मुंबई के क्रिकेटर ने फांसी लगाकर जान दी.. - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 13 अगस्त 2020

मुंबई के क्रिकेटर ने फांसी लगाकर जान दी..

और वह दक्षिण अफ्रीका के धाकड़ गेंदबाज डेल स्टेन न बन सका। मुंबई के एक क्लब क्रिकेटर को क्लब क्रिकेट में ‘जूनियर स्टेन’ कहा जाता था। वह कथित तौर पर सुसाइड कर लिया। क्रिकेटर का नाम करण तिवारी है। 10 अगस्त को वह अपने घर में फंदे से लटका मिला...
cricketer-sucide-mumbai
मुम्बई,। मुम्बई पुलिस के अनुसार करण तिवारी आईपीएल में न चुने जाने से डिप्रेशन में था। उसने इस बारे में अपने दोस्त को बताया था।27 साल का करण तिवारी परिवार के साथ मलाड के गोकुलधाम में रहता था। 10 अगस्त को शाम से ही वह अपने कमरे में बंद था। रात में साढ़े 10 बजे के करीब जब परिवार ने आवाज लगाई तो कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद दरवाजा तोड़ा गया तो वा छत पंखे से लटका मिला। कुरार थाने के इंस्पेक्टर बाबासाहेब सालुंखे का कहना है कि इस मामले में एक्सीडेंटल डेथ रिपोर्ट दर्ज की गई है। बताया गया कि करण तिवारी को आईपीएल 2020 में चुने जाने की उम्मीद थी। उसने मुंबई इंडियंस टीम को नेट्स में गेंदबाजी भी की थी। लेकिन नहीं चुना गया। इसके चलते वह काफी तनाव में था।करण के दोस्तों ने बताया कि उसे क्लब क्रिकेट में ‘जूनियर स्टेन’ कहा जाता था। उसका गेंदबाजी एक्शन डेल स्टेन से काफी मिलता था। स्टेन दक्षिण अफ्रीका के धाकड़ गेंदबाज हैं। आईपीएल 2020 के आगाज को लेकर बीसीसीआई से लेकर फ्रेंचाइजीज तक तैयारियों में लगे हुए हैं। 20 अगस्‍त से टीमें यूएई जाना शुरू हो जाएंगी। 19 सितंबर से 10 नवंबर तक आईपीएल का आयोजन होना है। इसी बीच एक बुरी खबर आई है।  आईपीएल में खेलने का कथित तौर पर मौका नहीं मिल पाने के कारण मुंबई के एक क्लब क्रिकेटर ने आत्महत्या कर ली। 27 वर्षीय करण तिवारी ने सोमवार रात मलाड (पूर्व) में अपने घर में छत के पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली, जिसकी जानकारी उनके एक दोस्त ने दी। उस दोस्त के अनुसार करण को आईपीएल में खेलने का मौका न मिलने से वह उदास था। वहीं, पुलिस ने कहा कि इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। वह वानखेड़े स्टेडियम में आईपीएल की कुछ टीमों को नेट पर गेंदबाजी कर चुके थे। वह राज्य की टीम में जगह बनाने के प्रयास में थे।हालांकि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के नियमों के अनुसार, जिस खिलाड़ी ने राज्य की टीम में प्रतिनिधित्व किया हो, वह आईपीएल नीलामी में शामिल हो सकता है। मिल रही जानकारी के अनुसार तिवारी ने आत्महत्या करने की जानकारी अपने दोस्त को दी थी और उनके दोस्त ने इसकी सूचना तिवारी की बहन को दी। तिवारी की बहन ने फिर इसके सूचना अपनी मां को दी, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी और अस्पताल पहुंचने से पहले ही उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

फ्लैट में पंखे से लटका मिला 27 साल का क्रिकेटर
27 साल का करण तिवारी मलाड स्थित फ्लैट में रहता था। उसने सोमवार रात 10-11 बजे के बीच पंखे पर फंदा बनाकर फांसी लगा ली। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। प्रांरभिक पड़ताल में सामने आया है कि करण का 19 सितंबर को यूएई में शुरू हो रहे आईपीएल में सिलेक्शन नहीं हो सका था। इसके बाद से वो परेशान था। मरने से पहले उसने उसने अपने दोस्त को फोन करके अपनी पीड़ा बांटी थी। दोस्त की समझाइश के बाद भी करण नहीं रुका। इसके बाद दोस्त ने करण की मां और बहन को फोन करके इस बारे में बताया। जब तक कोई उसके रूम तक पहुंचता, करण फांसी पर झूल चुका था। परिजन उसे फंदे से उताकर उतारकर हास्पिटल ले गए, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका।

कोई टिप्पणी नहीं: