विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 08 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 8 अगस्त 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 08 अगस्त

अधिकारियों को दंडित कर हुई नुकसानी की वसूली के लिये आज ये प्रेस वार्ता

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा किसानों से गेंहूॅ चने की खरीदी एवं गेंहूॅ की बिक्री के संबंध में सरकार द्वारा लापरवाही बरतने की बजह से सरकारी धन, जनता के पैसे का दुरूपयोग करने के संबंध में संबंधित नेता माननीय मुख्यमंत्री जी, माननीय खाद्य मंत्री जी व उच्च अधिकारियों के खिलाफ जाॅच कर दोषी नेताओं एवं अधिकारियों को दंडित कर हुई नुकसानी की वसूली के लिये आज ये प्रेस वार्ता आयोजित की गई है। सर्व प्रथम मैं सभी पत्रकार साथियों को धन्यवाद देना चाहता हॅू कि विगत 28 तारीख को धरना एवं उपवास पर जाने की वजह से आज जिला अस्पताल में 7 वेंटीलेटर चालू हो गये है। इस मामले को आपके समाचार पत्र एवं टी.व्ही चेनलों पर प्रमुखता से रखा गया, जिसकी वजह से ये संभव हो सका एवं विदिशा जिले की जनता को लाभ मिला।  आज गेहूॅ चना खरीदी एवं बिक्री में व्याप्त लापरवाही एवं भ्रष्टाचार को उजागर करने के लिये मेेरे द्वारा समय समय पर जो प्रयास किये गये उससे में आपके माध्यम से इन विसंगतियों को जनता, नेता, अधिकारियों के बीच ले जा कर इन विसंगतियों को दूर कर जनता के पैसों को बचाने का एक छोटा सा प्रयास कर रहा हूॅ। 

1. सम्मानीय पत्रकार साथियों जैसा कि हम सबकों विदित है कि इस वर्ष प्रदेश में सरकार बदलने के बाद असमय वर्षा, ओले, आंधी की वजह से किसान भाईयों की खेत में खडी गेहूॅ की फसल पर पानी गिरने से फसल का रंग थोडा फीका पड गया जिसे बडे अधिकारी लस्टर लाॅस कहते है जिसकी वजह से म.प्र. सरकार के खरीदी केन्द्रो पर किसानो का गेहूॅ वापस किया जा रहा था, उस समय मेरे द्वारा मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया था, लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई तत्पश्चात मेरे द्वारा देश के माननीय प्रधानमंत्री जी, माननीय कृषि मंत्री जी एवं मुख्य प्रबंधक भारतीय खाद्य निगम व प्रमुख सचिव खाद्य विभाग को इस संबंध में पत्र लिखा लेकिन कोई जबाव नहीं आने पर मेरे द्वारा पुनः मुख्य प्रबंधक भारतीय खाद्य निगम एवं प्रमुख सचिव खाद ्य से दूरभाष पर चर्चा कर म.प्र. में गेहूॅ की फसल पर पानी गिरने से सफेद हुये गेहूॅ की खरीदी चालू करवाई गई। 
2. दिनंाक 17 अप्रैल 2020 को कलेक्टर महोदय से गेहूॅ उपार्जन केन्द्रों पर किसान की समस्याओं के निराकरण का सुझाव दिया, कुछ हद तक समस्याओं का निराकरण हुआ, लेकिन पूर्णतः निराकरण नहीं हो सका जिसकी वजह से किसानों को 25-30 किलोमीटर दूर अनाज की तौल कराने जाना पडा, जिसकी वजह से तपती धूप में 3-4 दिन खडे रहकर अपनी फसल की तुलाई करवाने पर मजबूर होना पडा। 
3. इस वर्ष गेहूॅ की पैदावार अधिक होने की वजह से सरकार किसानों का माल न खरीदने का मन बना चुकी थी। दिनंाक 13.05.2020 को सरकारी खरीद का ये आलम था कि 5 से 7 दिन के विलंम्ब से किसानो की उपज की तौल की जा रही थी, इसी बीच माननीय मुख्यमंत्री जी एवं खाद्य मंत्री जी द्वारा उच्च अधिकारियों के माध्यम से जिले में ये संदेश दिया गया कि पंजीकृत किसानों को जो मैसेज किये जा रहे है, उनकी वैद्यता मात्र 48 घण्टे रहेगी और जो किसान 48 घण्टे में माल नहीं तुलवा पायेगा उसे लाईन से बाहर कर दिया जायेगा। इसी बीच सरकार द्वारा बारदाने की सप्लाई रोक दी गई जिसकी वजह से जिले के तमाम किसान नौ तपे की गर्मी में अपनी फसल तुलवाने के लिये ट्राली के नीचे बैठकर इंतजार करते रहें एंव कई किसान भाई दुर्घटना के शिकार भी हुये। इस संबंध में मेरे द्वारा 19 तारीख को माननीय मुख्यमंत्री एवं माननीय कृषि मंत्री को पत्र लिखकर निवेदन किया गया। कृषि मंत्री जी सेे भी कई बार मोबाईल पर चर्चा करने का प्रयास किया लेकिन बात नहीं हो सकी।
4. दिनंाक 25 मई 2020 को पुनः माननीय मुख्यमंत्री जी को पत्र लिखकर निवेदन किया कि 26.05.2020 को गेहूॅ खरीदी की आखरी तारीख निश्चित की गई है लेकिन हजारों की संख्या में पंजीकृत किसानों की सम्पूर्ण उपज की तुलाई नहीं की जा रही। पुनः प्रशासन ने एक तुगलकी फरमान जारी किया जिसमें कहा गया कि जिन किसानों की ट्राली लाईन में लगी है उनका पंचनामा बनाकर उनकी ट्राली की तौल की जाये। इस संबंध में प्रमुख सचिव खाद्य म.प्र. शासन एवं संचालक खाद्य विभाग से भी चर्चा की गई लेकिन कोई संतोषजनक जबाव नहंी मिला। मैरे द्वारा जिला प्रशासन से भी अनुरोध किया गया कि गेहूॅ खरीदी का पंजीयन सरकार द्वारा कराया गया है तो फिर सिर्फ लाईन में लगे किसानों की खरीदी क्यों हो रही है। किसी किसान के पास यदि एक ट्राली से ज्यादा का माल बचा है तो बेचारे किसान का क्या कसूर है, लेकिन ऊपर के आदेश की प्रतिक्षा में जिला प्रशासन भी असहाय था। 
5. 28 मई 2020 को पुनः माननीय मुख्यमंत्री जी को पत्र लिखकर आग्रह किया गया कि पंजीकृत किसानों का गेहूॅ तत्काल तौला जावे व 48 घण्टे के मैसेज की बाध्यता को समाप्त किया जाये एवं पोर्टल पर गेहूॅ की बिक्री के साथ ही पर्ची चढाने की व्यवस्था की जावे।  इस पत्र का भी कोई उत्तर मेरे पास नहीं आया। और किसान परेशान होता रहा।  
6. इस बीच चने की खरीदी में भी किसान भाई इसलिये परेशान थे कि  तेवडा मिले होने की वजह से सरकार द्वारा चना नहीं खरीदा जा रहा जिसके लिये मेरे द्वारा दिनंाक 5.05.2020 को माननीय कृषि मंत्री भारत सरकार को चने में तेवडे की 2 प्रतिशत मात्रा होने पर क्रय किये जाने का आग्रह किया गया था क्योंकि पिछले वर्षांें में भी सरकार द्वारा चने में 2 प्रतिशत तेवडा मिला होने पर खरीद की गई थी। इस संबंध में दिनंाक 2 जून 2020 को कांग्रेस पार्टी द्वारा कलेक्टेªट में प्रर्दशन किया गया था। इसके बाद नींद में सोती हुई सरकार उठी और 6 जून 2020 को सरकार ने आदेश दिया कि चने में 2 प्रतिशत मात्रा में मिले हुये तेवडे को खरीदा जावेगा, लेकिन खरीदी की तारीख 10 जून 2020 थी, जिसकी वजह से हजारों किसान भाई चना बेचने से बंचित रह गये। इन सब विसंगतियों के रहते सरकार द्वारा विलम्ब से निर्णय लेने की वजह से समितियों पर खरीदे गये गेहूॅ का परिवहन समय से नहीं हो सका जिसकी वजह से समितियों पर किसानों द्वारा बेचा गया गेहूॅ भारी मात्रा में भीग गया भीगने की वजह से आज भीगे हुये गेहूॅ की यह स्थिति है कि जानवरों के खाने लायक तक नहंी बचा इसके बावजूद आज समाचार पत्रों में जानकारी प्राप्त हुई कि भीगे हुये गेहूुॅ को सरकार द्वारा नीलामी के द्वारा व्यापारियो को बेचा जा रहा है। आपके माध्यम से सरकार में बैठे जिम्मेदार लोगों से मैं ये पूछना चाहता हूॅ कि जो गेहूॅ जानवरो के खाने लायक नहीं है उसे व्यापारियों को बेचने से आपके गोदाम तो खाली हो जायेगे लेकिन व्यापारी जब इस माल को अच्छे माल के साथ मिलाकर बेचेगें तो आम आदमी को इसके उपयोग से नुकसान होना स्वभाविक है। इस गेहूॅ की नीलामी से ऐसा प्रतीत होता है कि सरकार ने यह तय कर लिया है कि इंसान कोविड से मरे या न मरे सरकार ऐसे काम करेगी कि किसी न किसी चीज से जनता को मरने पर विवश होना पडेगा। म.प्र. शासन पर मेरा आरोप है कि गेहूॅ की तुलाई परिवहन एवं भण्डारण में माननीय मुख्यमंत्री सहित जिम्मेदार नेताओं एवं जिम्मेदार अधिकारियों पर जांच कर दोषियों पर सख्त से सख्त सजा एवं जनता के पैसे की बर्बादी को बसूल करने का कार्य तुरन्त किया जाये, जिससे कि आगामी वर्षाै में नेता अधिकारी कर्मचारी इस तरह लापरवाही करने की हिम्मत न जुटा पाये।  गेहूॅ खरीदी का मात्र एक उदाहरण आपके सामने प्रस्तुत कर रहा हूॅ जिससे आप व प्रदेश की जनता सबकुछ समझ सकती है। विदिशा जिले में पीपलखेडा कलाॅ एक समिति है जो कि सरकारी खरीद के लिये अधिकृत है वहाॅ के किसानों का 16 मई तक गेहूॅ खरीदा जाता है उसके बाद यह कहकर खरीदी बंद कर दी जाती है कि अब हम गेहूॅ की खरीदी नहीं करेंगे। इस संबंध में मेरे द्वारा जिला प्रशासन मैं बैठे अधिकारियों से कईबार चर्चा की गई। आश्वासन मिलता रहा कि खरीदी होगी लेकिन 38 किसानों जिनके पास करीब साढे 16 हजार क्विंटल गेहूॅ बचा था उसेे नहंी खरीदा गया। मात्र 24 मई से 30 मई तक 3 रसूखदार किसानेा ंका गेहॅू खरीदा गया बांकि 35 किसानों का गेहूॅ नहीं खरीदा गया। इन 35 किसानों की लिस्ट भी आपके सामने प्रस्तुत कर रहा हूॅ। आप सभी से अनुरोध है कि इस मामले को समाचार पत्र एवं टी.व्ही चैनलों पर तत्परता से उठाने की कृपा करे जिससे की किसानो एवं जनता को न्याय मिल सके।

आबकारी विभाग द्वारा कार्यवाही 

vidisha news
विदिशा जिले में अवैध मदिरा धारण,परिवहन,निर्माण एवं विक्रय की रोकथाम हेतु  कलेक्टर विदिशा डॉ.श्री पंकज जैन के आदेशानुसार,नवागत जिला आबकारी अधिकारी श्री डी.एन. त्रिवेदी के मार्गदर्शन मे चलाये जा रहे है ।  विशेष अभियान के तहत आज आठ अगस्‍त को आबकारी उपनिरीक्षक वृत्त सिरोंज प्रभारी डॉ अर्चना जैन  द्वारा  मुखबिर से प्राप्त सूचना के आधार पर सिरोंज शहर के लटेरी नाका स्थित आरोपी राकेश पुत्र खुशीलाल प्रजापति के रिहायशी मकान पर मय आबकारी बल के दबिश देकर उसे 26 पाव देशी मशाला मदिरा के साथ रंगे हाथ गिरफ्तार कर उसके विरुद्ध मध्य प्रदेश आबकारी अधिनियम 1915 संशोधित 2000 की धारा 34(1) (क) के तहत् प्रकरण कायम कर विवेचना मे लिया गया|  जब्त मदिरा का बाजार मूल्य 2600/ रुपये है| उक्त कार्यावाही मे श्री महेश विश्वकर्मा आबकारी उप निरीक्षक तथा आबकारी बल के आरक्षक श्री शिव लाल, प्रदीप मालवीय रोशन भार्गव एवम प्रमोद धुर्वे  का विशेष  सहयोग रहा। जिले में  विशेष अभियान की कार्यवाही सतत जारी रहेगी।

कंटेनमेंट जोन में दुकानो का संचालन करने वालो पर एफआईआर दर्ज कराएं

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने शनिवार को नोडल अधिकारियो के कार्यो का जायजा लिया। उन्होंने अखबारों में प्रकाशित कंटेनमेंट जोन में दुकानदारो द्वारा व्यवसाय का संचालन करने को अति गंभीरता से लेते हुए संबंधित अधिकारियों को एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए है।  कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि कंटेनमेंट जोन के लिए जो गाइड लाइन जारी की गई है उसका अक्षरशः पालन कराया जाना सुनिश्चित हो। उन्होंने इस प्रकार के क्षेत्रो में जागरूकता पर विशेष बल देते हुए संदेशो का प्रसारण हो के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं।  कलेक्टर डॉ जैन ने कोरोना वायरस कोविड 19 के सेम्पल पॉजिटिव पाए जाने पर उस क्षेत्र के चिन्हित व्यक्ति को कोविड केयर सेन्टर में अनिवार्यतः भर्ती कराया जाना है। निकाय क्षेत्रों में इस कार्य में स्थानीय पार्षदो की एक समिति गठित कर सुरक्षा और निगरानी के दायित्वों में मदद ली जाए। उन्होंने जिले के सभी निकायो में वार्डवार समितियों के गठन कार्य का शीघ्रतिशीघ्र सम्पादन कराने हेतु नियुक्त नोडल अधिकारी श्री विजय श्रीवास्तव को आवश्यक दिशा निर्देश दिए है। कलेक्टर डॉ जैन ने कोरोना वायरस कोविड 19 के संक्रमण को रोकने के लिए मास्क और सोशल डिस्टेन्सिग पर बल देते हुए जागरूकता संबंधी कार्यक्रम अधिक से अधिक आयोजित किए जाएं। उन्होंने उपरोक्त कार्यो के लिए पृथक से नुक्कड़ नाटक की पांच से छह सदस्यीय टीमे बनाने के निर्देश दिए है ताकि विभिन्न चौराहो पर सोशल डिस्टेन्सिग का पालन कराते हुए कोविड 19 के संक्रमण को कैसे रोका जाए के संदेश स्थानीय भाषा व संकेतो तथा नाट्य के माध्यम से आमजनों तक सुगमता से पहुंच सकें।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने कोविड केयर सेन्टरों में भर्ती मरीजो को मुहैया कराई जाने वाली बुनियादी सुविधाओं के साथ-साथ अन्य प्रबंधनो की जानकारियां नोडल अधिकारियों से जानी।  नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल, अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह के अलावा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार, सिविल सर्जन सह अधीक्षक डॉ संजय खरे के अलावा अन्य नोडल अधिकारी मौजूद थे। 

दुग्ध संग्रह में पिछड़ने पर शोकॉज नोटिस जारी करने के निर्देश

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने शनिवार को दुग्ध संग्रह के कार्यो की समीक्षा की। उन्होंने सांची दुग्ध संघ के जिला प्रबंधक को शोकॉज नोटिस जारी करने के निर्देश अपर कलेक्टर को दिए है। कलेक्टर डॉ जैन के द्वारा पशुपालकों को किसान क्रेडिट कार्ड जारी करने के कार्यो के भी समीक्षा की है।  सांची दुग्ध संघ के द्वारा जिले में गत माह से कम दूध संग्रह करने के कार्य को लापरवाही की श्रेणी में मानते हुए जिला प्रबंधक को पत्र जारी करने तथा समितियों के माध्यम से अधिक से अधिक दुग्ध संघ के कार्य हेतु पृथक से रणनीति तय कर क्रियान्वयन कराने के निर्देश दिए गए है।  कलेक्टर डॉ जैन के द्वारा पशुपालको को जारी होने वाले केसीसी जारी करने के कार्य की भी समीक्षा की गई। लीड़ बैंक आफीसर श्री बीएस बघेल ने बताया कि जिले की विभिन्न राष्ट्रीयकृत बैंको की शाखाओं को कुल 1790 आवेदन केसीसी जारी करने हेतु प्राप्त हुए है जिसमें से परीक्षण उपरांत 333 आवेदन स्वीकृत किए गए है तथा 132 पशपालको को किसान क्रेडिट कार्ड नवीन गाइड लाइन के अनुसार जारी किए गए है जबकि कुल आवेदनों में से विभिन्न कारणो के फलस्वरूप 524 आवेदन निरस्त हुए है।  कलेक्टर डॉ जैन ने सख्त हिदायत देते हुए कहा कि जिले के सभी पशुपालकों को किसान क्रेडिट कार्ड जारी किए जाने है इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नही होंगी। उन्होंने कहा कि निरस्त हुए आवेदनों की पुनः जांच कर संबंधित आवेदक से उन कागजों की पूर्ति कराई जाए जिसके कारण से आवेदन निरस्त की श्रेणी में शामिल हुआ है। उन्होंने कॉ-आपरेटिव सेक्टर की बैंको में भी अधिक से अधिक प्रकरण प्रेषित करने के निर्देश दिए है।  कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि विदिशा जिले में दुग्ध उत्पादन की अपार संभावनाएं है विभिन्न योजनाओं के तहत पशुपालकों को उन्नत नस्ल की गाय व भैंसे प्रदाय की गई है। समय समय पर उन्नत तकनीकियों से पशुपालकों को अवगत कराने के कार्यक्रम आयोजित करने पर बल देते हुए ग्राम स्तरीय समितियों से दुग्ध संग्रह के कार्य में सांची दुग्ध के द्वारा स्थानीय भौगोलिक परिस्थितियों अनुसार कार्ययोजना बनाई जाए।  नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल, अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, कॉ-आपरेटिव बैंक के सीईओ श्री विनय प्रकाश सिंह, पशु चिकित्सा सेवाएं विभाग के उप संचालक तथा दुग्ध संग्रह कार्यक्रम पर निगरानी रखने हेतु नियुक्त नोडल अधिकारी  मौजूद थे।

उप जिला निर्वाचन अधिकारी का दायित्व डिप्टी कलेक्टर श्री प्रजापति को

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डॉ पंकज जैन के द्वारा पूर्व जारी प्रशासकीय कार्यादेश में आंशिक संशोधन करते हुए डिप्टी कलेक्टर श्री प्रवीण प्रजापति को वर्तमान कार्यो के साथ-साथ उप जिला निर्वाचन सामान्य, स्थानीय निर्वाचन अधिकारी का दायित्व सौंपा है। जिला कोषालय अधिकारी श्री मनोज श्रीवास्तव को उप जिला निर्वाचन अधिकारी सामान्य, स्थानीय के वित्तीय मामलों का प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया है। 

लिंक अधिकारी
कलेक्टर डॉ जैन के द्वारा लिंक अधिकारी भी नियुक्त किए गए है तदानुसार पूर्व उल्लेखित अधिकारियों के शासकीय प्रवास तथा अवकाश पर होने पर शासकीय कार्य प्रभावित ना हो को दृष्टिगत रखते हुए नामदर्ज लिंक अधिकारी नियुक्त करने का भी आदेश जारी किया गया है तदानुसार डिप्टी कलेक्टर श्री प्रवीण प्रजापति के लिंक अधिकारी जिला कोषालय अधिकारी श्री उमेश श्रीवास्तव इसी प्रकार जिला कोषालय अधिकारी श्री उमेश श्रीवास्तव के लिंक अधिकारी डिप्टी कलेक्टर श्री प्रवीण प्रजापति होंगे।

अनलॉक डाउन तीन के तहत आंशिक छूट संबंधी आदेश जारी

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डॉ पंकज जैन के द्वारा जिले में अनलॉकडाउन तीन के अंतर्गत दी जाने वाली आंशिक छूटो के उल्लेखयुक्त आदेश जारी कर दिया है। उक्त आदेश आगामी आदेश पर्यन्त तक प्रभावशील रहेगा।  कलेक्टर डॉ जैन के द्वारा जारी आदेश में उल्लेखित आंशिक छूटो की जानकारी इस प्रकार से है। कंटेनमेंट जोन के बाहर निम्न गतिविधियों को छोड़कर अन्य समस्त गतिविधियों को संचालन करने की अनुमति होगी उनमें कंटेनमेंट जोन में अत्यावश्यक आपूर्तियों को छोड़कर समस्त गतिविधियां पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगी तथा भारत सरकार के द्वारा ततसंबंध में जारी दिशा निर्देशो को कढ़ाई से पालन किया जाएगा।  स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक तथा कोचिंग संस्थान 31 अगस्त 2020 तक बंद रहेंगे किन्तु ऑनलाइन डिस्टेन्स लर्निंग की अनुमति जारी रहेगी।  सिनेमा हाल, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थियेटर, वॉर, आडिटोरियम, एसेम्बली हाल एवं अन्य समान स्थल बंद रहेंगे। सामाजिक, राजनैतिक, खेलकूद, मनोरंजन एकेडमिक, सांस्कृतिक, धार्मिक आयोजन एवं अन्य बड़े भीड के जमावडो पर प्रतिबंध रहेगा।  माह के प्रत्येक रविवार को जिले में पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। किन्तु स्वास्थ्य सेवाएं यथा चिकित्सालय तथा मेडीकल स्टोर एवं दुग्ध पार्लर तथा दुग्ध विक्रेता उक्त लॉक डाउन से मुक्त रहेंगे। रात्रिकालीन कर्फ्यू रात्रि दस बजे से प्रातः पांच बजे तक लागू रहेगा।  रविवार को छोड़कर जिले के समस्त व्यवसायी प्रतिष्ठान, दुकाने रात्रि आठ बजे तक अनिवार्य रूप से पूर्णतः बंद किए जाएंगे। किन्तु भोजनालय एवं रेस्टोरेन्ट (इसमें वह प्रतिष्ठान दुकाने जो पकी हुई खाद्य सामग्री का विक्रय करते है चाहे ग्राहक को अपने प्रतिष्ठान में बैठाकर अथवा पार्सल के माध्यम से भवन अथवा ठेले के माध्यम से व्यवसाय करते हो सम्मिलित रहेगे) रात्रि दस बजे तक अपनी भोजन सेवाएं प्रदान कर सकेंगे। जिम, योगा केन्द्रों का संचालन किया जा सकेगा किन्तु जिम योग केन्द्र संचालकों को लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण भारत सरकार की गाइड लाइन का पालन करना होगा। किसी भी स्तर से समस्याओं को यदि सुना जाना आवश्यक हो तब विशेष ध्यान रखा जावें। एक साथ पांच से अधिक व्यक्ति एकत्रित ना हो तथा उनके द्वारा सोशल डिस्टेसिंग का पालन किया जाए। राजनैतिक रैलियां पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगी, किन्तु जनप्रतिनिधि अपने क्षेत्र में वर्चुअल रैलियों का आयोजन कर सकते है।  माननीय जनप्रतिनिधियों के सार्वजनिक दौरा कार्यक्रम तथा क्षेत्र में जाकर विकास कार्यो का शिलान्यास, भूमिपूजन, लोकार्पण आदि आयोजन प्रतिबंधित रहेंगे। यह स्पष्ट किया जाता है कि शिलान्यास, भूमिपूजन, लोकार्पण आदि वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से सोशल डिस्टेसिंग के मापदण्डो का पालन करते हुए आयोजित किए जा सकते है। स्वास्थ्य कारणो को छोड़कर समस्त 65 वर्ष से अधिक आयु वर्ग वाले वृद्व व्यक्तियों, बीमार व्यक्तियों, गर्भवती महिलाओं तथा 10 वर्ष से कम आयु वाले बच्चों को घर से बाहर न जाने की सलाह दी जाती है। सार्वजनिक स्थल पर थूकना दंडनीय अपराध होगा। सार्वजनिक स्थलों पर शराब, पान, गुटका, तम्बाकू आदि का सेवन प्रतिबंधित रहेगा। शासकीय, अर्द्वशासकीय, अशासकीय कार्यालयों में थर्मल स्कैनिंग, हैडवाश और सेनिटाईजर तथा कार्यस्थल पर ऐसे स्थल जो बार-बार मानव सम्पर्क में आते है। जैसे डोर हैंडल आदि को सेनेटाईज की जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये।  अंतिम संस्कार के विषय में बीस से अधिक व्यक्तियों को अनुमति नही दी जायेगी। उक्त कार्यक्रम में सोशल डिस्टेन्सिग का पालन किया जाना अनिवार्य होगा। विवाह आयोजन में पचास से अधिक व्यक्तियों की उपस्थिति प्रतिबंधित रहेगी।  विवाह में चल समारोह पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। आयोजन के दौरान सोशल डिस्टेसिंग तथा कोविड 19 के संबंध में स्वास्थ्य विभाग की गाइड लाइन का पालन किया जाना अनिवार्य है। कोई भी धार्मिक कार्य, त्यौहार का आयोजन सार्वजनिक स्थलों पर नहीं किया जाएगा, न ही कोई धार्मिक जुलूस या रैली निकाली जाएगी। साथ ही सार्वजनिक स्थानों पर किसी प्रकार की मूर्ति, झांकी आदि स्थापित नहीं की जाएगी। सर्वसंबंधितों से अपेक्षा है, कि अपने-अपने घरों में पूजा, उपासना करेंगे।  धार्मिक, उपासना स्थलों पर कोविड 19 के संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक है कि एक समय में पांच से अधिक व्यक्ति इकट्ठे ना हो। साथ ही उपासना स्थलों पर फेस कवर एवं सोशल डिस्टेन्सिग के मानकों का कड़ाई से पालन किया जाना सुनिश्चित किया जाए।  समस्त दुकानदारों, प्रतिष्ठान संचालकों को केन्द्र एवं राज्य शासन की गाइड लाइन का पालन करना अनिवार्य होगा। संबंधित दुकान संचालक अपनी-अपनी सामग्री का विक्रय, दुकान की सीमा में रखकर ही करेंंगे तथा रोड, रास्ता पर अतिक्रमण नही करेंगे। उल्लघंन की दशा में दुकान को सात दिवस की अवधि के लिए सील किया जाएगा। समस्त शासकीय अधिकारियों, कर्मचारियों को आरोग्य सेतु एप अपने-अपने मोबाइल फोन में इन्स्टाल करना अनिवार्य होगा। कोविड 19 के प्रबंधन हेतु प्रसारित राष्ट्रीय, राज्य स्तरीय दिशा निर्देशो का उल्लंघन करने वाले तथा मास्क, फेस कवरिंग का उपयोग  एवं सोशल डिस्टेसिंग का पालन न करने वालो तथा शादी, विवाह, निजी कार्यक्रम, अंत्येष्टि कार्यक्रम में नियत संख्या से अधिक लोगो के भाग लेने पर संबंधितों के विरूद्व आपदा प्रबंधन अधिनियम की धाराओ के प्रावधानो के तहत जुर्माना सहित दाण्डिक कार्यवाही की जाएगी। 

सर्जिकल ग्लब्स प्रदाय 

अटल बिहारी वाजपेयी शासकीय चिकित्सा मेडिकल कॉलेज में संचालित कोविड केयर सेन्टर के लिए हर रोज जिले के गणमान्य नागरिक, विभिन्न संस्थाओं के द्वारा सामग्री प्रदाय की जा रही है। शनिवार को अनाज, तिलहन, व्यापार, उत्थान कल्याण संघ विदिशा के द्वारा 250 सर्जिकल ग्लब्स प्रदाय किए गए है। उक्त सराहनीय प्रयास के लिए चिकित्सालय परिवार द्वारा आभार व्यक्त किया गया है।

सहयोग से सुरक्षा अभियान पर व्हीसी 11 को 

कोविड 19 संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए सहयोग से सुरक्षा अभियान चलाया जाना है। अभियान के मूल उद्वेश्यों से अवगत कराने हेतु 11 अगस्त को वीडियो कांफ्रेसिग के माध्यम से विस्तृत मार्गदर्शन व दिशा निर्देश जिला स्तरीय अमले को देने हेतु अपरान्ह 12 बजे से प्रमुख सचिव स्वास्थ्य द्वारा वीडियो कांफ्रेसिंग का आयोजन किया गया है। जिसमें जिला स्तरीय नोडल अधिकारी अनिवार्य रूप से मौजूद रहेंगे। ज्ञातव्य हो कि सहयोग से सुरक्षा अभियान का प्रदेश में 15 अगस्त से संचालन किया जाना है जिसके तहत पंच लाइन सहयोग और समर्थन से ही विजय कोरोना समाप्ति, दृढ निश्चय पर कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। 

नगद इनाम की घोषणा

पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा ने थाना लटेरी में दर्ज अपराध के फरार आरोपी की सूचना देने अथवा गिरफ्तारी कराने में मदद करने वाले के लिए नगद इनाम देने की घोषणा की है।  थाना लटेरी में दर्ज अपराध प्रकरण क्रमांक 79/2020 का फरार आरोपी राजे खां पुत्र इस्लाम खां उम्र 32 साल, निवासी मलनिया तथा छोटे खां पुत्र इस्लाम खां उम्र 26 साल निवासी मलनिया की गिरफ्तारी में मदद करने अथवा सूचना देने वाले के लिए क्रमशः दस-दस हजार रूपए का इनाम घोषित किया गया है सूचना देने वाला व्यक्ति चाहे तो उसका नाम गोपनीय रखा जाएगा।

जिले में अब तक 535.6 मिमी औसत वर्षा दर्ज

जिले में अब तक 535.6 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई है कि जानकारी देते हुए अधीक्षक भू-अभिलेख ने बताया कि आठ अगस्त को 3.9 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई है। गौरतलब हो कि गतवर्ष उक्त अवधि में 482 मिमी वर्षा दर्ज हुई थी।  तहसीलों में स्थापित वर्षामापी यंत्रो पर आठ अगस्त को दर्ज वर्षा की जानकारी तदानुसार विदिशा में 5.4 मिमी, कुरवाई में 14 मिमी, सिरोंज में तीन मिमी, लटेरी में दो मिमी, ग्यारसपुर में छह मिमी तथा गुलाबगंज में एक मिमी वर्षा दर्ज हुई है जबकि बासौदा तथा नटेरन तहसील में वर्षा नगण्य रही। 

कोई टिप्पणी नहीं: