विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 17 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 17 अगस्त 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 17 अगस्त

जांच समिति का गठन

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने आज लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक में कृषि विभाग के सेम्पल अब तक प्रयोगशाला में नही पहुंचने को अति गंभीरता से लेते हुए जांच समिति का गठन कर उन्हें शीघ्र रिपोर्ट देने के निर्देश दिए है। कलेक्टर के द्वारा दो सदस्यीय जांच समिति गठित की गई है जिसमें संयुक्त कलेक्टर श्रीमती अंजली शाह, जिला श्रमपदाधिकारी श्री सुधीश कमल को शामिल किया गया है। समिति के सदस्य जिन बिन्दुओं पर जांच करेंगे उनमें सेम्पल कब लिया गया। प्रयोगशाला कब भेजा गया। प्रयोगशाला भेजने के दस्तावेंज तथा रजिस्टर्ड डाक की पावती इत्यादि की जांच पड़ताल कर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे।

एक से अधिक पीडीएस दुकान संचालकों को पृथक करें

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने आज टीएल बैठक में जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू को निर्देश दिए है कि जिले में संचालित होने वाली उचित मूल्य दुकानो के संचालन में यदि किसी एक व्यक्ति द्वारा एक से अधिक उचित मूल्य दुकानो का संचालन किया जा रहा है तो उसे नियमानुसार पृथक कर अन्य को दुकान संचालन आवंटन करने की प्रक्रिया क्रियान्वित की जाए। सहकारिता विभाग के माध्यम से उपरोक्त कार्यवाही प्रचलन में है। उक्त कार्य में खाद्य विभाग के साथ-साथ कॉ-आपरेटिव सेक्टर के अमले को भी संयुक्त जबावदेंही सौंपी गई है।  जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि जिले में उचित मूल्य दुकानो के 72 विक्रेता (संचालनकर्ता) के द्वारा क्रमशः दो-दो पीडीएस दुकानो का संचालन किया जा रहा है।

इन-डोर स्टेडियम के लिए भूमि का चिन्हांकन

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने आज टीएल बैठक में जिला खेल अधिकारी श्रीमती पूजा कुरील को निर्देश दिए है कि जिले में बेहतर खेल सुविधाएं मुहैया हो। उन्होंने विदिशा जिला मुख्यालय पर इन-डोर स्टेडियम के लिए भूमि का चिन्हांकन करने के निर्देश विदिशा एसडीएम को दिए है। कलेक्टर द्वारा युवराज क्लब की भूमि की जानकारी संकलित करने के भी निर्देश दिए है।  कलेक्टर डॉ जैन ने खेल स्टेडियम प्रागंण में तैयार हो रहे बैडमिंटन कोट को वुडन कोट का प्राक्कलन तैयार करने के निर्देश दिए है इसी प्रकार लॉन टेनिस कोट की मरम्मत कार्य का भी प्र्राक्कलन तैयार कराकर खेल विभाग को भेजने के निर्देश दिए है। 

कार्यो की समीक्षा


कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने आज टीएल बैठक में लंबित आवेदनों पर संबंधित विभागों के द्वारा अब तक की गई कार्यवाही की अद्यतन जानकारियां प्राप्त की। उक्त समीक्षा बैठक में राजस्व, स्वास्थ्य, शिक्षा, सर्व शिक्षा, खाद्य, पीडब्ल्यूडी, पीएचई, आरईएस, पशु चिकित्सा, सांख्यिकी, पंजीयन, पीआईयू, सामाजिक न्याय, महिला एवं बाल विकास विभाग, जल संसाधन, नगरपालिका के अलावा एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार स्तर पर लंबित आवेदन जो टीएल बैठक में शामिल है तथा विभागों को प्रेषित पेपर कंटिग पर की गई कार्यवाही की जानकारियों से संबंधित विभागों के अधिकारियों द्वारा अवगत कराया गया है।  नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह के अलावा विभिन्न विभागों के जिलाधिकारी मौजूद थे। 

कोरोना के सेम्पल परीक्षण हेतु अब भोपाल नही जाएंगे, नोडल अधिकारियो के कार्यो की समीक्षा 

जिले में कोरोना वायरस कोविड 19 के संक्रमण को रोकने तथा प्रभावितों को बेहतर इलाज तथा अन्य आवश्यकताओं की पूर्ति के क्रियान्वयन हेतु जिला अधिकारियों को नोडल का दायित्व सौंपा गया है वही गठित आरआरटी एवं एमएमयू टीम के माध्यम से सम्पादित होने वाले कार्यो की कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा हर रोज समीक्षा की जा रही है।  कलेक्टर डॉ जैन ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए है कि जिले में हर रोज तीन सौ से अधिक सेम्पल संकलित किए जाएं। उन्होंने पेडिंग सेम्पलो का परीक्षण शीघ्रतिशीघ्र करने के निर्देश देते हुए बताया कि अब विदिशा जिले के सेम्पल परीक्षण हेतु भोपाल प्रेषित नही किए जाएंगें। अब जिला मुख्यालय पर ही परीक्षण की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की गई है। जिसमें पूर्व से ही मेडिकल कॉलेज तथा टू्र नाट  में सेम्पलो के परीक्षण कार्य सम्पादित हो रहे थे। जिले को अब रेपिड एंटीजन किट से सेम्पलों के परीक्षण की सुविधा मुहैया हुई है। कलेक्टर द्वारा सेम्पल के बेकलॉग को शीघ्रतिशीघ्र पूरा कर हर रोज लिए जाने वाले सेम्पलों की परीक्षण रिपोर्ट अधिकतम दूसरे दिन प्राप्त हो जाए के पुख्ता प्रबंध स्थानीय स्तर पर सुनिश्चित किए जाए। 

आज 13 मरीज डिस्चार्ज हुए 

कोविड केयर सेन्टरों में भर्ती मरीजो के पूर्ण स्वस्थ होने के उपरांत उन्हें डिस्चार्ज करने के कार्य नियमानुसार सम्पादित हो रहे है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि सोमवार 17 अगस्त को जिले में कुल 13 मरीज कोविड केयर सेन्टरों से डिस्चार्ज होंगे। जिसमें जिला मुख्यायल के कोविड केयर सेन्टर में से दस, तथा बासौदा के तीन शामिल है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अहिरवार ने बताया कि अभी तक जिला मुख्यालय के कोविड केयर सेन्टर में भर्ती मरीजो की संख्या 91 है जबकि सिरोंज के कोविड केयर सेन्टर में दस, तथा बासौदा कोविड केयर सेन्टर में 14 मरीजों का इलाज चिकित्सकों द्वारा किया जा रहा है। जिले के 11 मरीज भोपाल में तथा पांच कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज इन्दौर के चिकित्सालयों में किया जा रहा है। 

झोला छाप डाक्टरों पर सख्त कार्यवाही करें-कलेक्टर डॉ जैन
व्हीसी के माध्यम से समीक्षा  
vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने आज वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्मय से अनुविभाग स्तर के कार्यो की समीक्षा की। कलेक्टर डॉ जैन ने समस्त एसडीएम को सख्त हिदायत व निर्देश दिए है कि झोला छाप डाक्टरों की क्लीनिकों को सील्ड करने की कार्यवाही शीघ्रतिशीघ्र की जाए। उन्होंने कहा कि सर्दी, खांसी के मरीजो का इनके द्वारा लंबे समय तक इलाज करने के कारण कोरोना वायरस कोविड 19 के संक्रमण की संभावना बढ़ जाती है वही झोला छाप डाक्टरोंं के द्वारा समय पर सेम्पल प्रक्रिया से मरीजो को अवगत नही कराया जाता है। झोला छाप डाक्टर मरीजो के इलाज हेतु विधिवत रूप से अधिकृत नही है अतः किसी भी मरीज की जान के साथ किसी भी प्रकार का खिलावाड बर्दाश्त नही किया जाएगा। कलेक्टर डॉ जैन ने समस्त एसडीएमों को निर्देश दिए है कि झोला छाप डाक्टरों पर की गई कार्यवाही की अद्यतन प्रगति से हर रोज अवगत कराएं। उन्होंने इसे अभियान के रूप में क्रियान्वित कर एक दो दिवस के भीतर समस्त झोला छाप डाक्टरों की क्लीनिकों को सील्ड करने के निर्देश दिए है।  कलेक्टर डॉ जैन ने सिरोंज, लटेरी एवं नटेरन क्षेत्रों की शैक्षणिक संस्थाओें में बालिकाओं के दाखिला कम होने को अतिगंभीरत से लेते हुए संबंधित क्षेत्र के बीआरसी को नोटिस जारी करने के निर्देश देते हुए उन तथ्यों का पता लगाया जाए कि कौन-कोन से स्कूल से ड्राफ आउट हुए है। उन्होंने अभिभावको द्वारा बालिकाओं का दाखिला स्कूलों में खासकर आठवीं उत्तीर्ण होने के उपरांत नही कराया जा रहा है। कलेक्टर द्वारा बालिकाओं के अभिभावकों से सम्पर्क साधकर शिक्षा की महत्वता और उपयोगिता के अलावा राज्य सरकार द्वारा शिक्षा के लिए किए गए प्रबंधो से अवगत कराएं और ऐसी बालिकाएं जिनका अभी तक नामांकन दाखिल नही हुआ है। मुहिम के रूप में क्रियान्वित कर दाखिला कराएं।  कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि पीएम स्ट्रीट वेण्डर के प्रकरणों में शीघ्रतिशीघ्र वित्त पोषण की कार्यवाही क्रियान्वित की जाए। उन्होंने समस्त एसडीएमों को निर्देश दिए है कि निकायों के अधिकारियों की बैठक आहूत कर सुपात्रों को अविलम्ब पीएम स्ट्रीट वेण्डर योजना का लाभ दिलाया जाए।  कलेक्टर डॉ जैन ने अनुविभागवार क्रियान्वित स्वास्थ्य कार्यो की भी व्हीसी में पृथक से समीक्षा की। इसके अलावा लंबित आवेदनों पर अनुविभाग में पदस्थ विभागो के अधिकारियों द्वारा निराकरण के पालन प्रतिवेदन पर भी इस दौरान समीक्षा की गई है।  कलेक्टर चेम्बर में बेवनार के माध्यम से हुई समीक्षा में अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, संयुक्त कलेक्टर श्रीमती अंजली शाह, डिप्टी कलेक्टर श्री शैलेन्द्र सिंह, विदिशा एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार, जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू, विदिशा बीएमओ डॉ एके उपाध्याय मौजूद थे।


उत्कृष्ट सेवाएं देने वाले सम्मानित होंगे प्रस्ताव आमंत्रित

कोरोना वायरस कोविड 19 महामारी के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम संबंधी कार्यो में उत्कृष्ट सेवाएं प्रदान किए जाने के फलस्वरूप संबंधित समाजसेवी शासकीय अधिकारी, कर्मचारीगणों को सम्मानित किए जाने के संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा दिशा निर्देश जारी किए गए है।  जिले के समाजसेवी शासकीय अधिकारी, कर्मचारीगणों को सम्मानित किए जाने के संबंध में प्रस्ताव जिला कार्यालय को उपलब्ध कराने हेतु पत्र प्रेषित किए गए है जिसमें मुख्य रूप से पुलिस अधीक्षक, जिला पंचायत सीईओ, समस्त अनुविभागीय राजस्व अधिकारी, समस्त विभागों के जिलाधिकारियों को पत्र प्रेषित कर सम्मानित किए जाने के संबंध में प्रस्ताव आमंत्रित किए गए है।

ग्यारसपुर एसडीएम का प्रभार श्री शैलेन्द्र सिंह को

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने ग्यारसपुर एसडीएम का प्रभार डिप्टी कलेक्टर श्री शैलेन्द्र सिंह को सौपने का आदेश जारी करते हुए स्थानांतरित हुए डिप्टी कलेक्टर श्री संजय कुमार जैन को नवीन पदस्थापना पर कार्यभार ग्रहण करने हेतु भारमुक्त का आदेश जारी कर दिया है। कलेक्टर द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि डिप्टी कलेक्टर श्री शैलेन्द्र सिंह विदिशा में वर्तमान कार्यो के साथ-साथ अनुविभागीय अधिकारी, उपखण्ड मजिस्ट्रेट ग्यारसपुर के दायित्व का निर्वहन करेंगे।

वन स्टाप सेन्टर के कार्यो की समीक्षा 

वन स्टाप क्राइसेस सेन्टर (सखी) के कार्यो की समीक्षा आज कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा की गई। कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में परामर्श सदस्यगणों के अलावा सखी सेन्टर की संचालिका श्रीमती कृतिका व्यास, महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बृजेश शिवहरे मौजूद थे।  कलेक्टर डॉ जैन के द्वारा नए परामर्श पैनल के गठन संबंध में जानकारी प्राप्त की गई। सेन्टर की संचालिका ने बताया कि वर्तमान में परामर्श पैनल में दो सदस्य ही है जो साठ  वर्ष से अधिक आयु होने के कारण तथा कोरोना वायरस के संक्रमण को ध्यानगत रखते हुए वीडियो कॉलिंग के माध्यम से परामर्श दिया जा रहा है। प्रत्येक प्रकरण में परामर्शकर्ता को पांच सौ रूपए की राशि प्रदाय की जाती है। परामर्श पैनल में शामिल होने हेतु शैक्षणिक योग्यता एवं मापदण्डो की भी जानकारी से अवगत कराया गया है।   सखी सेन्टर से प्रदाय की जाने वाली सेवाओं पर प्रकाश डालते हुए बताया गया कि महिलाओं के सम्मान के रक्षा का स्थान सशक्त नारी, सशक्त परिवार, सशक्त परिवार, सशक्त राष्ट्र का आधार की अवधारणा से वन स्टाप क्राइसेस सेन्टर (सखी) का संचालन किया जा रहा है सेन्टर के माध्यम से आपातकालीन स्थिति में बचाव संबंधी सेवाएं, चिकित्सा सहायता, महिलाओं को एफआईआर, एनसीआर, डीआईआर दर्ज कराने में सहायता प्रदान करना, परामर्श एवं आश्रय की सुविधा, विधिक सहायता दिलाना तथा महिलाओं को व्यवसायिक प्रशिक्षण निर्धारित योग्यता अनुसार दिलाना इत्यादि शामिल है।  बैठक में वन स्टाप सेन्टर के नवीन भवन निर्माण हेतु भूमि चिन्हांकन की प्रक्रिया, पुलिस थानो में दर्ज महिला अपराध संबंधी प्रकरणों की जानकारी, वन स्टाप सेन्टर उपलब्ध कराना ताकि वन स्टाप सेन्टर द्वारा उसमें महिलाओं का फालोअप किया जा सकें। वन स्टाप सेन्टर हेतु नए परामर्श पैनल का विस्तार एवं चिन्हांकन किया जाना। वन स्टाप सेन्टर सखी एवं महिला हेल्पलाइन 181 का विशेष कर सभी कन्या महाविद्यालयों एवं छात्रावासों में प्रचार किया जा रहा है। सखी सेन्टर की संचालिका द्वारा जनवरी 2018 से 31 जुलाई 2020 तक दी गई सुविधाओं की संख्यात्मक जानकारी प्रस्तुत की गई। 

जिले में अब तक 591.6 मिमी औसत वर्षा दर्ज

जिले में अब तक 591.6 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई है कि जानकारी देते हुए अधीक्षक भू-अभिलेख ने बताया कि 17 अगस्त को जिले में 9.1 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई है।  तहसीलों में स्थापित वर्षामापी यंत्रो पर 17 अगस्त सोमवार को दर्ज वर्षा की जानकारी तदानुसार विदिशा में 12 मिमी, बासौदा में 10.2 मिमी, कुरवाई में 10.2 मिमी,  सिरोंज में दो मिमी, लटेरी में आठ मिमी, ग्यारसपुर में 10 मिमी, गुलाबगंज में 11 मिमी तथा नटेरन में नौ मिमी वर्षा दर्ज की गई है।

तकनीकी एवं व्यवसायिक पाठ्यक्रमों में कांउसलिंग 18 अगस्त से प्रारंभ होगी

मध्यप्रदेश स्थित शासकीय, स्वशासी, अनुदान प्राप्त, स्ववित्तीय एवं निजी संस्थानों में तकनीकी एवं  व्यवसायिक पाठ्यक्रमों में प्रवेश सत्र 2020-21 के लिए 18 अगस्त से काउंसलिंग प्रारंभ होगी। कोरोना महामारी के दृष्टिगत अभ्यार्थियों के दस्तावेजों के सत्यापन ऑनलाइन ही किया जायेगा। अभ्यार्थियों को सहायता केन्द्र उपस्थित नहीं होना पडेगा, पंजीयन के समय दी गई जानकारी को अपलोड किये गए दस्तावेजों से मिलान कर ऑनलाइन सत्यापन किया जायेगा। प्रवेश सत्र 2020-21 में स्वीकृत पाठ्यक्रम 5 वर्ष एम.बी.ए./एम.सी.ए.,फार्म.डी, एकलव्य/अम्बेडकर योजना अन्तर्गत डिप्लोमा, नॉन पी.पी.टी. डिप्लोमा, बी.डी. फार्मेसी, बैचलर ऑफ होटल मैनेजमेंट तथा बी.ई./बी.टेक.(अंशकालिक) पाठ्यक्रमों की कांउसलिंग 18 अगस्त 2020 से प्रारंभ होगी। सितम्बर माह में एन.आर.आई (बी.ई./बी.टेक/बी.आर्क) पाठ्यक्रमों की काउसलिंग 5 सितम्बर 2020, बी.ई./बी.टेक (पूर्णकालिक) की 10 सितम्बर, एम.बी.ए.(पूर्णकालिक/अशंकालिक) तथा एम.सी.ए. की 15 सितम्बर, बी.आर्क, एम.फार्मसी, एम.ई/एम.टेक (पूर्णकालिक/अंशकालिक) की 16 सितम्बर, इंजीनियरिंग डिप्लोमा (प्रवेश परीक्षा आधारित)17 सितम्बर, लेटरल एंट्री (बी.ई/बी.फार्मेसी) 21 सितम्बर तथा एम.आर्क की काउसलिंग 1 अक्टूबर 2020 को संभावित है। ऑनलाइन कांउसलिंग से संबंधित सभी जानकारी काउसंलिंग प्रक्रिया, सहायता केन्द्रों की सूची, पाठ्यक्रमवार संस्थाओं की सूची, समय-सारणी आदि वेबसाइट dte-mponline-gov-in पर उपलब्ध है।

भविष्य निधि वार्षिक लेखा विवरण वेबसाईट पर अपलोड

कार्यालय महालेखाकार (लेखा एवं हकदारी) - द्वितीय, मध्यप्रदेश ग्वालियर द्वारा मध्यप्रदेश राज्य के कर्मचारियों एवं अधिकारियों के सामान्य भविष्य निधि लेखाओं के वर्ष 2019-20 के वार्षिक लेखा विवरण कार्यालय की वेबसाईटू www-agmp-cag-gov-in <http:@@www-agmp-cag-gov-in> पर उपलब्ध करा दिया गया है। अभिदाता अपनी सीरीज प्रविष्ट करके तथा एकाउन्ट नंबर कॉलम में अपना सामान्य भविष्य निधि लेखा क्रमांक तथा पासवर्ड प्रविष्ट करके लेखा विवरण प्राप्त कर सकते हैं। लेखा विवरणों में किसी विसंगति के ऑनलाइन सुधार अथवा अन्य शिकायत के लिये अभिदाता सत्यापित विवरण सहित वेबसाईट पर Accountant General ¼A&E½&11  में Online Grievance Redressal खोलकर Lodge Your grievance online में अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं। शिकायत का निराकरण एक माह के अंदर महालेखाकार की निगरानी में किया जाता है। अभिदाता अपनी शिकायत दूरभाष क्रमांक 0751-2317359 एवं 2432457 पर भी कर सकते हैं। सामान्य भविष्य निधि से संबंधित प्रायरू पूछे जाने वाले प्रश्न (F-A-Q-), आवश्यक आवेदन प्रारूप एवं अन्य फार्म भी कार्यालय की वेबसाईट पर उपलब्ध हैं। 

कोई टिप्पणी नहीं: