निर्वेंद्र मिश्रा के हत्यारों को सजा दिलाने तक बसपा करेंगी संघर्ष - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 19 सितंबर 2020

निर्वेंद्र मिश्रा के हत्यारों को सजा दिलाने तक बसपा करेंगी संघर्ष

  • सतीश मिश्रा हाईकोर्ट में दाखिल करेंगे पीआईएल , मायावती के निर्देश पर पूर्व कैबिनेट मंत्री नकुल दुबे के नेतृत्व में परिजनों से मिला प्रतिनिधिमंडल 
  • आर्थिक मदद के साथ ही हरसंभव सम्मान दिलाने व हत्यारों को सजा दिलाने का आश्वासन , आखिर ब्राह्मणों की ही क्यों हो रही है हत्याएं: महेन्द्र कुमार पांडेय 
bsp-protest-varanasi
वाराणसी-लखीमपुर खीरी (सुरेश गांधी) निघासन विधानसभा सीट से दो बार निर्दलीय एवं एक बार सपा से विधायक रहे 75 वर्षीय निर्वेंद्र कुमार मिश्रा उर्फ मुन्ना की हत्या के मामले में एक पखवारे बाद भी कार्रवाई न होने पर लोगों में जबरदस्त आक्रोश है। कार्रवाई की मांग को लेकर अनवरत धरना-प्रदर्शन जारी है। इसी कड़ी में बसपा सुप्रीमों बहन मायावती एवं राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा के निर्देश पर पूर्व कैबिनेट मंत्री नकुल दुबे के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल पलिया तहसील के त्रिकोलिया पढुआ स्थित स्वर्गीय मिश्रा के आवास पर जाकर परिजनों से मिला। प्रतिनिधिमंडल ने उनके पुत्र संजीव मिश्रा को आर्थिक मदद करने के साथ ही उन्हें आश्वासन दिया कि अगर जल्द ही हत्यारों की गिरफ्तारी और दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं किया गया तो हाईकोर्ट में पीआईएल दाखिल किया जायेगा। पीआईएल की पैरवी सतीश मिश्रा निशुल्क करेंगे। 

प्रतिनिधि मंडल में प्रमुख रुप से पंडित सतीश मिश्रा के करीबी एवं सेवापुरी विधानसभा से चुनाव लड़ चुके महेन्द्र कुमार पांडेय, प्रतापगढ़ के पूर्व विधायक रामशिरोमणि शुक्ला, पूर्व विधायक फतेहपुर आदित्य पांडेय, नरेन्द्र त्रिपाठी आदि शामिल थे। इस दौरान तीन दिन पूर्व छात्रनेता अंकित बाजपेयी की हत्या किए जाने के मामले में प्रतिनिधिमंडल उनके गांव गोला गोकरन लखीमपुर में जाकर परिजनों से मिला और आर्थिक मदद के साथ ही न्याय दिलाने का आश्वासन दिया। श्री महेन्द्र कुमार पांडेय ने बताया कि 6 सितम्बर रविवार को दबंगों ने निवेन्द्र की पीट-पीटकर हत्या कर दी। दबंगों की पिटाई से मृतक पूर्व विधायक के बेटे को भी गंभीर चोटें आई। लेकिन घटना के 14 दिन बाद भी प्रशासन द्वारा दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं किया गया, जिससे लोगों में आक्रोश है, अनवरत धरना-प्रदर्शन जारी है। 

श्री पांडेय ने कहा कि यूपी की जनता क़ानून-व्यवस्था पर चिंतित और भयभीत है। पुलिस की उपस्थिति में जगह-जगह दिनदहाड़े हत्याएं हो रही है। लखीमपुर में तीन बार के विधायक रहे श्री निर्वेन्द्र मुन्ना जी की निर्मम हत्या व उनके पुत्र पर हुए क़ातिलाना हमले से प्रदेश हिल गया है। लेकिन सरकार को कोई चिंता नहीं है। श्री पांडेय ने योगी सरकार से की दोषियों पर सख्त कार्रवाई की मांग करते हुए कहा कि पूर्व विधायक निर्वेन्द्र कुमार मिश्र उर्फ मुन्ना की निर्मम हत्या व इसी जिले में छात्रा की दुष्कर्म के बाद फन्दा लगाकर की गई हत्या की घटनायें अति-दुःखद व चिन्ताजनक है। सरकार दोषियों के खिलाफ ऐसी सख्त कार्रवाई करे जिससे ऐसी दर्दनाक घटनायें प्रदेश में रूकें। व्यवस्था को देखकर आज मन अत्यंत दुःखी है। लखीमपुर में 15 दिनों में हत्याओं का अंबार है। कानून का राज समाप्त हो चुका है। महामहिम राज्यपाल महोदया से अपील है कि ऐसी सरकार को अविलंब बर्खास्त करें। स्वर्गीय मिश्रा के बेटे का आरोप है कि हमले में जब पिताजी गिर गए तो लोगों ने हमलावरों को पकड़ लिया। वे उन्हें घर ले आए, लेकिन सीओ पलिया कुलदीप कुकरेती ने मौके पर पहुंचकर हमलावरों को छुड़ा लिया। पुलिस की इस कार्यशैली को लेकर क्षेत्र वासियों में भारी रोष व्याप्त है। श्री पांडेय ने कहा कि पूर्व विधायक निर्वेंद्र कुमार मुन्ना वर्ष 1989, 1991 में निर्दलीय और 1993 में सपा से निघासन विधानसभा से विधायक रहे। वे क्षेत्रीय जन समस्याओं को लेकर करीब 50 बार धरना प्रदर्शन एवं अमरण अनशन करने के चलते क्षेत्र में काफी लोकप्रिय थे। विधायक रहते हुए बेलरायां रेलवे स्टेशन पर हजारों लोगो के साथ किए गए अनशन की गूंज विधानसभा तक में खूब गूंजी थी। इस केस में राधेश्याम गुप्ता, किशन गुप्ता, रिंकल गुप्ता, अनुराग गुप्ता, समीर गुप्ता के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 323, 302 के तहत केस दर्ज किया गया। लेकिन कार्रवाई अभी तक नहीं किया गया है। 

इस दौरान धरना स्थल पहुंचे श्री नकुल दुबे व श्री महेन्द्र कुमार पांडेय ने विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों के बीच न्याय के योद्धा को न्याय दिलाने’ का नारा भी लगाया। श्री पांडेय ने कहा कि अफसोस है कि निवेन्द्र ने पूरी जिंदगी लोगों को न्याय दिलाने का काम किया, लेकिन अब उनके मरणोपरांत उनको ही न्याय नहीं मिल रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रशासन ने पिता की हत्या कराई है और जब तक दोषी सीओ की गिरतारी और फरार हुए अन्य आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जाता है तब तक धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि हत्या के अभियुक्तों की गिरफ्तारी के साथ दोषी पुलिस कर्मियों पर ठोस कार्यवाही के लिए व जब तक सही न्याय नही मिलेगा तब तक  बसपा चैन से नहीं बैठेगी। 

कोई टिप्पणी नहीं: