विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 26 जुलाई 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर जुलाई

जिले भर की बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार नही हुआ तो करूॅगा उपवासः विधायक भार्गव 

विदिशाः विदिशा विधायक शशांक भार्गने कलेक्टर को पत्र लिखकर जिले भर की स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाल व्यवस्था से दुखी होकर सुधार किये जाने की मांग को लेकर उपवास किये जाने की चेतावनी दी है उन्होंने संबोधित अपने पत्र में लिखा कि मेरे द्वारा दिनांक 23.07.2020 को शासन प्रशासन को पत्र के माध्यम से आगाह किया गया था कि कच्ची रोटी व स्तरहीन भोजन व मुश्किल से दिन में 2-3 बजे के बीच में गम्भीर बीमारी के मरीज को उपलब्ध हो रहा है, वार्ड में मरीजों को उपयोग में आने वाले तकिये, बेड शीट एवं साफ-सफाई आदि का पूर्ण इंतजाम नहीं है एक तरफ देश के प्रधानसेवक एवं प्रदेश के मुखिया ये कहते नहीं थक रहे कि कोविड मरीजों को किसी भी प्रकार की व्यवस्थाओं की कमी नहीं होने देगें दूसरी ओर आपके द्वारा विदिशा के समाज सेवीयों को भावनात्मक रूप से छल कर दानदाताओं से सामग्री कोविड वार्ड में देने के लिए तैयार किया जा रहा है वहीं मेरी जानकारी के अनुसार प्रति मरीज प्रतिदिन 5600 रूपये खर्च किये जा रहे है, तो फिर दानदाताओं को भावनात्मक रूप से छलने की क्या आवश्यकता है इस संबध्ंा में मेरा आपसे आग्रह है कि सरकार कोविड मरीजों के ईलाज में किस-किसी मद में कितना-कितना रूपया खर्च कर रही है व लाकडाउन दिनांक 24.03.2020 से सम्पूर्ण लाकडाउन अवधि में केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा कितनी-कितनी राशि प्राप्त हुई एवं उक्त राशि से आज दिनांक तक कितने लोगों को सहायता दी गई एवं अन्य किस-किस मद में कितनी राशि/अनाज व अन्य सहायता के रूप में खर्च की गई इसकी भी जानकारी उपलब्ध कराई जाये।  कोविड के नाम से जिला चिकित्सालय विदिशा में अन्य बीमारीयों का ईलाज ना के बराबर हो रहा है और कोविड के मरीजों का ईलाज भी सरकारी स्तर से ठीक ढंग से नही किया जा रहा कल दिनांक 25.07.2020 दिन शनिवार को पुनः 2ः30 बजे तक कोविड एवं अन्य बीमारीयों के मरीजों को भोजन उपलब्ध नहीं हुआ मेरे द्वारा आपको सूचना दी गई आपने कहा मे स्वयं जा रहा हॅू लेकिन जिस व्यक्ति की इन सब बातों के लिए जिम्मेदारी है उस पर आपके द्वारा जिम्मेदारी तय की गई या नहीं अगर हम किसी को जिम्मेदारी का निर्वाहन नहीं करने पर दण्ड नहीं देगें तो इस कार्य में सफल नहीं हो पायेगें।  बडे आश्चर्य की बात है कि जिले के सम्पूर्ण जन प्रतिनिधियों को इस महामारी से दूर रखकर स्वयं या इक्का-दुक्का जनप्रतिनिधियों की सलाह पर कार्य कर रहे है। इसलिए विदिशा जिले के पाॅच विधायक, दो सांसद, जिला पंचायत अध्यक्ष और सभी नगर पंचायत, नगर पालिकाओं के, जनपद पंचायातों के अध्यक्ष शायद जनप्रतिनिधियों की श्रेणी में आना बंद हो गये है यही हाल रहा तो मुझे मजबूरन विधानसभा की विशेष अधिकार समिति के माध्यम से सांसद महोदय एवं सभी विधायकों की ओर से याचिका लगाने के लिए मजबूर होना पडेगा।  जबकि जिला प्रशासन द्वारा समाचार पत्रों में यह भी जानकारी दी गई कि सिरोंज, बासौदा, कुरवाई में कोविड सेंटर शुरू किये जा रहे है जिनकी व्यवस्थायें करने में समय लग रहा है, चार माह कोविड को पूर्ण हो चुके है बाबजूद इसके जिले में ओर जगह इस बीमारी के सेंटर नही बन पायें है। दिनांक 27.07.2020 दिन सोमवार की शाम तक यह जानकारी उपलब्ध कराने की बात की साथ ही उन्होंने स्वास्थय सेवाओं में सुधार नहीं होने पर मंगलवार दिनांक 28.07.2020 को प्रातः 11 बजे जिले की बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं के खिलाफ माधवगंज चैराहा विदिशा पर अन्न त्याग कर उपवास करने को विबश होना पडेगा जिसकी नैतिक जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की होगी।

फरार वारंटियों की सूचनाकर्ताओं को पुरस्कार की घोषणा

पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा के द्वारा फरार स्थायी वारंटियों की गिरफ्तारी में सहयोग करने या सूचना देने वालो को नगद इनाम देने की उद्घोषणा की है। सूचनाकर्ता चाहे तो उसका नाम गोपनीय रखा जाएगा।  न्यायालयों द्वारा जिले के विभिन्न थानो के 379 स्थायी वारंट जारी किए गए है वारंटियों की गिरफ्तारी के हर संभव प्रयास किए जा रहे है किन्तु उनका कोई पता नही चल पा रहा है अतः ऐसे स्थायी वारंटियों की सूचना देने अथवा गिरफ्तारी में मदद कराने वाले को नगद इनाम राशि देने की घोषणा पुलिस अधीक्षक द्वारा की गई है।  पुलिस अधीक्षक श्री वर्मा ने बताया कि जिले के विभिन्न थानो में दर्ज अपराधों के फरार 379 वारंटियों की सूचनाओं के लिए पृथक-पृथक इनाम की उद्घोषणा की गई है जिसमें सर्वाधिक दस हजार रूपए और न्यूनतम एक हजार रूपए की राशि प्रदाय की जाएगी पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा के द्वारा उपलब्ध कराई गई सूची अनुसार 379 फरार वारंटियों में से सर्वाधिक विदिशा कोतवाली थाना के 65, विदिशा सिविल लाइन थाना के 46, विदिशा अजाक थाना के चार, करारिया थाना के दस, हैदरगढ़ थाना के तीन, ग्यारसपुर थाना के सात, बासौदा शहर थाना के 44, बासौदा देहात थाना के 35, गुलाबगंज थाना के 35, त्योंदा थाना के आठ, नटेरन थाना के 13, सिरोंज थाना के 14, मुगलसराय थाना के तीन, दीपनाखेडा थाना के तीन, कुरवाई थाना के 14, पठारी थाना के पांच, पथरिया थाना के 12, लटेरी थाना के आठ, मुरवास थाना के चार, आनंदपुर थाना के नौ, शमशाबाद थाना के तीस, तथा उनारसीकलां थाना में दर्ज अपराधों के छह फरार वारंटियों की सूचनाकर्ता अथवा गिरफ्तारी में मदद कराने वालो को नगद इनाम की राशि देने की घोषणा की है। 

पांच हजार रूपए की मदिरा जप्त

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में आबकारी विभाग द्वारा अवैध मदिरा के क्रय विक्रय और परिवहन पर सतत नजर रखकर धरपकड़ की कार्यवाही जारी है।  जिला आबकारी अधिकारी श्री डीएन त्रिवेदी ने बताया कि जिले में दबिश देने और सूचनाएं प्राप्ति के लिए कंट्रोल रूम बनाया गया है जिसका प्रभारी सहायक आबकारी अधिकारी श्री राहुल ढोके को जबावदेंही सौंपी गई है।  सहायक आबकारी अधिकारी श्री ढोके ने बताया कि शनिवार को विभागीय अधिकारी व कर्मचारियों के द्वारा तीन स्थलों पर दविश देकर बाजार मूल्य पांच हजार रूपए की मदिरा जप्त कर संबंधितों के खिलाफ आबकारी अधिनियमों के तहत प्रकरण पंजीबद्व किए गए है। श्री ढोके ने बताया कि आबकारी उप निरीक्षक श्री राजेश विश्वकर्मा, श्री सुनील चौहान, आरक्षक श्री राहुल राठौर, श्री प्रमोद धुव्रे के द्वारा ग्राम भाटनी में नाकाबंदी कर आरोपी सुधीर कुचबंदिया निवासी शेरपुरा विदिशा तथा परसराम कुचबंदिया निवासी ग्यारसपुर से अवैध रूप में क्रमशः 26 एवं 24 कुल 50 देशी मसाला मदिरा के साथ रंगे हाथो गिरफ्तार किया गया है। 

भोजन व्यवस्था में वालिटियर्सो का सहयोग 

vidisha news
कोविड केयर सेन्टर में भर्ती मरीजो के लिए कोरोना वायरस कोविड 19 के लिए जारी गाइड लाइन अनुसार तमाम प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। सभी मरीजो को समय पर भोजन की उपलब्धता को सुनिश्चित कराने हेतु कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में जिले के वालिटियर्स भी अब अपना योगदान दे रहें है।  वालिटियर्स यूनिट के नोडल अधिकारी श्री विजय श्रीवास्तव ने बताया कि कलेक्टर सर द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुसार चिन्हित स्थलों पर वालिटियर्सो की सेवाएं मुहैया कराई जा रही है जिसमें मुख्य रूप से आधार कार्ड बनाने के कार्यो के दौरान सोशल डिस्टेन्सिग का पालन व मास्क की उपयोगिता को सुनिश्चित कराने हेतु वालिटियर्सो के द्वारा आधार कार्ड, बैंक, बिजली विभाग, इत्यादि स्थलों पर भी अपने दायित्वों का निर्वहन किया जा रहा है।  नोडल अधिकारी श्री विजय श्रीवास्तव ने बताया कि आज रविवार को ठीक 12.30 बजे भोजन के पैकेटो को बंद करने के उपरांत कोविड केयर सेन्टरों में भर्ती मरीजो के लिए पहुंचाए गए है इसी प्रकार शाम के चाय नाश्ता व खाने के लिए अभी से प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। वालिटियर्सो द्वारा वरिष्ठों के द्वारा दिए गए निर्देशो का अविलम्ब पालन कर व्यवस्थाओं को सुचारू रूप से सम्पन्न क्रियान्वयन कराने हेतु सतत तत्पर है। 

पिछड़ा वर्ग पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति योजनान्तर्गत वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए माता-पिता, अभिभावक की वार्षिक आय सीमा निर्धारित 

पिछडा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के सहायक संचालक श्री ने बताया कि भारत सरकार सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता नई दिल्ली एवं आयुक्त पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के निर्देशानुसार पिछड़ा वर्ग पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति योजनान्तर्गत वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए विद्यार्थियों के माता-पिताध् अभिभावक की वार्षिक आय सीमा समस्त स्त्रोतो से 2 लाख 50 पचास हजार रूपये निर्धारित की गई है। जिले की शासकीयध्अशासकीय संस्था में अध्ययनरत पिछड़ा वर्ग के छात्र, छात्राओं के छात्रवृत्ति आवेदन के साथ निर्धारित आय सीमा के संबंध में संस्था प्रमुख अपनी संस्था में अध्ययनरत छात्र, छात्रा एवं माता-पिताध्अभिभावको को आय सीमा के संबंध में जानकारी अपने स्तर पर दे। 

प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा श्रीमती शमी फेसबुक लाइव के माध्यम से मैदानी अमले से करेंगी चर्चा आज

स्कूल शिक्षा विभाग की गतिविधियों एवं प्राथमिकताओं पर 27 जुलाई, सोमवार को सुबह 11 बजे से फेसबुक लाइव के माध्यम से चर्चा की जायेगी। फेसबुक लाइव में प्रमुख सचिव श्रीमती रश्मि अरूण शमी, वरिष्ठ अधिकारी एवं विशेषज्ञ मार्गदर्शन देंगे। फेसबुक लाइव से शिक्षकों एवं अन्य मैदानी सहयोगियों को जोड़ा जाएगा, जिससे वे विभागीय गतिविधियों एवं प्राथमिकताओं से सीधे परिचित हो सकें। आयुक्त राज्य शिक्षा केन्द्र, श्री लोकेश कुमार जाटव ने सभी शासकीय विद्यालयों के प्राचार्य समस्त संभागों के संयुक्त संचालकों, समस्त जिला शिक्षा अधिकारियों, जिला परियोजना समन्वयकों एवं अन्य सहयोगियों को फेसबुक लाइव से जोड़ने के निर्देश दिये हैं। फेसबुक लाइव सत्र से जुड़ने के लिये सभी सहभागी अधिकारीध्कर्मचारी मोबाइल में फेसबुक Department Of School Education Madhya Pradesh या https://www.facebook.com/schooledudeptmp/   जुड़ सकेंगे। इसके अतिरिक्त vfrfjä https://youtube.be/3xablitumxk  पर भी फेसबुक लाइव सत्र से जुड़ा जा सकता है।

हेलो आशा फोन इन कार्यक्रम 4 अगस्त को

शिशु स्वास्थ्य, स्तनपान विषय पर श्श्हेलो आशा फोन इन कार्यक्रम मंगलवार 4 अगस्त 2020 को दोपहर एक से दो बजे के मध्य आकाशवाणी भोपाल से प्रसारित किया जायेगा। कार्यक्रम प्रसारण के दौरान श्रोता आकाशवाणी के फोन न. 0755-2660902, 2660903 पर अपने सवाल पूछ सकते है। सभी आशा कार्यकर्ता, महिला स्वास्थ्य एवं ऑगनवाड़ी कार्यकर्ता को ग्राम आरोग्य केन्द्र में बैठकर स्थानीय ग्रामीण महिलाओं के साथ खुद सुनने तथा गाँव के अन्य लोगों को कार्यक्रम की जानकारी देकर सुनने के लिए प्रेरित करने के निर्देश दिए गए है, साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी करवाने के लिये कहा गया है। 

आपदा ड्यूटी में आँगनवाड़ी सहायिका की मृत्यु होने पर परिवार की महिला सदस्य को मिलेगी नौकरी

राष्ट्रीयध्राज्य स्तरीय आपदा प्रबंधन अधिनियमके अंतर्गत यदि आँगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका की ड्यूटी लगाई जाती है और इस दौरान उनकी मृत्यु हो जाती है तो उसके परिवार की महिला सदस्य को आँगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका के पद पर नियुक्ति दी जायेगी। महिला सदस्य निर्धारित अर्हताएँ पूर्ण करती है, तो ऐसी स्थिति में नियुक्तिकर्ता अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी द्वारा उन्हें सीधे नियुक्त किया जायेगा। इस संबंध में महिला बाल विकास विभाग द्वारा आदेश जारी किया गया है। 

आई.टी.आई. प्रवेश प्रारंभ, रजिस्ट्रेशन और च्वाइस फिलिंग 31 जुलाई तक 

अगस्त 2020 से प्रारंभ नए शैक्षणिक सत्र में शासकीय एवं निजी आई.टी.आई. में प्रवेश की ऑनलाइन प्रक्रिया एक जुलाई से प्रारंभ है। संचालक, कौशल विकास श्री एस. धनराजू ने जानकारी देते हुए बताया कि शासकीय अथवा प्राइवेट आई.टी.आई में प्रवेश के लिए अभ्यार्थियों को रजिस्ट्रेशन और च्वाइस फिलिंग करना अनिवार्य होगा। उन्होंने बताया कि अब तक लगभग 61 हजार 499 रजिस्ट्रेशन तथा 55 हजार 755 अभ्यार्थियों ने च्वाइस फिलिंग की है। श्री धनराजू ने बताया कि इस सत्र में अन्य राज्यों के आवेदकों के प्रवेश की व्यवस्था निर्धारित की गई है। उन्होंने बताया कि एम.पी. ऑनलाइन में रजिस्ट्रेशन तथा त्रुटि सुधार एवं इच्छित संस्थाओं में व्यवस्थाओं की प्राथमिकता के क्रम का विकल्प तथा च्वाईस फिलिंग में त्रुटि सुधार के लिए पोर्टल पर व्यवस्था निर्धारित की गई है। इस सत्र में आवेदक 100 विकल्प भर सकते है। श्री धनराजू ने बताया कि प्रवेश की कार्यवाही मेरिट अनुसार निर्धारित है। चयनित अभ्यार्थी जिसे उसका प्रथम विकल्प आवंटित हुआ है, यदि वह प्रवेश नहीं लेता है तो उसका प्रवेश निरस्त हो जाएगा तथा वह आगे की काउंसिलिंग के लिए पात्र नहीं होगा। प्रदेश में 243 शासकीय तथा 900 प्राइवेट कुल 1200 आई.टी.आई. है। शासन द्वारा शासकीय आई.टी.आई. में तीन वर्षों से ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया लागू है। अशासकीय आई.टी.आई में पिछले वर्ष से यह व्यवस्था लागू की गई है। इस वर्ष दसवीं कक्षा के परिणाम में देरी के कारण आई.टी.आई. प्रवेश की अंतिम तिथि को 19 जुलाई से बढ़ाकर 31 जुलाई किया गया है।

जून माह का खाद्यान्न 31 जुलाई तक प्रदाय 

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत प्रदाय होने वाले खाद्यान्न वितरण के संबंध में जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि जून माह का खाद्यान्न 31 जुलाई तक वितरित किया जाएगा। जून माह के लिए प्रति सदस्य पांच किलोग्राम के मान से चावल तथा एक किलो प्रति परिवार के मान से तुअर दाल का वितरण सतत रूप से शासकीय उचित मूल्य दुकानो के माध्यम से किया जा रहा है।  जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती साहू ने बताया कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के पात्र ऐसे हितग्राही जिन्होंने अभी तक शासकीय उचित मूल्य दुकान से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का जून माह का चावल व तुअर दाल प्राप्त नही की है वे तत्काल शासकीय उचित मूल्य दुकान से अपनी सामग्री 31 जुलाई तक अनिवार्य रूप से प्राप्त कर लें। 

कृषक भाई खरीफ मौसम की अधिसूचित फसलों का 31 जुलाई तक करा सकेंगे बीमा

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अंतर्गत खरीफ मौसम में अधिसूचित फसलों का बीमा करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2020 है। इच्छुक कृषक भाई निर्धारित तिथि के पूर्व अपनी अधिसूचित फसलों का बीमा करवा सकते है। किसान कल्याण तथा कृषि विकास के उपसंचालक ने बताया कि जिले में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना क्रियान्वयन की जा रही है जिसमे बीमित फसले जिला स्तर पर पटवारी हल्का स्तर पर बीमित फसलें अधिसूचित की गई है। किसान भाई द्वारा खरीफ मैसम मे सभी अनाज, दलहन तिलहन फसलों हेतु बीमित राशि का मात्र अधिकतम 2 प्रतिशत प्रीमियम देय होगा। शेष प्रीमियम राज्य एवं केन्द्र सरकार द्वारा वहन किया जायेगा। पात्र कृषक अधिसूचित क्षेत्रों मे अधिसूचित फसलें उगाने वाले बटाईदारों और कास्तकारों सहित सभी किसान अपनी फसलों का बीमा आच्छादन प्राप्त करने हेतु पात्र है। यह योजना सभी कृषकों हेतु स्वैच्छिक की गई है, अल्पकालीन फसल ऋण प्राप्त करने वाले कृषकों की फसलों का बीमा संबंधित बैंक द्वारा किया जायेगा।  अऋणी कृषक अपनी अधिसूचित फसलों का बीमा, बैंक, लोक सेवा केन्द्र एवं कार्यरत बीमा कंपनी के अधिकृत एजेंट के माध्यम से करवा सकते है। अऋणी कृषकों हेतु आवश्यक दस्तावेज में फसल बीमा प्रस्ताव फार्म, शासन द्वारा मान्य दस्तावेजों में आधार कार्ड, वोटर कार्ड, राशन कार्ड, पैन कार्ड, समग्र आईडी, ड्रायविंग लायसेन्स, भू अधिकार पूस्तिका, पटवारी या ग्राम पंचायत सचिव द्वारा जारी बुवाई प्रमाण आवश्यक है। समस्त ऋणी व अऋणी कृषकों हेतु आधार कार्ड अनिवार्य तथा मोबाइल नम्बर वांछित रहेगा। ऋणी कृषक भाई अपनी फसलों का बीमा नहीं कराना चाहते है, वे बीमांकन की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2020 से 7 दिवस पूर्व अर्थात 24 जुलाई तक संबंधित बैंक में लिखित में आवेदन कर निर्धारित प्रपत्र भरकर योजना से बाहर जा सकते है।

कोई टिप्पणी नहीं: