडलाईन अनुसार मरीजो का कहना है कि सरकार प्रति मरीज 6500 रूपये प्रतिदिन के हिसाब से खर्च किया जा रहा है अगर इतना पैसा सरकार खर्च कर रही है तो इस महामारी के कार्य में भारी भ्रष्टाचार की बू आती है इस बात की जानकारी जिला प्रशासन को है तो वो क्यों आॅखे बंद किये हुए है साथ ही कोंविड मरीजो के साथ अस्पताल के चिकित्सक एवं कर्मचारियों द्वारा सम्मान जनक व्यवहार नही किया जाता उनको गोली दवाईया भी फेंक कर दी जाती है, इस बीमारी को मरीज को दिन में दो-चार बार गर्म पानी अनिवार्य है जिसकी व्यवस्था भी अस्पातल प्रबंधन नही कर रहा है मरीजो के परिजन गर्म पानी की व्यवस्था करते हैं। उन्हौने कहा कि मरीजो को उचित ईलाज की एवं अन्य सुविधाओ की व्यवस्थाएंे देने में अंक्षम है तो फिर शासन से प्राप्त राशि कहा खर्च हो रही है यह सोचने वाली बात है इस प्रकार की अगर कोई भी अनियमिताये पाई गई तो में विधानसभा के आगामी सत्र में दूध का दूध पानी का पानी करने के लिए बाध्य हूॅ, या प्रशासन प्रेस नोट जारी जनता को यह बताये कि किस मद में कितना पैसा प्रति मरीज प्रतिदिन व्यय किया जा रहा है महामारी के नाम पर जनता की गांढी कमाई को हम वरबाद नही होने देगे। इस गंभीर बीमारी के मरीजो की सुविधाओ के मामले में किसी प्रकार की अनियमिताये एवं लापरवाही उचित नही है मरीजो को पर्याप्त सुविधा दी जाये। वर्तमान में जिला चिकित्सालय में जिस प्रकार से कार्य किया जा रहा है उससे वहा भर्ती मरीज काफी दुखी है इसीलिए उनके द्वारा वीडियों भेजकर अपनी वेदना को व्यक्त किया है जिसके संबंध में शासन प्रशासन को अपनी संवेदनशीलता को प्रकट करते हुए तत्काल व्यवस्थाओं में सुधार एवं लापरवाहियो को दूर किया जाना चाहिये। 

कोई टिप्पणी नहीं: