झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 10 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 10 अगस्त 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 10 अगस्त

चैबीस दिन मे खुला कन्टेनमेंन्ट झोन, एक सप्ताह मे कोई नया संक्रमित केस नही

jhabua news
पारा । गत जुलाई माह मे जिले मे कोविड 19 कोरोना के लिए हाॅट स्पाट बने पारा नगर मे पिछले एक सप्ताह से कोई नया संक्रमित मरिज नही निकलने से जहा प्रशासन ने राहत कि सांस ली वही क्षेत्र के कोरोना मुक्त होने संकेत भी मिलने लगे हे। जानकारी के अनुसार जुलाई माह मे कोरोना वायरस के लिए हाट स्पाटं बना पारा नगर  अगस्त माह मे कोरोना मुक्त होने की राह पर है। विगत 10 जुलाई से पारा नगर मे कोरोना का कहर शुरू हुआ था। जिसने महीने के अंत तक 30 मरीज को अपने चपेट में लिये। वहीं 4 अगस्त को भी एक मरीज फिर पॉजिटिव पाया गया जिसका उपचार कोविड सेन्टर झाबुआ मे चल रहा है।  संभव तया उसकी भी छुट्टी रविवार तक हो जायेगी। बाकि के 30 लोग स्वस्थ्य होकर वापस अपने अपने घर पहुच चुके है। नगर के कोरोना वारिर्यस डॉ. केएस डोडवा ने बताया कि जुलाई माह में एक समय ऐसा भी था कि जिले के 25 प्रश से अधिक मरीज केवल पारा सें ही थे। वहीं अब जहां जिले में 200 से अधिक संक्रमित हो चुके हैं, पारा का एकमात्र व्यक्ति एक्टिव केस के रूप में मौजूद है। डॉ. डोडवा ने बताया कि पारा उम अभी तक 628 सैंपल लिए गए हे जिनमे से 31 केस पाजिटिव आए व 414 कि रिर्पोट नेगेटिव आई है वही आज दिनांक तक 183 की रिपोर्ट आना शेष है। 

सिर्फ दो जगह हे कंटेनमेंट झोन -- 
तहसीलदार प्रवीण ओहरिया ने बताया कि पारा में सबसे पहले सदर बाजार में कोरोना के मरीज मिले थे। बाद मे बस स्टैंड, पांचाल कॉम्प्लेक्स, होली चैक व बोरी रोड पर भी कुछ मरीज कोरोना से संक्रमित हुए थे। जिनमे से लेकिन सदर बाजार, बस स्टैंड व हौली चौक क्षेत्र में पिछले लगातार 25 दिनों से कोई भी नया मामला नहीं आने की वजह से इन क्षेत्र से कंटेनमेंट  हटा लिया गया हैं। जो लोग बाद मे कोविड सेन्टर से लोटे हे केवल वही घर कंटेनमेट मे हे।

राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग ने बच्चों को पहनाए मास्क
  • बच्चों को मास्क पहनते देख बड़ों को मिलेगी प्रेरणा - पवन नाहर
  • बच्चों की सुरक्षा हम सब की जिम्मेदारी - सुमित्रा मेड़ा
jhabua news
थांदला। झाबुआ जिलें में कोरोना संक्रमण बढ़ता जा रहा है शहरों से नगर व गाँव मे फैल रही इस महामारी से निपटने के लिए शासन प्रशासन के साथ अनेक सामाजिक संगठन भी प्रयासरत है। राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग ने राष्ट्रीय मुख्य महासचिव डॉ. रविन्द्र मिश्रा के छोटे भाई के घर बाल गोपाल के आने की खुशी में वनांचल के बच्चों के संरक्षण के लिए अनूठी पहल की गई। संगठन के प्रदेशाध्यक्ष पवन नाहर व सम्भागीय अध्यक्ष सुमित्रा मेड़ा ने ग्रामीण अंचल के ग्राम सजेली में जाकर नन्हे नोनिहालों को मास्क व सेनेटाइजर बाँटे व उसे उपयोग के तरीके बताए। सम्भागीय अध्यक्ष सुमित्रा मेड़ा ने बच्चों को वर्तमान महामारी के बारें में बताते हुए कविता के रूप में कहा कि सामाजिक दूरी बनाकर रखना, हाथों को अपने साबुन से धोना, मुँह पर मास्क लगाकर रखना, कोरोना को भगाएंगे - हम बच्चे हिंदुस्तान के ... वही उन्होंने उपस्थित अभिभावक आदि से कहा कि बच्चों की सुरक्षा हम सबकी जिम्मेदारी है इसलिए उनकी सुरक्षा का खयाल रखना जरूरी है। इस अवसर पर प्रदेशाध्यक्ष पवन नाहर ने कहा कि आज बड़ो की नैतिक जिम्मेदारी है कि वह घर से मास्क पहनकर निकले जो वे नही कर रहे है इसलिए हमनें बच्चों को मास्क के प्रति जागरूक किया ताकि उन्हें मास्क पहनते देख बड़े भी मास्क अवश्य पहनेंगे। कार्यक्रम में उपस्थित ग्रामीणों में भी मास्क व सेनेटाइजर दिया गया। इस अवसर पर ग्राम सरपंच दुर्गा डामोर, उनके श्वसूर बालू डामोर, बरखारानी नाहर, रतन, विजय आदि ग्रामीण जन भी उपस्थित थे। बालू डामोर ने इस पहल को अनूठी बताते हुए कहा कि जब सामाजिक संगठन गाँव के लिए कुछ करते है तो मन खुश हो जाता है उन्होंने संस्था को धन्यवाद देते हुए कहा कि वे भी गाँव में सभी मास्क पहने व शासन के बताए नियमों का पालन करें इसके प्रयास करेंगे पूरा आयोजन सीमित बच्चों के साथ पूर्ण सतर्कता व सोशल डिस्टेंश के साथ आयोजित किया गया।

झाबुआ मुख्य डाक घर में काॅमन सर्विस सेन्टर का उद्घाटन

jhabua news
झाबुआ। सहायक अधीक्षक श्री प्रेमराज मीणा ने सोमवार को मुख्य डाक घर झाबुआ में काॅमन सर्विस सेन्टर का फीता काटकर उद्घाटन किया। इस सेन्टर में ग्राहकों को राज्य तथा केन्द्र शासन की विभिन्न योजनाओं सहित बीमा प्रीमियम की अदायगी, पेन कार्ड, वोटर कार्ड, कार्य मोबाईल, डी.टी.एच.रिचार्ज, न्यू पेंशन योजना, आई.आर.सी.टी.सी. टिकट बुकिंग के लिये अधिकृत कांउटर से प्रदान की जावेगी। अधीक्षक डाक घर श्री प्रवीण श्री वास्तव ने झाबुआ नगर वासियों से अपील की है कि वे इस सेवा का अधिक से अधिक उपयोग करें। इस अवसर पर पोस्ट मास्टर श्री विपीन कुमार नीमा, सिस्टम मेनेजर श्री गोपाल सोनी, तथा मुख्य डाक घर के कर्मचारी उपस्थित थे।

निविदाएं आमंत्रित

झाबुआ । जिले में नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण काल के दौरान नवीन तकनीकी वाट्सअप चैटबोट के माध्यम से सेवा प्रदान किये जाने वाले प्रस्ताव के क्रियान्वयन के लिये लोक सेवा प्रबंधन की सेवाओं के प्रदाय के लिये वाट्सअप चैेटबाॅट एवं वेबपोर्टल तथा जिला प्रशासन झाबुआ का अधिकारिक  वाट्सअप चैटबाॅट अकाउंट बनाया जाना है। इस वाट्सअप चैटबाॅट अकाउंट एवं वेबपोर्टल बनाए जाने के कार्य के लिये निविदाए आमंत्रित की गई है। टेंडर निविदा का पुनः प्रकाशन एवं डाउनलोड करना 8 अगस्त 2020, निविदा प्रपत्र भरकर कार्यालय में जमा करने की अंतिम तिथि 20 अगस्त 2020 तथा तकनीकी एवं वित्तीय निविदा खोले जाने की तिथि 21 अगस्त 2020 है। विस्तृत जानकारी निविदा प्रपत्र जिले की वेबसाइड ूूूण्रींइनंण्दपबण्पद एवं कार्यालयीन समय में कार्यालय पर उपलब्ध है। अधिक जानकारी के लिये कार्यालय कलेक्टर/जिला प्रबंधक(लोक सेवा प्रबंधन विभाग) से सम्पर्क किया जा सकता है।

बाल भिक्षावृति तथा बाल श्रम की रोकथाम के लिये उडन दस्ते का गठन

झाबुआ। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा के निर्देशानुसार जिले में बाल भिक्षावृति तथा बाल श्रम की रोकथाम के लिये उड़न दस्ते का गठन किया गया है। यह उड़न दस्ता जिले में भ्रमण कर भिक्षावृति में लिप्त बच्चों की पहचान कर आवश्यक कार्यवाही करेगा। महिला एवं बाल विकास विभाग, श्रम विभाग व चाईल्ड लाईन के संयुक्त तत्वावधान में भिक्षावृति रोकथाम के लिये विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इसी तारतम्य में सोमवार को महिला एवं बाच विकास विभाग के सहायक संचालक श्री अजयसिंह चैहान तथा श्री बालूसिंह सस्तिया द्वारा झाबुआ शहर में भ्रमण कर कार्यवाही की गई हैै। यह प्रक्रिया जिले के विभिन्न क्षैत्रों में निरंतर की जावेगी ताकि भिक्षावृति में लिप्त बच्चें भिक्षा से मुक्त होकर अपना सर्वांगीण विकास कर सकें।

विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर जनकल्याणकारी योजनाओं के हितग्राहियों को आॅनलाईन वितरण कार्यक्रम

jhabua news
झाबुआ। कोरोना संक्रमण काल की परिस्थिति को देखते हुये जिला न्यायालय के वीडियो कांफ्रेसिंग रूम से 9 अगस्त रविवार को सुबह 11ः बजे से दोपहर 12 तक जिले के पांच जनपद पंचायतों झाबुआ, रामा, राणापुर एवं थांदला के उत्कृष्ठ विद्यालयों तथा मेघनगर जनपद पंचायत के वीडियो कांफे्रसिंग रूम में जन कल्याणकारी योजनाओं के हितग्राहियों को बैठाकर योजनाओं का वास्तविक हित और लाभ का सीधा आॅनलाईन वितरण कार्यक्रम जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं जिला प्रशासन झाबुआ के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित किया गया। आयोजन में प्राधिकरण के अध्यक्ष एवं जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री राजेश गुप्ता, कलेक्टर झाबुआ श्री प्रबल सिपाहा, अपर जिला न्यायाधीश/सचिव प्राधिकरण श्री राजेश देवलिया, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट श्री गौरव प्रज्ञानन, न्यायिक मजिस्ट्रेट श्री राजकुमार चैहान, डिप्टी कलेक्टर सुश्री ज्योति परस्ते, सहायक आयुक्त्त आदिवासी विकास श्री प्रशांत आर्य प्रमुख रूप से उपस्थित थे। वीडियो कांफे्रसिंग के माध्यम से प्रत्येक जनपद पंचायत के हितग्राहियों से संवाद किया गया और उन्हें भिन्न-भिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाया गया तथा योजनाओं के फायदों की जानकारी दी गई। शासन की विभिन्न जनकल्याकारी योजनाओं जैसे स्ट्रीट बेंडर योजना अंतर्गत छोटे फेरी रहरी पटरी पर व्यवसाय करने वाले को 10000 रूपये की सहायता, सामाजिक सुरक्षा पेंशन के प्रकरण जिसमें प्रतिमाह 600 - रूपये पेंशन हितग्राहियों को दिलाई गई। संबल योजना अंतर्गत दुर्घटना मृत्यु पर 400000 - रूपये एवं सामान्य मृत्यु पर 200000 - रूपये एवं अंतिम क्रियाकर्म की सहायता 5000 - रूपये  का लाभ भी हितग्राहियों को दिलाया गया। प्रधानमंत्री आवास योजना के प्रकरणों में भी हितग्राहियों को सहायता पहुंचाई गई। राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना, मुक्त राशन योजना आदि जन कल्याणकारी योजनाओं के हितग्राहियों के प्रत्यक्ष रूप से लाभ दिलाया गया। आॅनलाईन वीडियो काॅलिग के माध्यम से हितग्राहियों ने पेंशन सहित सभी कल्याणकारी योजनाओं का फायदा मिलना बताया। कुछ हितग्राहियों को नंदन फल उद्यान एवं मेड़ बंधान योजना का लाभ भी दिलाया गया। कुछ हितग्राहियों से जिला न्यायाधीश, कलेक्टर एवं अपर जिला न्यायाधीश के द्वारा सीधे बातचीत की गई। आदिवासी दिवस के अवसर पर कोरोना के कारण बड़ा सार्वजनिक कार्यक्रम संभव न होने से आॅनलाईन कार्यक्रम विधिक सेवा प्राधिकरण झाबुआ द्वारा आयोजित कर आदिवासी बंधुओं को सीधे प्रत्यक्ष लाभ पहुंचाये जाने की सार्थक पहल की गई। जिससे अंतिम छोर पर बैठे हुये गरीब व्यक्तियों को सीधा व वास्तवित लाभ पहुंचाया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: