सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 21 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 21 अगस्त 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 21 अगस्त

सैम्पल टेस्टिंग में पहले आई निगेटिव, दूसरे दिन आई कोरोना पॉजीटिव रिपोर्ट
  • जबरन स्वास्थ्य विभाग ने कोविड केयर सेंटर में किया भर्ती
  • भारतीय विद्यार्थी मोर्चा ने कमिशनर को जांच के लिए दिया ज्ञापन
sehore news
सीहोर। जिले में पहली बार कोरोना रिपोर्टो को लेकर सनसनी खैज मामला सामने आया है पीडि़त ने स्वयं वीडियो बनाकर सबूतों के साथ स्वास्थ्य विभाग के द्वारा की जा रहीं कोरोना जांच को गलत साबित किया है। इस मामले को लेकर शुक्रवार को भारतीय विद्यार्थी मोर्चा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष राजेश मालवीय के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने कमिशनर कवींद्र कियावत को मामले की निष्पक्ष जांच कराने और दोषियों को सजा देने की मांग को लेकर ज्ञापन दिया। भारतीय विद्यार्थी मोर्चा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष श्री मालवीय ने बताया की ग्राम अमरोद निवासी संजय पिता देवबगस भारती का स्वास्थ्य विभाग के द्वारा 17 अगस्त  सोमवार को कोरोना टेस्ट किया गया। स्वास्थ्य विभाग के द्वारा 20 अगस्त को मोबाईल पर कोरोना निगेटिव रिपोट आने का मेसेज दिया गया। जिस के बाद 21 अगस्त शुक्रवार को मोबाईल नम्बर ९४२५०२८९६१ के माध्यम से स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों के द्वारा कॉल आया की आप के सैम्पल की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। संजय के विरोध करने के बावजूद स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों के द्वारा जबरन इंदौर भोपाल कोरोना केयर सेंटर में ले जाकर भर्ती करा दिया गया है। श्री मालवीय ने कहा की कोरोना के नाम पर देश के साथ प्रदेश भर में सरकार और प्रशासन की मिली भगत से भ्रष्टाचार किया जा रहा है। प्रदेश के ग्वालियर में कोरोना   पॉजीटिव बताकर डॉक्टरों के द्वारा ऑखें निकालने जैसा मामला भी सामने आ  चुका है। इछावर में भी एक नागरिक के जीवन से सरकारी डॉक्टरों के द्वारा कोरोना की आड़ में खिलबाड़ किया जा चुका है। कोरोना के नाम पर आम जनता को परेशान किया जा रहा है। श्री मालवीय ने कहा की अगर इस मामले में शीघ्र कार्रवाहीं नहीं की जाती है तो भारतीय विद्यार्थी मोर्चा प्रदेश में जनहित में उग्र आंदोलन के लिए विवश होगा। ज्ञापन सौपने वालो बहुजन मुक्ति पार्टी जिलाध्यक्ष जितेंद्र मालवीय भारत मुक्ति मोर्चा के जिलाध्यक्ष धमेंद्र मालवीय,जनम सिंह परमार,चांद सिंह मेवाड़ा, अतुल सोलंकी,सोहिल खान आदि शामिल है।



नाली निर्माण में ठेकेदार कर रहे है अनियमित्ता जनता के लाखों रूपये किए जा रहे है बर्बाद
  • असंगठित कामगार कांग्रेस ने लगाए निर्माण कार्यो को लेकर गंभीर आरोप
sehore newsसीहोर। असंगठित कामगार कांग्रेस ने लुनिया चौराह से शुगर फेक्ट्री चौराह तक निर्माणाधीन नाली में ठेकेदार के द्वारा गंभीर अनियिमित्ताएं करने का आरोप लगाया है। पिछले वर्ष बाढ़ की आपदा झेल चुके शहर वासियों के लिए नगर पालिका परिषद के द्वारा शहर के पानी भराव क्षेत्रों में नालियों का निर्माण किया जा रहा है लेकिन शहर में जारी निर्माण कार्यो में ठेकेदार अपनी मनमानी से बाज नहीं आ रहे है।   असंगठित कामगार कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजेंद्र नागर ने बताया की लुनिया  चौराहा से शुगर मिल चौराहा तक लाखों रूपयेे की लागत से बनाई जा रहीं नाली की लम्बाई 350 मीटर और कुल पचास सेंटी मीटर गहराई और चोड़ाई निर्धारित है। पानी निकासी के लिए नाली का अनियमित्ता पूर्ण निर्माण नगर पालिका सीहोर में पंजीकृत ठेकेदार के द्वारा किया जा है। श्री नागर ने कहा  की नाली की गुणवत्ता के लिए बेस का मजबूत होना अतिआवश्यक है लेकिन ठेकेदार के द्वारा लोहे का जाल कच्ची मूरम पर हीं डाला जा रहा है नियम के मुताबिक लोहे के जाल में एक फीट की तय दूरी पर सरिया बांधा जाना चाहिए लेकिन सरिया तय मानकों के मुताबिक नहीं बांधा जा रहा है। नाली की दीवारों में भी कम सरिया लगाया जा रहा है इस के अलावा बेस को भी तय चार ईंच से कम डाला जा रहा है। जिस से आने वाले दिनों में नाली धंस जाएगी। श्री नागर ने कहा की शहर के नागरिकों के द्वारा नगर पालिका को टेक्स दिया जाता है उसी पैसे से शहर में निर्माण कार्य किए जाते है निर्माण कार्यो में गुणवत्ता नहीं होने पर जनता का पैसा पानी में चला जाएगा। नगर पालिका के संबंधित जिम्मेदार इंजीनियरो के द्वारा अब तक उक्त निर्माण कार्य का निरीक्षण भी नहीं किया गया है। जिस से ठेकेदार बेखौफ होकर अनियमित्ताओं को अंजाम दे रहा है। असंगठित कामगार कांग्रेस जिला   प्रशासन से शीघ्र उक्त नाली निर्माण में किए जा रहे भ्रष्टाचार की जांच कराने की मांग करता है।

संभागायुक्त श्री कियावत ने किया जिला चिकित्सालय का निरीक्षण

संभाग आयुक्त श्री कवीन्द्र कियावत ने शुक्रवार को जिला चिकित्सालय (ट्रामा सेंटर) पहुंचकर व्यवस्थाएं देखी। उन्होंने पूर्व दौरे में दिए गए निर्देशों के अनुरुप किए जा रहे कार्यों का अवलोकन किया। श्री कियावत ने अस्पताल में बन रहे ऑक्सीन कक्ष एवं सीटी स्केन कक्ष का निरीक्षण किया। ऑक्सीजन कक्ष के लिए पर्याप्त क्षमता वाला ऑक्सीजन टैंक लगाने एवं कक्ष का कार्य निर्धारित समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने मातृ एवं शिशु कक्ष की व्यवस्थाएं भी देखी।   संभाग आयुक्त श्री कियावत ने कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के साथ सैकड़ाखेड़ी क्षेत्र में हाईवे के किनारे शासकीय भूमि पर निर्माण कराए जा रहे तालाब का स्थल निरीक्षण कर परियोजना अधिकारी को आवश्यक निर्देश दिए। इस मौके पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह, अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर, सिविल सर्जन डॉ आनंद शर्मा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।        

सीहोर की शाहगंज नगर परिषद स्वच्छता सर्वेक्षण-2020 में छोटे शहरों में देश में बना नम्बर वन (अच्छी खबर)

sehore news
स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 में सीहोर जिले की नगर परिषद शाहगंज ने वेस्ट जोन में 25000 के कम जनसंख्या वाले शहरों में सर्वप्रथम स्थान प्राप्त किया है। 20 अगस्त को नई दिल्ली से आयोजित वर्चुअल अवार्ड सेरेमनी में भारत सरकार के शहरी विकास एंव आवास मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी ने नगर परिषद शाहगंज को पुरस्कृत किया इस कार्यक्रम में मंत्रालय के एनआईसी कक्ष में प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिहं चौहान व नगरीय प्रशासन मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह भी उपस्थित थे। प्रदेश के लिए गौरव का विषय है कि मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, गौवा और राजस्थान को शामिल करके बने बेस्ट जोन में नगर परिषद शाहगंज ने 25000 से कम जनसंख्या वाले शहरों की श्रेणी में "बेस्ट सिटी इन सिटीजन फीडबेक" का प्रथम पुरूस्कार प्राप्त किया है । इस प्रकार शाहगंज ने देश भर में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। नगर परिषद शाहगंज को गारबेज फ्री-सिटी की 3 स्टार रैंकिंग प्रमाणीकरण तथा कम लागत के फीकल स्लज ट्रीटमेंट प्लांट निर्माण कार्यो के कारण यह उल्लेखनीय स्थान प्राप्त हुआ है। सिटीजन फीडबेक के अंक सफाई को लेकर नागरिकों के संतुष्टि के स्तर को प्रदर्शित करते है, और शाहगंज को मिले उच्चतम अंक वहाँ के नागरिकों की सफाई के प्रति जागरूकता और नगर परिषद शाहगंज की सफाई सेवाओं के प्रति उनकी संतुष्टि का उच्च स्तर प्रदर्शित करती है। नगर परिषद शाहगंज ने स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में भी इसी श्रेणी में वेस्ट क्लीनेस्ट सिटी का अवार्ड भारत के राष्ट्रपति के हार्थो नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में प्राप्त किया था। शाहगंज के मुख्य नगर पालिका अधिकारी श्री रामानुज मिश्रा ने बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण में लगातार सफलता प्राप्त करने में श्री शिवराज सिंह चौहान, क्षेत्रीय सांसद श्री रमाकान्त भार्गव, कलेक्टर श्री अजय गुप्ता तथा जिला प्रशासन के मार्गदर्शन एवं सहयोग से शाहगंज को यह उपलब्धि हासिल हुई।    

आज 12 की रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई वर्तमान में कुल पॉजीटिव एक्टिव व्यक्तियों की संख्या 166

sehore news
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकार डॉक्टर सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि  आज 12 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। जिसमें सीहोर के संब्जी मंडी से 5 तथा इंदिरा कॉलोनी से 3 व्यक्ति, श्यामपुर के ग्राम आमरोद एवंकुशमादा से 1-1 एवं आष्टा के ग्राम भाउखेड़ी तथा डोडी 1-1 व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। जिले में कोरोना पॉजीटिव/एक्टिव व्यक्तियों की संख्या 166 है। जिले में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु संख्या 18 है। आज 17 व्यक्तियों को डिस्चार्ज किया गया है। जिसमें सीहोर के 7, बुदनी के 4, आष्टा के 3 तथा इछावर एवं श्यामपुर व नसरुल्लागंज का 1-1 व्यक्ति शामिल है।  जिले में अब तक स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज किए गए व्यक्तियों की संख्या 360 है। आज  427व्‍यक्तियों के  सैम्पल कोरोना जांच हेतु लिए गए है। सीहोर शहरी क्षेत्र से आज  69, श्यामपुर के 86, आष्टा से 80, इछावर के 70, नसरूल्लागंज के 50 एवं बुदनी के 72 व्यक्तियों के कोरोना जांच हेतु सैम्पल लिए है। आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है। सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम., आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 544 है जिसमें से 18 की मृत्यु हो चुकी है 360 स्वस्थ्‍ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में 166 पॉजीटिव व्यक्तियों का उपचार चल रहा है।  आज कुल 427 सैंपल जांच हेतु लिए गए। जिले से अब तक कुल 7783 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 6048 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। कुल 1149 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 42 है। जिले में कुल कंटेंमेंट एरिया 173 है जिनमें से 60 एक्टिव एवं 113 इनेक्टिव एरिया हैं। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर.7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104  नंबर पर ई.परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई.संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्ट्रेट कार्यालय सीहोर में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562.226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है।



जिले में अब तक 658.3 मि.मी. औसत वर्षा

जिले में आज 21 अगस्त, 2020 की प्रात:8 बजे समाप्त पिछले चौबीस घन्टों में 26.1 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। इसे मिलाकर 1 जून से अभी तक जिले में 684.4 मि.मी औसत बारिश रिकार्ड की जा चुकी है जबकि गत वर्ष इस अवधि में 943.5 मि.मी बारिश रिकार्ड की गई थी। अधीक्षक, भू-अभिलेख से मिली जानकारी के अनुसार पिछले चौबीस घन्टों में सीहोर में 74.2, श्यामपुर में 20, आष्टा में 9, जावर में 6, इछावर में 36, नसरुल्लागंज में 5, बुधनी में 45, रेहटी में 13.2 मिमी बारिश दर्ज की गई है। आंकड़ों के मुताबिक जिले में अभी तक सीहोर में 754.5, श्यामपुर में 510, आष्टा में 628.6, जावर में 499, इछावर में 537, नसरुल्लागंज में 665, बुदनी में 773 एवं रेहटी में 1108 मिमी बारिश दर्ज की गई है। गत वर्ष इस अवधि में सीहोर में 1251.4, श्यामपुर में 935, आष्टा में 996, जावर में 629.9, इछावर में 950, नसरुल्लागंज में 1085, बुधनी में 771 रेहटी में 930 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई थी।

डी.एल.एड. नियमित पाठ्यक्रम सत्र 2020-21 में प्रवेश के लिये प्रक्रिया प्रारंभ 

शासकीय जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों तथा अशासकीय महाविद्यालयों में द्विवर्षीय डिप्लोमा इन एलीमेन्ट्री एजुकेशन (डी.एल.एड.) नियमित पाठ्यक्रम में सत्र 2020-21 के लिए प्रवेश की प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है। राष्ट्रीय अध्यापक परिषद् (NCTE) से मान्यता प्राप्त एवं मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मण्डल से सम्बद्धता प्राप्त प्रदेश के शासकीय जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों (डाइट) एवं अशासकीय महाविद्यालयों में सत्र 2020-21 हेतु प्रवेश प्रारंभ हैं। डी.एल.एड. नियमित पाठ्यक्रम प्रवेश सत्र 2020-21 से संबंधित आदेश, प्रक्रिया, समय-सारणी एवं विस्तृत निर्देश आदि की जानकारी एम.पी. ऑनलाइन पोर्टल www.mponline.gov.in से ली जा सकती हैं। प्रवेश प्रक्रिया के प्रथम राउंड में ऑनलाइन पंजीयन करने की अंतिम तिथि 23 अगस्त 2020 है। इच्छुक अभ्यर्थी प्रवेश के लिये एम.पी. ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीयन एवं संस्थान का चयन कर सकते हैं।

कोरोना संक्रमित पाए गए व्यक्तियों के निवास स्थल को कलेक्टर ने किया कंटेंटमेंट क्षेत्र घोषित 

जिले में कोरोना संक्रमित पाए गए व्यक्तियों के निवास स्थल को कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा मध्यप्रदेश पब्लिक हेल्थ एक्ट 1949 की धारा 71 के तहत कंटेनमेंट एरिया घोषित किया गया है। कलेक्टर श्री गुप्ता द्वारा जारी आदेश अनुसार कोरोना पॉजिटिव पाए गए व्यक्तियों के निवास स्थान सीहोर के ग्राम गेरूखान को उत्तर से दक्षिण में कमरुद्दीन के मकान से शेर खां के खेत तक, दक्षिण से उत्तर से में कुंवर जी के मकान से रहमान के मकान तक, वार्ड नंबर 9 चाणक्यपुरी को उत्तर में एसएस परमार के मकान से पश्चिम में ओमप्रकाश परमार वाली गली तक कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया गया है। कंटेनमेंट एरिया के अन्तर्गत पूर्ण रूप से आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। कंटेनमेंट एरिया के समस्त निवासियों का होम कोरोनटाईन में रहना उचित होगा। कंटेनमेंट एरिया के अंदर भी आवागमन पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।

ड्रायवर ट्रेनिंग सेंटर को दिया जायेगा प्रोत्साहन 

परिवहन एवं राजस्व मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि प्रदेश में ड्रायवर ट्रेनिंग सेंटर को प्रोत्साहित किया जायेगा।  ड्रायविंग ट्रेनिंग सेंटर खोलने के लिये कोई भी व्यक्ति जिसके पास दो एकड़ की भूमि ऐसे स्थान पर उपलब्ध है जहाँ से वाहनों का आवागमन सुगमता से हो सके वह व्यक्ति अपनी प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कर परिवहन अधिकारी के माध्यम से जिला कलेक्टर से अनुमोदन कर परिवहन आयुक्त कार्यालय प्रेषित कर सकता है। भारत सरकार को प्रस्ताव प्रेषित करेंगे। प्रोजेक्ट की अनुमानित राशि का 50 प्रतिशत अथवा अधिकतम एक करोड़ रूपये तक की राशि भारत सरकार द्वारा अनुदान के रूप में स्वीकृत की जायेगी। उन्होंने कहा कि इस प्रोजेक्ट को प्रदेश में प्राथमिकता से प्रोत्साहित किया जायेगा।

पथभ्रष्ट यानों को मिलेगी कर की छूट-  परिवहन मंत्री श्री राजपूत ने बताया कि कंडम हो चुके वाहन जिनका रजिस्ट्रेशन निरस्त नहीं कराया गया है ऐसे पथभ्रष्ट वाहनों के कर भुगतान की अंतिम तिथि 31 मार्च 2020 थी। कोरोना संक्रमण के कारण वाहन मालिकों को राहत प्रदान करते हुए कर भुगतान की अंतिम तिथि 31 मार्च 2021 कर दी गई है।

प्रवर्तन अमले में होगी वृद्धि- मंत्री श्री राजपूत ने बताया कि राष्ट्रीय एवं राज्यीय राजमार्गों पर दुर्घटनाओं/ओवरलोडिंग से होने वाली हानि को रोकने के लिये प्रवर्तन अमले के रूप में पदों की स्वीकृति एवं भर्ती पर सहमति प्रदान की गई है।

वाहन स्थान ट्रेकिंग-  अपर मुख्य सचिव परिवहन श्री एस.एन. मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में संचालित होने वाली बसें निर्धारित समयानुसार संचालित हों, इसके लिये बसों में ट्रेकिंग सिस्टम के लिये कमांड कंट्रोल सेंटर की स्थापना की जा रही है, जिससे प्रत्येक बस की लोकेशन स्पष्ट हो सके की वह किस समय और कहां पर संचालित है, इससे आम जनता को समय पर बसों की सेवाएँ उपलब्ध कराने में सहायता मिलेगी। ऑटोमेटेड ड्रायविंग टेस्ट सेंटर-   समीक्षा बैठक में परिवहन आयुक्त श्री मुकेश जैन ने बताया कि क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय भोपाल में ड्रायविंग टेस्ट सेंटर का निर्माण पूरा हो चुका है, जो सितंबर 2020 से कार्य करना प्रारंभ कर देगा। इसी के साथ नवीन वाहनों को हाई-सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगाने का कार्य किया जा रहा है। पुरानी वाहनों में नंबर लगाने की कार्यवाही शीघ्र प्रारंभ की जायेगी।

सभी पॉलीटेक्निक कॉलेज एवं आईटीआई का होगा मूल्यांकन 

आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के लिए शिक्षा और कौशल विकास के प्रयासों को अब और व्यवस्थित स्वरूप दिया जा रहा है। इस तारतम्य में तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने समीक्षा करते हुए कहा कि प्रदेश के सभी पॉलीटेक्निक एवं आईटीआई का मूल्यांकन किया जायेगा। उन्होंने कहा कि सभी आईटीआई पॉलीटेक्निक एवं इंजीनियरिंग कॉलेज के भवनों को ग्रीन बिल्डिंग कन्सेप्ट पर तैयार किया जाये। साथ ही रेन वाटर हार्वेस्टिंग तथा सोलर पैनल के इस्तेमाल पर भी जोर दिया। प्रमुख सचिव तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास श्रीमती केरोलिन खोंगवार देशमुख ने जानकारी दी कि इंजीनियरिंग एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में छात्राओं को बढ़ावा देने के लिए स्थानीय महाविद्यालयों के माध्यम से कार्यक्रम तय किया जायेगा। उन्होंने कहा कि शिक्षकों के निरंतर व्यावसायिक विकास के लिए वार्षिक ट्रेनिंग कैलेंडर बनाया जा रहा है। आयुक्त तकनीकी शिक्षा श्री पी. नरहरि ने बताया कि पूर्व स्थापित संस्थानों में पाँच इंजीनियरिंग एवं दस पॉलीटेक्निक कॉलेजों में उत्कृष्टता केन्द्रों की स्थापना की जायेगी। इसके साथ ही इनोवेशन सेल एवं स्मार्ट क्लास रूम की स्थापना भी की जायेगी। श्री नरहरि ने बताया कि साइंस, टेक्नोलॉजी, इंजीनियरिंग एवं मैथ्स की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग के साथ समन्वय कर नीति निर्धारित की जाएगी। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के अग्रणी विश्वविद्यालयों के साथ मिलकर नॉलेज माड्यूल का निर्धारण किया जायेगा। संचालक कौशल विकास श्री एस. धनराजू ने बताया कि स्कूलों में व्यावसायिक प्रशिक्षण के लिए आईटीआई के साथ समन्वय किया जायेगा। उन्होंने बताया कि उद्योगों के साथ विचार-विमर्श कर फ्लेक्सिबल एवं माँग आधारित प्रशिक्षण दिया जायेगा। उद्योगों से परामर्श से वर्तमान पाठ्यक्रम का निर्माण किया जायेगा।

कोई टिप्पणी नहीं: